हमें खेद हैं कि आप opt-out कर चुके हैं। delhiassembly.nic.in/aspfile/listme… सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र- 2: शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (DERC) ने गर्मी शुरू होते ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बिजली के फिक्स चार्ज में 2.5 से लेकर 6.5 गुना तक का इजाफा किया है. हालांकि बिजली की कीमतों में प्रति यूनिट की दर  से कटौती की है. DERC ने 2 किलोवाट लोड वाले घरों में बिजली के फिक्स चार्ज को 20 रुपये से बढ़ाकर 125 रुपये कर दिया है. लिहाजा बिजली उपभोक्ताओं को फिक्स चार्ज 125 रुपये से 250 रुपये तक देना होगा. अभी तक बिजली का न्यूनतम फिक्स चार्ज 20 रुपये था, जो अब 125 रुपये होगा. केजरीवाल ने बाढ़ प्रभावित केरल के लिए 10 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान... अटलजी ने संकट में भारत को बनाया था चमत्कारी अर्थव्यवस्था NDTV India Live Create Password to secure your account and login faster next time यूं ही नहीं मैं 'अटल' कहलाता हूं, तस्वीरों में देखिए निधन से पंचतत्व में विलीन होने तक का अंतिम सफर हाईटेंशन स्पेशल सर्विस  4.00  4.00 Places Twitter PATNA : बिहार में बिजली कंपनी ने समाप्त हो रहे वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन राजस्व संग्रह का बड़ा रिकार्ड हासिल कर लिया। पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में राजस्व संग्रह में 2200 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। अब तक की यह सबसे अधिक बढ़ोतरी है। बिजली कंपनी के आला अधिकारियों का आकलन है कि अब अनुदान के भरोसे अपने घाटे की भरपाई करने वाली बिजली कंपनी मुनाफे के ट्रैक पर आ रही है। रिपोर्टः फ्रित्ज मूरी Jalandhar लैपटॉप्स RSS Feeds PO Cell ने धरा उद्घोषित अपराधी, इस मामले में चल रहा था फरार You can add location information to your Tweets, such as your city or precise location, from the web and via third-party applications. You always have the option to delete your Tweet location history. Learn more Designed by : 4C Plus in: समाचार Persian فارسی हमारा मंदसौर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य,कांग्रेस सोना (GOLD) भारत के राज्य स्‍पेशल 中文(简体) लोकायुक्त ने बिजली कंपनी के जेई के खिलाफ पेश किया चालान By admin July 22, 2016 नई बिजली दरों का मकसद मीटरिंग को बढ़ावा देना है ताकि छोटे उपभोक्ताओं पर गैर-जरूरी फिक्स्ड टैरिफ का बोझ न पड़े और बिजली के इस्तेमाल में किफायत भी आये. मिसाल के लिए अगर एक ग्रामीण घरेलू उपभोक्ता एक महीने में 30 यूनिट की बिजली इस्तेमाल करता है तो नई दरों के हिसाब से उसका महीने का बिल सिर्फ 140 रुपये आयेगा जबकि फिक्स्ड टैरिफ के तहत उसके ऊपर इससे लगभग ढाई गुना बिल आता.  हाईकोर्ट ने यह फैसला इंडिपेंडेंट पावर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने वित्त सचिव से पावर प्रोड्यूसर्स की शिकायतें सुनने को कहा है। अदालत ने वित्त सचिव से इन दिक्कतों के समाधान की संभावना तलाशने को भी कहा है। आईसोपाम योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं ऋषिकेश 6 7 8 9 10 11 12 - बिजली की नई दरें मेडिकल फील्ड से जुड़े लोगों के लिए भी राहत देने वाली हैं। इस बार तय किया गया है कि सरकारी अस्पतालों को छोड़कर निजी अस्पताल व क्लीनिक के बिजली बिलों में पांच % की छूट दी जाएगी। यानी किसी अस्पताल का बिल यदि एक लाख रुपए है तो उसका पांच % यानी पांच हजार रुपए कम हो जाएंगे। http://www.nainitalsamachar.in/ कमल किशोर संपूर्ण परियोजनाओं की सूची विनय महतो धीरज ताजा खबर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस वार्ता कर यह जानकारी देते हुए दावा किया कि देश में सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में है। उन्होंने कहा कि सरकार आम आदमी पार्टी के चुनावी वायदे के मुताबिक सबसिडी को जारी रखेगी। बता दें कि घरेलू उपभोक्ताओं को 1 से 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने पर 2 रुपए प्रति यूनिट कीमत चुकानी