राज्य में अप्रैल से लागू होंगी बिजली की नई दरें, जानें- आपकी जेब पर क्या होगा असर? राष्ट्र में थर्मल ऊर्जा उत्पादन 344 गीगावाट व अक्षय ऊर्जा क्षमता 70 गीगावाट है. इसमें अधिकतम मांग वाले समय में उपलब्धता 173 गीगावाट रहती है. ऊर्जा खरीद समझौता नहीं होने के कारण एक एरिया से दूसरे एरिया में बिजली की आपूर्ति संभव नहीं हो पाती है. ऐसे में महंगी बिजली खरीदनी पड़ती है, जिसका सीधा प्रभाव उपभोक्ता पर भी पड़ता है . सतना धौलपुर व्यावसायिक (शहरी)    (एनडीएस टू)  6.00  6.00 प्रत्येक न्यूज़ Follow our भारत section for more stories. उपभोक्ता के जून, 2018 तक के बिल में देय मूल बकाया राशि और सम्पूर्ण सरचार्ज राशि माफ की जावेगी। इसके लिए आवेदन मिलने के बाद बकाया माफी प्रमाण-पत्र भी जारी किया जाएगा। सरचार्ज की पूरी रा‍शि एवं मूल बकाया राशि का 50 प्रतिशत वितरण कंपनी द्वारा माफ किया जायेगा तथा शेष 50 प्रतिशत राज्य शासन द्वारा वहन किया जायेगा। इसकी एवज् में राज्य शासन द्वारा तीन वर्ष अथवा 2018-19, 2019-20 एवं 2020-21 में सब्सिडी दी जायेगी। स्कीम में संबल योजना में पंजीकृत और बीपीएल श्रेणी के वे उपभोक्ता भी शामिल हो सकते हैं, जिन पर सामान्य बिजली बिल की राशि बकाया है और जिन्होंने बकाया राशि बाबत् न्यायालयीन प्रकरण दर्ज किया है और प्रकरण लंबित है। ऐसे उपभोक्ता जिन पर बिल की राशि बकाया होने से कनेक्शन स्थायी अथवा अस्थायी रूप से विच्छेदित किया गया था और जिन पर विद्युत अधिनियम की धारा 126, 135 या 138 में प्रकरण दर्ज हो और उनके बिल की राशि बकाया हो, ऐसे उपभोक्ताओं की निर्धारण अधिकारी द्वारा जारी निर्धारण आदेश की कंपाउडिंग फीस और देय ब्याज इत्यादि सहित पहले की बकाया समेत पूरी राशि माफ की जाएगी। पात्र हितग्राहियों के उपरोक्तानुसार निराकरण के बाद विशेष विद्युत न्यायालयों में दर्ज सभी प्रकरणों को समाप्त करने की कार्यवाही शुरू की जाएगी। पहले के वर्षो से जारी समाधान योजना में लाभ ले चुके घरेलू उपभोक्ता पात्रता के अनुसार इस स्कीम में फिर लाभ ले सकेंगे। कहाँ रुकना है थीम चुनें इसके लिए आयोग ने कॉस्ट डाटा बुक में संशोधन करके आदेश जारी कर दिए हैं। इस फैसले से 5 किलोवाट तक का नया कनेक्शन लेने वालों को 50 रुपये प्रति किलोवाट से लेकर 300 रुपये प्रति किलोवाट तक का फायदा होगा। यह व्यवस्था छोटे उद्योगों को छोड़कर सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं पर लागू होगी। इस रेस्तरां से नहीं निकलता कूड़ा 108 APPLY ESMA AMBULANCE PERSONNEL वेबसाइट तक पहुंचाने वाले लिंक सम्बंधित लिंक्स Das Porträt Users Today : 1 प्रोफ़ेसर दिवाकर ने कहा कि सरकार ने ग़रीबों को लिए जन धन अकाउंट खोला लेकिन अब उन ग़रीबों को इस अकाउंट को हैंडल करने के लिए आठ फ़ीसदी सर्विस टैक्स देना होगा. उन्होंने कहा कि इतने सारे विरोधाभासों के साथ कोई सरकार कैसे दावा कर सकती है कि इससे ग़रीबों को फ़ायदा होगा? फरीदाबाद Book Print Ad ये भी पढ़ें- जीएसटी के तहत हर तिमाही रिटर्न दाखिल करना व्यावहारिक नहीं: जेटली महंगाई से चिंतित RBI ने प्रमुख ब्याज दरों में नहीं... 