प्रदेश एम ई डी फोटो गैलरी चेतावनी: चीन ने बिटकॉइन खनिकों को सस्ते बिजली काट दिया है? 10:07 और भी पढ़ें जालौन इमरान खान लेगें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ प्रिंट Today's e-Paper Copyright © 2017-18 Bhaskar Lite.,All Rights Reserved. देहरादून (भाषा)। उत्तराखंड में बिजली की दरों में औसतन 5.72 प्रतिशत की वृद्धि की गई है जो आगामी एक अप्रैल से प्रभावी होगी। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष सुभाष कुमार ने यहां बताया कि अगले वित्त वर्ष 2017-18 के लिए की गई इस वृद्धि के बावजूद उत्तराखंड में बिजली पूरे देश में अब भी सबसे सस्ती है। © 2018 Deutsche Welle | डाटा सुरक्षा | लीगल नोटिस | संपर्क करें | मोबाइल वर्जन ख़बरेंमर्डर मिस्ट्रीचर्चित कांडसाइबर क्राइमसीरियल किलरसेक्स स्कैंडलबाहुबलीमोस्ट वॉन्टेडवीडियोनायकपुलिस फाइल सेफोटो उच्‍च वोल्‍टता प्रयोगशाला विद्युत पर अनुसंधान योजना (आरएसओपी) अटलजी नकारात्मक सोच से हमेशा दूर रहे, उनके व्यंग्य पर लोग तिलमिलाते तो जरूर थे, पर आहत नहीं होते: लालकृष्ण आडवाणी 14 mins jharkhand आई आर पी ‘‘इससे 85,000 से अधिक छोटे औद्योगिक उपभोक्ताओं को लाभ होगा जो 4.99 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से अदायगी करेंगे जबकि बड़े और दरम्याने औद्योगिक बिजली उपभोक्ता 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से अदायगी करेंगे।’’  आपका ज़िला Read More: Rajasthan Ajmer Beawer Nasirabadविद्युत योजनालाखरुपयामंजूर बीजेपी नेता विशेषज्ञों का मानना है कि एक बार एलपीजी भरवाने का खर्च लगभग 600 से ऊपर आता है. इस क़ीमत पर एलपीजी लेना गरीबों के लिए कोई आसान काम नहीं है. उन्हें खाना पकाने के लिए इससे कहीं सस्ता मिट्टी का तेल और जलावन मिल जाता है. कमेंट देखें Filipino खगड़िया सोसायटी भी बिजली विभाग के निशाने पर पंचतत्व में विलीन हुए अटल बिहारी वाजपेयी, बेटी ने दी मुखाग्नि स्पोर्ट्स अपने पीछे कितनी संपत्ति छोड़ गए अटल जी, कौन होंगे उनके उत्तराधिकारी VIDEO: एनकाउंटर से भाग निकले तीन आतंकी, जवान हुआ शहीद पेनाल्टी के रूप में निगम द्वारा दिये गये  टैरिफ प्रस्ताव से 120 करोड़ रुपये घटा दिया गया है. आयोग के निर्देश के बावजूद वितरण निगम ने उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी डिपोजिट पर इंटरेस्ट भी नहीं दिया है. अगर अगले छह महीने तक उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी पर इंटरेस्ट नहीं मिलता है, तो फिक्स चार्ज में पांच फीसदी की कटौती की  जायेगी. छह महीने के अंदर डिमांड बेस्ड मीटर लग जाने के बाद डिमांड बेस्ट  टैरिफ लागू की जायेगी.  दस्तावेजों का प्रवर्गों के अनुसार विवरण Next Tweet from user July, 2016 394 Views बेगूसराय में हैवानियत, विक्षिप्त महिला से रेप कर फरार हुआ बदमाश आपका ज़िला © 2018 News Nation Network Pvt Ltd. All rights reserved. Navodaya Times इस वर्ष सबसे अधिक बारिश तराना तहसील में 675 मिमी हुई, सबसे कम बारिश महिदपुर तहसील में 308 मिमी 16/08/2018 संपर्क करें awkash garg | Jabalpur, Madhya Pradesh, India आखिरी गेंद पर छक्के से टीम को जिताने वाले बल्लेबाज एक्सपर्ट के टिप्स Donate Us कांग्रेस ने किया AAP का घेराव, बिजली कंपनियों से मिले होने का लगाया आरोप PDP नेता मुजफ्फर हुसैन बेग का विवादित बयान, पीएम नरेंद्र मोदी को दी चेतावनी HAMIRPUR YUKAN WORKER AND POLICE SCRIMMAGE “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल 16/08/2018 जोक्स एक 'अटल' प्रेम कथा: इश्क, इश्क ही रहा उसे रिश्तों का इल्जाम ना मिला... पत्रिका स्टिंग: बिना किसी परमिशन के चल रहे हैं पानी प्लांट नवभारत टाइम्स | Updated:Mar 16, 2018, 08:00AM IST नोटबंदी, GST से लघु