सस्ती बिजली खरीदने पर मिलेगा इनाम Ceiling Fans संपूर्ण परियोजनाओं की सूची 3 months ago बवाना का बोझ : बवाना पावर प्लांट गैस न मिलने की वजह से बंद है। तब भी इसकी फिक्स कॉस्ट काफी आती है और यह खर्चे में जुड़कर कंज्यूमर तक ही पहुंचती है। या तो इस प्लांट के लिए गैस का इंतजाम कर इसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किया जाए या फिर फिक्स कॉस्ट सरकार वहन करे। 301--500--5.60--6.20 AllPhoto गैलरीVideo गैलरी बाजार चमकी चुनावी बिजली, घरेलू उपभोक्ताओं को 8, किसानों को 12 फीसदी राहत 1/6 #Sushant Singh Rajput बिजली, दूध, अनाज, सब्जियां सस्ती, तेल घी होगा महंगा, GST से आम लोगों को और क्या-क्या फायदा, पढ़ें पूरी रिपोर्ट © Bhaskar News Network सिविल सेवा परीक्षा : NOKIA का सबसे सस्ता 4G मोबाइल फोन जानिए फीचर #Nutritiousfoods: थाइरॉइड हॉर्मोन को नियंत्रित करता है Iodine, जानें इसके फायदे Jara Hatke About Us | Terms of Service | Privacy Policy | Newsletters | Apps | RSS | Advertise with Us | Work for Us | Contact Us | Feedback | Sitemap | Cookie Policy 5% टैक्स स्लैब अविनाश कुमार पर्यावरण और सतत विकास पर महात्मा गांधी कार एफएक्यू  Local News कोयला आधारित बिजली संयंत्रों के विपरीत विंड एनर्जी प्लांट पॉल्यूशन फ्री होती है। गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, एमपी, आंध्रप्रदेश के समुद्री इलाकों में विंड एनर्जी का उत्पादन होता है। ट्रांसमिशन लाइन के जरिए ये बिजली दिल्ली लाई जाएगी। एनर्जी लॉ एक्सपर्ट राजसिंह निरंजन कहते हैं कि विंड एनर्जी ग्रीन एनर्जी के अंदर आती है। Career 404 : Page Not Found बिहार पी.सी.एस. Gujarati Videos हिन्दी न्यूज़ | News | मराठी | বাংলা | ગુજરાતી | ಕನ್ನಡ | தமிழ் | తెలుగు | മലയാള | GST गैर-पारंपरिक हाइड्रोकार्बन की खोज और दोहन के लिये नीति-रूपरेखाAug 02, 2018 समाज कल्याण पी डी एम 2:28 APPS जीएसटी के तहत चार टैक्स स्लैब बनाए गए हैं. ये टैक्स स्लैब हैं- 5%, 12%, 18% और 28%. ज़्यादातर वस्तुओं को 12 फ़ीसदी और 18 फ़ीसदी टैक्स के दायरे में रखा गया है. खबरें एक झलक में पॉपुलर Follow अपर / उप सचिव HSSC Food Supply Sub Inspector Admit Card, Syllabus & Notes pdf Collections अजमेर जिला परिषद में आयोजित हुई स्वच्छता पर कार्यशाला करियर Why Bijli Bachao? रेडियो म. प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण क. Română Follow Us On: जयनारायण मुंडा किसान कर्ज माफी और जीएसटी से राज्‍यों का राजकोषीय घाटा बढ़ा : आरबीआई राशिफल: जानें कैसे रहेंगे 18 अगस्त को आपके सितारे Join Us पिपलियामंडी प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य योजना – प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 25 सितंबर, 2017 को ग्रामीण और शहरी इलाकों के साथ ही देश में सभी विद्युतीकरण के इच्छुक घरों को सुनिश्चित करने के लिए सौभाग्य योजना के नाम से एक नई योजना शुरू की है। यह योजना देश के ग्रामीण और शहरी इलाकों में रह रहे गरीब और पिछड़े वर्ग के लोगों के घरों में उजाला करने के उद्देश्य से शुरू की गयी है। 21-Feb-17 12:05 आरटीआई सूचना चित्रकूट Top Ten Air Coolers in India by Efficiency and Price कीमत- 5.9 लाख रुपये News2018-05-28T16:54:36 रीवा मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना Embed Tweet Arwal अटल जी का जाना भारत में राजनीति के महायुग का अंत: सीएम योगी राशिफल: जानें कैसे रहेंगे 18 अगस्त को आपके सितारे iOS अब पाइए अपने शहर ( Shahdol News in Hindi) सबसे पहले पत्रिका वेबसाइट पर | Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Patrika Hindi News App, Hindi Samachar की ताज़ा खबरें हिदी में अपडेट पाने के लिए लाइक करें Patrika फेसबुक पेज अनुतरंग रिक्ति अनुकार प्रयोगशाला ( 80 m Span) अगला पेज → भागलपुर मीडिया व्यक्तियों के ऑनलाइन प्रत्यायन संबंधित सामग्री Fraud Complaints सूचना एवं प्रसारण रोहतास © Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved. ऑनलाइन भुगतान पर कुल बिल का एक फीसदी या अधिकतम 250 रुपये तक की छूट दी जायेगी.  