शनिवार, 18 अगस्त 2018 देश की खबरें Privacy Policies अक्षय ऊर्जा बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने एक अप्रैल से पांच फीसदी महंगी बिजली दर का फैसला सुनाया है। केवल एक श्रेणी बड़े उद्योग में यह वृद्धि दर 9.92 फीसदी है। बिजली कंपनी ने 44 फीसदी बिजली दर बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था। आयोग के इस फैसले के बाद राज्य सरकार ने बिजली दर की समीक्षा कर अनुदान देने की बात कही है।  नैनीताल अनुशंसित क्र बागपत ऑफिस ऑफ प्रॉफिट केस में AAP विधायकों को दिल्ली हाई कोर्ट से राहत RSS Feeds गृह मंत्रालय और प्रवर्तन क्रिकेट की बात कॉन्टेस्ट Deutsch - warum nicht? Hindustantimes Punjabi निर्देशिका बेरोजगार युवाओं के लिए ये 5 सरकारी लोन स्कीम्स, जानिए VIDEO: भाजपा पार्षद को नेतागिरी करना पड़ा महंगा, महिलाओं ने जमकर की धुनाई सौभाग्य योजना (सहज बिजली हर घर योजना) उत्तर प्रदेश के लोए यहाँ क्लिक करें॥ Remove Rick Francis, Ronnie Hammonds, Christopher Huckabee, Mickey Long & John Steinmetz राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने लाइन लॉस का पूरा भार बिजली उपभोक्ताओं पर न डालने की वकालत की। उन्होंने ओडिशा का उदाहरण देते हुए कहा कि बिजली कंपनियों के घाटे के आधार पर जो रेग्युलेटरी सरचार्ज लगाया जाता है। उसका 50 प्रतिशत हिस्सा उपभोक्ताओं और 50 प्रतिशत हिस्सा बिजली कंपनियों को देना चाहिए। ताकि बिजली कंपनियों की लापरवाही का खामियाजा ईमानदार उपभोक्ताओं पर न पड़े। Your email address नई बिजली दरों का मकसद मीटरिंग को बढ़ावा देना है ताकि छोटे उपभोक्ताओं पर गैर-जरूरी फिक्स्ड टैरिफ का बोझ न पड़े और बिजली के इस्तेमाल में किफायत भी आये. मिसाल के लिए अगर एक ग्रामीण घरेलू उपभोक्ता एक महीने में 30 यूनिट की बिजली इस्तेमाल करता है तो नई दरों के हिसाब से उसका महीने का बिल सिर्फ 140 रुपये आयेगा जबकि फिक्स्ड टैरिफ के तहत उसके ऊपर इससे लगभग ढाई गुना बिल आता.  दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना 09:41 पेट्रोल पंप डकैती कांड में खुलासे के करीब पुलिस सुपौल: एक बार फिर बीरपुर मे गोलियों की तऱतराहट से सदमें मे है शहरवासी – पुलिस कर रही है छानबीन !! बिजली कंपनी ने कहा: नपा ने बिल नहीं भरा तो काटेंगे कनेक्शन, नपा बोली; चुकता है पूरा बढ़ी हुई दरों की मार सबसे ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रों पर पड़ने वाली है. पिछली दरों के मुताबिक अभी तक ग्रामीणों क्षेत्रों में उपभोक्ताओं को 180 रुपये प्रतिमाह देना पड़ता था, जबकि किसानों को 100 रुपये प्रतिमाह देना पड़ता था. संपादक की पसंद कुम्भ राशि वालों की आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। आलस्य का त्याग करना चाहिए। कार्य में सफलता मिलने के......Read more NEWSLETTER आम आदमी पर गिरी 'बिजली' Sat Aug 18 2018 16:28:47 www.bhaskar.com से अधिक समाचार बेगूसराय में बेखौफ अपराधियों का तांडव, युवक को मारी गोली आपका ज़िला फरीदाबाद से सुपरहिट आरटीआई अधिनियम के बारे में Twitter may be over capacity or experiencing a momentary hiccup. Try again or visit Twitter Status for more information. हिन्दुस्तान job: सशस्त्र सीमा बल में SI, ASI और हेड कांस्टेबल के पद पर 181 वैकेंसी, क्लिक कर पढ़ें रोजगार क्षेत्र की ताजा खबरें अमरूद एवं आंवला के पौधों की नीलामी होगी, टैण्डर 21 अगस्त तक आमंत्रित 16/08/2018 क्या पहाड़ी गुफा में बचा कर रखी जा सकती है बिजली अभिषेक सिंह विभाग के बारे में बिजली का झटका देकर फोटोग्राफी सिखाएगा ये डिवाइस खबरें Nov 29, 2017 11:47 PM और फोटो All content on this website