OTHER LINKS - विंड एनर्जी प्रोजेक्ट गुजरात या तमिलनाडु या अन्य समुद्री इलाकों में लगाए जाएंगे। विंड एनर्जी से पैदा बिजली की दरों में गिरावट अाई है। इससे बिजली कंपनी ने रुचि दिखाई है। इससे पहले भी कंपनी ने मई में पावर ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड से 100 मेगावाट बिजली खरीदने के लिए समझौता किया था। Written By: पत्नी को देवी बना कर मंदिर में बिठा दिया एक शख्स ने उस समय सीएसपीडीसीएल 28वें स्थान पर था। ताजा रिपोर्ट में 31वां रैंक दिया गया है। दोनों ही रिपोर्ट में कंपनी को बी ग्रेड दिया गया है। कंपनी को 100 में से 35 से 50 के बीच अंक मिले हैं। यानी कंपनी का परिचालन (ऑपरेशनल) और वित्तीय प्रदर्शन औसत से नीचे है। बिज़नस ET से और बीपीएल उपभोक्ताओं ने बिल भरना बंद किया आज से आरंभ होंगी प्राईवेट परीक्षाएं इवेंट्स PO Cell ने धरा उद्घोषित अपराधी, इस मामले में चल रहा था फरार Get more of what you love सबसे ज्यादा राजस्व जमा करने वाले एनसीआर और पश्चिमांचल के उपभोक्ताओं को विद्युत नियामक आयोग ने दस फीसदी अतिरिक्त बिजली सप्लाई का तोहफा देने का फैसला किया है। आयोग के चेयरमैन देश दीपक वर्मा ने पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन को तय शिडय़ूल से दस फीसदी ज्यादा बिजली सप्लाई की सलाह दी है। चेयरमैन ने लाइन लॉस कम करने का लक्ष्य पूरा करने के लिए पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के अफसरों को बधाई दी है। क्राइम रिपोर्ट Deutsche Welle Tweets ग्राम बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। BY नूर मोहम्मद ON 05/06/2018 • भोजपुर बफर स्टॉक : बिजली की लड़ाई लड़ रहे आरडब्लूए प्रतिनिधि राजीव काकरिया कहते हैं कि दिल्ली में अब तक पावर की पीक डिमांड करीब 6000 मेगावॉट तक पहुंची है। लेकिन बिजली कंपनियां 24 घंटे बिजली देने के नाम पर बहुत ज्यादा बफर स्टॉक का इतंजाम करती हैं। फिर यह बिजली सरप्लस होती है और सस्ते में बेचनी पड़ती है और खर्च कंज्यूमर पर पड़ता है। इसलिए साइंटिफिक तरीके से अनुमान लगाया जाए कि कितनी बिजली की जरूरत हो सकती है। 8.10             7.00  चीन में हो रही है भारतीय नोट की छपाई? शशि थरूर ने उठाया सवाल... बिजली दर में बढढ़ोतरी आवश्यक : अरविंद प्रसाद Next : मंगलनाथ के पुजारी को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी, आर्थिक अनियमितता की जांच बैठाई, जांच होने तक पूजा करवाना प्रतिबंधित Urdu اردو ये हैं नयी दरें... For Businesses हजारीबाग : बुढ़वा महादेव विकास सह शांति समिति व श्रावणी... मेक इन इंडिया September, 2016 3699035990खरीदे मध्यप्रदेश कृषि विभाग द्वारा क्रियान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत किसानों को दी जाने वाली सुविधाए। समय-समय पर आवश्यकतानुसार इन सुविधाओं में परिवर्तन हो सकता है, अतएव इस हेतु विभाग के अधिकारियों से सतत् सम्पक्र बनाएं रखें। खूंखार शेरों से मालिक को बचा लाया कुत्ता आ गया आ गया, हिन्दी में राफेल लड़ाकू विमान से जुड़े सवाल-जवाब विधानसभा चुनाव PMModiKAElectionGSTrajyesabhaelectionsureshgaonconnectionCWGGoldkarnatakaelection वार्ड पार्षद - 53 धनबाद नगर निगम पंचायत चुनाव: प. बंगाल में भाजपा को सुप्रीम कोर्ट से झटका सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई अटल जी के निधन पर भावुक हुए शाहरुख, इस गीत... समाज सेबी छीजत- चोरी ने बढ़ाया घाटा  Arabic العربية सामाजिक पहलू और विवाद ऑस्ट्रेलिया Hindi Newsव्यापारबिहार में बिजली-दर में बदलाव नहीं, उपभोक्ताओं को राहत politics3 hours ago न्यूनतम आदेश मात्रा: 100PCS 2 जुलाई 2017 पावर प्लांट लगाने के लिए सरकार निविदा निकालेगी. बताया जाता है कि तीन-चार कंपनियां ने इस सिलसिले में ऊर्जा विभाग और राज्य पावर जेनरेशन बिजली कंपनी से संपर्क भी किया है. कंपनी सूत्रों के अनुसार जो कंपनी राज्य को सस्ती बिजली देगी उसे सोलर पावर प्लांट लगाने में प्राथमिकता मिलेगी. पीरपैंती व कजरा में जमीन उपलब्ध है.  