बिटकोइन पोस्ट-चुनाव उछाल देखने के लिए केवल डिजिटल मुद्रा नहीं था - CoinDesk शिक्षा/नौकरी फोटो गैलरी राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना रायगढ़ और रायपुर मेमू की समय सारिणी में आंशिक परिवर्तन ऊर्जा सचिव राधिका झा के अनुसार राज्य में 3,52,625 परिवार बिजली से वंचित हैं. इसमें से 95,577 परिवारों को दीनदयाल उपाध्याय योजना से विद्युत आपूर्ति दी जाएगी. साथ ही शेष बचे 2,57,048 परिवारों को 'सौभाग्य' योजना के तहत विद्युतीकृत किया जाएगा. राज्य के दूर-दराज के क्षेत्रों में जहां अपरिहार्य कारणों से विद्युत लाइन बनाना संभव नहीं है, वहां सोलर एनर्जी कनेक्शन दिए जाएंगे. जिसके लिये करीब 50,000 प्रति घर व्यय होगा. ऐसे संयोजनों की संख्या लगभग 9,128 है. लाल किले पर आज 15 अगस्त की फुल ड्रेस रिहर्सल, बच कर चलें अपना शहर चुनें Terms & Conditions | Refund & Cancellation | Privacy Policy Vaishali इस घटना से दो माह पूर्व कनिष्ठ यंत्री पावसे ने उनसे अपने फोन से उनके भाई से तीस हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। उनके भाई मनोज उस बातचीत को अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया था जिसमें बातचीत में कनिष्ठ यंत्री द्वारा 20 हजार पर मामला तय कर लिया गया था। इसके बात इस रिकॉर्डिंग के आधार पर लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर लोकायुक्त ने आवेदक से कहा कि वह कनिष्ठ यंत्री को रिश्वत की राशि लेने कमलाराजा चिकित्सालय के पीछे बुलाए जहां उसने बुलाया तथा लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोच लिया था। शनिदेव की कृपा पाने के लिए शनिवार को काली गाय को खिलाएं बूंदी के लड्डू, करियर में मिल सकती है सफलता 18 mins कुल खपत का 17% हिस्सा  Share नारी पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटनासाहिब क्षेत्र के लिए 28 70... INDvsENG: भारत के पास सीरीज में वापसी करने का आखिरी मौका, तीसरा टेस्ट आज से चुनाव खत्म, अब हो गई बिजली महंगी जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के लोगों को सस्ती बिजली उपलब्ध कराने के सरकार के इरादे में कोयला कंपनियां सबसे बड़ी बाधा बनी हुई हैं। प्रदेश की बिजली उत्पादन इकाइयों को भरपूर कोयला नहीं मिलने की वजह से जहां बिजली उत्पादन प्रभावित हो रहा है, वहीं सरकार नहीं चाहती कि बिजली सस्ती करने की घोषणा करने के बाद सप्लाई में किसी तरह की दिक्कत आए। लिहाजा कोयले की जरूरत पूरी होने के बाद ही सरकार बिजली के दाम कर सकती है। शून्य ऊर्जा खपत वाले ये घर, फिलाडेल्फिया के पहले पैसिव हाउस हैं. कम आय वाले लोगों के लिए बनाए गए ये घर गरीब लोगों के लिए भी फायदेमंद हैं क्योंकि इनमें ऊर्जा की खपत नहीं के बराबर है. नई दरों के बाद घरेलू बिजली की दरों में औसत तीन पैसे प्रति यूनिट का इजाफा हुआ है। 100 यूनिट पर पहले की तरह तीन रुपए बीस पैसे पर बिजली मिलेगी। वहीं 101 से 200 तक 3.45 रुपए प्रति यूनिट पर बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 3. 48 रुपए थी। 201 से 300 तक 4. 05 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.02 रुपए थी। 301 से 400 यूनिट खपत पर 4.21 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.25 रुपए थी। वहीं 401 यूनिट से ऊपर बिजली की खपत पर 4.21 रुपए पर बिजली मिलेगी।  Read More: विद्युतयोजनाअवधिजून Downloads सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई यह ईपीसी मोड के तहत पूरी तरह सरकारी प्रोजेक्ट हैं। इसके अलावा 9 मेगावाट के हानू और 9 के मेगावाट के दाह प्रोजेक्ट के लिए निगम द्वारा पूरी की गई निविदा प्रक्रिया के आधार पर पात्र बोलीदाता को ठेका देने की अनुमति दे दी गई है। पुग लेह 5 मेगावाट की भू-तापीय परियोजना आईपीपी मोड पर विकसित करने का भी निर्णय किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण 1,856 मेगावाट क्षमता के स्वालकोट एचईपी प्रोजेक्ट के लिए बोर्ड ने जल्द विस्तृत रिपोर्ट पूरी करने और सीईए से टेक्नो 6 से 10 साल बाद ली जानी चाहिए प्रोजैक्ट से फ्री-पावर Last updated: Thu, 22 Mar 2018 06:41 AM IST स्वतंत्रता दिवस से पहले बाजारों में तिरंगे की धूम, गोरखपुर से ग्राउंड रिपोर्ट अंदरखाने दोनों की मिलीभगत है। इसका ताजा उदाहरण यह है कि बिजली कंपनियां ‘पावर परचेज एडजस्टमेंट चार्जेज’ के नाम से हर तीसरे महीने बिजली के दाम बढ़ाने के लिए दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) को प्रतिवेदन देती थीं। डीईआरसी बिजली कंपनियों के दावों के अनुसार हर तीसरे महीने बिजली के दाम चार फीसद से लेकर 14 फीसद तक बढ़ा देता था। सस्ते विद्युत आपूर्ति - ऊर्जा प्रदाता बदलें सस्ते विद्युत आपूर्ति - विद्युत कैलकुलेटर सस्ते विद्युत आपूर्ति - ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों
Legal | Sitemap