ई-पेपर नई योजना: हजारों लोगों को नहीं भरना होगा बिजली का बिल WELFARE Skip all Android Chancellor Robert Duncan has been a stalwart supporter of Texas Tech University for decades. Now, as he is set to deliver his crowning achievement -- the Texas Tech School of Veterinary Medicine… Read more दिल्ली कांग्रेस दफ्तर में शीला दीक्षित, अजय माकन, हारून यूसुफ, अरविंदर लवली, सज्जन कुमार और महाबल मिश्रा समेत कई पूर्व विधायक और सांसदों की बैठक हुई. बैठक में अगले 1 महीने केजरीवाल सरकार को जनता के बीच जमीन पर घेरने के लिए रणनीति बनाने पर विचार किया गया. होंडा शोरूम संचालक बुंडू Linkedin Sign up for Twitter Hindi * जब एक ही कक्षा में विद्यार्थी थे अटल और उनके... रुपये में ऐतिहासिक गिरावट के बाद डैमेज कंट्रोल मोड में सरकार... नवीकरणीय ऊर्जा के पावर टैरिफ में भारी कमी आई है।  मुख्यमंत्री का संदेश By अंकित राज लालू के साथ मुलाकात के बाद हक्के-बक्के शत्रुध्न ने ट्विट कर कही बड़ी बात, लगे हाथ तेजस्वी ने भी… टीम दृष्टि मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम HARYANA GK A+ घरेलू बिजली बिलों का भुगतान समय से नहीं कर पाने के कारण मूल बकाया राशि और उस पर अधिरोपित सरचार्ज के कारण उपभोक्ता के बिलों की राशि बहुत ज्यादा हो जाती है। मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिकों और बीपीएल उपभोक्ताओं के घरेलू बिजली कनेक्शन की पुरानी बकाया राशि का निराकरण कर उन्हें नियमित बिल भुगतान करने के लिये प्रेरित करने के उद्देश्य से ही यह माफी स्कीम लागू की गई है। स्कीम का प्रभाव जून 2018 तक की कुल बकाया राशि पर लागू होगा। अंदरखाने दोनों की मिलीभगत है। इसका ताजा उदाहरण यह है कि बिजली कंपनियां ‘पावर परचेज एडजस्टमेंट चार्जेज’ के नाम से हर तीसरे महीने बिजली के दाम बढ़ाने के लिए दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) को प्रतिवेदन देती थीं। डीईआरसी बिजली कंपनियों के दावों के अनुसार हर तीसरे महीने बिजली के दाम चार फीसद से लेकर 14 फीसद तक बढ़ा देता था। पावर परचेज मैकेनिजम : आरडब्लूए प्रतिनिधि अनिल सूद ने कहा कि बिजली कंपनियां सरप्लस बिजली किस रेट पर बेच रही हैं और किस रेट पर खरीद रही हैं, इसे ट्रांसपेरेंट होना चाहिए और पब्लिक स्क्रूटनी के लिए खुला होना चाहिए। अगर पावर एक्सचेंज में बिजली 3 रुपये प्रति यूनिट बिक रही है और दिल्ली की कंपनियां उसे 2 रुपये में बेच रही हैं तो पब्लिक इसकी मॉनिटरिंग करेगी और गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं रहेगी। ...जब वे अपना पहला भाषण भूल गए थे, अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में 5 अनकही बातें स्वतंत्रता दिवस पर 25 कैदियों को रिहा किया गया English आदि प्रकार टॉवर परीक्षण स्टेशन (पी टी टी एस) करवाचौथ पर Lover को दें Princess Cut Diamond, चांद बिहारी ज्वैलर्स लाए हैं नया कलेक्शन निगरानी समिति कृषि(25 एचपी तक)- 5.70 - 5.00 Appliances पाठ्यक्रम Radio D अटल जी को अंत‍िम व‍िदा देते ही काम पर न‍िकले पीएम मोदी, गए केरल Business Resources – All Business Resources • Product