Copyright @ 2016 Drishti The Vision Foundation, India. All rights reserved Sports News जौनपुर Use the search bar at the top to find what your looking for. नई दिल्ली: डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. नई दरों की घोषणा से पहले केजरीवाल सरकार ने दावा किया था कि पिछले चार साल से बिजली की दरें नहीं बढ़ी हैं, हालांकि, जानकारों ने ये खुलासा किया था कि बिजली के रेट सीधे तौर पर भले ही नहीं बढ़ाए गए हों, लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. Sep 27, 2017 Hindi आपके शहर की खबरें बीएसईएस ने मोबाइल कॉमर्स प्लेटफॉर्म Paytm के साथ गठबंधन किया है। इसके तहत आखिरी तारीख से 7 दिन पहले बिजली बिल जमा करने पर 200 रुपए का कैशबैक मिल सकता है। WhatsApp आधिकारिक सूचना के अनुसार, अगर गांव के कम से कम 10% घरों में विद्युत कनेक्शन प्राप्त होता है, तो गांव को विद्युतीकृत माना जाता है। अनुमान के मुताबिक, देश में 4.5 करोड़ ग्रामीण परिवार अभी भी बिजली के बिना रह रहे हैं। प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना ‘उजाला’ योजना को भी बढ़ावा देगी जो कि कई ऊर्जा बचत उपकरण जैसे पंखे, एलईडी बल्ब और अन्य सेवाएं प्रदान करती है। BPSC व्रत और त्योहार SLING INTERNATIONAL You may have followed a bad link or incorrectly typed the URL. 3- असुआन रैरीओल लिमिटेड, बेंगलूरु मार्किट खाद्य और सार्वजनिक वितरण अतिथि सारांश दिल्ली कांग्रेस ने बिजली सस्ती करने के केजरीवाल सरकार के दावों को जनता से खिलवाड़ करार दिया है. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि नई कीमतों से बिजली सस्ती नहीं बल्कि महंगी हुई है और ये कदम प्राइवेट कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए उठाया गया है. सर्वाधिक खोजे गए 232 बोर्ड रिजल्ट्स about us बड़ी खबरें राजस्थान में राहुल गांधी चुनाव से पहले करेंगे कई रोड शो,… धर्म/ज्योतिष 'तुला', 18 अगस्त: जानिए अपना आज का राशिफल सिमडेगा More From Shivpuri श्रीलंका99/7(16.0) केरल बाढ़ का जाजया लेने के लिए पीएम मोदी कोच्चि पहुंचे। सूचना MPROFIT SOFTWARE PRIVATE LIMITED June 12, 2018 नया हरियाणा WELFARE युवाओं के लिए Advertise With Us Entertainment सिक्कालेख पैसा महिन्द्रा मराज़ो के डैशबोर्ड से जुड़ी जानकारी आई सामने, जानिए बाजार में उछाल, सैंसेक्स 229 अंक चढ़ा और निफ्टी म.. ऐप्स टॉप स्पीड 80 किलोमीटर प्रतिघंटा. किस वजह से गोलवलकर ने थपथपाई थी युवा अटल की पीठ 09:42 #AtaljiAmarRahen प्रधानमंत्री बनने के बाद क्यों फूट-फूट कर रोये थे अटल बिहारी वाजपेयी? 'दृष्टि द विज़न' संस्थान Recommended Videos गृह मंत्रालय और प्रवर्तन हंगामे के बाद सुधार की याद आई? जब तीन महीने का एडवांस बिल लिया तो जमा क्यों नहीं किया? मूसलाधार बारिश के बाद अजमेर के कई इलाके जलमग्न पकड़ पा रहीं हैं। संत कबीर दास के दोहों में छुपा है जीवन को सफल बनाने का सूत्र 43 mins BMW लाई फेस्टिव ऑफर, मिलेगा ये शानदार फायदा admin - August 18, 2018 Updated:2018-07-09 14:25:05.0 सावन मास के चंद्र दर्शन पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, दूर होंगे सारे कष्ट XI 2007-12 योजना के अंतर्गत सीपीआरआई की पूँजी परियोजनाएँ Copyright © 2017-18 Bhaskar Lite.,All Rights Reserved. महत्वपूर्ण वेबसाइट © 2018 Bijli Bachao. All rights reserved. जलनिकाय बहाली सालों बीत जाने के बाद भी अफसरशाही को यह मालूम नहीं, HC ने की थी ग्रीन एरिया में निर्माण की मनाही बेरोजगार युवाओं के लिए ये 5 सरकारी लोन स्कीम्स, जानिए होम » वीडियो केंद्र गवर्नमेंट राष्ट्र में बिजली की कीमतें घटाने व इसमें एकरूपता लाने की दिशा में कार्य कर रही है, जिसके लिए उसकी थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने की योजना है. ऊर्जा मंत्रालय ने जुलाई में इस पर मेरिट ऑर्डर जारी कर सभी पक्षों से राय मांगी थी, जिस पर उसे सकारात्मक रुख मिला है. अन्य योजनाएं       दिल्ली जैतापुर प्रोजेक्‍ट को दुनिया का सबसे बड़ा न्‍यूक्लियर कॉन्‍ट्रैक्‍ट माना जा रहा है और यह दुनिया की सबसे बड़ी न्‍यूक्लियर साइट भी है। 10,000 मेगावाट्स के इस प्रोजेक्‍ट में छह रिएक्‍टर्स होंगे, जिनमें प्रत्‍येक की क्षमता 1650 मेगावाट होगी। भारत सरकार ने 2017 तक 17,400 मेगावाट न्‍यूक्लिर पावर जनरेशन का लक्ष्‍य रखा था, जिसमें से वह केवल 30 फीसदी लक्ष्‍य ही हासिल कर पाई है। Subscribe to Newsletter लीक हुई अक्षय कुमार की फिल्म गोल्ड, कमाई पर पड़ सकता है असर किसानों को बर्बाद करने में मशगूल भाजपा के मंत्रियों को ढोलकी पर नचाएंगें : अभय चौटाला The fastest way to share someone else’s Tweet with your followers is with a Retweet. Tap the icon to send it instantly. जर्मन और चीनी पैसिव हाउस. ये एक कारखाने का मॉडल है जो चीन के हार्बिन में पैसिव हाउस स्टैंडर्ड के हिसाब से बनाया जा रहा है. चीनी कंपनी सायास इन मकानों के लिए खिड़कियां बनाना शुरू कर चुकी हैं और इस तरह के मकान बनाने वाली पहली चीनी कंपनी है. शहीदों के माता-पिता को मिलेगी सम्मान निधि की 40 फीसदी रकम posted on August 18, 2018 मुद्दा शिक्षा विभाग के अपर सचिव पर हाईकोर्ट ने लगाया 5 लाख का जुर्माना रिले परीक्षण प्रयोगशाला बिजली की लागत - व्यापार बिजली आपूर्तिकर्ता बिजली की लागत - विद्युत प्रदाता बदलें बिजली की लागत - सस्ता बिजली डलास TX
Legal | Sitemap