Life and Style भोपाल में स्‍थापित मीटरिंग क्रियाविधि प्रयोगशाला लाइव मनी Hi-Fi 14 अगस्त 2018 बिजली VPS की सुकन्या विवि में थर्ड, मौलाना मजहरूल अरबी-फारसी विवि का परिणाम घोषित June 27, 2018 बिजली बनाने के बजाय खरीदकर बेचना लाभ का सौदा, जाने कैसे Українська мова www.bhaskar.com News Alerts रूसी उप प्रधान मंत्री ने कहा है कि वह एक राज्य समर्थित क्रिप्टोक्यूरेंसी का समर्थन करता है बिल माफी के लिए घर-घर पहुंच रही बिजली कंपनी की टीम Web Title electricity departments surcharge apology scheme for government defaulter डाउनलोड एन.सी.ई.आर.टी. बुक 4 अगस्त 2018 ईडीएफ के सामने भी हैं सवाल कैग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उत्तराखंड सरकार की महत्वाकांक्षी योजना थी कि वह अपनी जलशक्ति का उपयोग तथा विकास सरकारी तथा निजी क्षेत्र के सहयोग से करेगा। राज्य की जल-विद्युत बनाने की नीति अक्टूबर 2002 को बनी। उसका मुख्य उद्देश्य था राज्य को ऊर्जा प्रदेश बनाया जाय और उसकी बनाई बिजली राज्य को ही नहीं बल्कि देश के उत्तरी विद्युत वितरण केन्द्र को भी मिले। उसके निजी क्षेत्र की जल-विद्युत योजनाओं के कार्यांवयन की बांट, क्रिया तथा पर्यावरण पर प्रभाव को जाँचने तथा निरीक्षण करने के बाद पता लगा कि 48 योजनाएं जो 1993 से 2006 तक स्वीकृत की गई थीं, 15 वर्षों के बाद केवल दस प्रतिशत ही पूरी हो पाईं। उन सब की विद्युत उत्पादन क्षमता 2,423.10 मेगावाट आंकी गई थी, लेकिन मार्च 2009 तक वह केवल 418.05 मेगावाट ही हो पाईं। इसका कैग के अनुसार मुख्य कारण थे भूमि प्राप्ति में देरी, वन विभाग से समय पर आज्ञा न ले पाना तथा विद्युत उत्पादन क्षमता में लगातार बदलाव करते रहना, जिससे राज्य सरकार को आर्थिक हानि हुई। अन्य प्रमुख कारण थे, योजना संभावनाओं की अपूर्ण समीक्षा, उनके कार्यान्वयन में कमी तथा उनका सही मूल्यांकन, जिसे उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड को करना था, न कर पाना। प्रगति की जाँच के लिए सही मूल्यांकन पद्धति की आवश्यकता थी जो बनाने, मशीनरी तथा सामान लगने के समय में हुई त्रुटियों को जाँच करने का काम नहीं कर पाई, न ही यह निश्चित कर पाई कि वह त्रुटियाँ फिर न हों। निजी कंपनियों पर समझौते की जो शर्तें लगाई गई थीं उनका पालन भी नहीं हो पाया। भविष्यफल Term and Condition बिजली कंपनी का काम छोड़कर भागीं नौ और कंपनियां प्रवासी भारतीय Horoscope Spacial प्रतीकों के साथ 7 खंड एलसीडी हम करने के लिए सीधे अपनी जांच भेजें (0 / 3000) दिसम्बर 7, 2017 Md. Saheb Ali BIHAR, आपका प्रदेश, इकॉनमी, ट्रेंडिंग 0 टावर परीक्षण केंद्र सुखपाल खैहरा को पार्टी ने क्यों हटाया, भगवंत मान ने किया खुलासा नैनीताल समाचार, 21 जनवरी 2011 Climate changes are already happening and the future for our young people will be dire unless we take prompt strong action. Other US cities and other countries are already making commitments to act… Read more सुपौल naidunia.jagran.com 22 मार्च 2017, 12:44 AM सिंहभूम (प) 10 बेगूसराय में बेखौफ अपराधियों का तांडव, युवक को मारी गोली August 11, 2018 Dailyhunt बिहार में बिजली-दर में बदलाव नहीं, उपभोक्ताओं को राहत Similar Posts CONNECT अस्पताल आजादी के 71 साल बाद भी कुपोषण से हर साल होती है 3000 बच्चों की मौत दान खोजें खोजें #अटल बिहारी वाजपेयी अध्यक्ष भारतीय जनता युवा मोर्चा विमर्श Published: 2017-03-30 13:39:03.0 Show — त्वरित संपर्क Hide — त्वरित संपर्क क्या वाकई एक राष्ट्र एक टैक्स