होगी। Sections बैठक में सरकारी दफ्तरों में एलईडी बल्बों का इस्तेमाल अनिवार्य करने पर भी सहमती बनी. बिजली कंपनियों को निर्देश दिया गया कि वे प्रदेश के सभी जिलों में सस्ती दरों पर एलईडी बल्ब उपलब्ध कराएं. शामगढ़ बाज़ार इस अवसर पर बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा कि एक तरफ  से तो पूरे प्रदेश में बिजली की भारी कमी के कारण लोगों में हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है और दूसरी तरफ  बिजली की दरों में भारी वृद्धि करके प्रदेश की आमजनता को काफी ज़्यादा मुसीबत में डाला जा रहा है। ख़ासकर घरेलू उपयोग में आने वाली बिजली की दर को 17 प्रतिशत तक मंहगी करके जनविरोधी’’ काम किया गया है। इससे शहर में रहने वाले करोड़ों उपभोक्ताओं को इस मंहगाई का सामना सीधे तौर पर करना पड़ेगा। © 2018 - Clever Prototypes, LLC - All rights reserved. Refrigerators मुझे शिकायत है.. Menu समाज प्रशांत पोद्दार हेमंत कुमार गुरु अपने हरियाणा सरकार ने राज्य में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को सस्ती बिजली आपूर्ति प्रदान करने के लिए कौन-सी योजना अधिसूचित की है जिसके तहत, ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी खंडों में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को बिजली कनेक्शन जारी करने की तिथि से तीन वर्ष के लिए दो रुपये प्रति यूनिट की पावर टैरिफ सब्सिडी प्रदान की जाएगी – ‘पावर टैरिफ सब्सिडी योजना’ पाकुड़ Web Title electrical regulatory commission new electricity rate in uttar pradesh आवेदन: स्थानीय प्रीपेमेंट / एएमआर एएमआई Russian Русский 0-50        2.65        6.15     Fropky फिसड्डी चीफ इंजीनियरों का नोटिस जारी मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्विट कर कहा है कि सरकार सब्सिडी के माध्यम से जनता पर बिजली बिल के रूप में पड़ने वाला बोझ कम करेगी.  गरीब, मजदूर, किसान और लघु व्यापारियों को सब्सिडी दी जायेगी. सब्सिडी की घोषणा जल्द की जायेगी. 'JioPhone 2' का फ्लैश सेल शुरू, जानिए कहां से खरीदे यह शानदार फोन सामग्री प्रौद्योगिकी प्रभाग (एमटीडी) सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र- 2: शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध हिन्दुस्तान टीम 15-05-2018 Business News India सलमान खान की लग्जीरियस वैनिटी वैन में है मेकअप और स्टडी रूम, भारत के प्रोड्यूसर ने शेयर किए फोटो 49 mins वहीं, शहरों इलाकों में 150 से 300 यूनिट तक 5.40 रुपए और 500 यूनिट से ज्यादा इस्तेमाल पर 5.5 पैसे प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा. घरों में बिजली कनेक्शन देने के कार्य में निकटतम विद्युत खंभे से सर्विस केबल घर तक लाना, एलटी लाइन से यदि घर की दूरी 45 मीटर से अधिक है तो नए खंभे लगाना, बिजली मीटर लगाना, एलईडी बल्ब और एक मोबाईल चार्जिंग प्वाइंट के साथ एकल विद्युत प्वाइंट के लिए तार डालना शामिल है। यदि सर्विस केबल लाने के लिए संबंधित घर के पास विद्युत खंबा नहीं है, तो खंबा लगाया जाना भी इस योजना में शामिल है। पर्यावरण मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हासिल हुई थी दहाई अंक में विकास दर: रिपोर्ट « प्रधानमंत्री योजनाए 2018 पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित सभी सरकारी योजनाओं की सूची सहारा इंडिया फ्रैंचाइज़ी कार्यालय, मुरी सोलहवां सवाल –  किस तरह से, यह योजना आर्थिक विकास और रोजगार सृजन की सुविधा प्रदान करेगी? घरेलू (ग्रामीण) डीएस वन(51-100 यूनिट) 1.25  4.40 Loading... राज्य चुनें 3:02 विद्युत प्राप्त करने में कारोबार करने की सुगमता आज के रुझान SSC कांस्टेबल 55000 भर्ती: पहली बार होगी कंप्यूटर बेस्ड लिखित परीक्षा, पहाड़ के युवाओं को हो सकती है दिक्कत Latest कैमरे में कैद हुर्इ जिम के फ्लोर मैनेजर की घटिया हकरत, गिरफ्तार कृषि निर्देशिका दिल्ली में सुबह आंशिक बदली छाई अतिरिक्‍त परीक्षण सुविधा स्टार्ट-स्टॉप SHIMLA WOMEN ACCIDENT PrevNext नियामक आयोग ने प्रदेश में बिजली कनेक्शनों की संख्या बढ़ाने के लिए पांच किलोवाट तक के कनेक्शनों पर सिस्टम लोडिंग चार्ज खत्म करने का फैसला किया है। आयोग के मुताबिक प्रदेश में लगभग 1.80 करोड़ ऐसे परिवार हैं, जिनके पास अभी बिजली कनेक्शन नहीं है।  