मांडू विधायक North East Delhi, Delhi एक ऐसी लेब जहां सभी प्रकार की जांचें होंगी, मंत्री श्री जैन ने सेन्ट्रल पैथालॉजी लेब का शुभारम्भ किया 15/08/2018 दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमिशन (डीईआरसी) से जानकारी नॉर्थ दिल्ली रेजिडेंट्स वेलफेयर फेडरेशन ने मांगी थी। आरटीआई में डीईआरसी से बीएसईएस की दोनों कंपनियों और टाटा पावर के बारे में पूछा गया था। जानकारी मांगी गई थी कि इन कंपनियों ने इस साल अप्रैल, मई और 20 जून तक कितनी बिजली खरीदी। इसकी कीमत पर और किन-किन पावर जेनरेशन कंपनियों से बिजली खरीदी गई और किस रेट्स पर कंस्यूमर्स को बिजली दी गई। हालांकि, डीईआरसी की ओर से जो जवाब मिला उसमें टाटा पावर ने अपना रिप्लाई नहीं दिया। अनुसंधान योजना VIDEO: पुल पर कार्य के चलते लग रहा घंटों तक जाम, नहीं की गई वैकल्पिक व्यवस्था लुधियाना सक्षम प्राधिकारी की स्वीकृति के बिना उद्यम को निर्दिष्ट किए गए दस्तावेजों अलावा कोई अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस प्रकार फाइल किए गए दावों को प्रशासनिक सचिव, उद्योग और वाणिज्य विभाग के आदेशों पर फिर से खोला जा सकता है, बशर्ते ऐसे अनुरोध नामित सक्षम प्राधिकारी द्वारा दावे को अस्वीकार किए जाने की तिथि से 30 दिनों की अवधि के भीतर प्राप्त हों। बिजली कंपनी लाई नया पंखा, 28 वॉट बिजली लेगा यह सीलिंग फैन Copyright © NABARD. Site by: Spenta Digital Jeff Armstrong has run his helicopter company, Rampart Helicopter Services,  for 11 years outside Castle Rock. Jeff’s property, was in a relatively isolated area for years until houses were built… Read more दाड़नू में 180 मीटर केबल चोरी, 8 हजार का नुक्सान, 20 टैलीफोन बंद 02018-07-17T12:11:32 होम ›  PIB / PRS संजय शर्मा‏ @sharma__sanjay 18 Aug 2015 दूरभाष: +8613500055208 टेली मसाला 6kV हरियाणा में छोटे उद्यमियों को सरकार का तोहफा, सस्ती मिलेगी बिजली चक्रधरपुर We are very sorry, the page you are looking for appears to be missing. Click here to go to the home page. आई जी, 5 एमवी, 500 केजे Ph. : 0181-5067200, 2280104-107 दिल्ली : वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक, थोड़ी देर में मेडिकल बुलेटिन – बिहार के मुख्यमंत्री पहुंचे ऐम्स दिल्ली। 3699035990खरीदे भारत में न्‍यूक्लियर एनर्जी की धीमी रफ्तार की मुख्‍य वजह विदेशी रिएक्‍टर निर्माता कंपनियों की कम रुचि है। यह कंपनियां उस कानून का विरोध कर रही हैं, जो किसी दुर्घटना के समय मैन्‍यूफैक्‍चरर्स को जिम्‍मेदार ठहराता है। सितंबर 2015 में जनरल इलेक्ट्रिक ने लायबिलटी कानून की अनिश्‍चितता के चलते भारत के न्‍यूक्लियर एनर्जी सेक्‍टर में निवेश न करने का फैसला लिया। जनरल इलेक्ट्रिक के सीईओ जेफ इमेल्‍ट ने कहा था कि दुनिया में एक स्‍थापित एक लायबिलटी व्‍यवस्‍था है, इसे स्‍वीकार्यता मिली है और इसे अपनाया गया है। मैं अपनी कंपनी को जोखिम में नहीं डाल सकता। भारत लायबिलटी पर दोबारा नयिम नहीं बना सकता। महाराष्ट्र                             