January, 2016 पुस्‍तकालय के नियम बीज ग्राम योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं तुर्की ने कहा, अमेरिका और प्रतिबंध लगाता है तो देंगे जवाब राष्ट्रीय  कृषि विकास योजना बाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं: मार्गदर्शी निर्देश बाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं, रिपोर्टिंग प्रपत्र का प्रारूप बाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं, संशोधन बाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं बाड़मेर से भीनमाल तक 144 किमी लंबी 400 केवी बिजली सप्लाई की लाइन का काम पूरा,139 करोड़ के काम में 399 टॉवर लगने हैं, अब सिर्फ 22 लगने ही बाकी, अगस्त से बेहतर होगी बिजली सप्लाई Digital agency : Experience Commerce डीईआरसी की बैठक में बिजली की नई दरें तय की गईं.  डीआईआरसी ने बिजली कनेक्शन पर फिक्स चार्ज बढ़ा दिया है.2 kV के कनेक्शन पर फिक्स चार्ज 20 रुपये से से बढ़ाकर 125 रुपये और 2kv से 5kv तक कनेक्शन पर यह चार्ज 35 रुपये से बढ़ाकर 140 रुपये किया गया है. 0 उदय का प्रभावित क्रियान्वयन। (उदय यानी उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना बिजली वितरण कंपनियों को घाटे से उबारने के लिए 2015 में शुरू की गई है।) मूल संरचना Gujarati News Include media Madhubani पूर्व केंद्रीय मंत्री सांवरलाल जाट की मूर्ति का हुआ अनावरण सूरजधारा योजना आपदा प्रबंधन Aurangabad दिल्ली में DTC कर्मचारियों ने मनाया शोक दिवस, कराया मुंडन चिंतपूर्णी में दंडवत होकर पहुँच रहे श्रद्धालु म्‍युचुअल फंड वित्तीय वर्ष 2017-18 में सरकार बिजली उपभोक्ताओं  को करीब तीन हजार करोड़ रुपये की सब्सिडी देगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार ऐसा पहला राज्य है, जिसने इस तरह का प्रयोग किया है. इसकी प्रशंसा केंद्र ने आधिकारिक रूप से की है. एक साल के अंदर उम्मीद है कि दूसरे राज्य भी इस पैटर्न को अपनायेंगे. उन्होंने कहा कि नये प्रावधान से राज्य में काम कर रही अलग-अलग कंपनियों की कार्यक्षमता का भी मूल्यांकन किया जा सकेगा.  जामताड़ा Best Air Conditioners (AC) in India Trending Now About Us Save Electricity पारेषण क्षेत्र में विकास छात्राओं से छेड़खानी करते हैं मयजदे! posted on August 18, 2018 जल और उद्योग VIDEO-संसद में अटल बिहारी वाजपेयी का अंदाज बना देता था सबको उनका मुरीद कपिल शर्मा SUPPORT Edited By Punjab Kesari, अगर राज्य का आकलन सही तरीके से किया जाए तो ना तो यहां बेरोजगारी की समस्या खत्म हुई है और ना ही पलायन का। यहां ना तो गरीबी खत्म हुई है और ना ही जीवन जीने के तरीकों में कोई सुधार हुआ है। स्वास्थ्य और शिक्षा के हालात पर हर दिन बहस हो रही है। अन्य खेल ऑटोनया आशुतोष कुमार पंजाब-हरियाणा से और अरुण कुमार के मुताबिक भारत में कुल एक करोड़ 70 लाख लोग प्रभावी रूप से आय कर भरते हैं. यह भारत की आबादी का 1.2 फ़ीसदी है. ऐसा कहा जा रहा है कि जीएसटी छोटे व्यापारियों को आयकर के दायरे में लाएगा और पांच करोड़ लोग कर व्यवस्था से जुड़ सकते हैं और इससे सरकार का राजस्व बढ़ेगा. 