टॉप स्‍टोरी मुझे शिकायत है..  The page that you are looking for cannot be found. खबरे सुने कॅरियर Jalandhar दिल्ली के नए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना दूसरा वादा भी पूरा कर दिया है। आज अरविंद केजरीवाल ने कैबिनेट की बैठक के बाद बिजली का भाव आधा कर दिया है। बिजली की दरों में ये कटौती 400 यूनिट तक बिजली के लिए है। दिल्ली सरकार दाम में इस कटौती की भरपाई फिलहाल सब्सिडी के जरिए की जाएगी। अंदरखाने दोनों की मिलीभगत है। इसका ताजा उदाहरण यह है कि बिजली कंपनियां ‘पावर परचेज एडजस्टमेंट चार्जेज’ के नाम से हर तीसरे महीने बिजली के दाम बढ़ाने के लिए दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) को प्रतिवेदन देती थीं। डीईआरसी बिजली कंपनियों के दावों के अनुसार हर तीसरे महीने बिजली के दाम चार फीसद से लेकर 14 फीसद तक बढ़ा देता था। ललितपुर 108 एंबुलेंस ने ऑटो को मारी टक्कर, महिला की मौत, चालक काबू 4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता सरल बिजली योजना का पोस्टर। लोक जनशक्ति पार्टी जिला प्रवक्ता, बड़कागाँव सस्ती बिजली देनेवाली कंपनी को ही तरजीह देगी बिहार सरकार Advertisement वेबसाइट नीति ग्वालियर: 5 साल बाद अगस्त में 24 घंटे में 95.8 मिमी बारिश सामान्य अध्ययन टेस्ट निर्वाचित विषयवस्तु तारा देवी अरवल सामान्य अध्ययन अभ्यास प्रश्न रुद्रप्रयाग थाना प्रभारी गांधीनगर, बेरमो स्नाताकोत्तर छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना ३. जिनके यहां मीटर नहीं है वहां मीटर लगेंगे और रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी। पे स्केल: Take a step closer towards your [email protected]$ 150 p.m#HappyEMIs Policies Manoj vaishnava Aug 12, 2018 08:38 PM 100 यूनिट तक 40 पैसे की बढ़ोतरी, 100 से 200 तक 45 पैसा बढ़ोतरी और 200 से ऊपर यूनिट पर 55 पैसा की बढ़ोतरी की गयी है। बिजली बिल के फिक्स चार्ज पर किसी तरह की बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। सभी स्लैबों में औसतन 5 फीसदी की वृद्धि हुई है जबकि उद्योग में ये 9 फीसदी है। 6kV संन्यासी के पास इतना सोना कहां से आया? 2 जुलाई 2017 आप जिस पेज़ को देखना चाहते है वो उपलब्ध नहीं है, abcBABYart – Create Custom Nursery Art सुधाकर ने कहा कि अभी इसके लिए हमने फॉर्म्युला तय नहीं किया है। हम इस पर सुझाव ले रहे हैं। जैसे ही यह फाइनल हो जाएगा हम फॉर्म्युला तय कर ऑर्डर जारी कर देंगे। उन्होंने कहा कि नया टैरिफ जारी करते वक्त हमने एक प्रावधान रखा है कि जिससे बिजली कंपनियां बहुत महंगी बिजली ना लें क्योंकि उसका लोड कंस्यूमर पर जाता है। हमने इसे लिमिट कर दिया। जैसे बिजली कंपनियां अगर पावर एक्सचेंज के जरिए बिजली लेती हैं तो वह एक ट्रांसपेरेंट सिस्टम है। वहां जो रेट है उस रेट से या फिर उससे कम रेट पर बिजली लेते हैं। उससे ज्यादा रेट पर बिजली नहीं ले सकते। हमने अधिकतम रेट 5 रुपये प्रति यूनिट रखा है। अगर कभी इमरजेंसी में बिजली कंपनियों को इससे ज्यादा कीमत पर बिजली खरीदने की जरूरत पड़ी तो उसके लिए पहले अप्रूवल लेना पड़ेगा। शहडोल- संभाग में विद्युत सुदृढि़करण के लिए तीन महत्वपूर्ण योजनाएं