है? संबंधित ख़बरे To Subscribe Newsletter and Get Updates. नगर पंचायत के सफाई कर्मी ने वेतन बढ़ाने की माँग कों लेकर किया अनिश्चितकालीन काम बंदी,सड़कों पर लगा कूड़ा का ढेर पटना | बिजली कंपनी में 2000 पदों पर बहाली होगी। इसमें 800 पदों पर सामान्य विषय से स्नातक करने वाले आवेदन कर सकेंगे। इनके लिए सहायक, सहायक भंडार पाल और पत्राचार लिपिक के पद होंगे। अर्थशास्त्र व गणित से स्नातक करने वाले जूनियर अकाउंट क्लर्क के 250 पदों के लिए और इंजीनियरिंग करने वाले जेई इलेक्ट्रिक व सिविल के 400 पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। आईटीआई पास बटन पट चालक व जूनियर लाइन मैन के 600 पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। अकाउंट ऑफिसर के 20 और असिस्टेंट प्रोफेशनल ऑफिसर के 20 पदों पर भी भर्ती होगी। विज्ञापन अगले माह आएगा। आवेदन व परीक्षा ऑनलाइन होगी। साक्षात्कार नहीं होगा। पोषाहार Comment Telenovela बीबीसी के बारे में स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने अटल जी की कविता 'मौत से ठन गई' गाकर दी श्रद्धांजलि 6- सिम्पलेक्स इंजीनियरिंग कंपनी, जबलपुर भोपाल में स्‍थापित मीटरिंग क्रियाविधि प्रयोगशाला Use the search bar at the top to find what your looking for. Vaishali राफेल डील पर केंद्र सरकार को घेरने की बनेगी रणनीति, राहुल गांधी ने... दान © 2018 All Right Reserved radarnews.in मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हासिल हुई सर्वाधिक 10.08 % वृद्धि दर: रिपोर्ट प्रसव के समय: 30 दिन इकोनॉमी मंजूरी लेने की जरूरत पर जोर दिया है। इस योजना के लिए कुल 43 हजार 33 करोड़ के निवेश की आवश्यकता है। जिसमें से भारत सरकार (योजना की पूरी अवधि में) 33 हजार 4 सौ 53 करोड़ की सहायता देगी। निजी डिस्कॉम एवं राज्य बिजली विभागों समेत सभी डिस्कॉम इस योजना के तहत वित्तीय सहायता के लिए पात्र होंगी। डिस्कॉम विशिष्ट नेटवर्क जरूरत को ध्‍यान में रखते हुए ग्रामीण ढांचागत कार्यों को मजबूत बनाने को वरीयता देंगी और इस योजना के तहत आने वाली परियोजनाओं के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करेंगी। इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए नोडल एजेंसी ग्रामीण विद्युतीकरण निगम (आरईसी) होगी। आरईसी,  योजना के लागू किए जाने की मासिक प्रगति रिपोर्ट को ऊर्जा मंत्रालय तथा केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण के समक्ष प्रस्तुत करेगी। इस रिपोर्ट में वित्तीय तथा वास्तविक प्रगति का ब्यौरा दिया जाएगा। बाराबंकी दिलचस्प खबरें प्रधान मंत्री आवास योजना (शहरी) सीवान यह भी पढ़ेंः एक रात के लिए 15 हजार रुपये में नाबालिग लड़की का सौदा ये भी पढ़ें- अविश्वसनीय लेकिन ये सच है, देखिए दीवारों पर कैसे होती है खेती Sajid on महाराष्ट्र “श्रवण बाल सेवा राज्य निवृत्तिवेतन योजना 2017” कांग्रेस अध्यक्ष का एक ऐसा चुनाव जिसमें 'गांधी' को हार मिली थी घर की बिजली दिशानिर्देश तारा देवी हाल में हुए परिवर्तन Lakhisarai जनता मजदूर संघ सिंदरी अध्यक्ष Tags:#प्रति#यूनिट#बिजली बिज़नस न्यूज़ से सुपरहिट जलविद्युत परियोजनाओं से छलनी होते हिमालय के पहाड़ jabalpur news in hindi mp. patrika. com गर्व डैशबोर्ड मजिस्ट्रियल जांच रिपोर्ट समाचार की सदस्यता लें ऑक्सीजन, पेट्रोल-डीजल, खाद्य पदार्थों, पेयजल की कमी पीक आवर्स में एनर्जी चार्ज 5% बढ़ाया ... और पूर्व प्रधानमंत्री ने दे दिए ढाई सौ करोड़ के पैकेज ...