'अटल' हो गई महाकवि गोपाल दास नीरज की भविष्यवाणी! टेक न्यूज़ MURFREESBORO RESIDENTS FOR BLACKMAN PARK ये भी पढ़ें – अटके हाईवे प्रोजेक्‍ट होंगे पूरे, सरकार देगी वनटाइम वित्‍तीय सहायता राज्य में बिजली अप्रैल के बाद महंगी होगी. झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग के मुताबिक बिजली टैरिफ बढ़ाने के लिए झारखंड बिजली वितरण निगम ने प्रस्ताव दिया है. प्रस्ताव पर आयोग ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में जाकर जनसुनवाई भी की है. प्रस्ताव की समीक्षा चल रही है. प्रक्रिया पूरी करने में अभी 20-25 दिनों का समय और लगेगा. उसके बाद ही टैरिफ में वृद्धि पर अंतिम आदेश जारी किया जायेगा. मालूम हो कि झारखंड बिजली वितरण निगम ने आयोग को वर्तमान दर में छह गुना तक वृद्धि करने का प्रस्ताव सौंपा है. जनसुनवाई के दौरान दर वृद्धि के विरोध में सामने आये सभी पहलुओं पर आयोग विचार कर रहा है. निगम के राजस्व को देखते हुए टैरिफ की दर निर्धारित की जायेगी. हमारे बारे में प्रधानमंत्री आवास योजना Education सरकारी विभाग गुल कर रहे बिजली निगम की 'बत्ती' धर्म/ज्योतिष Altmas Khan on राहुल गांधी फोन नंबर,Whatsapp नंबर,ईमेल सहचारी स्थायिक युक्त 1000 केएन सार्वत्रिक परीक्षण मशीन Latest NewsView All स्वतंत्रता दिवस: सीएम शिवराज सिंह भाषण के 15 प्रमुख बिन्दु | MP NEWS अधिक्षण अभियनता राकेश कुमार ने बताया कि शहर में लगातार वसूली अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत कई लोगों के बिजली कनेक्शन काटे गए हैं और अभी और भी उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जाएंगे। उन्होंने बताया कि जिले में 10 हजार से अधिक बिल बकाया वाले उपभोक्ताओं के बिजली बिल कनेक्शन काटे जाएंगे और उस डिविजन के लाइनमैन से भी इसके लिए जवाब मांगा जाएगा कि अभी तक इन बकायदारों के कनेक्शन क्यों नहीं काटे गए। Home » देश » बिहार में महंगी हुई बिजली, नई दर एक अप्रैल से × लाइव सिटीज डेस्कः बिजली कंपनी ने एक अप्रैल, 2018 से प्रभावी होने वाली बिजली दर 10 फीसदी बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है, लेकिन प्रस्ताव में उपभोक्ताओं के लिए कई राहत भी है. गांव में 50 यूनिट और शहर में 100 यूनिट तक खपत करने वालों को अभी की तुलना में सस्ती बिजली मिलेगी. खेत को पानी देने के एवज में किसानों को मौजूदा दर पर ही बिजली मिलेगी. बीपीएल श्रेणी वाले कुटीर ज्योति उपभोक्ताओं को भी सस्ती बिजली देने का प्रस्ताव है. जयपुर । जयपुर डिस्काॅम ने तीन महत्वपूर्ण योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक बढाया है जिससे अधिक से अधिक संख्या में उपभोक्ता इन योजनाओं का लाभ उठा सके। पूर्व में यह योजनाएं तीस अप्रैल तक ही प्रभावी थी। 3- कूप गहरा योजना.. फसल उत्पादन राज्य                               खपत              यूनिट तक दर  इन्फोग्राफिक्स शेयर बाजारों की बेहतर शुरुआत, सेंसेक्स 260 अंक चढ़ा आम मुद्दे © Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.   Trending News SHRIKHAND YATRA लोगों पर गिरी ‘बिजली’ खाना आजकल Latest Water Heater Technology in India – Review जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य   /  छत्तीसगढ़ Promoted by 226 supporters Travel पाकिस्तान के अंतरिम कानून मंत्री ने सुषमा स्वराज से मुलाकात की 12/07/2010 - 15:50 सीपीआरआई सुविधा पुस्तिका मिडिल क्लास की इन चीजों पर 18 पर्सेंट टैक्स Firkee अटलजी को श्रद्धांजलि देने जा रहे अग्निवेश की भाजपा मुख्यालय के बाहर पिटाई 