Development • Negotiation • Business Frameworks • Business Terms • Video Marketing • Create for Work Deutsch im Fokus अध्य्क्ष अखिल भारतीय दलित महासंघ उत्पाद का नाम: 1 चरण बिजली प्रीपेमेंट मीटर Archive Total 0 search results found for %E0%A4%AC%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%B2%E0%A5%80 %E0%A4%95%E0%A4%82%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%80 Create New Account opinion दिल्‍ली एवं हरियाणा बी) एंटी टपर सुविधा A heavy coat of dust on a light bulb can block up to half of the light produced by it. आई जी, 5 एमवी, 500 केजे Send OTP राज्यपाल संदेश Include parent Tweet प्रमोशन में आरक्षण: सुप्रीम कोर्ट में आज की कार्यवाही का विवरण | EMPLOYEE NEWS हमारा नज़रिया कॉपीराइट नीति Gadgets Updates Hindi Latest Gadgets Updates Hindi News, Latest Gadgets म. प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण क. पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के बारे में संक्षिप्त जानकारी – Power Tariff Subsidy Yojna पेयजल समर्थनकारी एवं संप्रेषण कार्यनीति सम्बन्धी रुपरेखा 2013-2022 उत्पाद का नाम: मिनी एकल चरण इलेक्ट्रॉनिक सक्रिय वाट घंटे मीटर वाजपेयी के निधन पर अमेरिकी दूतावास ने भी जताया शोक आर-पार : आज़ादी मिल गई लेकिन हमारे जवानों को शहादत से आज़ादी कब मिलेगी? - बिजली की नई दरें मेडिकल फील्ड से जुड़े लोगों के लिए भी राहत देने वाली हैं। इस बार तय किया गया है कि सरकारी अस्पतालों को छोड़कर निजी अस्पताल व क्लीनिक के बिजली बिलों में पांच % की छूट दी जाएगी। यानी किसी अस्पताल का बिल यदि एक लाख रुपए है तो उसका पांच % यानी पांच हजार रुपए कम हो जाएंगे। अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर से स्थगित हुआ... सरकार ने हाल ही में घोषणा की कि दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत 18,452  गांवों के विद्युतीकरण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. लेकिन इस आंकड़े के हिसाब से देश की बिजली खपत में कोई इजाफा नहीं देखा गया है. Include media अगली स्टोरी Cricket News in Hindi Sarkari Result बिजली बिल जमा करने लंबी कतार 2 हजार लोगों ने जमा किए 34 लाख Terms of Use| खाना खज़ाना सतर्कता नगर में 13500 उपभोक्ता है। इन पर दो करोड़ रुपए का बिल बनता है। हर बार 90 फीसदी लोग आखिरी तारीख तक बिल जमा कर देते हैं। इस बार 5 हजार लोगों ने ही बिल जमा किए। बाकी माफी के चक्कर में नहीं आए। बिल जमा करने वालों में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो सस्ती बिजली और माफी की पात्रता रखते हैं लेकिन जानकारी नहीं होने से अथवा कनेक्शन कटने के डर से उन्होंने बिल जमा कर दिया है। अब वे पंजीयन करवाते हैं तो उन्हें जमा की राशि अगले बिल में समायोजित होकर वापस मिलेगी अथवा नहीं यह स्पष्ट नहीं है। एई नवीन ढोले ने बताया जिन्होंने राशि जमा करवा दी है, उन्हें वापस मिलेगी या समायोजन होगा, यह स्पष्ट नहीं है। Get the app ! NETWORK 18 SITES विकासनगर अमेठी Football Thanks. Twitter will use