Akhila Singh‏ @akhila_singh 1 Jan 2016 FAQS कई जिलों का काम ठप Sections जम्मू-कश्मीर में मिनी बस खाई में गिरी; 1 की मौत, 20 घायल नगर तथा मण्‍डल रिपोर्ट घरों में बिजली कनेक्शन देने के कार्य में निकटतम विद्युत खंभे से सर्विस केबल घर तक लाना, एलटी लाइन से यदि घर की दूरी 45 मीटर से अधिक है तो नए खंभे लगाना, बिजली मीटर लगाना, एलईडी बल्ब और एक मोबाईल चार्जिंग प्वाइंट के साथ एकल विद्युत प्वाइंट के लिए तार डालना शामिल है। यदि सर्विस केबल लाने के लिए संबंधित घर के पास विद्युत खंबा नहीं है, तो खंबा लगाया जाना भी इस योजना में शामिल है। सातवाँ सवाल –  क्या DUDUGY के तहत उपलब्ध परिव्यय से अधिक सौभाग्य योजना की लागत है? CONGRESS ENTANGLE VIRBHADRA Mahabhulekh महाराष्ट्र भूमि अभिलेख ऑनलाइन महा भूलेख (7/12 व 8 अ) देखें 7.70             6.60 नल जल योजना के बिजली बिल नहीं भरे हों तो कनेक्शन न काटें: मिश्र Add new comment स‍िनेमा Bombay आईपीडीएस से 16 शहरों में कार्य नियामक आयोग ने प्रदेश में बिजली कनेक्शनों की संख्या बढ़ाने के लिए पांच किलोवाट तक के कनेक्शनों पर सिस्टम लोडिंग चार्ज खत्म करने का फैसला किया है। आयोग के मुताबिक प्रदेश में लगभग 1.80 करोड़ ऐसे परिवार हैं, जिनके पास अभी बिजली कनेक्शन नहीं है।  चीन में एक आदमी के कान में रहते थे 26 तिलचट्टे उन्होंने बताया कि सक्षम प्राधिकारी द्वारा पारित आदेशों के खिलाफ प्रशासनिक सचिव, उद्योग एवं वाणिज्य को ऐसे आदेश प्राप्त होने की तिथि से 30 दिनों की अवधि के भीतर अपील की जा सकती है। अपील में प्रशासनिक सचिव द्वारा पारित आदेश अंतिम होगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी स्तर पर यह पाया जाता है कि आवेदक ने किसी भी झूठी सूचना के आधार पर पावर टैरिफ सब्सिडी का दावा किया है तो आवेदक को 12 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज की चक्र दर के साथ सब्सिडी राशि वापस करने के अलावा कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा और उसे राज्य सरकार से किसी भी प्रकार का प्रोत्साहन या सहायता प्राप्त करने से वंचित कर दिया जाएगा। बगहा All content © The Wire, unless otherwise noted or attributed. पूनम पाण्डे ॥ नई दिल्ली Latest Articles Lifestyle301 हालांकि 2016 में शुरू किए गए दूसरे चरण के लक्ष्य जिसके तहत 2020 तक एक करोड़ युवाओं को प्रशिक्षित करना है, सरकार के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रही है. दूसरे चरण के तहत 60 लाख युवाओं को नए सिरे प्रशिक्षित करना था और 40 लाख युवाओं को ‘रिकॉगनिशन ऑफ प्रायर लर्निंग (आरपीएल) प्रोग्राम’ के लिए प्रमाणित करना था. पुरुषों का उत्पीड़न रोकने के लिए पिंडदान देश के कोने-कोने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी क... समीर बाउरी लोग चाहते हैं मैं राजनीतिक टिप्पणी करूं लेकिन मैं किसी की निंदा नहीं करताः वरुण गांधी अवस्था संपादित करने के स्वीकृत चीन में एक आदमी के कान में रहते थे 26 तिलचट्टे जाट महासभा करनाल ने किया वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु का स्वागत Русский जीपीएस नेविगेशन, कीलेस एंट्री पोस्टर For Advertisement Query बच्चियों से रेप की घटनाओं के विरोध में महिला कांग्रेस ने किया प्रदर्शन रिपोर्टः फ्रित्ज मूरी सिद्धार्थनगर Hits: 18276 ಕನ್ನಡ Next : मंगलनाथ के पुजारी को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी, आर्थिक अनियमितता की जांच बैठाई, जांच होने तक पूजा करवाना प्रतिबंधित मुसलमानों से ज्यादा समलैंगिकों को पसंद करता जर्मनी यूएचवीआरएल, हैदराबाद Join the conversation डाउनलोड करे मोबाइल एप DAS Application form हरियाणा का खुद का बिजली उत्पादन 24.67 फीसद एन.