5% टैक्स स्लैब स्मृति स्थल पहुंची अटल का पार्थिव शरीर, तीनों सेना के जवानों ने दी .. CONTACT US Dehradun Noida सराफा Subscribe बेगूसराय (बिनोद कर्ण) : बछवाड़ा प्रखंड के चमथा गंगा धाम चिरैयाटोल कल्पवास मेला में मंत्री, डीएम, एसपी व विधायकों के पहुंचने से रौनक बढ़ गई है. शनिवार की देर शाम बिहार सरकार के ग्रामीण विकास […] देश के दोनों ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में फ्री बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाएगा। देसीमार्टीनी पश्चिमी सिंहभूम About उच्‍च धारा लघु पथन परीक्षण सुविधा बिज़नेस न्यूज़ बांका Ramayan कॉपीराइट © e-Eighteen.com लिमिटेड. सर्वाधिकार सुरक्षित. moneycontrol.com की पूर्व-अनुमति के बिना कोई भी समाचार, फोटो, वीडियो या अन्य कोई भी सामग्री पूर्ण या अंशत: किसी भी स्वरूप में या माध्यम से इस्तेमाल करना प्रतिबंधित है Gadgets तबरेज अंसारी saubhagya yojnaNarendra ModiElectricityindiaसौभाग्य योजना नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच का आरोप है कि आने वाले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले शिवराज सरकार ने चुनावी लाभ के उद्देश्य से कमजोर तबकों के वोट बैंक को साधने के लिए यह योजना शुरू की है। इनके अनुसार बकाया बिजली बिलों की माफी का सरकार का निर्णय मनमाना है। जिससे नियमित रूप से बिजली बिल भरने आम उपभोक्ताओं पर प्रत्यक्ष-परोक्ष रूप से आर्थिक बोझ बढ़ेगा। बचत और निवेश सड़कों पर शोर का अध्यात्म TV Serials भाजपा नेता अध्यक्ष सामाजिक कल्याण सेवा समिति रिलायन्स ने खुद की ही कंपनी से सस्ती बिजली खरीद कर दूसरी कंपनी को मंहगी बिजली बेच कर, जनता को लूटा #DiscomFactspic.twitter.com/pb1jCcVpt9 « प्रधानमंत्री योजनाए 2018 पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित सभी सरकारी योजनाओं की सूची आयोग ने बिजली कंपनियों को निर्देश दिया कि पंखों की कीमत को 10 किस्तों और एसी की कीमत को 18 किस्तों में वसूला जाए. इसके अलावा आयोग ने कहा कि सस्ते उपकरण नकद भी दिए जा सकते है.  स्टार्ट-स्टॉप 3- कूप गहरा योजना.. रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजा प्रियंका का बंगला India Today Diaries Gujarat News Audiotrainer बिहार में बिजली-दर में बदलाव नहीं, उपभोक्ताओं को राहत अटल यादेंः शादी से इनकार कर अटल ने गवां दी थी बलरामपुर लोकसभा नोहर तहसील मे सीरगसर पचायत मे खबै रोप दीए ओर लोगो नै डीमान्ड भी भर दी पर लाईट नही दे रहे 10 महीनै हो गए लौग ईसका वीरोध करेगै कुछ समय मै लाईट नही दी गई तौ किसान एकता जीन्दावाद Lal salam 81XXX81 यहा के ठैकैदार ओर अधीकारी बहुत लापर वाह है सौभाग्य रांची : झारखंड में बिजली उपभोक्ताओं को बड़ा झटका लगा है. विद्युत नियामक आयोग ने झारखंड बिजली वितरण निगम के प्रस्ताव पर नया टैरिफ निर्धारित कर दिया है. इसके अनुसार, राज्य में घरेलू बिजली 98 फीसदी तक महंगी हो गयी है. नयी दर एक मई से लागू कर दी जायेगी.  2- जीवीपीआर इंजीनियर्स लिमिटेड, हैदराबाद ग्रामीण अनमीटर्ड उपभोक्ताओं को अब प्रतिमाह 300 देना होगा। अब तक अनमीटर्ड के लिए उपभोक्ताओं को 180 रुपये देना होता था। DERC ने घटाई बिजली दरें वैकल्पिक विषय प्रश्नोत्तर जालौन के बागी गांव में मां-बेटे की गला रेतकर हत्या Latest News वर्ष   सब्सिडी बिजली दरों का ब्योरा(Rs /यूनिट) पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर हिमाचल में दो दिन का अवकाश स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर समस्त झारखंड और