is published हर पार्टी में है फूट, मगर कांग्रेस को मजबूत करने में जुटे हैं कार्यकर्ता : चिरंजीव राव हिन्दी न्यूज़ |News|मराठी|বাংলা |ગુજરાતી|ಕನ್ನಡ|தமிழ்|తెలుగు|മലയാള धौलपुर Collections Back to top यूपी के 5 शहरों में 'वैचारिक कुंभ' लगाकर BJP साधेगी 2019 चुनाव का लक्ष्य शिक्षा विभाग के अपर सचिव पर हाईकोर्ट ने लगाया 5 लाख का जुर्माना विशेष Parental Guidance Photos: वाजपेयी की याद में डूबा देश, 'अटल सूर्य' को दी गई अंतिम विदाई bjp शेयर बाजारों की बेहतर शुरुआत, सेंसेक्स 260 अंक चढ़ा BILASPUR DENGUE Teacher Resources – Lesson Plans • Ed Tech Blog • Worksheet Templates मौसम विभाग की चेतावनी, छह राज्यों में मूसलाधार बारिश की आशंका मापने का क्षेत्र इस साल की देशभक्ति वाली ये फिल्में आपको जरूर देखनी चाहिए     वित्तमंत्री ने कहा कि जून-2005 के बाद जिन लोगों ने अपना बिल नहीं भरा है ऐसे गांव बिल भरने के लिए स्वयं आगे आकर अपनी मूल बकाया राशि का भुगतान कर सकते हैं। इसके तहत जिन घरों का लोड एक किलोवाट है वे 1440 रुपये प्रति वर्ष की दर से एकमुश्त अदायगी कर अपने बकाया का निपटान करवा सकते हैं। इसी तरह यदि किसी का लोड दो किलोवाट है तो वे प्रतिवर्ष 2880 रुपये की दर से अपना बकाया निपटा सकते हैं। इसके लिए वे मूल राशि को भी किस्तों में जमा करवा सकते हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार बिजली कनेक्शन कटने उपरांत यदि छह माह के भीतर दोबारा कनेक्शन करवाना चाहते हैं तो उनसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। बोकारो : भाई-बहन को बंधक बनाए रखने के मामले में... आवेग धारा प्रयोगशाला प्रमुख आयोजन लखनऊः एलडीए ने घटाए फ्लैटों के दाम, 14 अगस्त से होंगे रजिस्ट... August 9, 2018 उन्होंने कहा, ''जो एक छोटा व्यापारी जिस मार्केट से लोहा ख़रीदता है और उसी मार्केट में गेट बनाकर बेचता है उसे जीएसटी का कोई फ़ायदा नहीं होना है.'' Share Video VIDEO: कांग्रेस की रैली में तिरंगे का अपमान दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। छत्तीसगढ़Sat, 18 Aug 2018 06:31 AM (IST) Most Related Stories त्रिपुरा # panchkoola-state आईपीडीएस से 16 शहरों में कार्य पोस्टर 3. पहले IIT और अब CAT में 100 प्रतिशत नंबर ला कर हासिल किया पहला रैंक Quintype of India Web Title cheapest electricity in delhi बेगूसराय में बेखौफ अपराधियों का तांडव, युवक को मारी गोली आपका ज़िला INTUC PRESIDENT HARDEEP BAWA Latest हरियाणा के बिजली निगमों ने मुख्यमंत्री के निर्देश पर काम आरंभ कर दिया है। पिछले सप्ताह शिमला में हुए देशभर के बिजली मंत्रियों के सम्मेलन में हरियाणा ने कोयला कंपनियों की मनमानी का मुद्दा जोरदार ढंग से उठाया। दाऊदी बोहरा समाज ने मनाई ईद, समाज के लोगों ने पढ़ी सामूहिक नमाज © Copyright 2018, All Rights Reserved Cricket News  Breaking News बीईआरसी के अध्यक्ष एस के नेगी ने सोमवार यहां संवाददाताओं को बताया कि आयोग ने वित्तीय वर्ष 2016-17 में इन दोनों कंपनियों की बिजली दर में वृद्धि करना उचित नहीं समझा। उन्होंने कहा कि आयोग ने जांच के बाद 2015-16 में इन दोनों कंपनियों की राजस्व आवश्यकता में 902.92 करोड़ रुपए की कमी (गैप) पाई जिसमें कैरिंग कास्ट को जोडे जाने के बाद वित्तीय वर्ष 2015-16 का सरप्लस 1916 करोड़ रुपए आया। इस सरप्लस की समीक्षा सत्यापित वार्षिक लेखा के आधार पर नहीं है इसलिए आयोग ने वर्ष 2016-17 के राजस्व आवश्यकता में इसे सम्मिलित करना उचित नहीं समझा। minister एक्सक्लूसिव अपने Lifestyle301 Highway Channel कुल्लू बांसवाड़ा : देश को आजाद हुए हो गए 71 साल, फिर भी आशियाने रोशन करने की कछुआ चाल