Facebook © 2018 Oneindia in Other Languages 0 replies 0 retweets 2 likes Sign up टेक रिव्यू @AamAadmiParty FB पर वाजपेयी की आलोचना किये जाने के बाद प्रोफेसर की जमकर पिटाई, जिंदा जलाने की हुई कोशिश : प्रोफेसर जामताडा बीते दिनों संसद में पेश एक आंकड़े के अनुसार जन धन योजना के तहत खुले 59 लाख खाते बंद हो चुके हैं. (फोटो: पीटीआई) करंट अफेयर्स About text formats त्‍वरित विद्युत विकास एवं सुधार कार्यक्रम (एपीडीआरपी) Okay About Us| जिंदा चूहे के शरीर पर उगा पौधा, देखने वालों को नहीं हो रहा यकीन Best Air Purifiers in India DW अकादमी BY नूर मोहम्मद ON 05/06/2018 • बेगूसराय में हैवानियत, विक्षिप्त महिला से रेप कर फरार हुआ बदमाश July 10, 2018 इंस्पेक्टर ताजगंज और टोरंट अधिकारी पहुंच गए। ग्रामीण मुआवजे को लेकर हंगामा करते रहे। शाम पांच बजे समझौता होने पर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।  एसीआर फॉर्म बिटकॉइन विश्लेषण: 24 अगस्त का सप्ताह (रुझान के लिए परिचय) अटल जी की अंतिम यात्रा में मोदी-शाह सहित सड़कों को उमड़ा जनसैलाब www.jagran.com 14 जुलाई 2016, 12:19 AM सुप्रीम कोर्ट का फोटो। Promoted Tweet विद्युत और तीन अन्य योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक ख़बरेंमर्डर मिस्ट्रीचर्चित कांडसाइबर क्राइमसीरियल किलरसेक्स स्कैंडलबाहुबलीमोस्ट वॉन्टेडवीडियोनायकपुलिस फाइल सेफोटो चक्रधरपुर : 64 मौजा के ग्रामीणों ने कराया बालक भोजन, शिव भक्तों ने किया प्रसाद ग्रहण ऑपरेटिंग वोल्ट रेंज लिंक्स Punjab Kesari "> इंटरव्यू की रणनीति 17-Aug-18 04:37 162 @AamAadmiParty @DrKumarVishwas अरे बन्द करो नाटक। सरकार तेरी है । है औकात तो कुछ करो । जनता को चुतिया बनाना बन्द नही करोगे??? केरल : खराब मौसम के चलते मोदी का बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण रद्द 09:42 बुंदिया में मिला रहा था घटिया रंग जांच में गयी टीम को बनाया बंधक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार ने कहा कि झारखंड के सभी ठच्स् एवं ।च्स् परिवार के घरों तक बिजली दिसंबर तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि संथाल परगना के सभी 6 जिले दुमका, देवघर, साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा में से दुमका एवं देवघर जिला में सभी घरों तक जुलाई तक बिजली पहुंचा दी जाएगी तथा शेष बचे 4 जिलो साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा के सभी घरो तक बिजली अक्टूबर महीने तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड में 500 सब स्टेशन बनाने का लक्ष्य है। जिनमें से 150 सब स्टेशन बनाया जा चुका है। बचे हुए लक्ष्य को बहुत जल्द पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड राज्य में 1.50 लाख ट्रांसफर्मर लगाना है जिनमें से 30 हजार ट्रांसफर्मर लगा दिया गया है। उन्होंने कहा कि अरबन ग्रामीण क्षेत्रों में रिंग सिस्टम को लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मार्च 2020 तक 15 प्रतिशत बिजली लॉस पर कामयाबी प्राप्त कर ली जाएगी । उन्होंने कहा कि आप सभी अपना बिजली बिल