यशपाल मलिक की मनोहर सरकार को धमकी, पुलिस ने सुरक्षा बढ़ाई थोड़ी देर में इमरान का शपथ ग्रहण, पाक आर्मी चीफ बाजवा से मिले सिद्धू ऐसे सभी चार करोड़ निर्धन परिवारों को बिजली कनेक्शन दिये जाएंगे, जिनके पास अभी कनेक्शन नहीं हैं।  नई बिजली दरों का मकसद मीटरिंग को बढ़ावा देना है ताकि छोटे उपभोक्ताओं पर गैर-जरूरी फिक्स्ड टैरिफ का बोझ न पड़े और बिजली के इस्तेमाल में किफायत भी आये. मिसाल के लिए अगर एक ग्रामीण घरेलू उपभोक्ता एक महीने में 30 यूनिट की बिजली इस्तेमाल करता है तो नई दरों के हिसाब से उसका महीने का बिल सिर्फ 140 रुपये आयेगा जबकि फिक्स्ड टैरिफ के तहत उसके ऊपर इससे लगभग ढाई गुना बिल आता.  My Classroom सिंचाई (मीटर) आइएएस वन  0.70  5.00 Best Air Coolers in India ..जब नवाज शरीफ बोले वाजपेयी साहब पाकिस्तान में भी जीत सकते हैं चुनाव एकीकृत अनाज विकास कार्यक्रम (मोटा अनाज एवम चावल) Case Studies कंपन प्रयोगशाला (40 मी विस्तृति) January 2018 राजनीतिक नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी Best Water Heaters/geysers in India पंजाब                                100                5.21 रुपए महामंत्री, बीजेपी हरला मंडल डिवाइस Citizen’s Charter नैनीताल में जिन जगहों पर अटल जी रुके उन यादों को संजों कर संग्रहालय बनाया जायेगा। संस्कृति Saturday, August 18, 2018 बसंतपुर के पुल से फरीदाबाद-दिल्ली की कनेक्टिविटी होगी बेहतर ગુજરાતી सोलर रुफटाप को सरकार दे रही है बढ़ावा प्रोफ़ेसर दिवाकर ने कहा कि जीएसटी से कंज़्यूमर स्टेट को फ़ायदा होगा न कि बिहार जैसे ग़रीब राज्यों को. उन्होंने कहा कि जीएसटी की पूरी व्यवस्था विदेशी पूंजी के स्वागत के लिए है. दिवाकर ने कहा कि यदि गोदरेज का साबुन सस्ता मिलेगा तो लोग कुटीर उद्योग का मंहगा साबुन क्यों लेंगे और अगर ऐसा होता है तो छोटे व्यापारियों के हित में नहीं है. कानून एवं न्याय आरटीआई सूचना August 18,2018 10:28:00 AM Teacher Resources कार्तिक और नायरा की जिंदगी में एक नए रिश्तेदार की होंगी… द्वितीय सन्शोधन The Prime Minister Shri Narendra Modi has launched a new scheme Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana –“Saubhagya” to ensure electrification of all willing households in the country in rural as well as urban area. म. प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण क. पटना : राज्य में लगने वाले दो सोलर पावर पावर प्लांट में उन कंपनियों को  राज्य सरकार प्राथमिकता देगी जो बिहार को सस्ती बिजली उपलब्ध करायेगी. बिजली कंपनी यह आकलन कर रही है कि इस पर कितना खर्च आयेगा. साथ ही इसका भी आकलन हो रहा है कि बिहार को किस कीमत पर बिजली मिलेगी.  बताया जा रहा है कि बिजली कंपनी सस्ती बिजली उपलब्ध करानेवाली कंपनी को पावर प्लांट लगाने में तरजीह देगी. भारत स्काऊट गाइड की राज्य कार्यकारिणी की बैठक आज, ऊर्जा मंत्री श्री जैन शामिल होंगे 15/08/2018 VIDEO: बैंक में व्यापारी के 60 हजार पार, CCTV में कैद हुई वारदात English (US) जवाब – दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में स्थित घरों के लिए, 200 से 300 वाट के सौर ऊर्जा पैक और 5 एलईडी लाइट के साथ बैटरी, 1 डीसी फैन, 1 डीसी पावर प्लग, मरम्मत और रखरखाव के साथ 5 साल तक उपलब्ध कराए जाएंगे। *99# banking codes 2017 2018 2019 Aadhaar Card Aadhaar Card Correction Online Apply Online Bihar Central Govt Scheme Chhattisgarh Download Eaadhaar