सी.ई.आर.टी. टेस्ट बुलेट ट्रेन में होंगी ये बेहतरीन सुविधाएं News2018-07-17T12:09:14 जयपुर । जयपुर डिस्काॅम ने तीन महत्वपूर्ण योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक बढाया है जिससे अधिक से अधिक संख्या में उपभोक्ता इन योजनाओं का लाभ उठा सके। पूर्व में यह योजनाएं तीस अप्रैल तक ही प्रभावी थी। Created at - December 23, 2016, 1:28 pm घरेलू (शहरी) (डीएस एचटी) 3.50  5.25 समाजसेवी सह प्रचार्ज बनमाली सिंह उच्च बिद्यालय, टुपरा Kiswahili Kiswahili कोटा/ हिमांशु मित्तल: राजस्थान के कोटा में बिजली कंपनी को भगाने के लिए लोगो ने जल सत्याग्रह शुरू कर दिया है. दर्जनों लोग चंबल नदी में उतर गए हैं और कोटा की बिजली कंपनी KEDL को कोटा से हटाने की मांग जल सत्यग्रह के जरिए कर रहै हैं. चंबल नदी में लगातार KEDL GO BACK के नारे ही सुनाई दे रहे हैं. Subscribe इतना ही नहीं अगर आप बिजली का बिल Paytm से भरते हैं तो आप वॉशिंग मशीन, बाइक, फ्रिज और एलईडी बल्ब भी जीत सकते हैं। दिल्ली में ज्यादातर लोग समय से बिजली का बिल जमा नहीं करते, जिसकी वजह से बिजली कंपनी को काफी नुकसान होता है। इस नुकसान को कम करने के लिए कंपनी ने यह ऑफर शुरू किया है। कंपनी ने यह लोग समय पर बिजली बिल जमा कराए इसके लिए शुरू की है। बहरहाल अटल जी ने झारखंड राज्य को एक समृद्ध राज्य के रूप में बनाने का सपना देखा था। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि जिस मकसद में झारखंड का गठन हुआ था वह पूरा हुआ या नहीं। राज्य के विकास के पैमाने को देखकर लगता है कि शायद राज्य को जिस मकसद से अलग किया गया था वह पूरा नहीं हुआ। . मंटू यादव लाल किले पर आज 15 अगस्त की फुल ड्रेस रिहर्सल, बच कर चलें Top 8 Cars Loans that are most affordable in India यह भी पढ़ें-  मैट्रिक पास हैं तो CISF में है बेहतरीन मौका, सैलरी भी बंपर BSES CTET 2018: खुशखबरी! बीएड पास उम्मीदवार दे सकेंगे प्राइमरी सीटेट बिजली के सीमापार व्यापार के लिए भारत सरकार के निर्दिष्ट प्राधिकरण, केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के अनुसार भारत पहली बार बिजली का निवल आयातक के बजाय निवल निर्यातक बन गया है। वर्ष 2016-17 (अप्रैल से फरवरी 2017) के दौरान भारत ने नेपाल, बांग्लादेश और म्यांमार को 579.8 करोड़ यूनिट बिजली निर्यात की, जो भूटान से आयात की जाने वाली करीब 558.5 करोड़ यूनिट की तुलना में 21.3 करोड़ यूनिट अधिक है। विदित हो कि सीमा पार विद्युत व्यापार प्रारंभ होने के बाद से भारत भूटान से बिजली आयात करता रहा है। भूटान भारत को औसतन प्रतिवर्ष 500-550 करोड़ यूनिट बिजली की आपूर्ति करता रहा है।  कुंभ NETWORK 18 SITES CONNECT WITH US ब्यूरो/अमर उजाला आगरा Updated Wed, 27 Dec 2017 08:27 PM IST अटल यादेंः शादी से इनकार कर अटल ने गवां दी थी बलरामपुर लोकसभा एसपीएलएन डी 3.00 9 -1: 2010 Radio Latest Govt Jobs नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने शुक्रवार (24 नवंबर) को कहा कि सरकार हर घर को सातों दिन 24 घंटे सस्ती बिजली देने की दिशा में काम कर रही है और इसका पूरा दायित्व वितरण कंपनियों पर होगा. सिंह ने यह भी कहा कि हम अपतटीय क्षेत्र तथा देश के भीतर मौजूद बड़े जलाशयों में पवन और सौर ऊर्जा परियोजनाएं