चल रहीं हैं। तीनों योजनाओं में लगभग 382 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। योजनाएं चल तो रहीं हैं लेकिन समय के साथ गति नहीं Spacial प्रतीकों के साथ 7 खंड एलसीडी देवाशीष सिंह 51-100              2.90 सभी पक्षों का रुख सकारात्मक आरएसओपी फॉर्मेटों की सूची अटल बिहारी वाजपेई के निधन पर शोक में डूबा शहर कई पार्टियों ने शोक सभा का आयोजन कर दिया श्रद्धांजलि History India जाट महासभा करनाल ने किया वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु का स्वागत सर्वाधिक खोजे गए संभल यूपी में बिजली दर बढ़ाने की प्रक्रिया 15 से शुरू रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजा प्रियंका का बंगला, हिंदू रीति रिवाज से आज होगी सगाई! गैर-पारंपरिक हाइड्रोकार्बन की खोज और दोहन के लिये नीति-रूपरेखाAug 02, 2018 2676 Advertisement Rate बस्ती बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 184 अंक गिरा और निफ्टी.. शर्तें तथा उपबंध नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने शुक्रवार (24 नवंबर) को कहा कि सरकार हर घर को सातों दिन 24 घंटे सस्ती बिजली देने की दिशा में काम कर रही है और इसका पूरा दायित्व वितरण कंपनियों पर होगा. सिंह ने यह भी कहा कि हम अपतटीय क्षेत्र तथा देश के भीतर मौजूद बड़े जलाशयों में पवन और सौर ऊर्जा परियोजनाएं लगाने पर गौर कर रहे हैं. साथ ही देश में आने वाले समय में सौर ऊर्जा उपकरणों के विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिये परियोजनाओं को विनिर्माण से जोड़ा जाएगा. रायपुर। आमदनी अठनी खर्चा रुपया ने छत्तीसगढ़ की सरकारी बिजली वितरण कंपनी (सीएसपीडीसीएल) की रैंकिंग बिगाड़ दी है। बढ़ते खर्च के बोझ व वसूली की धीमी रफ्तार से सालभर में कंपनी चार पायदान फिसल कर 31वें स्थान पर आ गई है। जालंधर रितेश तिवारी हमारे लाईट कनेक्शन मे सिर्फ पोल खड़े करके चले गये तार /केबल नहीं लगा रहे है pz jaldi karyvai karvae Mo.70XXX80 gav khari teh. Sedwa dist. Barmer 'अटल' हो गई महाकवि गोपाल दास नीरज की भविष्यवाणी! न्यूनतम आदेश मात्रा: 100PCS 10 मार्च 2013 शादी में 'कुत्ता' बन जलील हुए वरुण धवन, तो फूट-फूटकर... वहीं, इन प्रतिक्रियाओं का जवाब देते हुए बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि पिछली सरकार ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दरें संशोधित नहीं की, इसलिए मौजूदा सरकार को ऐसा करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा, ''अगर इन चारों वस्तुओं को इस जीएसटी के दायरे में रखा जाता तो अच्छा रहता. इन चारों वस्तुओं का मार्केट में बड़ा असर होता है.'' www.bhaskar.com से अधिक समाचार Like/Dislike Leader Related to This News 700 करोड़ का चूना लगाने वाली विश्वामित्र इंडिया कंपनी के MD को पुलिस ने किया गिरफ्तार ELECTRIC TAXI SOLAN दुमका : इंडोर स्टेडियम दुमका में अरविन्द प्रसाद की अध्यक्षता में झारखंड राज्य विद्य्नुत नियामक... नई योजना: हजारों लोगों को नहीं भरना होगा बिजली का बिल सस्ता ऊर्जा - उसी दिन की सेवा सस्ता ऊर्जा - ऊर्जा प्रदायक चुनें सस्ता ऊर्जा - बिजली और गैस प्रदाता
Legal | Sitemap