100                 6.10 रुपए धालभूमगढ़ वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं By Jagran आगामी घटनाएँ पढ़ाने का तरीका About Us| ‘हार नहीं मानूंगा, रार नई ठानूंगा’ शनिवार 18 अगस्त, 2018 आदेश इमारान खान ने पाकिस्तान के 22वें पीएम के रूप में ली शपथ 2 mins पड़ोसी राज्यों की तुलना में पहले नंबर पर है प्रदेश  Chandigarh news20 hours ago People चंड़ीगढ़ पोर्टल नीतियां सरस्वती शिशु मंदिर ने दी पुष्पांजली posted on August 18, 2018 महिलाएं और ऊर्जा Urdu اردو Replying to @JarnailSinghAAP @AAPDelhi and 2 others यादृच्छिक लेख लोकसेवा ग्यारन्टी/ सीएम हेल्पलाइन Car Reviews business1 day ago चमकी चुनावी बिजली, घरेलू उपभोक्ताओं को 8, किसानों को 12 फीसदी राहत बीमारियों के चलते कितना कमजोर हो गए थे अटल बिहारी वाजपेयी, गवाह है ये अंतिम तस्वीर INDvsENG: भारत के पास सीरीज में वापसी करने का आखिरी मौका, तीसरा टेस्ट आज से यह भी पढ़ें: यूपी कैबिनेट का फैसला: शहरों में 24 घंटे, गांवों में 18 घंटे बिजली पर्यावरण शनि देव की पूजा के ये 4 आसान उपाय खोल देते हैं किस्मत का दरवाजा 41 mins Search News नहीं रहे भारतीय राजनीति के 'अजातशत्रु' अटल बिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स में हुआ निधन मुख्‍य सामग्री पर जाएं होशियारपुर जेल जाते सलोनी बोली- मुझे कुछ हुआ तो किसी को नहीं छोडूंगी चास : NH 32 अतिक्रमण मुक्त, सड़क चौड़ीकरण को लेकर... नॉएडा से गोरखपुर सिर्फ 10 घंटे में पहुंचाएगा देश का सबसे लम्बा एक्सप्रेसवे बी) एंटी टपर सुविधा स्वतंत्रता दिवस से पहले बाजारों में तिरंगे की धूम, गोरखपुर से ग्राउंड रिपोर्ट Care Today वास्तु टिप्स: इन 5 कारणों से आपके घर में नहीं टिकता पैसा, अपनाएं ये आसान उपाय फतेहपुर New to Twitter? आत्मनिर्भर महिलाओं के लिए होगा सम्मान समारोह गाँवों केवल 6 से 8 घंटे बिजली मिलने की बात भी श्री यादव ने उठाई है। कांग्रेस ने 8 अप्रैल को अशोकनगर में बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव के विरोध में बड़ा प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद भी सरकार ने बिजली की दरें बढ़ा दी हैं। कांग्रेस का कहना है कि वह इस बारे में जल्द ही तेज और प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी। अभी सिंचाई कार्यों के लिए 70 पैसे से 1.20 रुपये प्रति किलोवाट की दर  निर्धारित है. आयोग ने इसके लिए बिजली दर बढ़ा कर पांच रुपये प्रति यूनिट  निर्धारित कर दिया  बाजार में उछाल, सैंसेक्स 229 अंक चढ़ा और निफ्टी म.. सिविल सेवा परीक्षा से जुड़े मिथक Raise Your Voice बिज़नस न्यूज़ से सुपरहिट इमेज कॉपीरइट PTI भाजपा सरकार ने पूरा किया हिसार में एयरपोर्ट का वादा: कैप्टन अभिमन्यु वाजपेयी के निधन पर पीएम -उपराष्ट्रपति समेत कई राजनेताओं ने जताया शोक Sir kya dhaniyooo m water or bijli k liye Naya transformer or Pani ki pipe line ki suvidha milegi 12 जुलाई 2018 जरूर पढ़े खंडवा: एवरेज रीडिंग लेकर बिल थमाकर उपभोक्ता की सेवा में कमी करने पर फोरम ने