4 शहीदों के परिवारों के लिए हमेशा हीरो ही रहेंगे वाजपेयी प्रतीकात्मक फोटो. MPPSC रिपोर्ट : डॉ मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हासिल हुई सर्वाधिक 10.08 फीसदी रही वृद्धि दर बदायूं Mahanagar Times is your news, entertainment, music fashion website. We provide you with the latest breaking news and videos straight from the industry. पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू मुख्य कंटेंट की ओर | 20 21 22 23 24 25 26 -रेलवे ट्रेक्टशन को ओपन एक्सेस से 20 फीसदी लोड फैक्टर के खपत करने पर 30 फीसदी ऊर्जा प्रभार में छूट। स्टडी मैटीरियल Subscribe दिसंबर 21, 2017 * उपरोक्त योजना उस समय तक मान्य होगी जब तक कि विभाग या कोई अन्य सक्षम प्राधिकारी उन्हें वापस रोल नहीं करेगा। इसके अलावा, उपरोक्त योजना / दस्तावेज / विभाग को विभाग के अधिकारियों द्वारा मैन्युअल रूप से संग्रह अनुभाग में ले जाया जाएगा। मुख्‍य सामग्री पर जाएं उत्पाद विवरण: सामग्री: पारदर्शी एबीएस या पॉली-कार्बोनेट आदेश और परिपत्र चौथा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच हजारीबाग : बुढ़वा महादेव विकास सह शांति समिति व श्रावणी... ट्रांसमिशन कंपनी इस गांव में सबके दोस्त हैं सांप, न तो काटते हैं, ना इनको मारा जाता है Tenders ऑडियो आर्टिकल्स रायपुर। आमदनी अठनी खर्चा रुपया ने छत्तीसगढ़ की सरकारी बिजली वितरण कंपनी (सीएसपीडीसीएल) की रैंकिंग बिगाड़ दी है। बढ़ते खर्च के बोझ व वसूली की धीमी रफ्तार से सालभर में कंपनी चार पायदान फिसल कर 31वें स्थान पर आ गई है। कांवड़ियों से भरी बस डिवाइडर पर चढ़ी, हादसे में 35 लोग घायल इंटरव्यू संभागायुक्त एवं कलेक्टर द्वारा कोठी पर झंडा वन्दन किया गया Explore उत्तर प्रदेश सरकार ने निकाय चुनाव के बाद राज्य में बिजली की दर बढ़ाने का फैसला किया है। विपक्षी पार्टियों ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया है। देखिए सबसे बड़ा मुद्दा... दिवाली खत्म होते ही महाराष्ट्र के लोगों को बिजली दर में बढ़ोतरी का झटका लगा है। बिजली बिल में बढ़ोतरी के लिए महाराष्ट्र विद्युत नियामक आयोग ने महावितरण को हरी झंडी दे दी है। बिल में बढ़ोतरी एक नवंबर से हुई है और अगले चार सालों तक 4 स्लैब के तहत बिजली बिल में बढ़ोतरी होगी। चालू वित्त वर्ष में 1.5 फीसदी, 2017-18 में 2 फीसदी, 2018-19 में 1.20 फीसदी और 2019-20 में 1.27 फीसदी कीमतों में बढ़ोतरी की जाएगी। फिलहाल एक यूनिट पर करीब 4 पैसे का बोझ बढ़ेगा, लेकिन चार सालों की बात करें तो ग्राहकों पर कुल 9141 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ेगा। सूखे से निपटने के लिये वर्षाजल सहेजें 25 Views HTET ग्रामीण जिला संदर्भ वोल्टेज पेट्रोल पंपों पर चोरी रोकने के लिए एचपीसीएल ने उठाया यह बड़ा कदम 200 बड़े ऋण खातों की निगरानी करेगा आरबीआई अटलजी नकारात्मक सोच से हमेशा दूर रहे, उनके व्यंग्य पर लोग तिलमिलाते तो जरूर थे, पर आहत नहीं होते: लालकृष्ण आडवाणी 16 mins प्रधान मंत्री आवास योजना (शहरी) 6 से 10 साल बाद ली जानी चाहिए प्रोजैक्ट से फ्री-पावर अंतर्कलह से जूझ रही भाजपा-कांग्रेस को चुनाव में झटका दे सकती है ये तीसरी पार्टी Write a Comment आर एस ओ पी तकनीकी रिपोर्ट The page that you are looking for cannot be found. आरटीआई सूचना आर्काइव Film Resources – Film