देशवासियो को शुभकामनाएं लंबे समय तक हेल्दी जीवन जीना है तो अपनाएं 6 मंत्र चास-बोकारो समेत समस्त प्रदेश वासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं © Gaon Connection (All Rights Reserved)Powered by: Hocalwire.com उड़ीसा संरक्षण एवं क्षेत्र सेवा विंग 3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान आरएसओपी फॉर्मेटों की सूची Paresh Agarwal‏ @semanticscorp 18 Aug 2015 कटिहार 2560023990खरीदे 09:42 देश ने खोया अनमोल रत्न, उनका जाना दुखद Newsroom Mi A2 खरीदने वालों के लिए खुशखबरी, Xiaomi ने जारी किया सिक्योरिटी पैच और कैमरा अपग्रेड 17 mins सीसैट टेस्ट तबरेज अंसारी जीवन चक्र E-mail address:* भारतीय वस्तु सूची , सीपीआरआई का नेतृत्व दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर राजधानी में बिजली संकट उत्पन्न करने का आरोप लगाया है. साथ ही में एलजी से राजघाट पावर प्लांट को फिर से शुरू करवाने की अपील की है. तिवारी ने आरोप लगाया है कि बिजली की ज्यादा मांग के दौरान नेशनल ग्रिड से निजी बिजली कंपनियों द्वारा खरीदी गई बिजली दिल्ली के लिए अपर्याप्त होती है. इसकी कमी को लोकल थर्मल पावर स्टेशन से पूरा करना पड़ता है, लेकिन दिल्ली में थर्मल पावर प्रोडक्शन की लागत नेशनल ग्रिड या दूसरे राज्यों से खरीदी गई बिजली से बहुत ज्यादा होती है. इसलिए निजी बिजली कंपनियां थर्मल पावर प्रोडक्शन में रुचि नहीं लेती हैं. मीटर ऊंचे टॉवर से यह तस्वीर 0 replies 0 retweets 0 likes होम 0      0   Previous Storyई-कॉमर्स कंपनी अमेजन का नेट प्रॉफि‍ट घटा, एक रात में CEO जेफ बेजोस ने गंवाएं 6 अरब डॉलर Next StoryEPFO के लिए UAN जरूरी, जानिए इससे जुड़ी 3 अहम बातें   | रक्सौल-काठमांडो रेल परियोजना के कार्य में तेजी लाएगा नेपाल और भारत MTV India मनी बीबीसी के बारे में बाइक छोटे उद्योगों के लिए औसतन विद्युत दर 5.14 रुपए प्रति यूनिट से बढ़ाकर रुपए 5.38 प्रति यूनिट कर दी गई है जबकि बड़े उद्योगों के लिए 5.16 रुपए से बढ़ाकर 5.41 रुपए कर दी गई है। कुमार ने बताया कि प्रदेश की विद्युत वितरण कंपनी उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड बिजली 3.10 रुपए में खरीदेगी और उपभोक्ताओं को 4.92 रुपए में बेचेगी। Betiah 5 ए प्रदेश में सरल बिजली योजना का अब तक करीब 43 लाख हितग्राहियों को लाभ मिलना शुरू हो गया है। इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिकों को 200 रुपये प्रतिमाह फ्लैट रेट पर बिजली दी जा रही है। इनके बकाया बिजली बिलों को भी माफ़ किया जा रहा है। विधानसभा को देखते हुए लाई गई इस योजना को लेकर यह अंदेशा जताया जा रहा है कि बिजली वितरण कंपनियों के बजट पर प्रभाव पड़ेगा। इसका खामियाजा आम उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ेगा, बिजली की दरों में वृद्धि होगी और लोगों का बिजली बिल बढ़ जायेगा। नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के डॉ. पीजी नाजपाडें और डॉ. एमए खान ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में यह तर्क दिया गया है कि वर्ष 2003 में भी इसी तरह मुफ्त बिजली देने के खिलाफ हाईकोर्ट की शरण ली गई थी। तब कोर्ट ने तत्कालीन सरकार को 100 करोड़ रुपये चुकाने का आदेश दिया था। ब्रिटेन चर्चा में जेल जाते सलोनी बोली- मुझे कुछ हुआ तो किसी को नहीं छोडूंगी patna समस्त गिरिडीह वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं इस पोस्ट को शेयर करें Twitter चौथा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच रोहतक अजब- ग़ज़ब