अब पंजाब में घरेलू बिजली दर 5.06 रुपए से 8.32 रुपए प्रति यूनिट के बीच होगी जिसमें 13 प्रतिशत इलैक्ट्रीसिटी ड्यूटी और 5 प्रतिशत इंफ्रास्ट्रक्चर सैस शामिल होगा जबकि हरियाणा में यह दर 2.70 रुपए से 7.10 रुपए के बीच है। इसी प्रकार कमॢशयल उपभोक्ताओं को 7.20 रुपए से लेकर 7.60 रुपए प्रति यूनिट देने होंगे जबकि हरियाणा में यह दर 6.20 रुपए है।  उपयोगिता महिला और बाल कल्याण रोज बाल धोने में कोई बुराई नहीं, लेकिन ड्रायर से बचें कीर्ति आज़ाद के निलंबन के बाद बीजेपी नेताओं में मची… नया- ताजा ३. जिनके यहां मीटर नहीं है वहां मीटर लगेंगे और रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी। रेल मंत्रालय ने डिजिटल स्‍क्रीन सेवा लॉन्च कीAug 17, 2018 We need to reach out to those in power to protect our immigrant community and send a clear message to Washington that the Bay Area stands behind its beloved community members such as Mr… Read more इकनॉमिक टाइम्स | Updated:Jun 4, 2018, 08:14AM IST वन एवं पर्यावरण JOBSखबरेंजनरल नॉलेजकरंट अफेयर्ससक्सेस स्टोरी 中文(简体) तेज भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन हेतु मध्यरात्रि पट खुले Sat, 18th August 2018, 10:56 IST लक्ष्य business1 day ago Jio Phone 2 लॉन्च: जानिए कीमत, जरूरी बातें सांकेतिक फोटो। और भी देखें - पानी की बचत, असमतल भूमि पर भी खेती सिंचाई क्ष्त्रो का विस्तार, फव्वारे द्वारा सिंचाई के साथ ही फसलों पर कीटनाशक दवा का छिड़काव भी संभव- अनुदान योग्य केसेज में अनुदान सुविधा ऋण 10 से 15 वर्ष 11 माह की अनुग्रह अवधि की अवधि । पश्चिमांचल को छोड़कर पूरे प्रदेश में घरेलू और किसानों की बिजली सस्ती हो गई है। बिजली बिल पर लगने वाले रेग्युलेटरी सरचार्ज में विद्युत नियामक आयोग ने कटौती कर दी है। द्वितीय सन्शोधन मीटर वजन पुनःसंरचित एपीडीआरपी हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर कर दी गई है। इसमें आरोप लगाया गया है कि आगामी विधानसभा चुनाव से पूर्व मौजूदा शिवराज सिंह चौहान सरकार ने भाजपा का वोटबैंक को साधने के लिए यह योजना शुरू की गई है|  इस मामले में अधिवक्ता अक्षत श्रीवास्तव पैरवी करेंगे। मामले की सुनवाई एक सप्ताह के अंदर होने की संभावना है। विशेष अनुमति याचिकाकर्ता नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के प्रांताध्यक्ष डॉ.पीजी नाजपांडे व डॉ.एमए खान ने प्रेस कॉफ्रेंस में आरोप लगाया कि राज्य शासन का बिजली बिल माफी का निर्णय मनमाना है। बड़कागाँव विधायक प्रतिनिधि Hindi अपने बिटकॉन्स के साथ एक कार खरीदें: वाहन बाज़ार बीपी क्रिप्टोकुरेंसी को अपनाता है Thursday 16 August , 2018 विज्ञापन नॉलेज Patna By embedding Twitter content in your website or app, you are agreeing to the Twitter Developer Agreement and Developer Policy. 0 से 100 - 5.75 - 5.65 @AamAadmiParty This exposure must reach in all parts of country, corrupt faces of cong & BJP must be unveiled, Breaking News in Hindi (*On an order value between Rs. 10, 000 and Rs. 14,999) जन सुनवाई में जनता के द्वारा भी कुछ सुझाव दिए गए। चेंबर ऑफ कॉमर्स के मो0 शरीफ ने कहा कि कर्मचारियों के रिटायर हो जाने से कंज्यूमर को दिक्कत होती है। बिजली लॉस पर ध्यान दिया जाए। देवघर के आर एन शर्मा ने कहा कि विद्य्नुत स्थिति में बहुत सुधार हुई है। बिजली की चोरी पर रोक लगाना अति आवश्यक है। ।