अनुतरंग रिक्ति अनुकार प्रयोगशाला ( 80 m Span) अगले दो वर्षों के लिए योजना का बजट 17,000 करोड़ रु है। पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में योगी ने खेला बड़ा दांव @AamAadmiParty ya बिहार विद्युत नियामक आयोग (बीईआरसी) ने 2016-17 में बिजली दर में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किए जाने का निर्णय लिया है जो कि प्रदेश के विद्युत उपभोक्ता के लिए राहत की बात है। जल शब्दकोश यामाहा के YZF R15 बाइक का नया लिमिटेड एडिशन मॉडल लॉन्च Copyright © 2016 Prabhat Khabar (NPHL) 18 नई विद्युत योजनाएं, 1850 करोड़ का सालाना बजट मंजूर पर्सनल फाइनेंस प्रधानाध्यापक मध्य विद्यालय, पेलावल लोकप्रिय ख़बर Or Continue Using ? Tue, 14 Aug 2018 07:00 PM IST Show — मुख्य नेविगेशन Hide — मुख्य नेविगेशन भारत के पीसी मार्केट में 28 फीसदी की ग्रोथ, अल्ट्रा स्लिम नोटबुक ने बढ़ाई मांग 49 mins Arts HARYANA GK IN HINDI DOWNLOAD कक्षा कार्यक्रम किशोर कुमार प्रिंट बिल माफी के लिए घर-घर पहुंच रही बिजली कंपनी की टीम Offer period 11th - 18th August, 2018 प्रधानाध्यापक, आदिवासी उच्च विद्यालय छपरगढा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए डेली करेंट क्विज़ Partner Sites अमेरिका: इंग्लिश टीचर ने 2500 महिला कैदियों को कविता लिखना सिखाया ताकि उनका आत्मविश्वास बढ़े 18 mins मध्य भारत नवभारत टाइम्स की ऐप के साथ इसमें निवेशकों के साथ-साथ  आम लोग भी जो सोलर प्लांट अपने घरों में लगायेंगे उनको कई तरह की रियायत  मिलेगी. यहां  तक कि जरूरत से अधिक बिजली होने पर अगर कोई व्यक्ति बिजली बेचना चाहेंगे तो सरकार उसे भी खरीदेगी.   मैच से पहले बोले कप्तान कोहली, जीत के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं बरौनी-स्टेज दो 6.30 4.37 139.02 समाचारपत्रिकाएँ 2. एक अप्रैल 2019 से बिना मीटर वाले सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं की श्रेणी समाप्त कर दी जाएगी। इसके लिए कंपनी आवश्यक कार्रवाई करे।  UPSC English Dari دری स्कूल विद्यार्थियों के लिये टिप्स news bengali news marathi news tamil news malayalam news Gujarati News Telugu News Kannada News zeebiz wion dna INVESTOR INFO एनडीएस- दो  ऊर्जा मंत्रालय इस योजना के कार्यान्वयन प्राधिकरण होगा। प्रधामंत्री सौभाग्य योजना – सहज बिजली हर घर योजना VIDEO: बिजली कंपनी के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदर्शन जवाब –  संबंधित / विद्युत विभाग द्वारा इस संबंध में उनके नियमों / विनियमों के अनुसार अवैध कनेक्शनों का निपटान किया जाना चाहिए। हालांकि, यह योजना स्पष्ट करती है कि जिन बकाएदारों का कनेक्शन डिस्कनेक्ट कर दिया गया है उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा। बीते कुछ वर्षों में बिजली कंपनियों ने विद्युत उत्पादन कर रही कंपनियों से महंगी दरों पर बिजली खरीद की, जिसके चलते करोड़ों रुपए का अतिरिक्त भार कंपनियों पर पड़ा है। वहीं अब घाटे और वित्तीय भार की भरपाई कंपनियां प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं से कर रही हैं। प्रदेश में राष्ट्रीय औसत से ज्यादा दरों पर हो रही बिजली खरीद बिजली कंपनियों के संचित घाटे को बढ़ा रही है वहीं छीजत और चोरी रोकने में नाकाम रही बिजली कंपनियों ने घाटे की भरपाई बिजली उपभोक्ताओं पर डालने की कार्यशैली अपना ली है।  