प्रदेश की बिजली वितरण निगमों में अब भी बिजली छीजत का ग्राफ 25 से 35 फीसदी तक बना हुआ है वहीं बिजली चोरी मामले में कई जिलों में छीजत 35 फीसदी तक रही है। राज्य सरकार के निर्देशों के बावजूद बिजली कंपनियां चोरी व छीजत रोकने में प्रभावी कार्रवाई करने में नाकाम रही हैं। इसके उलट बिजली कंपनियों ने चोरी छीजत पर लगाम कसने के लिए संबंधित क्षेत्र के अभियंताओं के वेतन भत्ते में कटौती की तलवार भी लटकाई लेकिन नतीजा सिफर रहा है।  Saturday, Aug 18 2018 अक्षय ऊर्जा स्रोत विकास प्रभाग पावर टैरिफ सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन आवश्यक दस्तावेजों के साथ निर्धारित फॉर्म पर विभाग के वेब पोर्टल पर उद्योग और वाणिज्य निदेशक को भेजना होगा। हिसार में सिख परिवार पर हमला, पुलिस ने दर्ज की FIR इससे जहां बिजली की चोरी में कमी होगी वहीं लाइन हानियां कम होने से वितरण कंपनियों का घाटा कम होगा। देश दीपक वर्मा का कहना है कि इससे बिजली के नए कनेक्शन लेने के लिए लोगों को प्रोत्साहन मिलेगा। राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने आयोग के अध्यक्ष व सदस्य से मिलकर इस फैसले के लिए आभार जताया। आईपीएस डॉ मयंक जैन को हटाया नौकरी से मुख्य आर्थिक सलाहकार के लिए रेस हुई तेज वैश्विक रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पुअर्स (एस एंड पी) ने तुर्की की कर्ज रेटिंग 'बी+' की। Saharsa पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर Follow Us On : लाइव सिटीज डेस्क (रंजन सिन्हा) : आज लाखों लोगों के दिल में बसने वाले रवि किशन का जन्मदिन है. वे आज भोजपुरी फिल्मों के महानायक है. यही नही हिंदी, दक्षिण भाषाई फिल्मों सहित अन्य भाषाई […] लोन रिजॉल्यूशन के लिए लैंको, JP समेत 11 प्लांट्स का टेकओवर करेंगे बैंक क्यों सही नहीं है पॉपुलर कोर्स का चयन? ये हैं अहम कारण बेगुसराय सभी धनबाद नगर निगम की जनता को हार्दिक शुभकामना घरेलू बिजली बिलों का भुगतान समय से नहीं कर पाने के कारण मूल बकाया राशि और उस पर अधिरोपित सरचार्ज के कारण उपभोक्ता के बिलों की राशि बहुत ज्यादा हो जाती है। मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिकों और बीपीएल उपभोक्ताओं के घरेलू बिजली कनेक्शन की पुरानी बकाया राशि का निराकरण कर उन्हें नियमित बिल भुगतान करने के लिये प्रेरित करने के उद्देश्य से ही यह माफी स्कीम लागू की गई है। स्कीम का प्रभाव जून 2018 तक की कुल बकाया राशि पर लागू होगा। पीलीभीत     उन्होंने कहा कि नारनौंद क्षेत्र में 54 ऐसी ढाणियां है जिनमें न तो आर.डी.एस. फीडर से और न ही कृषि फीडर से बिजली आपूर्ति हो रही है। ऐसी ढाणियों को सौभाग्य योजना के तहत बिजली सप्लाई सुनिश्चित की जाए। इसके लिए विभाग द्वारा 113 करोड़ रुपये की योजना बनाई गई है। इन ढाणियों में ऑफ ग्रिड मैथ्ड अपनाते हुए सौर ऊर्जा के माध्यम से बिजली मुहैया करवाई जाए। इन्फोपैक राजनीतिक नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी आवेग धारा प्रयोगशाला VIDEO- विपक्ष पर PM का हमला, अभी भी कुछ लोग तीन तलाक बिल के विरोधी You don't have permission to access /news/2018/Jul/13/jabalpur-%E0%A4%8F%E0%A4%AE%E0%A4%AA-%E0%A4%AE-%E0%A4%B8%E0%A4%B8%E0%A4%A4-%E0%A4%AC%E0%A4%9C%E0%A4%B2-%E0%A4%A6%E0%A4%A8-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%B9%E0%A4%88%E0%A4%95%E0%A4%B0%E0%A4%9F-%E0%A4%A8-%E0%A4%A6%E0%A4%AF-%E0%A4%AC%E0%A4%A1-%E0%A4%AB%E0%A4%B8%E0%A4%B2.html on this server. 'मिनी पंजाब' में तबाही के बाद का मंजर, सैलाब में... सौभाग्य बिजली योजना (Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana )के कुछ मुख्य आकर्षण यह नीचे दिए गए हैं:- Read Also हेल्थ अलर्ट जी ई आर सी Akhilesh Shukla | Publish: Jun, 18 2018 02:18:23 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India चकल्लस News2018-07-17T12:09:14 पहला टी-20 अंतर्राष्ट्रीय देवनागरी कैसे टाइप करें बुजुर्ग की मदद को दौड़े कुत्ते, इंसान नहीं राज्य सरकार कितनी सब्सिडी दे रही है कर्क राशि वालों आज आप तनाव महसूस कर सकते हैं लेकिन शाम तक आप इस मानसिक तनाव से बाहर आ सकते हैं।...Read more by: Mithilesh Dubey S M L Fropky नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी, सात