विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी Spread the word गुफा में बिजली 20.02.2018 पीयूष पांडेय, नई दिल्ली Updated Sat, 04 Aug 2018 05:20 AM IST Italiano ABP-C VOTER Survey Review: मध्यप्रदेश में गोवा रिटर्न सरकार | MP ELECTION NEWS मुकेश भारद्वाज ऊर्जा मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पंजाब में पिछले कुछ समय में कई प्रोजेक्ट के लिए निविदा बुलाई गई थी, लेकिन कंपनियों ने इसमें ज्यादा रुचि नहीं दिखाई थी। ख़ासकर छोटे प्रोजेक्ट में तो कंपनियों की रुचि न के बराबर है। राज्य सरकार ने 12 मेगावाट का बायोमास प्रोजेक्ट पंजाब बायोमास पावर को और 30 मेगावाट का बायोमास प्रोजेक्ट लक्ष्मी ओवरसीज़ को दिया था। लेकिन इन दोनों कंपनियों को भी कर्ज़ में परेशानी आ रही थी। साथ ही जीएनडीटीपी भटिंडा एक्सटेंशन और लेहरा मोहब्बत एक्सटेंशन जैसे प्रोजेक्ट में भी सस्ती दरों पर कर्ज एक मुद्दा है। Trending Now: सास-बहू के जिस्मफरोशी के धंधे से उठा पर्दा, रंगे... पुनःसंरचित एपीडीआरपी Leaders Sign In प्रोग्राम (अंग्रेजी) केंद्रीय विद्युत मंत्रालय की ओर से इकट्ठा किए गए आकड़ों के मुताबिक 2014-15 और 2017-18 के दौरान औसतन 5.66 फीसदी विद्युत का इजाफा देखा गया है जबकि 2010-11 और 2013-14 के बीच ये आकड़ा औसतन 5.9 फीसदी का था. और सरकार का ये दावा तब है जब हाल के सालों में थर्मल पावर प्लांट का परिचालन ऐतिहासिक तौर पर सबसे निम्न स्तर पर रहा है. प्रभाग/प्रकोष्ठ/अनुभाग प्रमुख प्रखंड विकास पदाधिकारी पूर्वी टुण्डी AAP‏Verified account @AamAadmiParty 18 Aug 2015 फोटो मज़ा मनोरंजन स्पोर्ट्स लाइफस्टाइल ट्रैवल बिज़नस एजुकेशन देश और स्टडी मैटीरियल शेयर बाज़ार Delhi केंद्र शासित प्रदेश ब्रिटेन को आईना दिखाता सैनेटरी पैड का विज्ञापन Rohini, Delhi अजमेर के प्रतिष्ठित मेयो कॉलेज में 11वीं के छात्र के साथ यौन शोषण ! मामला दर्ज अभिजीत राज धर्म-अध्यात्म बोलीविया की माली हालत खस्ता, लेकिन राष्ट्रपति ने अपने लिए 238 करोड़ रु. में बनवाया 29 मंजिला घर 21 mins अजब गजब : जिंदा चूहे की गर्दन पर उग आया सोयाबीन का पौधा, हर कोई हैरान चुटकुले एडमिशन प्रक्रिया सामान्य अध्ययन टेस्ट सुधाकर ने कहा कि अभी इसके लिए हमने फॉर्म्युला तय नहीं किया है। हम इस पर सुझाव ले रहे हैं। जैसे ही यह फाइनल हो जाएगा हम फॉर्म्युला तय कर ऑर्डर जारी कर देंगे। उन्होंने कहा कि नया टैरिफ जारी करते वक्त हमने एक प्रावधान रखा है कि जिससे बिजली कंपनियां बहुत महंगी बिजली ना लें क्योंकि उसका लोड कंस्यूमर पर जाता है। हमने इसे लिमिट कर दिया। जैसे बिजली कंपनियां अगर पावर एक्सचेंज के जरिए बिजली लेती हैं तो वह एक ट्रांसपेरेंट सिस्टम है। वहां जो रेट है उस रेट से या फिर उससे कम रेट पर बिजली लेते हैं। उससे ज्यादा रेट पर बिजली नहीं ले सकते। हमने अधिकतम रेट 5 रुपये प्रति यूनिट रखा है। अगर कभी इमरजेंसी में बिजली कंपनियों को इससे ज्यादा कीमत पर बिजली खरीदने की जरूरत पड़ी तो उसके लिए पहले अप्रूवल लेना पड़ेगा। बिहार कैफ़े जमुई of India सौभाग्य योजना (सहज बिजली हर घर योजना) उत्तर प्रदेश के लोए यहाँ क्लिक करें॥ यह योजना 25 जनवरी को भारतीय जनसंघ राजनीतिज्ञ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के विचारधारा पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जन्म शताब्दी समारोह के अवसर पर शुरू की  है। लखनऊ अंबानी के ब्रॉडबैंड प्लान से मार्केट में हलचल अन्य लिंक Cookies B positive Mumbai News in Hindi PIB / PRS हरिद्वार आयोजनकर्ता में मुख्य रूप से सोनू बारीक, तुलसी महतो, शम्भू महापात्र, अमित रक्षित बाबा सारंगी, परमथो नायक, पोदु नायक, अलोक प्रामाणिक, रंजन ठाकुर, मासांत कलन्दी, सूरज कालन्दी, गणेश मंडल, चंदन प्रजापति, विजय, बिनोद, कुना समेत काफी संख्या में कांवरिया संघ के लोगों का सराहनीय योगदान रहा। करीब दो हजार लोगों ने भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। ख़बरें खोजें न किसी का मकान टूटेगा, न अलॉटमेंट रद होगी विश्लेषण देश के कोने-कोने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी क... अटलजी नकारात्मक सोच से हमेशा दूर रहे, उनके व्यंग्य पर लोग तिलमिलाते तो जरूर थे, पर आहत नहीं होते: लालकृष्ण आडवाणी 15 mins वीरपुर/बेगूसराय: रामनवमी के अवसर पर रविवार को हिन्दू जागरण मंच द्वारा भव्य शोभा यात्रा निकाली गयी. इसमें शामिल हजार से अधिक बाइक पर सवार हिन्दुओं ने बड़ी ठाकुरवाड़ी वीरपुर से नौलागढ़ ठाकुरवाड़ी तक लगभग आठ […] सस्ती बिजली खरीदने पर मिलेगा इनाम एसी और रेफ्रिजरेटर पर 28 प्रतिशत का कर लगेगा, वहीं जीवनरक्षक दवाओं को पांच प्रतिशत के कर स्लैब में रखा गया है। सभी पूंजीगत सामान के लिए कर की दर 18 प्रतिशत होगी, जो अभी 28 प्रतिशत है। दूध व दही को कराधान से छूट जारी रहेगी जबकि मिठाई पर पांच प्रतिशत शुल्क लगेगा। दैनिक उपभोग की वस्तुओं जैसे चीनी, चाय, काफी (इंस्टेंट काफी के अलावा) व खाद्य तेलों पर पांच प्रतिशत की सबसे कम कर दर आयद होगी जो कि लगभग मौजूदा स्तर पर ही है। जीएसटी के कार्यान्वयन के बाद विशेषकर गेहूं व चावल सहित अनाजों की कीमतों में कमी आएगी क्योंकि इन्हें जीएसटी से छूट दी गई है। भोपाल। रडार न्यूज  मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से कुछ माह पूर्व राज्य सरकार द्वार 1 जुलाई से लागू की गई सरल बिजली और बिल माफी की बहुप्रचारित योजना विवादों के घेरे में आ गई है। उपभोक्ताओं के हितों के संरक्षण के लिए काम करने वाले कार्यकर्तों का आरोप है कि शिवराज सरकार की इस योजना से बिजली कंपनियों का घाटा बढ़ेगा जिसकी भरपाई नियमित रूप से बिजली बिल भरने वालों को करनी होगी। इससे साफ है कि सरल बिजली योजना से आम लोगों की जेब पर बोझ बढ़ेगा। इन्हीं तथ्यों के आधार पर इस योजना के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका लगाई गई है। Deepak Dubey  🇮🇳‏ @DBADeepakDubey 18 Aug 2015 DW और आप आप ने कहा बिजली बिलों की दरों में करो कमी सड़क पर हार्मोनियम बजाता है ये शख्स, 'इंडियन आइडल 10' के जज नेहा-विशाल ने दान किए 1-1 लाख रुपये 'सौभाग्य' योजना के तहत पहले दिन प्रदेशभर में 10400 घरों को बिजली के कनेक्शन दिये गए. फ्राइडे को मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में 