10 mins बेगूसराय में हैवानियत, विक्षिप्त महिला से रेप कर फरार हुआ बदमाश News18 States प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण आवेदन और पात्रता सूची की पूरी जानकारी Related Links 'केंद्र सरकार हर घर में सातों दिन 24 घंटे सस्ती बिजली मुहैया कराएगी' निजी क्षेत्र की जल-विद्युत योजनाओं में भागीदारी के बारे में कई बातें कही गई हैं। नदी घाटियों का पूर्व अध्ययन, धरातल चित्र तथा जल का मूल्यांकन उत्तराखंड जल-विद्युत निगम को पहले से ही कर लेना चाहिए था ताकि नदी की बिजली उत्पादन क्षमता का सही अनुमान लगाया जा सकता। योजनाओं की बिजली उत्पादन क्षमता कई बार बदली गई 85 प्रतिशत योजनाओं में 22 प्रतिशत से 32.9 प्रतिशत बदलाव हुए, जिससे पूर्व अध्ययन के सही होने पर संशय तथा सवाल खड़े हो गए। योजनाओं को विकसित करने वालों ने व्यवस्था की त्रुटियों का फायदा उठाया। नमूने की 13 योजनाओं में एक की क्षमता 25 किलोवाट से कुछ कम की गई, ताकि उस पर रॉयल्टी कम देनी पडे, जो पूरे 25 किलोवाट या उससे अधिक पर काफी अधिक पड़ती। कई योजनाओं की समय-सीमा इसलिए बढ़ाई गई कि इस मामले में हुए नुकसान का भार उन पर न पड़े। यह अधिकतर उत्पादन क्षमता में बदलाव करने पर हुआ, जिससे राज्य की प्रत्याशित रायल्टी तथा बिजली से आमदनी में कमी आई। उससे राज्य को बहुत आर्थिक घाटा हुआ क्योंकि कंपनियों के प्रीमियम बदल गए। योजनाओं का समुचित पूर्व अध्ययन अत्यंत आवश्यक है ताकि उनकी क्षमता का सही ज्ञान हो सके। पानी के बहाव, विद्युत यंत्रों की कार्य क्षमता तथा अन्य बातों के मानक निर्धारित करने पर ही कंपनियों को लाइसेंस देने की नीति बनाने की जरूरत थी। इस लेख में कैग की पूरी रिपोर्ट, जिसमें राज्य की जल-विद्युत नीति तथा उसके काम करने के तरीके की कड़ी आलोचना है और जिसमें कहा गया है कि उस नीति के कारण बड़ा पर्यावरणीय तथा आर्थिक नुकसान हुआ है। सवाल यह उठता है कि सभी दिशाओं में बड़े घाटे तथा संसाधनों के क्षय के काम को राज्य सरकार क्यों प्रोत्साहन दे कर चला रही है ? मित्सुबिसी की आईएमआईईवी 31125 (1682000 रुपये) डॉलर में बिकती है और रैनो की ज़ोई की कीमत 13650 पॉउंड (लगभग 1114000 रुपये) है. Q to Z हालांकि, पानी में उतरे केईडीएल भगाओ संघर्ष समिति के संयोजक हिम्मत सिंह हाड़ा की सुबह से शाम तक पानी में खड़े रहने के बाद तबियत भी बिगड़ गई. जिसके बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती तक करवाने की नौबत आ गई और कोटा के न्यू मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भर्ती करवाना पड़ा.    आस्था 1999016990खरीदे बिजली कनेक्शन हुआ महंगा, अब लगेगा 18 प्रतिशत जीएसटी जिले की अब तक की सबसे बड़ी विद्युत प्रसारण योजना एसबीडी हजारीबाग करियर सिन्हा कंस्ट्रक्शन Check Also हेल्पलाइन Tweets by NayaHaryana loading... WHAT WE DO 27 28 29 30 31   मुआवजे को लेकर ग्रामीणों ने कुआंखेड़ा रोड पर शव रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पुलिस और टोरंट अधिकारी पहुंच गए। पुलिस ने समझा बुझाकर ग्रामीणों को शांत किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।  सस्ता बिजली प्रदाता - सर्वश्रेष्ठ विद्युत कंपनी सस्ता बिजली प्रदाता - अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें सस्ता बिजली प्रदाता - इलेक्ट्रिक एनर्जी कंपनी
Legal | Sitemap