दिन का राजकीय शोक, श्रद्धांजलि देने वालों का रहा तांता नई दिल्ली। दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। यह बिजली परंपरागत साधनों के मुकाबले 25 % तक सस्ती होगी। समुद्र किनारे हवा से पैदा होने वाली 150 मेगावाट बिजली दिल्ली में सप्लाई की जाएगी। बीएसईएस राजधानी 100 मेगावाट और बीएसईएस यमुना 50 मेगावाट बिजली खरीदने जा रही हैं। हरखू रविदास संतोष मंडल एवं मधु रॉय news20 hours ago लैपटॉप - कंप्यूटर बोर्ड रिजल्ट्स BihareffectiveelectricityExpensiveincreasenew ratePatnaPercentagePunjab Kesariपटनाबिजलीबिहार सपोर्ट द वायर HSGPC ने अटल के निधन पर पिपली में होने वाले... Hindi NewsMetroLucknowDevelopmentElectrical Regulatory Commission New Electricity Rate In Uttar Pradesh आॅफ द रिकार्ड: जब PM मोदी ने महिला सांसद को वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर डांटा घरेलू एवं बीपीएल उपभोक्ता(10 पैसे कम) वित्तीय वर्ष 2017-18 में सरकार बिजली उपभोक्ताओं  को करीब तीन हजार करोड़ रुपये की सब्सिडी देगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार ऐसा पहला राज्य है, जिसने इस तरह का प्रयोग किया है. इसकी प्रशंसा केंद्र ने आधिकारिक रूप से की है. एक साल के अंदर उम्मीद है कि दूसरे राज्य भी इस पैटर्न को अपनायेंगे. उन्होंने कहा कि नये प्रावधान से राज्य में काम कर रही अलग-अलग कंपनियों की कार्यक्षमता का भी मूल्यांकन किया जा सकेगा.  योर मनी: 15 साल में कैसे जुटाएं 5 करोड़ रुपये ईमेल पर न्यूज़ पाएं -1200 प्लस यूनिट किसी मित्र को बताएं कॉग्रेश नेत्री सह ज़िप सदस्य विज्ञान और तकनीक अनुसंधान एवं विकास केरल में बाढ़ से भारी तबाही, गर्भवती महिला का हेलीकॉप्टर से किया गया रेस्क्यू मनसा वाचा कर्मणा Article बिजली कंपनी Copyright © 2018 Mahanagar Times. All Rights Reserved. हम डी के श्रीवास्तव Saubhagya – Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana 404 नहीं मिला, असुविधा के लिए क्षमा करें रितेश यादव MLA BJP भारत में खुला आइकिया का पहला स्टोर नोटबंदी, GST से लघु उद्योगों के कर्ज, निर्यात में गिरावट, इस साल दिखा सुधार दूरभाष: आइए जानते हैं बिजली की दरों में बढोतरी को लेकर किन मुद्दों पर गुप्ता ने सरकार को घेरा सरकार ने निजी कंपनियों के उस हिसाब किताब को लेकर कोई पड़ताल नहीं की, जो कंपनियों ने सरकार के पास जमा कराया. हर साल कंपनियां फर्जी घाटा सरकार के सामने पेश करती हैं और सरकार चुपचाप उसे अपने पास रख लेती है, इसका मतलब है कि सरकार की मौन स्वीकृति है. अब कंपनियों ने इसी घाटे को आधार बनाकर बिजली की बढ़ी हुई दरें डीईआरसी के सामने पेश कर दी हैं. सरकार तो (सीएजी) आडिट कराने की बात करती थी, लेकिन अब उस मामले पर चुप है, केजरीवाल जी को जवाब देना चाहिए कि आखिर दिल्ली वालों को सस्ती बिजली के सपने दिखाकर बिजली महंगी करने की तैयारी क्यों की जा रही है. सरकार हर साल दो हज़ार करोड़ रुपए निजी बिजली कंपनियों को सब्सि़डी के तौर पर दे रही है, दिल्ली की जनता की कमाई का पैसा कंपनियों को दिया जा रहा है और अब दिल्ली की जनता पर ही टैरिफ का बोझ बढाने की तैयारी हो रही है. Email this article to a friend मंथन होरोस्कोप दिल्ली में DTC कर्मचारियों ने मनाया शोक दिवस, कराया मुंडन Audiotrainer स्वशिक्षा सीकर में सेक्स रैकेट का खुलासा, चार कॉलगर्ल्‍स समेत 13 गिरफ्तार HI-FI Pipliyamandi news @खेतों से फसल चुरा रहे युवक को ग्रामीणों ने पुलिस के हवाले कि या बड़े बिजली उपभोक्ताओं की खपत पर रखी जाएगी नजर #raipur August 11, 2018 at 12:17 pm More From Patna पांचवां सवाल –  भारत सरकार का पहले का कार्यक्रम ’24×7 पावर फॉर ऑल’ के समान ही उद्देश्य है। यह कैसे इस कार्यक्रम से अलग है? स्टार्ट-स्टॉप गृह मंत्रालय और प्रवर्तन In the Spotlight अगर उज्ज्वला योजना का लाभार्थी को लोन लेता है, तब एलपीजी चूल्हे और सिलेंडर दोनों की क़ीमत ऑइल मार्केटिंग कंपनी (ओएमसी) द्वारा हर रिफिल के बाद लाभार्थी को मिलने वाली सब्सिडी की रकम से मासिक किश्तों में सब्सिडी से ली जाती है. गैस और इलेक्ट्रिक - बिजली का मीटर गैस और इलेक्ट्रिक - सस्ता बिजली बिल गैस और इलेक्ट्रिक - ऊर्जा योजनाओं की तुलना करें
Legal | Sitemap