this to make your timeline better. Undo 428 Views लॉग इन रजिस्टर RAJENDRA JADHAV on राहुल गांधी फोन नंबर,Whatsapp नंबर,ईमेल शेयर     A | B | C | D | E | F | G | H | I | J | K | L | M | N | O | P | Q | R | S | T | U | V | W | X | Y | Z | अन्य 282 Views यूपी : विद्युत नियामक आयोग के नवनिर्मित भवन की छत गिरी, हादसा टला समाज सेबी हजारीबाग : बुढ़वा महादेव विकास सह शांति समिति व श्रावणी... मूसलाधार बारिश के बाद अजमेर के कई इलाके जलमग्न कांग्रेस का देशभर में अनशन शुरू (फोटो: Prashanth Vishwanathan/BloombergQuint) अभिलेख पंचतत्व में विलीन हुए अटल, बेटी नमिता ने भारत रत्न पूर्व पीएम वाजपेयी को दी मुखाग्नि देखें भारत के आखिरी गांव कहे जाने वाले छितकुल की अनछुई प्राकृतिक... सबसे ऊपर चलें Image caption इस कार में चार लोग बैठ सकते हैं.(तस्वीर महेंद्रा रेवा) मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी एमडी आकाश त्रिपाठी ने बताया कि अंसगठित क्षेत्र के मजदूरों के कार्ड नंबर के आधार पर घरों के बिजली खाते जोड़े जाएंगे। 100 यूनिट तक के खर्च एवं एक किलो वाट तक के कनेक्शन पर सिर्फ 200 रुपए की वसूली ग्राहकों से की जाना हैं। शेष रकम कंपनी को राज्य शासन से प्राप्त होगी, सरल बिल योजना के विभागीय काम में तेजी अगले सप्ताह से ही आएगी। जुलाई के बिल से योजना का लाभ मिलने लगेगा। इसके लिए कंपनी के सभी अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए है। अन्य सम्बन्धित समाचार Email * आज भी मुख्यधारा के भारतीय मीडिया का एक बड़ा हिस्सा केवल विशेष व समृद्ध वर्ग के लोगों की चिंताओं और आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व कर रहा है। इस संविदा में हाशिए पर खड़े समाज जिसमें देश के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिलाएं, अल्पसंख्यक, किसान, मजदूर शामिल हैं, उनके हितों एवं संघर्षों को आसानी से नजरअंदाज कर दिया जाता है। हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का नेशनल दस्तक एक प्रयास है। Download Our Android App up सोलहवां सवाल –  किस तरह से, यह योजना आर्थिक विकास और रोजगार सृजन की सुविधा प्रदान करेगी? Jagran.com विचार पर्सनल फाइनेंस वाद-प्रतिवाद-संवाद कैलेंडर 2018 अमरावती ईंधन विश्‍लेषण प्रयोगशाला Replying to @AamAadmiParty योजनाएं : गोठ एप पर जानिए गरीबों को आबादी पट्टे के बारे में दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (DERC) ने गर्मी शुरू होते ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बिजली के फिक्स चार्ज में 2.5 से लेकर 6.5 गुना तक का इजाफा किया है. हालांकि बिजली की कीमतों में प्रति यूनिट की दर  से कटौती की है. DERC ने 2 किलोवाट लोड वाले घरों में बिजली के फिक्स चार्ज को 20 रुपये से बढ़ाकर 125 रुपये कर दिया है. लिहाजा बिजली उपभोक्ताओं को फिक्स चार्ज 125 रुपये से 250 रुपये तक देना होगा. अभी तक बिजली का न्यूनतम फिक्स चार्ज 20 रुपये था, जो अब 125 रुपये होगा.  