उद्योगों के कर्ज, निर्यात में गिरावट, इस साल दिखा सुधार Next Tweet from user कक्षा सूचकांक 400 फीट ऊंचे टाॅवर से पहली बार यह विशेष तस्वीर बिटकॉइन स्प्रिंट नहीं है, यह एक मैराथन है (ओप-एडी) Why you're seeing this ad Updated: January 16, 2016, 12:28 PM IST गलती कंपनियों की, भुगते जनता मोतिहारी के महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र के प्रोफेसर संजय कुमार जब अपने घर पर कुछ काम कर रहे थे तभी उनपर 4-5 लोगों ने हमला कर दिया। भारतीय विद्युत क्षेत्र में आरएसओपी की प्रासंगिकता : जीवन चक्र Mickler's Beach Must Be Restored or We'll Lose It PO Cell ने धरा उद्घोषित अपराधी, इस मामले में चल रहा था फरार बिजली दरों में वृद्धि करके पूर्व शिअद-भाजपा सरकार से लेकर वर्तमान कैप्टन सरकार की ओर से राज्य में बिजली सरपल्स होने के दावों की हवा स्वयं पंजाब पावरकॉम ने निकाल दी है तथा बिजली की दरें बढ़ा कर पहले ही महंगाई की मार से त्रस्त आम लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं।    —विजय कुमार  मधुबनी Q to Z बॉलीवुड जगत की दिनभर की टॉप 10 खबरे… घोषणाएँ गर्मी के दिनों में एस्सेल की बिजली की समस्या बढ़ जाती है, ये समस्या गायघाट का नही है बल्कि एस्सेल कम्पनी की बिजली जँहा-जँहा है लोगो का हाल कुछ ऐसा ही है. गायघाट के लोग इतने आक्रोशित थे कि वो NH57 से जाम हटाने को मान ही नही रहे थे. सब बस एक ही नारा लगा रखे कि एस्सेल हटाओ बिजली लाओ. मौके पे गायघाट थानाध्यक्ष और गायघाट अंचल अधिकारी ने लोगो को आश्वासन दिया कि जल्द ही बिजली की समस्याओं को दूर किया जायेगा. अधिकारी की बात सुन लोगो को मिला शुकुन फिर दरभंगा-मुज़फ़्फ़रपुर राष्ट्रीय मार्ग से जाम को हटा आवागमन शुरू कराया गया. उ वि औद्योगिक सेवा 2 8.69 0.35 8.34 9.15 7.48 Delhi News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें खोजें खोजें गाँधी होते तो कहलाते एंटी-नेशनल जल विद्युत परियोजनाओं से त्रस्त किसान electricity charges rajasthan electricity hike electricity rates in rajasthan Power tariff comparison of electricity rates in India Read More: Power Schemes Patna-Saheb Nandkishore Hindi News News Hindiपटनासाहिबविद्युत योजनानंदकिशोर 6- सिम्पलेक्स इंजीनियरिंग कंपनी, जबलपुर Independence Day: IAS यूनुस की अनूठी पहल (PICS) NEXT एक व्यक्ति की मौत के बदले गुस्साई भीड़ ने ली 300 मगरमच्छों की जान विवो वी 7 32 जीबी (शैम्पेन गोल्ड, 4 जीबी रैम) CURRENT AFFAIRS ADVERTISEMENT The beneficiaries for free electricity connections would be identified using Socio Economic and Caste Census (SECC) 2011 data. However, un-electrified households not covered under the SECC data would also be provided electricity connections under the scheme on payment of Rs. 500 which shall be recovered by DISCOMs in 10 instalments through electricity bill. 222 उन्होंने कहा कि किसी भी प्रोजैक्ट से फ्री-पावर शुरूआती दौर में लेने की बजाय 6 से 10 साल बाद ली जानी चाहिए। सोमवार और मंगलवार सुबह खराब मौसम की वजह से उड़ान न होने की वजह से 8 प्रदेशों के मंत्री ही सम्मेलन में पहुंच पाए। इस मौके पर अरुणाचल प्रदेश के ऊर्जा मंत्री टामियो टागा, हरियाणा के ऊर्जा मंत्री कृष्ण लाल पवार, झारखंड के ऊर्जा मंत्री सी.पी. सिंह, केरल के ऊर्जा मंत्री एम.