लगाने पर गौर कर रहे हैं. साथ ही देश में आने वाले समय में सौर ऊर्जा उपकरणों के विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिये परियोजनाओं को विनिर्माण से जोड़ा जाएगा. Home|About Us|Disclaimer|Contact Us|Privacy Policy|All Authors|All Categories Follow Us On b a लाइव सिटीज डेस्क : ख़राब मौसम और घने कोहरे ने तो एयर ट्रैफिक सिस्टम पर बुरा असर डाला ही है लेकिन पटना एयरपोर्ट के स्टाफ भी यात्रियों को फजीहत झेलवाने में कोई कसर नहीं छोड़ […] What is Inverter Technology AC and How it is Different from BEE 5 star Non Inverter AC? सुरक्षा उपकरण: एमसीबी Sign the petition 0 कर्ज भुगतान में देर। Tweets by @1stIndiaNews पाकिस्‍तान जाकर नवजोत सिंह सिद्धू को याद आए अटल, जानिए- क्या कहा कचरागाह की आड़ में चल रहा देह व्यापार शहर चुनें बाबा भोले की भक्ति में लीन हुए सूर्य भान सिंह, भक्तों को लेकर निकले यात्रा बुक रिव्यू कविताकहानीकिताब के अंशलेखक से बातक्लासिकआपकी रचनाएं न्यूज निचोड़ At 11 AM : वाजपेयी की हालत नाजुक अशोक कुमार पर्यटन अभिकर्ता (एजेंट) ओपन एक्सेस से सस्ती बिजली खरीदने वाले उपभोक्ताओं पर एडीशनल सरचार्ज लगाने की मांग... इस योजना का मूल उद्देश्य विद्युत प्रणाली में सामना की जाने वाली प्रचालनीय समस्याओं को सुलझाते हुए विद्युत क्षेत्र में अवश्यकता पर आधारित अनुसंधान को संपन्न करने हेतु निधि उपलब्ध कराना है । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार ने कहा कि झारखंड के सभी ठच्स् एवं ।च्स् परिवार के घरों तक बिजली दिसंबर तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि संथाल परगना के सभी 6 जिले दुमका, देवघर, साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा में से दुमका एवं देवघर जिला में सभी घरों तक जुलाई तक बिजली पहुंचा दी जाएगी तथा शेष बचे 4 जिलो साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा के सभी घरो तक बिजली अक्टूबर महीने तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड में 500 सब स्टेशन बनाने का लक्ष्य है। जिनमें से 150 सब स्टेशन बनाया जा चुका है। बचे हुए लक्ष्य को बहुत जल्द पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड राज्य में 1.50 लाख ट्रांसफर्मर लगाना है जिनमें से 30 हजार ट्रांसफर्मर लगा दिया गया है। उन्होंने कहा कि अरबन ग्रामीण क्षेत्रों में रिंग सिस्टम को लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मार्च 2020 तक 15 प्रतिशत बिजली लॉस पर कामयाबी प्राप्त कर ली जाएगी । उन्होंने कहा कि आप सभी अपना बिजली बिल प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से जमा कर सकते हैं, पूरे झारखंड में 4000 प्रज्ञा केंद्र है, जिनमें से 2000 प्रज्ञा केंद्र एक्टिव मोड में कार्य कर रही है। बचे हुए प्रज्ञा केंद्र को भी बहुत जल्दी एक्टिव मोड में लाने की दिशा में कार्य चल रही है। इस प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से आप सभी अपना बिजली बिल आसानी से जमा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि कंज्यूमर को शिकायत दर्ज करने में परेशानी होती था जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने कंज्यूमर कॉल सेंटर की स्थापना की। इस कंज्यूमर कॉल सेंटर के माध्यम से आप अपनी शिकायत दर्ज कर पाएंगे। सोशल मीडिया के माध्यम से भी आप अपनी शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नही होगी। इस प्रकार की प्रक्रिया हम लोगों