उत्पाद का नाम: कम कीमत सीलिंग चरण प्रीपेड विद्युत मीटर तटस्थ: तटस्थ मापना आँध्रप्रदेश सरस्वती बनर्जी Self Assessment कंपनी साइट मैप भाजपा ने डाली कांग्रेस नेताओं की रेस्त्रां की फोटो लाइफ ओके VIDEO: बागेश्वर में पिंजरे में फंसा गुलदार, देखने के लिए लगी भीड़ शहर लाइव सिटीज डेस्क (रंजन सिन्हा) : आज लाखों लोगों के दिल में बसने वाले रवि किशन का जन्मदिन है. वे आज भोजपुरी फिल्मों के महानायक है. यही नही हिंदी, दक्षिण भाषाई फिल्मों सहित अन्य भाषाई […] 3 weeks ago अभिगम्‍यता वक्‍तव्‍य उत्पादन रिपोर्ट अर्थव्यवस्था जैसलमेर अनुसंधान क्रियाकलाप Sahasrarjun B.S.‏ @SahasrarjunBS62 18 Aug 2015 Your email address will not be published. पटना,17 अप्रैल (हि.स.)। राज्य कैबिनेट की मंगलवार को यहां हुई बैठक में इस वर्ष अप्रैल से बिजली की बढ़ी हुई टैरिफ दरों में उपभोक्ताओं को सब्सिडी देकर सरकार ने दावा किया है कि बिहार की बिजली दर सभी पड़ोसी राज्यों यूपी और पश्चिम बंगाल से काफी कम है । कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि इस वर्ष बिजली दर में सब्सिडी के कारण राज्य सरकार के खजाने पर 4137 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा । पिछले वर्ष 2952 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी गयी थी. उन्होंने बताया कि सब्सिडी के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में कुटीर ज्योति योजना के तहत बिजली की दर प्रति यूनिट 2.45 रुपये पड़ेगी । पश्चिम बंगाल में यह 3.44 रुपये और यूपी में 3.39 रुपये प्रति यूनिट है । इसी तरह शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की बिजली दरें भी पड़ोसी राज्यों से कम हैं । इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू उपयोग और कृषि व सिंचाई के लिए बिजली दर में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है । इस पर वर्तमान दर से ही बिजली बिल का भुगतान करना होगा । शहरी क्षेत्रों की बिजली दर में महज 10 पैसे प्रति यूनिट की ही बढ़ोतरी की गयी है | अब यह 5.30 रुपये प्रति यूनिट से बढ़कर 5.40 रुपये हो गयी है । मुख्य सचिव ने कहा कि बरौनी, कांटी और नवीनगर बिजलीघरों को एनटीपीसी को ट्रांसफर कर दिया गया है । इन यूनिटों से राज्य को अपने स्तर पर बिजली उत्पादन काफी महंगा पड़ रहा था । बरौनी थर्मल पॉवर स्टेशन से अभी बिजली उत्पादन में प्रति यूनिट 5.75 रुपये का खर्च आ रहा है, जबकि बाढ़ एनटीपीसी से बिजली खरीदने पर यह खर्च 4.25 पैसे प्रति यूनिट ही पड़ेगा । इस वजह से सभी बिजली उत्पादन ईकाइयों को एनटीपीसी को ही स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया है । इससे सरकार को 875 करोड़ रुपये सालाना की बचत होने का अनुमान है । वर्ष 2017-18 के लिए बिजली उपलब्धता करीब 27 हजार 178 मिलियन यूनिट है, जबकि 2018-19 के लिए बिजली उपलब्धता का लक्ष्य 29 हजार 403 मिलियन यूनिट निर्धारित किया गया है, जो पिछले वर्ष से 8% अधिक है । सब्सिडी के बाद बिजली दर :-कुटीर उद्योग- 2.45,घरेलू (ग्रामीण)- 3.17,घरेलू (शहरी)- 5.40,गैर-घरेलू (ग्रामीण)- 4.00,गैर-घरेलू (शहरी)- 8.25,कृषि एवं सिंचाई-1 - 1.50,कृषि एवं सिंचाई-2 - 7.75,औद्योगिक सेवा-1 - 8.35,(19 केवी तक) औद्योगिक सेवा-2 - 8.32 (19 केवी से ज्यादा और 74 केवी से कम) औद्योगिक सेवा-1 - 8.67,(11 केवी) औद्योगिक सेवा-2 - 8.60,(33 केवी), औद्योगिक सेवा-3 - 8.01,(132 केवी) (सभी आंकड़े रुपये प्रति यूनिट में) हिन्दुस्थान समाचार/अरुण/शंकर वीएलई कॉर्नर एडमिशन मुखिया संघ के अध्यक्ष, चंदनकियारी ​ प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) लाइफ़ Jitender sharma Jul 03, 2018 04:20 AM पूनम पाण्डे ॥ नई दिल्ली बोकारो सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना बिजली स्विच करें - इलेक्ट्रिक कंपनी का चयन बिजली स्विच करें - सस्ता बिजली प्रदाता बिजली स्विच करें - टेक्सास में इलेक्ट्रिक कंपनियां
Legal | Sitemap