उत्तर प्रदेश की कानपुर बिजली आपूर्ति कंपनी ने सालभर में अपनी स्थिति सुधार ली है। ताजा रैंकिंग में यह कंपनी 24वें नंबर पर है, जबकि सालभर पहले यह 31वें पायदान पर थी। उत्तर प्रदेश की बाकी तीनों वितरण कंपनियां सीएसपीडीसीएल से नीचे हैं। वहीं, बिहार दोनों कंपनियों नार्थ और साउथ की स्थिति यहां से ठीक है। नार्थ कंपनी ने अपना 17वां रैंक बरकरार रखा है, साउथ बिहार वितरण कंपनी 21 से 30 स्थान पर चली गई है। कार्तिक और नायरा की जिंदगी में एक नए रिश्तेदार की होंगी… परिचय | पी.सी.एस. अपडेट्स | परीक्षा का प्रारूप | उत्तर प्रदेश पी.सी.एस. | बिहार पी.सी.एस. | राजस्थान पी.सी.एस. | मध्य प्रदेश पी.सी.एस. | उत्तराखंड पी.सी.एस. | झारखंड पी.सी.एस. | छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. | परीक्षा उपयोगी पुस्तकें | पी.सी.एस. अपडेट्स धनबाद : वाजपेयी ने बॉडी गार्ड को घुमाने के लिए... गैर-पारंपरिक हाइड्रोकार्बन की खोज और दोहन के लिये नीति-रूपरेखाAug 02, 2018 बोकारो सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना मुख्यमंत्री स्थायी कृषि पंप कनेक्शन योजना के नये प्रावधान Unterrichtsreihen बेगूसराय में हैवानियत, विक्षिप्त महिला से रेप कर फरार हुआ बदमाश विद्युत रोधन प्रयोगशाला Day Update मुकेश भारद्वाज साहिबगंज टेली टॉक 09:42 देश ने खोया अनमोल रत्न, उनका जाना दुखद रायपुर। छत्तीसगढ़ में चुनावी साल में सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है। विद्युत नियामक आयोग की ओर से सोमवार को जारी नई दर से घरेलू उपभोक्ताओं से लेकर किसानों, निम्न दाब उपभोक्ता और औद्योगिक उपभोक्ताओं को राहत दी गई है। आयोग ने गठन के बाद पहली बार बिजली दर को पिछले साल के मुकाबले कम किया है। Copyright 2016 Molitics All Rights Reserved Home मध्यप्रदेश सुप्रीम कोर्ट पहुंची चुनाव से पहले सस्ती बिजली देने और बिल माफ... Grievances PATNA : बिहार में बिजली कंपनी ने समाप्त हो रहे वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन राजस्व संग्रह का बड़ा रिकार्ड हासिल कर लिया। पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में राजस्व संग्रह में 2200 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। अब तक की यह सबसे अधिक बढ़ोतरी है। बिजली कंपनी के आला अधिकारियों का आकलन है कि अब अनुदान के भरोसे अपने घाटे की भरपाई करने वाली बिजली कंपनी मुनाफे के ट्रैक पर आ रही है। Shayari युगलकिशोर मुखी इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे नवजोत सिंह सिद्धू, पाकिस्तान हुए रवाना Englishmate.com Hind Chef‏ @hindchef 18 Aug 2015 #Kerala सोशल मीडिया SavePreview Newsroom ग्वालियर. 25 अप्रैल 2017 को बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक के ऑफिस में जहर खाकर जान देने वाले बिजली ठेकेदार रवींद्र सिंह जादौन की हर बात सच थी. वे खुद 9 साल बिजली कंपनी से अपने किए गए काम का पौने चार लाख रुपए मांगते रहे. सीएम से लेकर हर बिजली अधिकारी से शिकायत की लेकिन किसी ने नहीं सुनी. जब वे पूरी तरह टूट गए तो जान दे दी. अब मजिस्ट्रियल जांच रिपोर्ट में ठेकेदार के काम को होना पाया गया है और एडीएम शिवराज वर्मा ने बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक को ठेकेदार के कार्य का पैसा तत्काल जारी करने के आदेश भी दे दिए हैं. 10 साल के इंतजार के बाद अब परिवार को भुगतान के आदेश मिले हैं. विश्व की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार भारत में पहले बिजली बढ़ाए पावर कॉरपोरेशन, फिर कीमत IPL 2018 09:42 #AtaljiAmarRahen प्रधानमंत्री बनने के बाद क्यों फूट-फूट कर रोये थे अटल बिहारी वाजपेयी? नई दिल्‍ली। दुनिया की सबसे बड़ी बिजली कंपनी इलेक्ट्रिक डे फ्रांस (ईडीएफ) द्वारा छह न्‍यूक्लियर प्‍लांट्स का समझौता करने के बाद भारत के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के पुन: शुरू होने की संभावना भी जागी है। 