Home ईमेल पर न्यूज़ पाएं समस्‍तीपुर आस्था Linkedin यूपी की सभी नदियों में प्रवाहित की जाएंगी पूर्व पीएम अटल बिहारी की अस्थियां तथ्य तथा आंकडे Home » देश » बिहार में महंगी हुई बिजली, नई दर एक अप्रैल से अनुसन्धान संस्थान ‘आम राय’ बनाने के लिए मशहूर वाजपेयी के कार्यकाल में बगैर परेशानी के बने थे तीन नए राज्य Bollywood सदस्‍यता Saturday,18 August 2018,10:55 AM Wed, 08 Aug 2018 02:30 PM IST मुखिया, पिंड्राजोरा पंचायत म. प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण क. May 2017 प्राथमिक भूमि विकास बैंकों द्वारा वर्तमान में किसानों एवं लघु उद्यमियों को 12.85 प्रतिशत वार्षिक ब्‍याज दर पर दीर्घकालीन ऋण उपलब्‍ध करवाये जा रहे हैं। दिल्ली से और श्वेता बच्चन ने अपनी बेटी नव्या नवेली के साथ करवाया हॉट फोटो शूट July 31, 2018 पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा अनुप्रयोग Latest Washing Machine Technologies in India No Comments दिल्ली के नए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना दूसरा वादा भी पूरा कर दिया है। आज अरविंद केजरीवाल ने कैबिनेट की बैठक के बाद बिजली का भाव आधा कर दिया है। बिजली की दरों में ये कटौती 400 यूनिट तक बिजली के लिए है। दिल्ली सरकार दाम में इस कटौती की भरपाई फिलहाल सब्सिडी के जरिए की जाएगी। मुरादाबाद Recent Comments सलमान खान की लग्जीरियस वैनिटी वैन में है मेकअप और स्टडी रूम, भारत के प्रोड्यूसर ने शेयर किए फोटो 49 mins Rajasthan Scheme अनुभाग ५. जो उपभोक्ताओं पिछले दिनों समाधान योजना का फायदा ले चुके हैं वे भी इस योजना में शामिल हो सकेंगे। RC Desk1, December 04,2017 05:57:02 PM आयकर संग्रह 2017-18 में रिकॉर्ड 10.03 लाख करोड़ रुपए, रिटर्न की संख्‍या में 1.3... हाथरस प्रवचन बीच चौराहे शरीर से निकाला जा रहा था जहर, बुजुर्ग की… नैनीताल समाचार, 21 जनवरी 2011 कला और संस्कृति जर्मन चुनाव Cookie Policy| FEEDBACK आरएसओपी फॉर्मेटों की सूची गैजेट्स नया Published: Friday, August 10, 2018 12:19 PM    भोपाल अयोध्या विवाद : सुप्रीम कोर्ट से ही तय होगा राम मंदिर का भविष्य Hover over the profile pic and click the Following button to unfollow any account. मुख्य परीक्षा अभ्यास प्रश्न UPA राज में भी चल रही थीं NDA की ये योजनाएं जनता मजदूर संघ सिंदरी अध्यक्ष नीतू कुमारी 1- नवकूपडगवैल/डगकमबोरवैल/केविटिपाइप बोरवैल योजना.. न्यूज़लैटर सेपरेट न्यूट्रल : काकरिया कहते हैं कि केजरीवाल बिजली के मीटर जांचने की बात कर रहे हैं, लेकिन इससे कोई फायदा नहीं होगा। गड़बड़ी मीटर में नहीं है, दिक्कत न्यूट्रल में है। सिंगल फेज मीटर में सभी को सेपरेट न्यूट्रल नहीं दिया गया है और कॉमन न्यूट्रल की वजह से उन लोगों को भी ज्यादा बिल भरना पड़ता है, जो कम बिजली इस्तेमाल करते हैं। इसलिए सभी कनेक्शन में सेपरेट न्यूट्रल दिया जाए। मीडिया कर्मी पेंशन योजना के लिए आवेदन करें विद्युतरोधक रिपोर्ट में खुलासा, मनमोहन सिंह के कार्यकाल में देश ने हासिल की सबसे... रायपुर. चुनावी साल में सभी को खुश करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने बिजली की दरों में औसतन 22 पैसे प्रति यूनिट की कमी की है। यह कमी घरेलू, गैर घरेलू, औद्योगिक और अन्य सभी वर्ग के उपभोक्ताओं में बांटी गई है। यानी हर वर्ग के टैरिफ में कमी की गई है। उद्योगों से लेकर हाई वोल्टेज उपभोक्ताओं को भी राहत देने की कोशिश की गई है। नई दरें 1 अप्रैल 2018 से लागू होंगी। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने बिजली की औसत दर (औसत लागत के आधार पर पावर कंपनी की दर) को 6.44 रुपए प्रति यूनिट से घटाकर 6.22 रुपए किया है। इससे बिजली कंपनी के राजस्व में 531 करोड़ रुपए की कमी आएगी। बीते कुछ वर्षों में बिजली कंपनियों ने विद्युत उत्पादन कर रही कंपनियों से महंगी दरों पर बिजली खरीद की, जिसके चलते करोड़ों रुपए का अतिरिक्त भार कंपनियों पर पड़ा है। वहीं अब घाटे और वित्तीय भार की भरपाई कंपनियां प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं से कर रही हैं। प्रदेश में राष्ट्रीय औसत से ज्यादा दरों पर हो रही बिजली खरीद बिजली कंपनियों के संचित घाटे को बढ़ा रही है वहीं छीजत और चोरी रोकने में नाकाम रही बिजली कंपनियों ने घाटे की भरपाई बिजली उपभोक्ताओं पर डालने की कार्यशैली अपना ली है।  साइट का नक्शा @AamAadmiParty These power companies are going to get molested now Download Our Android App विजेंद्र गुप्ता ने कहा, जो लोग कभी बिजली कंपनियों का एकाधिकार समाप्त करने और बिजली कंपनियों के ऑडिट की बात कर सत्ता में आए थे तथा जो लोग शीला दीक्षित और बिजली कंपनियों के भ्रष्टाचार को मिटाकर बिजली के रेट कम करने की बात करते थे , वही लोग आज निजी बिजली कंपनियों का प्रवक्ता बन गए हैं. पिछले 6 महीने में इन बिजली कंपनियों को दूसरी बार स्थाई शुल्क बढ़ाकर इन्हें मालामाल कर रहे हैं. एसएमई कॉर्नर: एसएमई जगत की अहम खबरें   15 अगस्त से पहले दिल्ली में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम पर ग्राउंड रिपोर्ट नल जल योजना के बिजली बिल नहीं भरे हों तो कनेक्शन न काटें: मिश्र Web Title cheapest electricity in delhi प्रारम्भिक परीक्षा 2019 0:53 डंडारी बाग में अवैध कब्जा से संबंधित थाने में 4 FIR, आनन फानन में प्रशासन ने बुलाई बैठक English (US) अगली स्टोरी राजधानी में चुकनगुनिया और डेंगू ने तो स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ नगर निगम की पोल खोल दी है। ऐसी ही स्थिति शिक्षा को लेकर है जहां सरकारी प्राथमिक विद्यालयों को मर्ज करने को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। साथ ही बच्चों को पढ़ाने के लिए बहाल किए गए पारा टीचरों की स्थिति सबके सामने हैं, जो वर्षों से अपने मूल कार्य को करने के लिए आंदोलित है। Video गैलरी व्यावसायिक (ग्रामीण) (0-100 यूनिट)  2.20  5.25 केरल बाढ़: अब तक 324 लोगों की मौत, 20 हजार... read more Cricket News मुखिया पोखरना पंचायत पावर घोटाला : "2.42 में खरीदी, "7.90 में बेची इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - गैस बिजली इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - इलेक्ट्रिक कंपनियां इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता - कोई जमा के साथ सस्ता बिजली
Legal | Sitemap