share पारेषण NCR होम उत्पादएकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर मीना देवी पैसा DERC ने घटाई बिजली दरें By Kamlesh Bhatt संबंधित लिंक संत कबीर दास के दोहों में छुपा है जीवन को सफल बनाने का सूत्र 42 mins अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर से स्थगित हुआ... होमलाइव टीवीवीडियोताज़ातरीनबड़ी ख़बरदेशविदेशज़रा हटकेक्रिकेटबिजनेसबॉलीवुडटेलीविजनब्लॉगफोटोअन्य sports (b)   Improvement education services आदि प्रकार टॉवर परीक्षण स्टेशन (पी टी टी एस) जब अटलजी ने लता मंगेशकर के अस्पताल का उद्घाटन करने से कर दिया था इनकार 8 mins 5 ए हरियाणा ने केंद्र से की कोल इंडिया लिमिटेड की मनमानी की शिकायत  (रुपये) (रुपये) पत्नी को देवी बना कर मंदिर में बिठा दिया एक शख्स ने sir fix charged jo badha diye uska kya ? महंगे ईंधन का असर : एसी-नॉन एसी टैक्सी से घूमना हुआ महंगा...इतना बढ़ गया रेट मेगपुर, मनिया, धौलपुर निवासी अमन पुत्र अजमेरी की बहन सुष्मिता पत्नी ललित ताजगंज के कुआंखेड़ा में रहती है। अमन कुछ दिन पहले बहन के यहां आया था।  Raushan Pratyek Media - August 17, 2018 सस्ते खनन बिजली की समाप्ति के बारे में बयान से संकेत मिलता है कि सिचुआन इलेक्ट्रिक पावर कंपनी ने एक परिपत्र जारी किया है, जिससे यह संकेत मिलता है कि वह अब अपने ग्रिड से जुड़े जल विद्युत स्टेशनों से आवश्यक शक्ति प्रदान नहीं करेगा। परिपत्र का सुझाव है कि बिटकॉइन खनन 'अवैध संचालन' है 'सर्कुलर अभी तक पुष्टि की जानी है। Hindi News »Madhya Pradesh »Shivpuri» अब बिजली कंपनी में अनुकंपा नियुक्ति शुरू नई दिल्ली: डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. नई दरों की घोषणा से पहले केजरीवाल सरकार ने दावा किया था कि पिछले चार साल से बिजली की दरें नहीं बढ़ी हैं, हालांकि, जानकारों ने ये खुलासा किया था कि बिजली के रेट सीधे तौर पर भले ही नहीं बढ़ाए गए हों, लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. अजमेर में मंगलवार को कांग्रेस ने बिजली के बिलों में बेतहाशा वृद्धि को लेकर टाटा पावर के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता रैली के रूप में सिटी पावर हाउस पहुंचे जहां उन्होंने पहले तो जमकर नारेबाजी की और बाद में विरोध जताते हुए रास्ता जाम कर दिया. प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों और पुलिस के बीच टकराव की स्थिति भी पैदा हुई. लेकिन बाद में माहौल को शांत किया गया. प्रदर्शकारियों ने कहा कि जब से टाटा पावर ने शहर की बिजली व्यवस्था को संभाला है तब से लगातार बिजली के बिलों में बढ़ोतरी की जा रही है जिससे आम आदमी परेशान हो चुका है. (अजमेर से अभिजीत दवे की रिपोर्ट) Updated: Français (France) एस०टी०डी० और पिन कोड चालू परियोजना दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस साल की देशभक्ति वाली ये फिल्में आपको जरूर देखनी चाहिए पर्यटक स्थल Solar Power ज्योतिष January, 2016 97 Retweets E-mail address:* मोदी की मुख्यमंत्री विजयन के साथ बैठक, बाढ़ के हालात… ग्वालियर। वो जमाना गया जब बिजली विभाग बेचारा और उपभोक्ता चोर हुआ करते थे। अब तो बिजली कंपनियां अपने उपभोक्ताओं को खुलेआम लूट रहीं हैं। इतना ही नहीं लूटने वाले अधिकारियों को सम्मानित भी किया जा रहा है। यहां रोशनी घर जोन ने कुल 33 लाख यूनिट बिजली उपभोक्ताओं को सप्लाई की, जबकि 45 लाख यूनिट के बिल जारी करके, वसूली कर ली। मात्र एक जोन में 12 लाख यूनिट के फर्जी बिल वसूल लिए गए। आश्चर्यजनक तो यह है कि इस तरह की फर्जी बिल जारी करने वाले अधिकारियों को 15 अगस्त के अवसर पर सम्मानित किया जाने वाला है।  विद्युत प्रदायक बदलें - सस्ते उपयोगिताएं विद्युत प्रदायक बदलें - मेरे पास इलेक्ट्रिक कंपनी विद्युत प्रदायक बदलें - सर्वश्रेष्ठ ऊर्जा प्रदाता
Legal | Sitemap