26 जनवरी को ईडीएफ ने घोषणा की थी कि उसने न्‍यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआईएल) के साथ 6 न्‍यूक्लियर रिएक्‍टर्स की स्‍थापना के लिए एमओयू साइन किया है। यह परमाणु पावर प्‍लांट महाराष्‍ट्र के जैतापुर में लगाया जाएगा। इस समझौते पर फ्रांस के राष्‍ट्रपति फ्रांस्‍वा ओलांद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में हुआ है। निर्देशिका -घरेलू एवं गैर घरेलू उपभोक्ताओं की टेलीस्कोपिक दरें लागू रहेंगी। ये मॉडल हाउस बर्लिन में है. आयडिया है कि इसमें घर की जरूरत से ज्यादा बिजली बने ताकि अतिरिक्त बिजली से ई-कार या फिर ई-साइकल चार्ज की जा सके. हालांकि पहली बार थोड़ी मुश्किल भी हुई. Mid-Day News18 States नई दिल्ली | March 5, 2016 4:58 AM मुकेश चंद्र गुप्ता, एमडी, मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड Impact मध्य प्रदेशराजस्थानदिल्लीउत्तर प्रदेश बिहारजम्मू-कश्मीरमहाराष्ट्रउत्तराखंडझारखंडगुजरातहिमाचल प्रदेश October 29, 2017 team livecities आपका ज़िला 0 475 Views Our Program Hide Program X Not on Twitter? Sign up, tune into the things you care about, and get updates as they happen.  CrazyFreelancer बिज़नस न्यूज़ ranchi Tags:Bihar Electricity Regulatory Commission (BERC)Parmanand SinghPower Tariff Wed, 22 Aug 2018 08:30 PM IST #Superfoods: मोटापे से हैं परेशान? डाइट में शामिल करें सोया दूध, जानें इसके फायदे Auto News इंग्लैंड ने भारत को एक पारी और 159 रनों से हराया This site is best viewed with Internet Explorer 6.0 or higher Firefox 2.0 or higher at a minimum screen resolution of 1024x768 नियम एवं शर्तें उप प्रमुख गोमिया प्रखण्ड जुर्म यूरोप का मॉडल किसने लगायी Apple के सबसे सुरक्षित नेटवर्क में सेंध? अचानक कैसे बढ़ गया बिजली कंपनियों का घाटा अनुसूचित जाति/ जनजाति अधिकार मंच ने किया अजमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन asian games 2018 : इंचियोन की कड़वीं यादों को भुलाने के लिए तैयार हैं तीरंदाज दीपिका कुमारी पानी की वेबसाईटें, ब्लॉग, वेबपेज मध्यप्रदेश Skip to main content संस्कृति जलविद्युत परियोजनाओं से छलनी होते हिमालय के पहाड़ SBI कार्डधारक ध्यान दें: 31 दिसंबर के बाद बंद हो जाएगा आपका डेबिट कार्ड, जानिए क्यों Notify me of new posts by email. Libra (तुला) Muzaffarpur  Live TV The total outlay of the project is Rs. 16, 320 crore while the Gross Budgetary Support (GBS) is Rs. 12,320 crore. The outlay for the rural households is Rs. 14,025 crore while the GBS is Rs. 10,587.50 crore. For the urban households the outlay is Rs. 2,295 crore while GBS is Rs. 1,732.50 crore. The Government of India will provide largely funds for the Scheme to all States/UTs. The States and Union Territories are required to complete the works of household electrification by the 31st of December 2018. डेमो प‌िक - फोटो : amar ujala पर्यावरण प्रतीकात्मक तस्वीर नेपाल बलिया Agenda Aajtak फर्रूखाबाद टैग: ग्रह दोष : कुंड़ली के दोष निवारण के लिए नहीं खरीद सकते रत्न तो ये सस्ते उपरत्न हो सकते हैं प्रभावशाली 17 mins 377 Solar Inverter Price in India CSC-Newsletter लाइव सिटीज डेस्कः बिजली कंपनी ने एक अप्रैल, 2018 से प्रभावी होने वाली बिजली दर 10 फीसदी बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है, लेकिन प्रस्ताव में उपभोक्ताओं के लिए कई राहत भी है. गांव में 50 यूनिट और शहर में 100 यूनिट तक खपत करने वालों को अभी की तुलना में सस्ती बिजली मिलेगी. खेत को पानी देने के एवज में किसानों को मौजूदा दर पर ही बिजली मिलेगी. बीपीएल श्रेणी वाले कुटीर ज्योति उपभोक्ताओं को भी सस्ती बिजली देने का प्रस्ताव है. India Today Youth Summit बिल माफी के लिए घर-घर पहुंच रही बिजली कंपनी की टीम कौन कौन है? हिसार आतंकी