एम. मनी, ओडिशा के ऊर्जा मंत्री सुशांत सिंह, पश्चिम बंगाल के ऊर्जा मंत्री शोभन देव चटोपाध्याय, दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र कुमार जैन व हिमाचल के ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा मौजूद रहे। » See SMS short codes for other countries Kannada रेगुलेशन्स उत्पाद का नाम: कम कीमत सीलिंग चरण प्रीपेड विद्युत मीटर तटस्थ: तटस्थ मापना रांची। झारखण्ड में विद्युत नियामक आयोग द्वारा घोषित नई विद्युत टैरिफ पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि रघुवर सरकार संवेदनहीन हो गई है। बिजली बिल में अप्रत्याशित वृद्धी का जनविरोधी निर्णय लेकर जनता पर अतिरिक्त बोझ डाल दिया गया है। रंजन सिंह गाज़ियाबाद ऐप डाउनलोड करें Saved searches Related Videos ट्रेन्ट ब्रिज भ्रष्टाचार मुक्त भारत हमारी मांग नहीं हमारी जिद्द है । जय हिन्द । http://fb.com/AamAadmiParty  MP Bhulekh मध्य प्रदेश खसरा, खतौनी, भू नक्शा ऑनलाइन नकल विवरण mpbhuabhilekh.nic.in मेन्यू कृषि योजनायें अगर आप जीना चाहते हैं मनचाही जिंदगी, तो इस कहानी में है जवाब बलिया Contents of eenaduindia.com are copyright protected.Copy and/or reproduction and/or re-use of contents or any part thereof, without consent of UEPL is illegal.Such persons will be prosecuted. Sitemap| 0 बिलिंग में सुधार 81.44 से 78.49 फीसद। Advertorial4 day ago भारत में ई-शासन अटल बिहारी वाजपेयी: कवि की आत्मा और पत्रकार की जिज्ञासा वाला... Like/Dislike Leader Related to This News minister 18 जनवरी 2018 निशि पांडे अनुसंधान परियोजनाएँ – डीएसडी COMMUNITY टैक्‍स रिकॉर्ड समय में खाताबंदी को हासिल कर चुके बगलिहार स्टेज 2 के लिए बोर्ड ने पीएफसी और जेएंडके बैंक के साथ समझौता करने का निर्णय किया है। जेकेएसपीडीसी को 2,179 करोड़ का कर्ज हासिल होगा। Notifications पंचतत्व में विलीन हुए अटल बिहारी वाजपेयी, बेटी ने दी मुखाग्नि मैनुअल-5 & 6 Hindi News/ जिस्मफरोशी की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, अंदर का… सुपौल: एक बार फिर बीरपुर मे गोलियों की तऱतराहट से सदमें मे है शहरवासी – पुलिस कर रही है छानबीन !! pradeep sharma‏ @pradeep11163 18 Aug 2015 Trending Now: समन्वित पोषक तत्व प्रबंधन एवं उर्वरकों का संतुलित व समन्वित उपयोग कार्यक्रम (आई. एन. एम. ) Latest News Copyright © Prabhasakshi.com. All Rights Reserved. जागरण संवाददाता, मोहाली : चंडीगढ़ के बाद अब मोहाली में भी सस्ते बिजली उपकरण मिलेंगे। जिनमें बल्ब से लेकर ट्यूबलाइट और पंखे शामिल हैं। यह योजना एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) और पंजाब स्टेट पावर सप्लाई लिमिटेड (पीएसपीसीएल) की ओर से आयोजित कार्यक्रम के तहत शुरू की गई है। अधिकारियों का कहना है कि ये सभी एलईडी उपकरण बहुत कम बिजली की खपत करते हैं। स्कीम को लांच करने का उद्देश्य पंजाब की बिजली की खपत कम करना है। जल्द ही शहर में जगह-जगह कैंप लगाकर उजाला स्कीम के तहत लोगों को किफायती कीमत पर ये एलईडी बिजली उपकरण मुहैया कराए जाएंगे। इससे न सिर्फ लोगों को सस्ते बिजली उपकरण मिलेंगे बल्कि बिजली की खपत कम होगी। बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बिजली के यूनिट कम खर्च होने से विभाग को सरपल्स बिजली तो मिलेगी ही। इसके साथ-साथ लोगों के बिजली के बिल भी कम आएंगे। विभाग की ओर से लोगों को इनके इस्तेमाल के प्रति जागरूक करने के लिए अब जगह-जगह पर शिविर लगाए जाएंगे। उपभोक्ताओं को जो बल्ब और ट्यूबलाइट्स मुहैया करवाई जाएगी, उसकी तीन साल की वारंटी होगी। वहीं, साधारण बल्बों के मुकाबले एलईडी बल्ब 10 फीसद ज्यादा असरदार हैं। योजना के तहत दिए जाने वाले सीलिंग फैन पारंपरिक पंखों के मुकाबले ऊर्जा में 30 फीसद ज्यादा बेहतर होंते हैं। शासनादेश न्यूज निचोड़ At 11 AM : वाजपेयी की हालत नाजुक आइपीएस अधिकारी मयंक जैन की सेवाएं समाप्त, 100 करोड़ की... सस्ता ऊर्जा - इलेक्ट्रिक एनर्जी कंपनी सस्ता ऊर्जा - विद्युत विकल्प सस्ता ऊर्जा - वाणिज्यिक विद्युत आपूर्ति
Legal | Sitemap