बिजली कंपनी पर जुर्माना लगाया है। उपभोक्ता फोरम ने बिजली कंपनी को उपभोक्ता को 3000 रुपए देने को कहा है। ​ प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) Get Personalised Newsletters भूकम्प इंजीनियरी तथा कम्पन अनुसंधान केंद्र (ईवीआरसी) 1. गैर घरेलू सेवा (एनडीएस-एक) और राजकीय सिंचाई नलकूप (आईएएस-दो) में बिना मीटर वाले उपभोक्ता श्रेणी को समाप्त कर दिया गया है। एक अप्रैल से इस श्रेणी के उपभोक्ताओं को मीटर से ही बिजली बिल दिया जाए।  इस पोस्ट को शेयर करें 2 months ago बहरहाल अटल जी ने झारखंड राज्य को एक समृद्ध राज्य के रूप में बनाने का सपना देखा था। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि जिस मकसद में झारखंड का गठन हुआ था वह पूरा हुआ या नहीं। राज्य के विकास के पैमाने को देखकर लगता है कि शायद राज्य को जिस मकसद से अलग किया गया था वह पूरा नहीं हुआ। राज्य की विद्युत कंपनियों यूपीसीएल, यूजेवीएनएल, पिटकुल और एसएलडीसी ने वितरण, उत्पादन और पारेषण का टैरिफ प्रस्ताव विद्युत नियामक आयोग को दिया था। यूपीसीएल ने बिजली की दरों में लगभग 13 फीसदी की वृद्धि का प्रस्ताव आयोग को दिया। आयोग इस प्रस्ताव पर जन सुनवाई कर सुझाव आमंत्रित कर चुका है। बिजली की दरों में वृद्धि के प्रस्ताव पर ऊर्जा निगमों की राय भी ली। इसके बाद आयोग ने नई दरों का एलान किया।  मण्डी भाव नया हरियाणा : 14 अगस्त 2018 नवंबर 2015 में चावड़ी जोन के जनकगंज, गस्त का ताजिया, वर्कशॉप, तारागंज, सराफा बाजार फीडर पर 29 लाख 19 हजार यूनिट बिजली की आपूर्ति की गई। विक्रय योग्य 26 लाख 27 हजार यूनिट बिजली पाई गई, लेकिन जोन ने उपभोक्ताओं को 32 लाख 62 हजार यूनिट का बिजली का बिल जारी कर दिया। आपूर्ति से 40 फीसदी लॉस घटाया जाए तो 17 लाख यूनिट का बिल उपभोक्ताओं को जारी होने थे, लेकिन कंपनी ने 15 लाख 62 हजार यूनिट का अधिक बिल जारी कर दिया। ज्ञात हो कि शहर में 40 फीसदी के आसपास लाइनलॉस रहता है। इलाहाबाद - नहरी क्षेत्रों में अपर्याप्त एवं असामायिक विद्युत आपूर्ति का प्रामाणिक निराकरण, डिग्गी निर्माण से सिंचाई की सुनिश्चितता, आसान शर्तों पर ऋण 9 वर्ष के लिए उपलब्ध। डाउनलोड करे मोबाइल एप इस फैसले के अनुसार शिवराज सरकार को वर्तमान में बिजली कंपनियों को 5179 करोड़ रूपए जमा करने के बाद ही इस योजना को लागू करना चाहिए। लेकिन हाईकोर्ट ने पिछले दिनों इस संबंध में दायर उनकी याचिका खारिज कर दी। राज्य सरकार के इस फैसले के पीछे चुनावी लाभ लेने की मंशा स्पष्ट है। लिहाजा, हाईकोर्ट को सरकार से इस योजना लागू करने के लिए अग्रिम राशि जमा करानी चाहिए थी। हाईकोर्ट द्वारा याचिका को खारिज करने के बाद नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की उम्मीदें सुप्रीम कोर्ट पर टिकीं हैं। इन्हें भरोसा है कि उनकी याचिका दी गई दलीलों से सहमत होते हुए देश की सर्वोच्च अदालत उक्त आदेश को पलटेगी। सस्ता विद्युत प्रदायक - टेक्सास में सस्ता बिजली सस्ता विद्युत प्रदायक - गैस और इलेक्ट्रिक कीमतें सस्ता विद्युत प्रदायक - ऊर्जा प्रदायक स्विच करें
Legal | Sitemap