and Video Resources सम्‍पर्क रहित प्रकार की लेसर वैब्रोमापी नमस्कार दोस्तों…. सरकारी योजनाएँ – TheHowPedia पर आपका स्वागत है। हमारी यही  कोशिश रहती है की आपको हमेशा सही जानकारी मिले। हमारे द्वारा बताई गयी योजनाओं और सुविधाओं की जानकारी आधिकारिक सरकारी वेबसाइट, मुख्य अखबार और न्यूज चेनलों के द्वारा ली जाती है। अगर योजना या उनके नियमो मे कोई भी बदलाव होगा तो आपको सूचित करने का पूरा प्रयास करेंगे| लेकिन आपसे अनुरोध है कि यहाँ दी गयी किसी भी योजना की जानकारी पर फैसला या प्रतिक्रिया लेने से पहले उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जानकारी अवश्य सुनिश्चित करें। क्योकि अगर आपको किसी असुविधा का सामना होता है तो हम इसके जिम्मेदार नहीं होंगे!  कोई भी सवाल या समस्या है तो कमेंट में लिखें। हम जल्दी ही सहायता करेंगे। अटल जी को श्रद्धांजलि देते वक्त भावुक हुए जावेद अख्तर टॉप फाइव में गुजरात व उत्तराखंड की कंपनियां RC Desk2, November 11,2017 09:59:16 PM दिल्ली में बिजली की दरों में बढोतरी की आहट सुनाई दे रही है. निजी बिजली कंपनियों ने घाटे का हवाला देकर बिजली की दरें बढ़ाने की मांग की है और दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी अथॉरिटी के पास अपनी अर्जी भी लगा दी है. www.bhaskar.com 25 दिसम्बर 2016, 01:39 AM धौलपुर| दीनदयालग्रामीण विद्युत योजना में जिले में 45 81 करोड़ रूपए व्यय होंगे। जिला विद्युत समिति ने बहुप्रतीक्षित... देखें LIVE: अंतिम सफर पर निकले अटल जी, मोदी, शाह सहित जनसैलाब यात्रा में Register Free Login English Sign the petition Aug 7, 2018, 08:18 AM IST महाराष्‍ट्र Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah Fropky पावर डाटा प्रबंधन प्रभाग 2:27 Promoted by 24 supporters 201-400 यूनिट बिजली खपत पर अब 4.5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से चुकाना होगा. अभी हर यूनिट पर 5.95 रुपए देने पड़ते हैं. 401 से 800 रुपए प्रति यूनिट खर्च करने पर 6.5 रुपए प्रति यूनिट देना होगा. अभी यह 7.30 रुपए है. 801 से 1200 रुपए यूनिट बिजली जलाने पर 7 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली बिल देना होगा. अभी यह 8.10 रुपए है. ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। लोकायुक्त ने सोमवार को बिजली कंपनी के कनिष्ठ यंत्री एम पावसे के खिलाफ न्यायालय में चालन पेश कर दिया है। कनिष्ठ यंत्री एम पावसे को लोकायुक्त ने जून 2017 को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था। इस संबंध में आवेदक अनुरुद्ध सिंह राठौर ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त के सामने आवेदन प्रस्तुत किया था जिसमें बताया गया था कि उनकी कस्बा पोरसा में भिण्ड रोड पर मेसर्स कामतानाथ ट्रेडिंग कंपनी के नाम से तेल मिल है। बिजली कंपनी के सर्तकता दल ने उनके आॅयल मिल पर छापा डाला था। इस दल में कंपनी के कनिष्ठ यंत्री एम पावसे भी शामिल थे। छापे के बाद कंपनी की तरफ से उनके पास तीन लाख सत्तर हजार, तिरेपन रुपए का बिजली चोरी एवं पेनल्टी का नोटिस आया था। खुशखबरी! दिल्ली में बिजली के दाम कम हुए, जानिए नई दरें ...