बिजली कंपनियां अगर बिजली उत्पादक कंपनियों से कम दाम पर बिजली खरीदती हैं तो उन्हें इसके बदले इंसेंटिव मिल सकता है। दिल्ली इलैक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी अथॉरिटी (डीईआरसी) इस योजना पर विचार कर रही है। अभी इस संबंध में सभी की राय ली जा रही है। फाइनल होते ही इसके बारे में ऑर्डर जारी कर दिए जाएंगे। इससे बिजली कंपनियों के साथ ही कंस्यूमर को भी फायदा होगा, क्योंकि इससे उनका बिल का बोझ कुछ कम होगा। | इसमें यह भी जानकारी मिली कि अगर किसी का एक किलोवॉट का लोड है और उसके घर का तीन महीने के दौरान हर महीने केवल एक घंटे के लिए भी लोड इस लिमिट से अधिक पहुंचा है, तो बिजली कंपनियां यह मानकर चलती हैं कि उसके घर का लोड बढ़ा देना चाहिए। ऐसे कंस्यूमर का लोड फिर एक किलोवाट से दो किलोवॉट कर दिया जाता है। ऐसे में कंस्यूमर्स को अधिक पेमेंट देना पड़ता है। 500 मेगावाट के लिए 30 कंपनियों ने लगाई बोली 23-Dec-16 05:16 स्थानान्तरण योजना रुपये में ऐतिहासिक गिरावट के बाद डैमेज कंट्रोल मोड में सरकार... स्वीट हार्ट डील: काकरिया के मुताबिक डायल सहित कुछ एजेंसियों के साथ बिजली कंपनियों की स्वीट हार्ट डील है। इन्हें पब्लिक यूटिलिटी के नाम पर सस्ते में बिजली दी जाती है जबकि वहां शोरूम, पब, रेस्टोरेंट चल रहे हैं जो जरूरत से ज्यादा बिजली यूज करते हैं। इनका बोझ भी आम कंज्यूमर की जेब पर पड़ता है। इसलिए स्वीट हार्ट डील खत्म होनी चाहिए। अन्य खबरें अंगदान से जीवनदान 6 7 8 9 10 11 12 योजना के घटक बोर्ड रिजल्ट्स जिले की अब तक कि सबसे बड़ी विद्युत प्रसारण योजना का काम अब अपने अंतिम पड़ाव पर है। 400 केवी डबल सर्किल बाड़मेर से भीनमाल... संबंधित ख़बरे अध्यापकों के लिए LoveSutras कांग्रेसी मंत्री के रैफरैंडम कनैक्शन पर विपक्ष ने उठाए सवाल योजना ट्रांसफार्मर, तार और मीटर जैसे उपकरणों पर सब्सिडी प्रदान करेगी। ऑफलाइन शहडोल, अनूपपुर और उमरिया में सभी कार्य प्राइवेट कंपनियों को दिए गए हैं। वहीं सौभाग्य योजना का कार्य शहडोल जिले में विद्युत विभाग स्वयं करवा रहा है। लेकिन ताजुब की बात यह है कि विभाग प्राइवेट कंपनियों की अपेक्षा और अधिक सुस्ती दिखा रहा है। शहडोल में सौभाग्य योजना का केवल 18 प्रतिशत कार्य ही हुआ हो। वहीं अनूपपुर व उमरिया जिले में सौभाग्य योजना के कार्य प्राइवेट कंपनियां कर रहीं हैं, जिन्होंने 24 वर्क पूरेा कर लिए हैं। आरटीआई आवेदन / अपील की मासिक स्थिति Time मुख्यमंत्री स्थायी कृषि पंप कनेक्शन योजना के नये प्रावधान श्रीनगर अजमेर में मंगलवार को कांग्रेस ने बिजली के बिलों में बेतहाशा वृद्धि को लेकर टाटा पावर के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता रैली के रूप में सिटी पावर हाउस पहुंचे जहां उन्होंने पहले तो जमकर नारेबाजी की और बाद में विरोध जताते हुए रास्ता जाम कर दिया. प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों और पुलिस के बीच टकराव की स्थिति भी पैदा हुई. लेकिन बाद में माहौल को शांत किया गया. प्रदर्शकारियों ने कहा कि जब से टाटा पावर ने शहर की बिजली व्यवस्था को संभाला है तब से लगातार बिजली के बिलों में बढ़ोतरी की जा रही है जिससे आम आदमी परेशान हो चुका है. (अजमेर से अभिजीत दवे की रिपोर्ट) पो बा सं 8066, सदशिवनगर (पी ओ) , बेबाक बोल: अटल विश्वास ‘मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं: लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?’ Mahabhulekh महाराष्ट्र भूमि अभिलेख ऑनलाइन महा भूलेख (7/12 व 8 अ) देखें हज़ारीबाग़ जी ई आर सी ई रामेश्वर साह कॉपीराइट © e-Eighteen.com लिमिटेड. सर्वाधिकार सुरक्षित. moneycontrol.com की पूर्व-अनुमति के बिना कोई भी समाचार, फोटो, वीडियो या अन्य कोई भी सामग्री पूर्ण या अंशत: किसी भी स्वरूप में या माध्यम से इस्तेमाल करना प्रतिबंधित है न्यूस लेटर पंचतत्व में विलीन हुए अटल, बेटी नमिता ने भारत रत्न पूर्व पीएम वाजपेयी को दी मुखाग्नि कीवर्ड खोजें जम्मू कश्मीर पाकिस्‍तान जाकर नवजोत सिंह सिद्धू को याद आए अटल, जानिए- क्या कहा ताज़ा ख़बर जनअभियान परिषद कार्यालय में झंडा वन्दन किया गया 28% टैक्स स्लैब Dehradun मुख्य पृष्ठspotlightविशेष लेख MLA BJP अदरक (Ginger) वीडियो न्यूज़ ऊर्जा विभाग Ramdin Kumar | 17 August, 2018 8:22 PM समाचार और सूचना छात्राएं बोलीं, SSP सर आपकी पुलिस ही छेड़ती है हमें, DGP ने कहा Sorry किसान के बेटे का कमाल, केले के तने और रद्दी कागज से पैदा की बिजली By Prabhat Khabar | Updated Date: Aug 31 2017 9:32AM बरनाला/संगरूर आमने-सामने news18 hindi जिले की अब तक कि सबसे बड़ी विद्युत प्रसारण योजना का काम अब अपने अंतिम पड़ाव पर है। 400 केवी डबल सर्किल बाड़मेर से भीनमाल तक की 144 किलोमीटर लंबी लाइन में 399 हाई टेंशन टॉवर लगने के कार्य हो रहे हैं। 139.02 करोड़ रुपए की इस परियोजना में अब तक 377 टॉवर लग चुके हैं। राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम बाड़मेर के निर्माण कार्य विभाग के सहायक अभियंता सवाई सिंह खत्री के अनुसार बाड़मेर के गेहूं गांव में जिले इकलौते 400 केवी सब स्टेशन से भीनमाल तक की इस 400 केवी डबल सर्किल बाड़मेर से भीनमाल लाइन का काम जुलाई 2016 में शुरू हुआ था। यह काम अगस्त में पूरा हो जाएगा। डिस्कॉम की कनिष्ठ अभियंता स्नेहा राजपुरोहित के मुताबिक इस काम की नियमित मॉनिटरिंग की जा रही है। इस काम के पूरे हो जाने के बाद बाड़मेर भीनमाल-सिरोही, उदयपुर से देबारी विद्युत चक्र से जुड़ जाएगा। यहां की उत्पादित विद्युत के त्वरित प्रसारण के साथ निर्बाध बिजली सप्लाई होगी। इस प्रभाग के प्रायोजित और अनुसंधान परियोजनाएँ संपादकीय: बेलगाम भीड़तंत्र पाइए पंजाब-हरियाणा समाचार(Punjab And Haryana News In Hindi)सबसे पहले नवभारत टाइम्स पर। नवभारत टाइम्स से हिंदी समाचार (Hindi News) अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App और रहें हर खबर से अपडेट। Petitions promoted by other Change.org users Loading... ग्लैमर उत्पाद का नाम: सिंगल चरण इलेक्ट्रिक प्रीपेड मीटर 301--500--5.60--6.20 भारत में विद्युत क्षेत्र बहु-आयामी जटिलता द्वारा अभिलक्षणित है। कई संगठन विद्युत क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों में अनुसंधान संपन्न कर रहे हैं। अनुसंधान कार्यक्रमों को, उपलब्ध सीमित संसाधनों से, अत्यधिक परिणामोंन्मुखी बनाना चाहिए । मुख्यमंत्री ग्रामीण घरेलू कनेक्शन योजना लॉन्च, खेतों में बसे घरों और छोटी ढाणियों को मिलेंगे बिजली कनेक्शन हास्य-व्यंग्य मुझे शिकायत है ... जानकारों का दावा है कि बिजली कंपनियों का मुनाफा बढ़ा है. जबकि दिल्ली की तीनों बिजली कंपनियों का कहना है कि उन्हें 21000 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जिसकी भरपाई बिजली की दरों में करीब बीस से तीस फीसदी वृद्धि करके की जा सकती है. प्रखंड विकास पदाधिकारी पूर्वी टुण्डी चीन कृषक हितेषी Patna जैनुल अंसारी     मुझे शिकायत जिला प्रशासन, नगर पालिका प्रशासन के साथ ही साथ उन दुकानदारों से भी है जिन्होंने बुधवारी में बेजा अतिक्रमण करके जब इमरान खान की चुनौती ने बदलवा दी गावस्कर के रिटायरमेंट की तारीख... डिफॉल्टरों पर 4 करोड़ रुपये अब भी बकाया | LPSC में 10 वैकेंसी BHOPAL में देर रात तक चली रोजगर सहायकों की मीटिंग | MP NEWS हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि इसे कब तक बाध्यकारी बनाया जाएगा. नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह ने कहा, ‘‘सौर ऊर्जा क्षेत्र में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिये हम 20,000 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं की नीलामी करेंगे और इसे विनिर्माण से जोड़ेंगे. यानी इसमें वहीं कंपनियां भाग ले सकेंगी जो सौर ऊर्जा से जुड़े उपकरण का विनिर्माण यहां करेंगी. इसके लिये जल्दी ही वैश्विक निविदा जारी की जाएगी.’’ उन्होंने यह भी कहा, ‘‘पवन और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हम नये क्षेत्रों पर ध्यान दे रहे हैं. इसके तहत तमिलनाडू और गुजरात के अपतटीय क्षेत्र में पवन ऊर्जा तथा देश के भीतर मौजूदा जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने की दिशा में काम कर रहे हैं.’’ Copy link to Tweet 101-200    5.02        6.95     Aug 7, 2018, 08:18 AM IST ग्रामीण विद्युतीकरण saubhagya yojnaNarendra ModiElectricityindiaसौभाग्य योजना Like20 राजगंज पंचायत मुखिया रायगढ़ और रायपुर मेमू की समय सारिणी में आंशिक परिवर्तन Business Today रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजा प्रियंका का बंगला, हिंदू रीति रिवाज से आज होगी सगाई! अपने पीछे कितनी संपत्ति छोड़ गए अटल जी, कौन होंगे उनके उत्तराधिकारी सो सॉरी #सावन माह इमरान खान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की ली शपथ, नवजोत सिंह सिद्धू भी रहे मौजूद शहर Women पहला शून्य ऊर्जा वाला सरकारी ऑफिस बर्लिन में 2013 में शुरू हुआ. छत पर लगे सोलर पैनल पूरे ऑफिस के लिए बिजली बनाते हैं. यूरोपीय संघ में 2019 से सभी घर 'करीब करीब जीरो एनर्जी बिल्डिंग' होंगे. महासचिव, जिला कांग्रेस कमिटी वास्‍तविक काल अंकीय अनुकारक Videos Contact us (संपर्क करें) Spirituality क्रय तथा सिविल इंजीनियरी विभाग की रिपोर्टें Sign up and continue using Molitics इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया गया है। © Gaon Connection (All Rights Reserved)Powered by: Hocalwire.com कॉन्ट्रैक्टर चंदनकियारी 1 पूजन विधि और आरतियां मध्यप्रदेश: राजकीय शोक एवं अवकाश की आधिकारिक सूचना | MP HOLY DAY आज़मगढ़ बिजली कंपनी अगले महीने से लागू करेगी बीपीएल उपभोक्ताओं के बिजली बिल माफ करने वाली योजना नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी, सात दिन का राजकीय शोक, श्रद्धांजलि देने वालों का रहा तांता ✉ [email protected] 400-800 यूनिट केरियर धर्म-अध्‍यात्‍म डॉ. ढाल सिह बिसेन को बेगूसराय में फांसी पर झूला युवक, वीडियो फेसबुक पर लाइव हो रहा था क्रिकेटस्कोर कार्डवीडियोखेल की अन्य खबरेंइंटरव्‍यूओपीनियन मुख्य आर्थिक सलाहकार के लिए रेस हुई तेज Activity Log बिहार कैबिनेट निर्णय 1 सितम्बर 2015: 50 एजेंडों पर लगी मुहर एंड्रॉयड यूजर्स तुरंत डिलीट कर दें ये 145 एप्स,Google ने जारी की लिस्ट अमेरिका की तुर्की को धमकी, पादरी को नहीं छोड़ा तो लगेंगे और प्रतिबंध एटीएम से असीमित नि:शुल्क निकासी के लिए दायर याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की कोयला आधारित बिजली संयंत्रों के विपरीत विंड एनर्जी प्लांट पॉल्यूशन फ्री होती है। गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, एमपी, आंध्रप्रदेश के समुद्री इलाकों में विंड एनर्जी का उत्पादन होता है। ट्रांसमिशन लाइन के जरिए ये बिजली दिल्ली लाई जाएगी। एनर्जी लॉ एक्सपर्ट राजसिंह निरंजन कहते हैं कि विंड एनर्जी ग्रीन एनर्जी के अंदर आती है। Mission Europe उत्पाद का नाम: कम कीमत सीलिंग चरण प्रीपेड विद्युत मीटर तटस्थ: तटस्थ मापना SIgn In Copyright © 2012 Vaishali Computech PVT LTD, Inc. | कृष्ण कुमार Jul 30, 2018 05:05 AM प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा, ‘‘बिजली विभाग की ओर से प्रस्ताव था कि घाटे को कैसे पूरा किया जाए...ये बहुत मामूली बढ़ोतरी हुई है और धीरे-धीरे घाटे की भरपायी होगी. हम चोरी पर भी सख्ती से कार्वाई कर रहे हैं.’’ सस्ता ऊर्जा - सस्ता बिजली प्रदाता खोजें सस्ता ऊर्जा - मेरे पास ऊर्जा प्रदाता सस्ता ऊर्जा - इलेक्ट्रिक सेवा प्रदाता
Legal | Sitemap