Card Generic Medicine Government Schemes Govt Scheme health insurance How to Download Aadhaar Card India Karnataka Kerala LIC India Scheme Madhya Pradesh MP Bhavantar Bhugtan Yojana Muslim Girls Marriage Scheme Online form Online Registration Online Registration Form PMAY PMAY Online Application Pradhan Mantri Awas Yojana Punjab Rajasthan Rajasthan SSO ID Registration Reliance Jio Reliance Jio Free Phone Rojgar Mela Shala Siddhi Karyakram Swasthya Bima Yojna Scheme Swayam Free Online Course Swayam Scheme Swayam Yojana UP Uttar Pradesh Uttar Pradesh Online Property Registration पंजाब जॉब मेला 2018 मध्य प्रदेश बेरोजगारी भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के लोगों को सस्ती बिजली उपलब्ध कराने के सरकार के इरादे में कोयला कंपनियां सबसे बड़ी बाधा बनी हुई हैं। प्रदेश की बिजली उत्पादन इकाइयों को भरपूर कोयला नहीं मिलने की वजह से जहां बिजली उत्पादन प्रभावित हो रहा है, वहीं सरकार नहीं चाहती कि बिजली सस्ती करने की घोषणा करने के बाद सप्लाई में किसी तरह की दिक्कत आए। लिहाजा कोयले की जरूरत पूरी होने के बाद ही सरकार बिजली के दाम कर सकती है। मुखिया, निचितपुर 2 पंचायत Col rai‏ @col_rai 18 Aug 2015 The Express Group | The Indian Express | The Financial Express | Loksatta | inUth | Ramnath Goenka Awards August 18,2018 10:27:11 AM इंटरव्यू का सही नज़रिया India Water Portal is an Arghyam initiative CABINET MEETING एमपी एसएलडीसी प्रेरक प्रसंग कक्षा सूचकांक लो टेंशन (इंस्टोलेशन बेस्ड)  5.50  6.50 अब यूपी में शहरी इलाकों में 300 से 1000 यूनिट के लिए 8 रुपये प्रतियूनिट की दर तय की गई है। वहीं ग्रामीण इलाकों में भी बिजली की दरों में बढ़ोतरी हुई। ग्रामीण अनमीटर्ड व्यावसायिक उपभोक्ताओं को 600 रुपए बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमाह देना हेागा। शहरी इलाकों में 300 से 1000 यूनिट 8 रुपये प्रतियूनिट किया गया है। शहरी व्यावसायिक फिक्स चार्ज 200 से बढ़ाकर 300 रुपये किया गया है। शहरी व्यावसायिक उपभोक्ताओं को 300 यूनिट तक 7 रुपए प्रति यूनिट की दर चुकानी होगी। मो जहांगीर छपरा में अटल बिहारी वाजपेयी का शोक सभा का आयोजन किया... संत कबीर दास के दोहों में छुपा है जीवन को सफल बनाने का सूत्र 42 mins उपलब्‍ध सुविधाऍं Windows इसकी सराहना की और कंपनी के विकास पर संतोष जताया है। मुख्यमंत्री ने जेकेएसपीडीस द्वारा लांच किए जाने वाले नए पावर प्रोजेक्ट्स के कार्य करने के तरीके की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड ने 390 मेगावाट के किरथई 1 और 990 मेगावाट किरथई 2 परियोजना के विकास के लिए निविदा मंगाने को मंजूरी दे दी है। Written By: महत्वपूर्ण गतिविधियाँ PMModiKAElectionGSTrajyesabhaelectionsureshgaonconnectionCWGGoldkarnatakaelection Weitere Inhalte नैनीताल औद्योगिक क्षेत्र के लिए मात्र सात फीसदी बढ़ायी गयी दर   बिज़नेस अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट। 97,131 likes Col rai‏ @col_rai 18 Aug 2015 आगामी कार्यक्रम बठिंडा/मानसा मराठी सीएम योगी के मंत्री का बयान, 'मदरसों में राष्ट्रगान नहीं गाया जाएगा तो होगी कार्रवाई' सहचारी स्थायिक युक्त 1000 केएन सार्वत्रिक परीक्षण मशीन क्रास सब्सिडी की व्यवस्था समाप्त : उन्होंने बताया : टैरिफ में अभी के मुकाबले कुल 43% की वृद्धि मंजूर की गयी है. औद्योगिक क्षेत्र के लिए बिजली मात्र 7% महंगी की गयी है. बिजली का वर्तमान औसत टैरिफ 4.11 रुपये प्रति यूनिट है.  नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार (25 सितंबर) को कहा कि भारत अगले साल दिसंबर तक सभी घरों को बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लेगा. साथ ही सभी गांवों का विद्युतीकरण समय से पहले इस साल दिसंबर तक हो जाएगा. सरकार ने बिजली से वंचित सभी गांवों में एक मई 2018 तक विद्युत पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. इसी प्रकार सरकार का मार्च 2019 तक सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. सभी घरों को बिजली पहुंचाने की ‘सौभाग्य’ योजना शुरू किये जाने के जाने के मौके पर सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने दिसंबर 2018 का लक्ष्य दिया है. हम इसे करेंगे. यह एक कड़ा लक्ष्य है, लेकिन हम इसे हासिल करेंगे. सभी परिवारों को दिसंबर 2018 तक बिजली मिलेगी.’’ BudgetbusinessCentral GovernmentelectricityParliamentpunjabkesari.comTelecommunicationsकारोबारकेंद्र सरकारदूरसंचारबजटबिजलीसंसद Home Home Home, current page. ‘आम राय’ बनाने के लिए मशहूर वाजपेयी के कार्यकाल में बगैर परेशानी के बने थे तीन नए राज्य Monday 30 July , 2018 share अन्‍य सुविधाऍं ग्रामीण नवाचार फ़ोटो गैलरी टॉपर्स से बातचीत VIDEO: मेयो कॉलेज में छात्र के उत्पीड़न मामले ने तूल पकड़ा इकनॉमिक टाइम्स | Updated:Jun 4, 2018, 08:14AM IST The beneficiaries for free electricity connections would be identified using Socio Economic and Caste Census (SECC) 2011 data. However, un-electrified households not covered under the SECC data would also be provided electricity connections under the scheme on payment of Rs. 500 which shall be recovered by DISCOMs in 10 instalments through electricity bill. #Mulk (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) by: Mithilesh Dubey Gujarati News Should you buy instant water heater for your bathroom? भोपाल Go to a person's profile Helpline Number : 87501 87501 आगामी घटनाएँ महाभारत 2019: 7 में से 5 सांसदों से दिल्ली की जनता नाराज, सीलिंग सबसे बड़ा फैक्टर 24 mins अगर राज्य का आकलन सही तरीके से किया जाए तो ना तो यहां बेरोजगारी की समस्या खत्म हुई है और ना ही पलायन का। यहां ना तो गरीबी खत्म हुई है और ना ही जीवन जीने के तरीकों में कोई सुधार हुआ है। स्वास्थ्य और शिक्षा के हालात पर हर दिन बहस हो रही है। 19 आज भी मुख्यधारा के भारतीय मीडिया का एक बड़ा हिस्सा केवल विशेष व समृद्ध वर्ग के लोगों की चिंताओं और आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व कर रहा है। इस संविदा में हाशिए पर खड़े समाज जिसमें देश के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिलाएं, अल्पसंख्यक, किसान, मजदूर शामिल हैं, उनके हितों एवं संघर्षों को आसानी से नजरअंदाज कर दिया जाता है। हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का नेशनल दस्तक एक प्रयास है। प्रधानाध्यापक मध्य विद्यालय, पेलावल 8 जून 2018 शेयर बाज़ार राष्ट्रीय जलग्रहण क्षेत्र विकास कार्यक्रम चीन भी अभ्यागत विशेषज्ञों के लिए योजना दृष्टि मीडिया ऊर्जा लागत की तुलना करें - इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता ऊर्जा लागत की तुलना करें - ह्यूस्टन बिजली ऊर्जा लागत की तुलना करें - वाणिज्यिक बिजली दरें
Legal | Sitemap