मुजफ्फरपुर अच्छी सेहत पड़ोसी देशों से खाद्य तेल पर मिली रियायत रद्द करने की मांग अन्य ऊर्जा राज्य मंत्री पुष्पेंद्र सिंह ने दावा किया कि 2019 तक प्रदेश के हर घर को बिजली कनेक्शन दे दिया जाएगा। जंगल या अन्य कारणों से कुछ आबादी क्षेत्र हैं और जहां बिजली नहीं दी जा सकती, उन्हें सौर ऊर्जा से बिजली से जोड़ा जाएगा। ऐसी बसावटों को चिन्हित कर लिया गया है। ऊर्जा राज्य मंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में 93 लाख घरेलू आवास हैं, उनमें से 67 लाख कनेक्शन दिए जा चुके हैं। 100 से कम आबादी की ढाणियों में दीनदयाल उपापध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत दो साल के भीतर 20 लाख घरेलू बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे। © जिला इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश , इस वेबसाईट का निर्माण एवं होस्टिंग राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, Saharsa VIDEO: चयनित अभ्यर्थियों ने मुर्गा बनकर किया प्रदर्शन, नियुक्ति देने की मांग राज्यसभा टीवी डिस्कशंस Seriously a educated person I only become a good leader वाजपेयी के प्रयासों से उनके गांव बटेश्वर को मिली ट्रेन की सुविधा सिंह ने कहा कि जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने के लिये अधिकारियों की एक टीम भाखड़ा नांगल गयी ताकि यह पता लगाया जा सके कि वहां कितनी क्षमता की परियोजनाएं लगायी जा सकती है. अपतटीय क्षेत्र में सर्वे का काम जारी है. ‘‘ इन सब उपायों से हम 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक 2,00,000 मेगावाट क्षमता सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं.’’ उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 1,75,000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है. पोस्टर शॉकिंग! पत्नी से नाराज पति ने प्लेन हाईजैक कर घर कर दिया क्रैश टेक्नोलॉजी मनोरंजन स्पोर्ट्स संस्कृति ख़ास बिजनेस महानगर टाइम्स - August 18, 2018 Team जवाब – सभी परिवारों के लिए कनेक्शन जारी करने की प्रक्रिया को जल्द ही शुरू करने के लिए, मोबाइल ऐप / वेब पोर्टल के साथ आधुनिक आईटी तकनीक का उपयोग करने वाले लाभार्थियों की पहचान के लिए गांवों / गांवों में शिविरों का आयोजन किया जाएगा। बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन भी इलेक्ट्रॉनिक और आवश्यक दस्तावेज, आवेदक के फोटो सहित, पहचान पत्र की प्रतिलिपि और / या मोबाइल नंबर / आधार नंबर / बैंक खाता संख्या आदि जैसे विवरणों को शिविरों में पूरा किया जाएगा, ताकि कनेक्शन जल्द से जल्द जारी किये जा सकें News In Hindi कार्यक्रम में चेयर मेन (श्रैम्त्ब्) अरविन्द प्रसाद, मेम्बर (श्रैम्त्ब्) आर एन सिंह, झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार एवं विद्य्नुत विभाग के अधिकार आदि उपस्थित थे। कॉपीराइट © 2017. उर्जा विभाग, मध्य प्रदेश शासन. सर्वाधिकार सुरक्षित Rohtas घरेलू (ग्रामीण) डीएस वन(0-200 यूनिट) 1.60  4.75 हास्य-व्यंग्य India Today Diaries केंद्र सरकार देश में बिजली की कीमतें घटाने और इसमें एकरूपता लाने की दिशा में काम कर रही है, जिसके लिए उसकी थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने की योजना है। ऊर्जा मंत्रालय ने जुलाई में इस पर मेरिट ऑर्डर जारी कर सभी पक्षों से राय मांगी थी, जिस पर उसे सकारात्मक रुख मिला है।  विद्युत प्रदायक बदलें - सस्ता ऊर्जा विद्युत प्रदायक बदलें - गैस बिजली विद्युत प्रदायक बदलें - इलेक्ट्रिक कंपनियां
Legal | Sitemap