फोटो क्लिक कर देखें वीडियो।कोटा। शहर में निजी बिजली कंपनी केईडीएल के खिलाफ चल रहा विरोध रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस मामले में बुधवार को भी बड़ी संख्या में महिलाओं ने केईडीएल के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसमें महिलाओं ने बिजली कंपनी के अधिकारियों को फूलों का गुलदस्ता देकर और धोवना दिखाकर वापस कोलकाता जाने की मांग की। साथ ही कोटा नहीं छोड़ने पर धोवने से कूटने की धमकी भी दे दी। देश के कोने-कोने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी क... आजादी की लड़ाई का सूत्र खादी अब बन रहा फैशन का नया ट्रेंड लाइन लॉस का लक्ष्य हासिल करने में फिसड्डी रहे अलग-अलग सर्किल के 7 चीफ इंजीनियरों को नियामक आयोग ने नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। इनमें बरेली, शाहजहांपुर, फैजाबाद, बागपत, सहारनपुर, बुलंदशहर और रामपुर के चीफ इंजीनियर शामिल हैं। उपविधि जेएमएम, जिलाध्यछ ये किया तो ग्राहक होंगे योजना से बाहर गुणवत्ता नीति ये भी पढ़ें- जीएसटी के तहत हर तिमाही रिटर्न दाखिल करना व्यावहारिक नहीं: जेटली बिजनेस दाऊदी बोहरा समाज ने मनाई ईद, समाज के लोगों ने पढ़ी सामूहिक नमाज # अटल यादेंः शादी से इनकार कर अटल ने गवां दी थी बलरामपुर लोकसभा करियर / Dailyo अटल बिहारी वाजपेयी: एक राजनेता का राजनीतिक सफर Disclamier आवाज सुप्रीम कोर्ट पहुंची चुनाव से पहले सस्ती बिजली देने और बिल माफ करने की योजना Other NABARD Links सन्शोधन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्विट कर कहा है कि सरकार सब्सिडी के माध्यम से जनता पर बिजली बिल के रूप में पड़ने वाला बोझ कम करेगी.  गरीब, मजदूर, किसान और लघु व्यापारियों को सब्सिडी दी जायेगी. सब्सिडी की घोषणा जल्द की जायेगी. कृषि (25 एचपी से ज्यादा)- 5.70 - 5.60 3:19 मुखिया, पिंड्राजोरा पंचायत शून्य ऊर्जा खपत वाले ये घर, फिलाडेल्फिया के पहले पैसिव हाउस हैं. कम आय वाले लोगों के लिए बनाए गए ये घर गरीब लोगों के लिए भी फायदेमंद हैं क्योंकि इनमें ऊर्जा की खपत नहीं के बराबर है. Faststep की ओर से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 97,131 likes 1999018990खरीदे एम ई डी फोटो गैलरी Football जल्द ही ‘नागिन 3’ में होगी प्रिंस नरुला की एंट्री Begusarai प्रेरक प्रसंग▼ ज्यादा बिजली खर्च करने पर लगेगा करंट मारवाड़ी कॉलेज की गायब छात्रा का जला हुआ शव कैरो से बरामद उप प्रमुख, बेंगाबाद खबरें एक झलक में झारखंड : 98% तक महंगी हुई घरेलू बिजली, मई से लागू, 200 यूनिट के लिए पहले लगते थे 690, अब देने पड़ेंगे 1215 09:42 देश ने खोया अनमोल रत्न, उनका जाना दुखद नैनीताल VIDEO: कांग्रेस की रैली में तिरंगे का अपमान Study Material UPSC Hindi राज्यों से लोवर सबोर्डिनेट सर्विसेज़ (अवर) 6 अप्रैल 2018 श्रम एवं रोजगार आवेदक इस योजना की अधिसूचना की तिथि से 15 अगस्त, 2015 तक की अवधि की प्रतिपूर्ति के लिए इस योजना की अधिसूचना जारी होने की तिथि से छ: महीनों के भीतर दावा आवेदन जमा करा सकते हैं। हालांकि, आवेदक को वित्तीय वर्ष की तिमाही समाप्त होने के बाद छ: महीनों के भीतर प्रत्येक तिमाही के लिए दावे प्रस्तुत करने होंगे। अन्यथा आवेदक की पावर टैरिफ सब्सिडी की पात्रता समाप्त हो जाएगी। HSSC Food Supply Sub Inspector Admit Card, Syllabus & Notes pdf सोलर रुफटाप को सरकार दे रही है बढ़ावा Right to Information मंत्रालय एनेक्सी में मुख्यमंत्री की सुरक्षा के लिये लगेंगे बुलेट प्रूफ कांच मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी एमडी आकाश त्रिपाठी ने बताया कि अंसगठित क्षेत्र के मजदूरों के कार्ड नंबर के आधार पर घरों के बिजली खाते जोड़े जाएंगे। 