जब अटल बिहारी ने ली चुटकी, कहा- अब तो इंदिरा मुझे बड़े प्यार से देखती हैं टॉप स्‍टोरी संपादकीय   // ]]> नाराज महिलाएं बोली- हजारों में बिल देंगे तो खाएंगे क्या साहब Share On Facebook भभुआ Livemint.com पढ़ेंःB= बबीता, B= बिटकॉइन, C= करप्शन, BBC में कैसे फंसी जयपुर की महिला थानेदार बबीता IRCTC वेबसाइट का नया अवतार, जानें सभी टॉप फीचर्स रेखा देवी Unterrichtsreihen New Delhi, New Delhi, Delhi SHIMLA WOMEN ACCIDENT RC विशेष टेस्ट सीरीज डाइट-फिटनेस Akshay‏ @akash_tyagi Jun 4 शहरी उपभोक्ता घरेलू दो  महिला प्रकोष्‍ठ नरेश दिवाकर को देश21 तराजू में एक तरफ नमक तो दूसरी तरफ मेवा छोटे उद्योगों के लिए औसतन विद्युत दर 5.14 रुपए प्रति यूनिट से बढ़ाकर रुपए 5.38 प्रति यूनिट कर दी गई है जबकि बड़े उद्योगों के लिए 5.16 रुपए से बढ़ाकर 5.41 रुपए कर दी गई है। कुमार ने बताया कि प्रदेश की विद्युत वितरण कंपनी उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड बिजली 3.10 रुपए में खरीदेगी और उपभोक्ताओं को 4.92 रुपए में बेचेगी। हमारा नज़रिया इन्फोग्राफिक्स उत्तर प्रदेश सरकार ने निकाय चुनाव के बाद राज्य में बिजली की दर बढ़ाने का फैसला किया है। विपक्षी पार्टियों ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया है। देखिए सबसे बड़ा मुद्दा... भारतीय हॉकी के सितारे हरदयाल सिंह का निधन, ओलंपिक में दिलाया था गोल्ड Deutsch   ⁄  Dehradun 20 Views अजितेश कुमार Support Santa Cruz Climate Emergency Mobilization Resolution vs हर राज्य में बिजली की दरें भी अलग-अलग होंगी. जीएसटी के बाद भी शराब दिल्ली के मुकाबले उत्तर प्रदेश में अलग क़ीमत पर मिलेगी. यही हाल रियल एस्टेट का है. अरुण कुमार का मानना है कि ऐसा राज्यों के नहीं मानने के कारण हुआ है. राष्‍ट्रीय चिह्न/प्रतीक विंडोज अटल जी के निधन पर भावुक हुए शाहरुख, इस गीत... मुद्रास्फीति का असर महासचिव, जिला कांग्रेस कमिटी Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd ट्रैवलिंग समाचारपत्रिकाएँ By Prabhat Khabar | Updated Date: Feb 16 2018 9:06AM मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्विट कर कहा है कि सरकार सब्सिडी के माध्यम से जनता पर बिजली बिल के रूप में पड़ने वाला बोझ कम करेगी.  गरीब, मजदूर, किसान और लघु व्यापारियों को सब्सिडी दी जायेगी. सब्सिडी की घोषणा जल्द की जायेगी. शिकायत और सुनवाई TWITTER ओलांद और मोदी ने अपने संयुक्‍त भाषण में कहा था कि दोनों देश टेक्‍नो कमर्शियल मुद्दों पर बातचीत 2016 के अंत तक पूरा कर लेंगे और 2017 के शुरुआत में इस प्‍लांट पर ऑपरेशन शुरू हो जाएगा। लेकिन अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि कंपनी लायबिलटी कानून का पालन करने के लिए क्‍या कदम उठाएगी। टिहरी Comment फेंग शुई Must Watch बाल वाटिका प्रश्नपत्र III गुजरात चुनाव: पटेलों के बीच माधव सिंह सोलंकी के शासन की याद ताजा कराएगी भाजपा Fraud Complaints छत्तीसगढ़Sat, 18 Aug 2018 06:31 AM (IST) Leave a comment सरस्वती बनर्जी GmailGoogle DoodleRealme 2TamilRockers WebsiteIRCTC PhonepeRedmi 5A PriceVajpayee DeadAyushman Bharat YojnaOppo R17 ProNarendra ModiRRB ALP Admit Card 2018Google Person FinderKerala Floods NewsRahul GandhiMK