बुरहान वानी का एनकाउंटर करने वाले पुलिस अफसर सस्पेंड? Photo गैलरी कारोबार आरटीएल, नोएडा Gujarat News 1800-121-6260 अनुशंसित छपरा में अटल बिहारी वाजपेयी का शोक सभा का आयोजन किया... हिमाचल की पहाड़ियों में सबसे ऊंची चोटी पर स्थित है काली मां का मंदिर,... Home Online प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत करीब छह लाख करोड़ रुपये 12 करोड़ लोगों के बीच दिए गए हैं. हाल ही में द वायर  की आई एक रिपोर्ट के मुताबिक पांच लाख से ज्यादा का लोन लेने वालों, जिससे कि वाकई में रोजगार किया जा सकता है, की संख्या बहुत ही कम है. यह अब तक योजना के तहत दिए गए लोन का सिर्फ 1.3 फीसदी ही है. ज्यादातर लोन 50,000 से कम या फिर  50,000  और 5 लाख के बीच के है. संचार प्रतिनिधि कल्याण सहायता नियम केंद्र सरकार देश में बिजली की कीमतें घटाने और इसमें एकरूपता लाने की दिशा में काम कर रही है, जिसके लिए उसकी थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने की योजना है। ऊर्जा मंत्रालय ने जुलाई में इस पर मेरिट ऑर्डर जारी कर सभी पक्षों से राय मांगी थी, जिस पर उसे सकारात्मक रुख मिला है।  June 1, 2018 रिजर्व बैंक के इस कदम से लोन लेना पड़ेगा महंगा 719 Add Image/Video : कुमार ने कहा, 'कई पावर कंपनियों के कर्ज को पहले ही बैड लोन कैटेगरी में डाला जा चुका है और इस तरह के कुछ और लोन इस वर्ग में जा सकते हैं। हाईकोर्ट का फैसला बैंकों के लिए अच्छा है क्योंकि इससे उन्हें कोर्ट से बाहर लोन रिजॉल्यूशन के लिए अधिक समय मिलेगा।' आरबीआई के सर्कुलर में 180 दिनों के पीरियड के लिए 1 मार्च को रेफरेंस डेट बताया गया था। इसलिए बैंकरप्सी कोर्ट से बाहर लोन रिजॉल्यूशन के लिए बैंकों के पास अगस्त के अंत तक का समय है। अभी देश की 22 पर्सेंट इंस्टॉल्ड पावर जेनरेशन कैपेसिटी एनपीए है। रिजर्व बैंक के डेटा के मुताबिक, भारतीय बैंकों ने पावर सेक्टर को अप्रैल के अंत तक 5.19 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया हुआ था। under a CC BY-NC-SA 2.5 IN license. आरएसएस BPSC पिछले दो सालों में उज्ज्वला योजना के तहत 3.6 करोड़ एलपीजी कनेक्शन जारी किए गए हैं लेकिन इसका असर एलपीजी की खपत पर नहीं दिखता है. एलपीजी की खपत में वृद्धि दर उतनी ही बनी हुई है जितनी योजना शुरु होने से पहले थी. New to Twitter? जमशेदपुर डाक जमशेदपुर सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना मणिपुर आज तक भारतीय हॉकी के सितारे हरदयाल सिंह का निधन, ओलंपिक में दिलाया था गोल्ड पानी विचार by: Sanjay Srivastava नई दरों के बाद घरेलू बिजली की दरों में औसत तीन पैसे प्रति यूनिट का इजाफा हुआ है। 100 यूनिट पर पहले की तरह तीन रुपए बीस पैसे पर बिजली मिलेगी। वहीं 101 से 200 तक 3.45 रुपए प्रति यूनिट पर बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 3. 48 रुपए थी। 201 से 300 तक 4. 05 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.02 रुपए थी। 301 से 400 यूनिट खपत पर 4.21 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.25 रुपए थी। वहीं 401 यूनिट से ऊपर बिजली की खपत पर 4.21 रुपए पर बिजली मिलेगी।  Other Related Links ‘सबके लिए बिजली’ (पावर फॉर ऑल) के लक्ष्य की पूर्ति एक बहुत बड़ी चुनौती है। इसके मद्देनजर आम लोगों को नए कनेक्शन सरल और आकर्षक शर्तों पर उपलब्ध कराना आवश्यक है। साथ ही बिजली का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों के कनेक्शन लेने से बिजली के वैध उपयोग को बढ़ावा मिलेगा।  न्यूज निचोड़ At 11 AM : अमर रहेंगे अटल! सर्वेक्षण 2018 Facebook घाटशिला वासियो स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं आॅफ द रिकार्ड: अमित शाह ने बदली 75 साल आयु सीमा की नीति Write a comment विद्युत योजना की तुलना करें - ऊर्जा लागत की तुलना करें विद्युत योजना की तुलना करें - मेरे पास बिजली उपयोगिता कंपनियां विद्युत योजना की तुलना करें - उपयोगिता प्रदाता
Legal | Sitemap