प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से जमा कर सकते हैं, पूरे झारखंड में 4000 प्रज्ञा केंद्र है, जिनमें से 2000 प्रज्ञा केंद्र एक्टिव मोड में कार्य कर रही है। बचे हुए प्रज्ञा केंद्र को भी बहुत जल्दी एक्टिव मोड में लाने की दिशा में कार्य चल रही है। इस प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से आप सभी अपना बिजली बिल आसानी से जमा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि कंज्यूमर को शिकायत दर्ज करने में परेशानी होती था जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने कंज्यूमर कॉल सेंटर की स्थापना की। इस कंज्यूमर कॉल सेंटर के माध्यम से आप अपनी शिकायत दर्ज कर पाएंगे। सोशल मीडिया के माध्यम से भी आप अपनी शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नही होगी। इस प्रकार की प्रक्रिया हम लोगों ने बनाए हैं अब कंज्यूमर को अपने शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगा । ऋषिकेश भारत में विधिक सेवाएँ तेजू महतो धनु बफर स्टॉक : बिजली की लड़ाई लड़ रहे आरडब्लूए प्रतिनिधि राजीव काकरिया कहते हैं कि दिल्ली में अब तक पावर की पीक डिमांड करीब 6000 मेगावॉट तक पहुंची है। लेकिन बिजली कंपनियां 24 घंटे बिजली देने के नाम पर बहुत ज्यादा बफर स्टॉक का इतंजाम करती हैं। फिर यह बिजली सरप्लस होती है और सस्ते में बेचनी पड़ती है और खर्च कंज्यूमर पर पड़ता है। इसलिए साइंटिफिक तरीके से अनुमान लगाया जाए कि कितनी बिजली की जरूरत हो सकती है। नौकरी/ जॉब्स निजी क्षेत्र की जल-विद्युत योजनाओं में भागीदारी के बारे में कई बातें कही गई हैं। नदी घाटियों का पूर्व अध्ययन, धरातल चित्र तथा जल का मूल्यांकन उत्तराखंड जल-विद्युत निगम को पहले से ही कर लेना चाहिए था ताकि नदी की बिजली उत्पादन क्षमता का सही अनुमान लगाया जा सकता। योजनाओं की बिजली उत्पादन क्षमता कई बार बदली गई 85 प्रतिशत योजनाओं में 22 प्रतिशत से 32.9 प्रतिशत बदलाव हुए, जिससे पूर्व अध्ययन के सही होने पर संशय तथा सवाल खड़े हो गए। योजनाओं को विकसित करने वालों ने व्यवस्था की त्रुटियों का फायदा उठाया। नमूने की 13 योजनाओं में एक की क्षमता 25 किलोवाट से कुछ कम की गई, ताकि उस पर रॉयल्टी कम देनी पडे, जो पूरे 25 किलोवाट या उससे अधिक पर काफी अधिक पड़ती। कई योजनाओं की समय-सीमा इसलिए बढ़ाई गई कि इस मामले में हुए नुकसान का भार उन पर न पड़े। यह अधिकतर उत्पादन क्षमता में बदलाव करने पर हुआ, जिससे राज्य की प्रत्याशित रायल्टी तथा बिजली से आमदनी में कमी आई। उससे राज्य को बहुत आर्थिक घाटा हुआ क्योंकि कंपनियों के प्रीमियम बदल गए। योजनाओं का समुचित पूर्व अध्ययन अत्यंत आवश्यक है ताकि उनकी क्षमता का सही ज्ञान हो सके। पानी के बहाव, विद्युत यंत्रों की कार्य क्षमता तथा अन्य बातों के मानक निर्धारित करने पर ही कंपनियों को लाइसेंस देने की नीति बनाने की जरूरत थी। इस लेख में कैग की पूरी रिपोर्ट, जिसमें राज्य की जल-विद्युत नीति तथा उसके काम करने के तरीके की कड़ी आलोचना है और जिसमें कहा गया है कि उस नीति के कारण बड़ा पर्यावरणीय तथा आर्थिक नुकसान हुआ है। सवाल यह उठता है कि सभी दिशाओं में बड़े घाटे तथा संसाधनों के क्षय के