भूकम्प इंजीनियरी तथा कम्पन अनुसंधान केंद्र (ईवीआरसी) विद्युत सर्वेक्षण एवं भार पूर्वानुमान प्रभाग गुड़गांव Kesari TV पूर्व क्षेत्र कंपनी अंतर्गत विभिन्न जिलों में काम लेने वाली नौ कंपनियों को टर्मिनेट कर दिया गया है। इन कंपनियों द्वारा काम नहीं किया जा रहा था। आगे नियमानुसार इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। Investor झांसी ताज़ा खबरफिर से सुने | एस्सेल बिजली कंपनी की मनमानी के खिलाफ राष्ट्रीय मार्ग पर लोगों ने जमकर किया प्रदर्शन सालों बीत जाने के बाद भी अफसरशाही को यह मालूम नहीं, HC ने की थी ग्रीन एरिया में निर्माण की मनाही बीते सालों में बिजली उत्पादन में हुई वृद्धि (स्रोत: CEA) अस्पतालों पर नरम हुए केजरीवाल!   मंजू देवी राष्ट्रीय विद्युत् योजना यह भी पढ़ें- भारत में छह परमाणु रिएक्टर लगाएगा फ्रांस, 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदेगा भारत ऑक्सीजन, पेट्रोल-डीजल, खाद्य पदार्थों, पेयजल की कमी महेंद्रा रेवा ई2ओ Android नवभारत टाइम्स | Updated:Dec 25, 2013, 03:51AM IST पंजाब की कैप्टन अमरेंद्र सिंह सरकार ने गुरदासपुर संसदीय चुनाव सम्पन्न होने के तुरंत बाद बिजली की दरों में वृद्धि कर दी है। पंजाब राज्य विद्युत नियामक आयोग (पी.एस.ई.आर.सी.) ने 23 अक्तूबर को बिजली के घरेलू, कमॢशयल व औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी तथा सभी स्लैब में ओवर आल 9.33 प्रतिशत की वृद्धि की गई है जबकि अधिकतम वृद्धि 12.20 प्रतिशत है। बढ़ी हुई दरें गत 1 अप्रैल से लागू मानी जाएंगी तथा अप्रैल से अक्तूबर तक के 7 महीनों का बकाया उपभोक्ताओं से 9 महीनों में वसूल किया जाएगा। आयोग के अध्यक्ष देशदीपक वर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से रेग्युलेटरी सरचार्ज प्रथम को खत्म माना जाएगा। उन्होंने बताया कि पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन राजस्व वसूली और लाइन लॉस के लक्ष्य को पूरा करने में नाकाम रहा है। इसलिए उपभोक्ताओं से दोहरा रेग्युलेटरी सरचार्ज वसूलने का उसे कोई अधिकार नहीं है। उत्तर प्रदेश Cafeteria जनसत्ता विशेष 0 कर्मचारी पर होने वाले खर्च का युक्तियुक्तकरण व समय पर टैरिफ पिटिशन फाइल करनी चाहिए। स्टार्ट-स्टॉप ईडीएफ के सामने भी हैं सवाल पुस्तकें Intellect : महादेवी के ज्ञान में थी जबलपुर की खुशबू झारखंड पी.सी.एस. परिचय | सिविल सेवा ही क्यों? | सिविल सेवा परीक्षा से जुड़े मिथक | प्रमुख सिविल सेवाओं का परिचय | परीक्षा का प्रारूप | इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें? | मुख्य परीक्षा में उत्तर कैसे लिखें? | वैकल्पिक विषय कैसे चुनें? | FAQS 400-800 यूनिट पॉल्यूशन फ्री है विंड एनर्जी बच्चियों से रेप की घटना पर तेजस्वी का विराट प्रदर्शन, नीतीश कुमार को आई शर्म राष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान: इमरान खान का शपथ-ग्रहण आज, तैयारियां पूरी शनिवार, अगस्त 18, 2018 विवाह प्रमाण-पत्र केटेगरी  वर्तमान दर  नयी दर   कोलकाता Menu... ऐक्सेसरीज VIDEO: आरएएस भर्ती के चयनित अभ्यर्थियों ने दिया धरना, नियुक्ति देने की मांग फ्राइबुर्ग की सौर कॉलोनी अजमेर में मंत्री वासुदेव देवनानी ने स्कूल कक्षा कक्षों का किया लोकार्पण एटीएम से असीमित नि:शुल्क निकासी के लिए दायर याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की Oneindia in Other Languages ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - व्यापार बिजली प्रदाता ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - गैस और इलेक्ट्रिक बिल ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - उपयोगिता की तुलना करें
Legal | Sitemap