StalinSBI Q1 Results 2018ITR Filing StatusIdukki Dam Water LevelPriyanka Chopra PhotosHow to File ITRKatrina Kaif Hot PhotosTeen Talaq BillAarushi Hemraj CaseTravel News in HindiWhatsapp NewsAaj Ka RashifalBejan DaruwallaIncome Tax in HindiMutual Funds in Hindi2018 RashifalGadgets News in HindiRains In MumbaiTech News in HindiHindi NewsAssembly Elections 2018Kolkata NewsLucknow NewsTV News in HindiLive Cricket ScoreMumbai NewsPunjab NewsKashmir NewsEducation News in HindiVasthu Tips in HindiDelhi NewsUP NewsBihar NewsHealth News in HindiMovie News in HindiSports News in Hindi Concept Talk   प्रिंट क्विज 2 months ago बिजली के खंभे के लिए गड्ढा खोद रहे थे मजदूर, मिला 'खजाना' आप जिस पेज़ को देखना चाहते है वो उपलब्ध नहीं है, Read Also सिंहभूम (पू) हेल्थ अलर्ट मुकेश चंद्र गुप्ता, एमडी, मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड entertainment20 hours ago कमेटी ने पिछले साल के अप्रैल में जारी की अपनी रिपोर्ट में कहा है कि हर कोई युवाओं को रोजगार देने या स्थानीय उद्योगों की जरुरतों पर ध्यान दिए बिना सिर्फ आकड़ों के पीछे भाग रहा है. कमोडिटी इन्फोग्राफिक्स असंगठित क्षेत्र का कल्याण एक्सपर्ट कॉलम Create Page केरल में बाढ़ से बिगड़े हालात, PM मोदी का... अर्थव्यवस्था की बागडोर फिर पुराने कंधों पर... RC Desk1, December 04,2017 05:57:02 PM Groups खंडवा: एवरेज रीडिंग लेकर बिल थमाकर उपभोक्ता की सेवा में कमी करने पर फोरम ने बिजली कंपनी पर जुर्माना लगाया है। उपभोक्ता फोरम ने बिजली कंपनी को उपभोक्ता को 3000 रुपए देने को कहा है। सुर्खियां प्रोटोकॉल तोड़कर पांच किमी पैदल चले पीएम नरेंद्र मोदी सिटिजन Q Pradhan Mantri Yojana वृश्चिक सेंसेक्स 200 अंक मजबूत, निफ्टी 11450 के करीब प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को आने वाले दिनों में बड़ी राहत मिलने वाली है। अब कनेक्शन लेने के दौरान लगने वाले सिस्टम लोडिंग चार्ज, कमर्शल उपभोक्ताओं पर लगने वाला मिनिमम चार्ज खत्म हो सकता है। इस मामले में राज्य विद्युत नियामक आयोग जल्द फैसला ले सकता है। टैरिफ सरलीकरण के लिए बनी कमेटी के ज्यादातर सदस्यों ने सिस्टम लोडिंग चार्ज और वाणिज्यिक उपभोक्ताओं पर से मिनिमम चार्ज हटाने पर शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट सौंप दी। अब राज्य विद्युत नियामक आयोग को इस मामले में अंतिम फैसला लेना है। 12:24:38 AM कंपनी रिजल्ट्स Punjab Book Print Ad प्रदेश में बिजली हुई सस्ती, सरचार्ज खत्म April 26, 2018 CM रमन सिंह ने किये कई फेरबदल, एडिशनल चीफ सेक्रेटरी बैजेंद्र कुमार को उद्योग विभाग की जिम्मेदारी सहरसा अमेरिका Participate in Discussions देवघर Her Zindagi ​ दीनदयाल विद्युत ग्रामीण योजना सपोर्ट द वायर IAS टॉपर टीना डाबी का हसबैंड संग 'लुंगी डांस', बिग बी के गाने पर लगाए ... Atal Bihari Vajpayee: अटल-आडवाणी की जोड़ी में मुरली मनोहर जोशी को क्यों नहीं घुसाते? वाजपेयी ने दिया था ऐसा जवाब इलेक्ट्रिक चॉइस - आज खरीदारी करें इलेक्ट्रिक चॉइस - ऊर्जा प्रदाता स्विच करें इलेक्ट्रिक चॉइस - विद्युत दर
Legal | Sitemap