काम को राज्य सरकार क्यों प्रोत्साहन दे कर चला रही है ? जॉन अब्राहम की बॉडी बनवाई इस शख्स ने 6 पैक्स एब्स के बारे में ये सीक्रेट्स किए शेयर 5 mins POPULAR NEWS THIS WEEK plus minus निशि पांडे Hindi Newsव्यापारबिहार में बिजली-दर में बदलाव नहीं, उपभोक्ताओं को राहत बांसवाड़ा : साधारण सभा में भी गुल रही बिजली, बोले ग्रामीण- बिजली आती नहीं, फिर भी थमा रहे हजारों का बिल RC Desk2, November 11,2017 09:59:16 PM योजनाएं : ‘गोठ एप’ पर जानिए, मिनीमाता योजना ने कैसे बदली युवाओं की आर्थिक स्थिति Videos Gallery शुद्धिपत्र Two-way (sending and receiving) short codes: The total outlay of the project is Rs. 16, 320 crore while the Gross Budgetary Support (GBS) is Rs. 12,320 crore. The outlay for the rural households is Rs. 14,025 crore while the GBS is Rs. 10,587.50 crore. For the urban households the outlay is Rs. 2,295 crore while GBS is Rs. 1,732.50 crore. The Government of India will provide largely funds for the Scheme to all States/UTs. The States and Union Territories are required to complete the works of household electrification by the 31st of December 2018. राज्य बिजली कम्पनियों की प्रदर्शन रिपोर्ट तेजू महतो घर Last updated: Thu, 23 Apr 2015 12:19 PM IST अजित सिंह चौधरी बोले धरनार्थी : विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण साहेबपुर कमाल मेंं बिजली आपूर्ति चौपट June 28, 2018 बच्चे की तरकीब के मुरीद हुए आनंद महिंद्रा, करना चाहते हैं हा... 简体中文 Self Assessment कंधार हो या कारगिल, कभी विचलित नहीं हुए अटल जी : यशवंत सिन्हा MP News in Hindi पुरुषों में चीज़ें चेक करने और महिलाओं में जमा करने की होती है आदत: शोध प्रिंट मीडिया विज्ञापन नीति इधर दिल्ली सरकार के इस कदम पर बिजली कंपनियों का कहना है कि ऊंचे दाम का कारण ज्यादा जनरेशन और ट्रांसमिशन कॉस्ट है। बिजली के दाम में 80 फीसदी हिस्सा जनरेटिंग और ट्रांसमिशन कंपनियों का है। जनरेशन और ट्रांसमिशन की लागत लगातार बढ़ रही है। और जहां तक ऑडिट का सवाल है तो सीएजी और रेगुलेटरी अथॉरिटी उन पर लगातार नजर रखती हैं। बिजली कंपनियों का हर साल ऑडिट होता है और डीईआरसी हर साल अकाउंट्स की जांच करता है। योगी ने राहुल पर बोला हमला, कहा इनकी हरकतों की वजह से ही इन्हें नकार चुकी है जनता इटावा 28 C जब अटल जी द्वारा दिया गया बैट लेकर पाकिस्तान मैच खेलने चले गए थे सौरव गांगुली National News 3:19 जवाब – बिजली मिलने पर निश्चित रूप से दैनिक घरेलू कार्यों और मानव विकास के सभी पहलुओं में लोगों के जीवन की गुणवत्ता पर सकारात्मक प्रभाव डालती है। सबसे पहले, बिजली मिलने पर उजाले के लिए मिटटी तेल का इश्तेमाल नहीं होगा, जिसके परिणामस्वरूप घरों में प्रदूषण में कमी आएगी जिससे लोगों को स्वास्थ्य संबंधी खतरों से बचाया जा सकेगा। इसके अलावा, बिजली मिलने से देश के सभी भागों में कुशल और आधुनिक स्वास्थ्य सेवाएं स्थापित करने में मदद मिलेगी। सूर्यास्त के बाद प्रकाश विशेष रूप से महिलाओं के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा का भाव प्रदान करता है। सामाजिक और साथ ही आर्थिक गतिविधियों में भी वृद्धि करता है। बिजली की उपलब्धता से सभी क्षेत्रों में शिक्षा सेवाओं को बढ़ावा मिलेगा और सूर्यास्त के बाद गुणवत्ता वाले प्रकाश में बच्चों को पढ़ाई के लिए अधिक समय बिताने और संभावित कैरियर में आगे बढ़ने में सुविधा होगी। घरेलू विद्युतीकरण होने से महिलाओं के अध्ययन करने की संभावना भी बढ़ जाती है और इससे उनकी कमाई भी होगी। प्रयोक्ता इंटरफ़ेस समाज सदस्‍यता 6.2M people like this. Sign Up to see what your friends like. Sport अमेरिका ने रोहिंग्या मामले में म्यांमार सेना पर लगाये प्रतिबंध (Hindi News from Navbharat Times , TIL Network) ऑफलाइन Pradhan Mantri Yojana दुर्गा प्रसाद दे दुनिया के अजीबोगरीब कानून, जिन्हें जानकर आप रह जाएंगे हैरान लेट आने पर कर्मचारियों का ढोल बजाकर और माला पहनाकर स्वागत योर मनी: 15 साल में कैसे जुटाएं 5 करोड़ रुपये स्पेशल स्टोरी Comment - प्रत्यय अमृत, प्रधान सचिव, ऊर्जा विभाग  आयोजनकर्ता में मुख्य रूप से सोनू बारीक, तुलसी महतो, शम्भू महापात्र, अमित रक्षित बाबा सारंगी, परमथो नायक, पोदु नायक, अलोक प्रामाणिक, रंजन ठाकुर, मासांत कलन्दी, सूरज कालन्दी, गणेश मंडल, चंदन प्रजापति, विजय, बिनोद, कुना समेत काफी संख्या में कांवरिया संघ के लोगों का सराहनीय योगदान रहा। करीब दो हजार लोगों ने भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। BSES सपना चौधरी का नया वीडियो यूट्यूब पर वायरल, देखकर हो जाएंगे भावुक...कभी देखा नहीं होगा ऐसे Related Stories धनबाद भारत के पीसी मार्केट में 28 फीसदी की ग्रोथ, अल्ट्रा स्लिम नोटबुक ने बढ़ाई मांग 49 mins बगहा ENGvIND: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के बारे में आई बड़ी अपडेट Livemint.com 9ट्रेंडिंग अटलजी को श्रद्धांजलि देने जा रहे अग्निवेश की भाजपा मुख्यालय के बाहर पिटाई 10 mins RSS क्रेडिट स्कोर और बैंक के लोन या क्रेडिट कार्ड जारी करने में क्रेडिट स्कोर की क्या भूमिका है ये समझना आपके लिए बेहद जरूरी है।क्रेडिट स्कोर वित्तीय संस्थानों से ऋण लेने की क्षमता दर्शाता है। 0-50        2.65        6.15     ख़ास अनुसंधान आकस्मिकता (आरसी) नई दिल्ली, 28 जुलाई 2017, अपडेटेड 20:21 IST Chinese (Simplified) 简 IPL 2018 बिहार एवं झारखंड ऐसे सभी चार करोड़ निर्धन परिवारों को बिजली कनेक्शन दिये जाएंगे, जिनके पास अभी कनेक्शन नहीं हैं।  पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा उत्पाद भारत23 केजरीवाल सरकार पर बिजली कंपनियों से मिली भगत का आरोप More From Patna लाइफ ओके - बिजली बिल सरलीकरण कमेटी ने नियामक आयोग को सौंपी रिपोर्ट सुरक्षा उपकरण: एमसीबी technology1 day ago Offer period 11th - 18th August, 2018 उत्तराखन्ड July 22, 2018 1 अगस्त 2018 सेनिटेशन श्रेणी कुल टैरिफ सब्सिडी वास्तविक देय प.बंगाल यूपी   SShare भोपाल में स्‍थापित मीटरिंग क्रियाविधि प्रयोगशाला हिन्दुस्तान शिखर समागम बिजली बदलें - इलेक्ट्रिक कंपनियां बिजली बदलें - कोई जमा के साथ सस्ता बिजली बिजली बदलें - ऊर्जा कंपनियों की सूची
Legal | Sitemap