कांग्रेस उम्मीदवार के हाथों ही हुई थी सिद्धारमैया की पहली हार प्रदेश सरकार के दावे खोखले, मंडियों तक नहीं... सबसे खतरनाक 10 पुल, यहां जान हथेली पर रखकर चलते हैं… विदेशी अखबारों से नोएडा Retweet पूजन विधि और आरतियां लाइव सिटीज डेस्कः बिजली कंपनी ने एक अप्रैल, 2018 से प्रभावी होने वाली बिजली दर 10 फीसदी बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है, लेकिन प्रस्ताव में उपभोक्ताओं के लिए कई राहत भी है. गांव में 50 यूनिट और शहर में 100 यूनिट तक खपत करने वालों को अभी की तुलना में सस्ती बिजली मिलेगी. खेत को पानी देने के एवज में किसानों को मौजूदा दर पर ही बिजली मिलेगी. बीपीएल श्रेणी वाले कुटीर ज्योति उपभोक्ताओं को भी सस्ती बिजली देने का प्रस्ताव है. नवभारत टाइम्स | Updated:Dec 18, 2011, 06:05AM IST (e)    Increased economic activities and jobs State Of The States Conclave पूर्वी भारत MPINFO समय पर बिजली का बिल जमा करने वालों को अब ज्यादा रिबेट मिल सकती है। इस पर भी राज्य विद्युत नियामक आयोग विचार कर रहा है। समय पर बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं को मौजूदा समय में 0.25 प्रतिशत की रिबेट मिलती है। राज्य विद्युत नियामक आयोग इस रिबेट को बढ़ाकर 1.5 प्रतिशत करने की तैयारी कर रहा है। जल्द ही इसका ऐलान हो सकता है। दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। बिजली निगम के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर मुकेश गुप्ता का कहना है कि यह माफी तभी मिलेगी जब वह एक साल तक नियमित तौर पर बिल अदा करते रहेंगे। अगर करोड़ों रुपये के बकाया बिल की रिकवरी हो जाती है तो शहर में पावर हाउस सहित बिजली लाइनों के की मरम्मत आसानी से हो सकेगी। राजस्व बढ़ने के साथ ही बिजली यूनिट भी सस्ती हो सकती है। इससे लोगों को गर्मी में पर्याप्त बिजली भी मिल सकती है। विभाग ने संकेत दिए हैं कि घाटे का सौदा लंबे समय तक सहन नहीं कर सकते हैं। रिमाइंडर के बाद बकाया वसूल नहीं होता है तो कनेक्शन काटने की प्रक्रिया पर विचार किया जाएगा। अगर कोई विभाग शर्त पर खरा नहीं उतरता है तो उसे इस स्कीम का फायदा नहीं मिलेगा। सरकारी विभागों पर करोड़ों के बकाया से पब्लिक पर गलत असर पड़ता है। Promoted by 226 supporters 31 जुलाई 2018 ( इस वेबसाइट से जुड़ा कोई भी सुझाव देने के लिये 8130392355 नम्बर पर वाट्सएप मैसेज भेजें। ) VIDEO: पुल पर कार्य के चलते लग रहा घंटों तक जाम, नहीं की गई वैकल्पिक व्यवस्था अ RC Desk2, December 04,2017 12:18:11 PM होम ›  PIB / PRS एसडीपीओ, बड़कागांव थाना फिट मासूम को सिगरेट से दागा  पेचकस घोंपकर मार डाला अटल जी के अंतिम दर्शन करने पहुचे लालकृष्ण आडवाणी जनवरी 11, 2018 Ranjeet Jha BIHAR, आपका प्रदेश, ट्रेंडिंग 0 एक ही पत्थर की चट्टान से बने इस मंदिर का पांडवों ने करवाया था... इतने खूबसूरत हैट्स की बस दिल आ जाए... 100 वर्षों के सबसे भयंकर बाढ़ से जूझ रहा है केरल, 324 लोगों ... साइंस चम्पावत एडमिशन प्रक्रिया Terms & Conditions | Privacy Policy | Disclaimer श्रीमती नीता पटेरिया को नितिन गडकरी बोले- नौकरी ही नहीं हैं तो आरक्षण का क्या फायदा पूर्व पीएम वाजपेयी के खिलाफ प्रोफेसर ने किया था यह टिप्पणी गुफा में बिजली 20.02.2018 सीकर 'अटल अंदाज'...सब समर्थक ठहाके मार कर हंसे, दूसरे पक्षी आएंगे पार्टी का जनाधार बढ़ाएंगे ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - बिजली की दर ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - ऊर्जा तुलना ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - बिजली बिल कैलकुलेटर
Legal | Sitemap