100 यूनिट तक के खर्च एवं एक किलो वाट तक के कनेक्शन पर सिर्फ 200 रुपए की वसूली ग्राहकों से की जाना हैं। शेष रकम कंपनी को राज्य शासन से प्राप्त होगी, सरल बिल योजना के विभागीय काम में तेजी अगले सप्ताह से ही आएगी। जुलाई के बिल से योजना का लाभ मिलने लगेगा। इसके लिए कंपनी के सभी अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए है। Bhaskar News Network | Jun 24,2018 3:00 AM IST Sir kya dhaniyooo m water or bijli k liye Naya transformer or Pani ki pipe line ki suvidha milegi विविधिक्रत ऋण योजना   अकृषि ऋण योजना अशोक लीलैंड बांग्लादेश को निर्यात करेगा 300 डबल ड.. 200 बड़े ऋण खातों की निगरानी करेगा आरबीआई उज्जवल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना कार्या. ज्ञा. 20th नवंबर 2015 विडियो मीटरन प्रोटोकॉल प्रयोगशाला मध्य भारत नगर में 13500 उपभोक्ता है। इन पर दो करोड़ रुपए का बिल बनता है। हर बार 90 फीसदी लोग आखिरी तारीख तक बिल जमा कर देते हैं। इस बार 5 हजार लोगों ने ही बिल जमा किए। बाकी माफी के चक्कर में नहीं आए। बिल जमा करने वालों में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो सस्ती बिजली और माफी की पात्रता रखते हैं लेकिन जानकारी नहीं होने से अथवा कनेक्शन कटने के डर से उन्होंने बिल जमा कर दिया है। अब वे पंजीयन करवाते हैं तो उन्हें जमा की राशि अगले बिल में समायोजित होकर वापस मिलेगी अथवा नहीं यह स्पष्ट नहीं है। एई नवीन ढोले ने बताया जिन्होंने राशि जमा करवा दी है, उन्हें वापस मिलेगी या समायोजन होगा, यह स्पष्ट नहीं है। श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 178 रनों से हराया HomeBIHARआपका प्रदेशगुड न्यूज : बिहार में बिजली कंपनी निकालने जा रही है 1200 पदों पर बहाली 09:41 पेट्रोल पंप डकैती कांड में खुलासे के करीब पुलिस बिजली और ऊर्जा घर में नहीं रहेगा चूहों का नामोनिशान अगर अपनाएंगे ये जबरदस्त घरेलू नुस्खे बॉलीवुड विशेष सूचना का अधिकार Mid-Day मानसून 22 दिन लेट, जुलाई के दूसरे सप्ताह से बरसेगा झमाझम समुदाय Arts एसबीडी बिजली बिल जमा करने लंबी कतार 2 हजार लोगों ने जमा किए 34 लाख सिंह राशि वालों आज नई नौकरी मिलने का योग है। आज आर्थिक स्थिति थोड़ी टाइट रहेगी। इस राशि के......Read more हर पार्टी में है फूट, मगर कांग्रेस को मजबूत करने में जुटे हैं कार्यकर्ता : चिरंजीव राव 6.2M people like this. Sign Up to see what your friends like. दिल्ली में बिजली की दरों में फिक्स चार्ज में बढ़ोतरी अजब गजब June 23, 2018 जनता मजदूर संघ सिंदरी अध्यक्ष प्रोफ़ेसर दिवाकर ने कहा कि सरकार टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन की भी कमर तोड़ने में लगी है. 15-16 में टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन का बजट 26 हज़ार 11 करोड़ था जो 16-17 में 22 हज़ार 91 करोड़ हो गया. जीएसटी के बाद इसे 12 हज़ार 699 करोड़ कर दिया गया है. इस कटौती से साफ़ है कि सरकर की नियत में खोट है. उन्होंने कहा कि बिना टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन को मजबूत किए जीएसटी को मज़बूत कैसे किया जा सकता है?'' minister नया हरियाणा जारी आरएसओपी परियोजनाओं की सूची सगाई से पहले देर रात हाथों में हाथ डाले दिखे निक और प्रियंका, परिवार संग डिनर डेट को किया एन्जॉय मध्यप्रदेश: राजकीय शोक एवं अवकाश की आधिकारिक सूचना | MP HOLY DAY बिजली की कीमत में बढ़त योजना के आसान और त्वरित कार्यान्वयन के लिए, आधुनिक तकनीक का उपयोग मोबाइल ऐप का उपयोग करके घरेलू सर्वेक्षण के लिए किया जाएगा। जिससे लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और आवेदक तस्वीर और पहचान प्रमाण के साथ बिजली कनेक्शन के लिए उनका आवेदन स्थान पर दर्ज किया जाएगा हालांकि पटना में एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर डीएम दिवाकर शराब, बिजली, रियल एस्टेट और पेट्रोलियम को जीएसटी से बाहर रखने की वजह केंद्र सरकार की कमज़ोरी मानते हैं. Add this video to your website by copying the code below. Learn more Notify me of new posts by email. अध्य्क्ष अखिल भारतीय दलित महासंघ प्रोटोकॉल तोड़कर पांच किमी पैदल चले पीएम नरेंद्र मोदी Fraud Complaints 3. वर्ष 2018-19 में साउथ बिहार 20 फीसदी व नॉर्थ बिहार कंपनी 22 फीसदी तक तकनीकी-व्यवसायिक नुकसान लाए। अभी कंपनी का नुकसान 36 फीसदी है। अगले वित्तीय वर्ष में नुकसान को 15 फीसदी पर लाया जाए।  