1235 घरों को विद्युत कनेक्शन दिये गए. मुख्यमंत्री व केन्द्रीय मंत्री ने सभी लाभार्थियों को कनेक्शन पत्र वितरित किए. इस मौके पर केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर घर को बिजली के सपने को साकार करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. बताया गया है कि शुरुआत में 18,452 गांव बिजली से वंचित थे. जबकि अब केवल 861 गांव बिजली से वंचित रह गए हैं. कहा, अप्रैल माह तक इन सभी गांवों के विद्युतीकरण का टारगेट रखा गया है. केंद्रीय राज्यमंत्री ने निर्धारित लक्ष्य को लेकर कहा कि एक अप्रैल 2019 से पूर्व 4 करोड़ घरों में बिजली पहुंचा दी जाएगी. अभी करीब 32 लाख विद्युत वंचित घरों में बिजली पहुंचा दी गइर्1 है. Register TV Serials अजब- ग़ज़ब Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Delhi Gets 25% Affordable Electricity कक्षा कार्यक्रम : नई सेटिंग से छूटेंगे एसी उपभोक्ताओं के पसीने 25.06.2018 सीतामढ़ी जिले का गजेटियर विदेशी मीडिया सब्सक्राइब कीजिए योजना की नवीनतम जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमिशन (डीईआरसी) से जानकारी नॉर्थ दिल्ली रेजिडेंट्स वेलफेयर फेडरेशन ने मांगी थी। आरटीआई में डीईआरसी से बीएसईएस की दोनों कंपनियों और टाटा पावर के बारे में पूछा गया था। जानकारी मांगी गई थी कि इन कंपनियों ने इस साल अप्रैल, मई और 20 जून तक कितनी बिजली खरीदी। इसकी कीमत पर और किन-किन पावर जेनरेशन कंपनियों से बिजली खरीदी गई और किस रेट्स पर कंस्यूमर्स को बिजली दी गई। हालांकि, डीईआरसी की ओर से जो जवाब मिला उसमें टाटा पावर ने अपना रिप्लाई नहीं दिया। ऊर्जा दक्षता तथा पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा प्रभाग (ईआरईडी) Total 0 search results found for %20%20%E0%A4%AC%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%B2%E0%A5%80%20%E0%A4%95%E0%A4%82%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%80 In the Spotlight नेवीगेशन डीडीएसआई -168-ए प्रीपेमेंट मोड चयन के साथ एक एंट्री लेवल कम कीमत एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर है। यह बिल्ड-इन कॉन्टैक्टर या लोड स्विच है जो बिजली थ्रेशहोल्ड, क्रेडिट की समाप्ति और छेड़छाड़ की पूर्व निर्धारित सीमा पर डिस्कनेक्ट करता है। मीटर कम आय आवासीय वातावरण के लिए है। कम कीमत के रूप में, मीटर अभी भी सुविधाओं में अमीर है, द्वि-दिशात्मक और तटस्थ माप का समर्थन, बहु दर और टैरिफ योजनाओं, और एक इंफ्रारेड ऑप्टिकल पोर्ट के माध्यम से पूछताछ किट के साथ डेटा विनिमय। भोजपुरी सरकारी विभाग नहीं जमा कर रहे बिजली बिल, निगम दे रहा ढील ... और पूर्व प्रधानमंत्री ने दे दिए ढाई सौ करोड़ के पैकेज मुसलमानों से ज्यादा समलैंगिकों को पसंद करता जर्मनी कमेंट करें टास्क मेनेजर प्रधान मंत्री आवास योजना (शहरी) देश अन्‍य राज्‍य सर्वश्रेष्ठ विद्युत मूल्य - इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता सर्वश्रेष्ठ विद्युत मूल्य - ह्यूस्टन बिजली सर्वश्रेष्ठ विद्युत मूल्य - वाणिज्यिक बिजली दरें
Legal | Sitemap