ने बनाए हैं अब कंज्यूमर को अपने शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगा । State President BJP Serbian Српски/Srpski इंदिरा गांधी ने ब्लू स्टार पर अटलजी से बात करने के लिए बनारस में टेलीफोन लाइन बिछवा दी थी 24 mins प्रश्नपत्र II संन्यासी के पास इतना सोना कहां से आया? जागरण संवाददाता, मोहाली : चंडीगढ़ के बाद अब मोहाली में भी सस्ते बिजली उपकरण मिलेंगे। जिनमें बल्ब से लेकर ट्यूबलाइट और पंखे शामिल हैं। यह योजना एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) और पंजाब स्टेट पावर सप्लाई लिमिटेड (पीएसपीसीएल) की ओर से आयोजित कार्यक्रम के तहत शुरू की गई है। अधिकारियों का कहना है कि ये सभी एलईडी उपकरण बहुत कम बिजली की खपत करते हैं। स्कीम को लांच करने का उद्देश्य पंजाब की बिजली की खपत कम करना है। जल्द ही शहर में जगह-जगह कैंप लगाकर उजाला स्कीम के तहत लोगों को किफायती कीमत पर ये एलईडी बिजली उपकरण मुहैया कराए जाएंगे। इससे न सिर्फ लोगों को सस्ते बिजली उपकरण मिलेंगे बल्कि बिजली की खपत कम होगी। बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बिजली के यूनिट कम खर्च होने से विभाग को सरपल्स बिजली तो मिलेगी ही। इसके साथ-साथ लोगों के बिजली के बिल भी कम आएंगे। विभाग की ओर से लोगों को इनके इस्तेमाल के प्रति जागरूक करने के लिए अब जगह-जगह पर शिविर लगाए जाएंगे। उपभोक्ताओं को जो बल्ब और ट्यूबलाइट्स मुहैया करवाई जाएगी, उसकी तीन साल की वारंटी होगी। वहीं, साधारण बल्बों के मुकाबले एलईडी बल्ब 10 फीसद ज्यादा असरदार हैं। योजना के तहत दिए जाने वाले सीलिंग फैन पारंपरिक पंखों के मुकाबले ऊर्जा में 30 फीसद ज्यादा बेहतर होंते हैं। patna इसलिए, शहरी इलाकों में और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी बिना बिजली वाले परिवारों के लिए अंतराल अवरोध,अंतिम छोर तक बिजली और बिजली कनेक्शन जारी करने के मुद्दों को सुलझाने के लिए सौभाग्य योजना को शुरू किया गया है। संबंधित सामग्री सलमान खान की लग्जीरियस वैनिटी वैन में है मेकअप और स्टडी रूम, भारत के प्रोड्यूसर ने शेयर किए फोटो 49 mins लखनऊ(नासिर): बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद (राज्यसभा) व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश मायावती ने उत्तर प्रदेश में बिजली की दरों में भारी वृद्धि करने की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि यह प्रदेश में समाजवादी पार्टी सरकार की घोर विफलता का एक और जीता-जागता प्रमाण है कि प्रदेशवासियों को अगले महीने से ही काफी ज़्यादा मंहगी बिजली इस्तेमाल करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। बिजली की इस भारी वृद्धि दर को जनहित में तत्काल वापस लिया जाना चाहिए। 12% टैक्स स्लैब लाइव स्कोर दो दिवसीय बैठक में 1,850 करोड़ रुपये के सालाना बजट आैर 18 नई परियोजनाओं को मंजूरी दी गई। बजट में बड़े पावर प्रोजेक्ट बीएचईपी-2, परनई, लोवर कलनई, नया गांदरबल, किरथई 1, किरथई 2, पहलगाम, हानू, दाह और साझा उपक्रम के तहत कीरु, कावर व पाकलडल प्रोजेक्ट में इक्विटी निवेश शामिल है। CABINET MEETING चंपारण (प) कृष्ण प्रमाणिक संध्या पूजा करते समय बरतें ये सावधानियां, होंगे कई लाभ पटियाला गुमला यहां जान जोखिम में डाल खड्डों में नहाने उतर रहे पर्यटक ऑस्ट्रिया से शुरुआत #Sushant Singh Rajput बिजली स्विच करें - सस्ते बिजली योजनाएं बिजली स्विच करें - समीक्षा बिजली स्विच करें - इलेक्ट्रिक कंपनी की दरें
Legal | Sitemap