ठ स्विच पर सुधार करने की जरुरत है, झारखंड में सोलर पावर प्लांट लगने से हमलोग बहुत खुश हैं। लेकिन सोलर पावर का दर निर्धारित करना आवश्यक है। अच्छी पावर सप्लाई हो इस बात को आयोग सुनिश्चित करें। चेंबर ऑफ कॉमर्स के मनोज कुमार घोष ने कहा कि बिजली की दर में सुधार की जरुरत है। कॉल सेंटर में सुधार की जरुरत है साथ ही टोल फ्री नंबर में भी सुधार की जरुरत है। श्री आनंद कुमार ने कहा कि पावर सेंटर में सुधार की जरुरत है। उद्य्नोग को बढ़ावा मिलनी चाहिए। सस्ती बिजली देनेवाली कंपनी को ही तरजीह देगी बिहार सरकार फिर भी, दोनों पक्षों से आपूर्ति काटना बंद हो रहा है, क्योंकि प्रांत ने 'कोई नई बिजली संयंत्र' नीति दोनों घोषित नहीं की है, साथ ही साथ सभी विद्यमान विद्युत संयंत्रों को प्राप्त कर लिया है। लेख के अनुसार: 0 राजस्व का 16 फीसद हिस्सा कर्मचारियों पर खर्च कांग्रेस झरिया विधानसभा प्रभारी 02018-07-17T12:10:12   ⁄  Dehradun LIVE: PAK के 22वें PM के तौर पर इमरान खान ने अल्लाह के नाम से शपथ... इस तारीख को जिओ फ़ोन 2 की अगला फ़्लैश सेल, तैयार रहे   Trending News FOLLOW (11) एक 'अटल' प्रेम कथा: इश्क, इश्क ही रहा उसे रिश्तों का इल्जाम ना मिला... परीक्षा का प्रारूप मोदी ने 2014 के आम चुनावों के प्रचार के दौरान नौकरी देने का वादा किया था. लेकिन सत्ता में आते उन्होंने पलटी मारते हुए कहा कि वो युवाओं को नौकरी देने की बजाए उन्हें नौकरी सृजित करने वाला बनाना चाहते हैं. लेकिन अर्थशास्त्री मोदी सरकार के इस यू-टर्न से सहमत नहीं हैं. वे इसे एक मुद्दे को भटकाने वाली चाल के रूप में देखते हैं. इस तरह के लोन बहुत कम समय के  लिए रोजगार तो पैदा कर सकते हैं लेकिन पूर्ण-कालिक रोजगार नहीं. सीआईसी वेबसाइट में वार्षिक रिटर्न भरना क्राइम हेल्थ शिक्षा वायरल न्यूज़ धर्म-कर्म साइंस-टेक जब पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने मंच पर छू ल‍िए थे इस मह‍िला के पैर 02018-05-28T16:53:41 सोलर पावर न खरीदने वाले राज्यों को हो सकता है जुर्माना जीएसटी परिषद की चल रही बैठक में जो फैसला किया गया है उसके अनुसार केश तेल, साबुन व टूथपेस्ट जैसे आम उपभोग वाले उत्पादों पर 18 प्रतिशत की जीएसटी या एकल राष्ट्रीय बिक्रीकर दर लागू होगी। इन उत्पादों पर इस समय कुल मिलाकर 22-24 प्रतिशत कर लगता है। परिषद की इस दो दिवसीय बैठक के पहले दिन छह चीजों को छोड़ अन्य सभी वस्तुओं पर 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत की कर दर तय कर दी है। कारों पर जीएसटी की सबसे ऊंची दर लगेगी। इसके अलावा इस पर एक से 15 प्रतिशत का उपकर भी लगेगा। छोटी कारों पर 28 प्रतिशत की ऊपरी कर दर के साथ एक प्रतिशत का उपकर लगेगा। मध्यम आकार की कारों पर तीन प्रतिशत का उपकर और लग्जरी कारों पर 15 प्रतिशत का उपकर लगेगा। प्रशांत पोद्दार 17 पल्स दर: 1600 बोर व्यास: 8 मिमी Wishes MURFREESBORO RESIDENTS FOR BLACKMAN PARK इस प्रभाग के प्रायोजित और अनुसंधान परियोजनाएँ Latest News © 2018 All Right Reserved radarnews.in See more of Aam Admi Zindabad(आम आदमी जिंदाबाद) on Facebook बढ़ी हुई नयी दर एक अप्रैल से प्रभावी होगी। उन्होंने बताया कि घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 100 यूनिट तक बिजली की खपत पर वर्तमान दर में 40 पैसे, 100 से 200 यूनिट पर 45 पैसे और 200 से ऊपर यूनिट पर 55 पैसे की वृद्धि की गयी है। बिजली बिल के फिक्स चार्ज पर किसी तरह की बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। GET THE APP! किसान के बेटे का कमाल, केले के तने और रद्दी कागज से पैदा की बिजली अभिलेख 4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता अब मोहाली में भी मिलेंगे सस्ते बिजली उपकरण पौड़ी यह है मामला विजया बैंक ने रिलायंस नेवल का कर्ज NPA कैटेगरी में डाला Copyright © 2017 Reporters Corridor. All rights reserved. ऊर्जा लागत की तुलना करें - सस्ता बिजली प्रदाता ऊर्जा लागत की तुलना करें - टेक्सास में इलेक्ट्रिक कंपनियां ऊर्जा लागत की तुलना करें - उपयोगिता दरों की तुलना करें
Legal | Sitemap