भाजपा ने डाली कांग्रेस नेताओं की रेस्त्रां की फोटो मनीष जयसवाल अप्रैल में जीएसटी संग्रह 94,000 करोड़ रुपये छत्तीसगढ़ में बिजली की नई दरें घोषित, उपभोक्ताओं को कुल 531 करोड़ की दी छूट जागरण स्पेशल दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। Follow Us On b a रोहतास बुंदेलखण्ड Clear उत्पत्ति के प्लेस: चीन July 11, 2018 पिथौरागढ़ फक्कड़ पुलिसिया ‘भगत’ जिसने, पैंट पर लिखे नंबर से ही कर दिया एक रात में चार कत्ल का ‘पर्दाफाश’ फुलेश्वरी देवी Dharam Survey Join my Team Leo (सिंह) Sahasrarjun B.S.‏ @SahasrarjunBS62 18 Aug 2015 सिद्धू इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में लाहौर पहुंचे। 20 हजार की रिश्वत लेते पकडे गए थे पावसे सिंचाई : 70 पैसे की जगह देने होंगे पांच रुपये प्रति यूनिट स्वतंत्रता दिवस के रंग में, सड़कों से लेकर रेलवे स्टेशन तक पूर्व भाजपा नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी ने बसपाईयों से पूछा, कहाँ पेश करूँ अपनी बेटी ई-पेपर▼ सरकार की भूमि अधिग्रहण नीति योजनाओं का समयबद्ध रूप से कार्य करने में सबसे बड़ा अवरोध बनी। वन भूमि अधिग्रहण में देखा गया कि 85 दिनों से लेकर 295 दिनों की देरी हुई। कुछ योजनाओं में बिजली की निकासी (ट्रांसमिशन) का सामान समय पर नहीं लगाया गया, जिस कारण आर्थिक हानि हुई तथा राज्य को राजस्व नहीं मिल पाया। सरकार को एक अधिकारी समिति का गठन करना चाहिए था जो योजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण, वन विभाग से आज्ञा तथा लोगों के पुनर्वास का काम की देख-रेख करती। यह आवश्यक था कि विजली की निकासी (ग्रिड तक पँहुचाने) का काम योजनाओं के पूरा होने से पहले कर लिया जाता। चिंताओं के विषय थे योजनाओं का पूर्व में जाँच-परख न हो पाना, त्रुट्पिूर्ण योजना कार्य तथा खास तौर पर अनुश्रवण या समय-समय पर विभागीय अधिकारियों या उत्तराखंड जल-विद्युत निगम द्वारा समीक्षा न हो पाना। सबसे चिंताजनक बात थी पर्यावरण के प्रति लापरवाही, जिसका सबसे अधिक कुप्रभाव देश के संसाधनों पर पडा। मोतिहारी इलाहाबाद Allahabad केबिल व संधारित्र प्रभाग (सी डी डी) SAVE SAL'S PLACE, PROVINCETOWN सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में बिजली से वंचित परिवारों को कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए आज इस योजना की शुरुआत की गई है. बिजली पहुंचने का मतलब सिर्फ रोशनी नहीं है. आज के आधुनिक युग में जब देश डिजिटल हो रहा है. इंसान तकनीकी पर निर्भर होता जा रहा है. हमारे सभी उपकरण बिजली पर ही निर्भर हैं, ऐसे में गरीब घरों में प्रकाश पहुंचाने की पहल बहुत महत्वपूर्ण है. कहा, पिछले एक साल में ऐसे 246 गांवों को बिजली पहुंचाई गई है, जहां अभी तक बिजली नहीं थी. अभी राज्य में 26 गांव ऐसे हैं जहां बिजली पहुंचाना बाकी है. उन्होंने कहा कि अप्रैल माह तक हर गांव तक बिजली पहुंचा दी जाएगी. इस अवसर पर राज्य मंत्री रेखा आर्य, सांसद राज्य लक्ष्मी शाह, विधायक आदि मौजूद रहे. कृपया क्लिक करके, होम पेज पर वापस जाइए! NEXT STORY © 2018 nayaharyana.com. All rights reserved नई दिल्ली, 30 मार्च 2018, अपडेटेड 11:28 IST Not Found Submit your news © 2018 The Indian Express Pvt. Ltd. All Rights Reserved. इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - सर्वश्रेष्ठ ऊर्जा प्रदाता इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - आज अपने मुफ़्त उद्धरण का अनुरोध करें इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - सर्वोत्तम ऊर्जा की कीमतें
Legal | Sitemap