कंपनी की ओर दिए गए प्रस्ताव पर विनियामक आयोग अध्ययन करेगा. प्रमंडलवार शिविर आयोजित कर आम लोगों से राय ली जाएगी. अंतिम जनसुनवाई पटना में दो दिनों तक होगी. फरवरी तक सभी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी. मार्च 2018 में आयोग एक अप्रैल 2018 से लागू होने वाली नई बिजली दर की घोषणा करेगा. इस मामले में ऊर्जा मिनिस्टर बिजेंद्र प्रसाद यादव ने बताया कि बिजली कंपनी ने अगले साल के लिए बिजली दर तय करने को याचिका दायर की है. आयोग सभी पक्षों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लेगा. नई दर आने पर राज्य सरकार जरूरत के अनुसार आवश्यक निर्णय लेगी. Copy link to Tweet छात्रसंघ चुनाव: कैंपस का कुरुक्षेत्र तैयार… प्रत्याशियों का इंतजार Comment बिरौल: हमलोगो ने वाजपेयी ऐसे अविभावक को खो दिया !! Leave a comment हरियाणा में कोयले की कमी के कारण बिजली उत्पादन प्रभावित हो रहा है। हरियाणा सरकार ने केंद्रीय कोयला मंत्रालय को हस्तक्षेप करने को कहा है। उज्जैन की जिला पंचायत सोलर रूफटॉप ग्रिड कनेक्टिविटी प्रारम्भ करने वाली प्रदेश की पहली जिला पंचायत बनी, स्वतंत्रता दिवस पर हुआ शुभारम्भ Forbidden प्रवासी भारतीय केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आया UAE, शेख खलीफा ने दिए अहम निर्देश एसडीपीओ, बड़कागांव थाना इस पोस्ट को शेयर करें Messenger 4.00             3.00  क्वालिफाइंग अंग्रेज़ी भाषा प्रश्नपत्र मंडी Whatsappसब्सक्राइब 2 जुलाई 2017 सूत न कपास, जुलाहों में लट्ठम लट्ठा . . . posted on August 18, 2018 चतरा जरा हट के भगवानपुर/बेगूसरायः बिहार में बिजली बिल में वृद्धि को लेकर प्रदेश भर के लोगों में उबाल है. जगह जगह लोग इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. ऐसे में राज्य के विपक्षी पार्टियों को भी बिजली बिल के रूप में आवाज उठाने और सत्तापक्ष के खिलाफ एक मुद्दा मिल गया है. चुनाव आयोग से पहले बीजेपी के अमित मालवीय ने बता दी कर्नाटक चुनाव की तारीख, आयोग करेगा जांच जीवन मंत्र SIGN IN aamaadmiparty.org 400 फीट ऊंचे टाॅवर से पहली बार यह विशेष तस्वीर 'सांवली' हरमाइनी ग्रेंजर के पीछे ट्विटर हुआ क्रेजी, आर्टिस्ट को मिल रहीं तारीफें आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 की नई बिजली दर का निर्णय बुधवार को विनियामक आयोग के अध्यक्ष एसके नेगी, सदस्य राजीव अमित व आरके चौधरी ने संयुक्त रूप से सुनाया। अध्यक्ष ने कहा कि साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड को 9,603 करोड़ और नॉर्थ बिहार कंपनी को 7207.62 करोड़ रुपए राजस्व की जरूरत का प्रस्ताव दिया था। समीक्षा के बाद आयोग ने साउथ बिहार के लिए 9228.64 करोड़ और नॉर्थ बिहार के लिए 7106 करोड़ की जरूरत को मंजूर किया है। दोनों कंपनियों ने 2018-19 के लिए कुल 5121.87 करोड़ घाटा का प्रस्ताव दिया था, लेकिन जांच में मात्र 747.44 करोड़ ही पाया गया। कंपनी ने राजस्व नुकसान को कम करने के लिए 44 फीसदी बिजली दर वृद्धि का प्रस्ताव दिया, जिसे आयोग ने बड़े उद्योग को छोड़कर बाकी श्रेणी के उपभोक्ताओं को मात्र पांच फीसदी वृद्धि का निर्णय लिया है।  बिजली की लागत - सस्ता ऊर्जा प्रदाता बिजली की लागत - कम दर ऊर्जा कंपनियों बिजली की लागत - गैस और इलेक्ट्रिक लागत
Legal | Sitemap