Font help This Month : 18 हिंदीதமிழ்বাংলাമലയാളം मराठीENGLISH ख़बरेंमर्डर मिस्ट्रीचर्चित कांडसाइबर क्राइमसीरियल किलरसेक्स स्कैंडलबाहुबलीमोस्ट वॉन्टेडवीडियोनायकपुलिस फाइल सेफोटो मीडिया प्रभारी ,सोशल मीडिया Coordinator एवं सचिव ज़िला कोंग्रेस कमिटी 20 Views योजना घरेलू उपभोक्ताओं के लिए ही है वो भी घरेलू फ्रीज, बल्ब, टीवी, पंखे के लिए हैं। एसी, हीटर योजना में ग्राहक नहीं चला सकेंगे। यदि ऐसा किया गया तो ग्राहक बिजली कनेक्शन के दायरे से बाहर हो जाएंगे और वे सरल बिल योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे। वहीं यदि यूनिट खर्च भी सौ से ज्यादा आया तो सौ यूनिट के ऊपर के सारे खर्च का भुगतान भी बिजली ग्राहकों की ओर से किया जाएगा, यानि सात सौ के कुल बिल के बाद की पूरी रकम ग्राहकों से वसूल की जाएगी। सीपीआरआई सुविधा पुस्तिका Cashback on offer price: 2142 लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें राष्ट्रीय बायोगेस योजना Copyright © 2018-19 DB Corp ltd., All Rights Reserved. Using Renewables पूर्वांचल के उपभोक्ताओं को बिजली बिल पर अब केवल 1.03 फीसदी रेग्युलेटरी सरचार्ज ही देना होगा। इसी तरह दक्षिणांचल में 1.70 फीसदी रेग्युलेटरी सरचार्ज में कटौती की गई है। दक्षिणांचल के उपभोक्ताओं को बिजली बिल पर 2.84 के बजाय अब केवल 1.14 फीसदी सरचार्ज देना होगा। सरचार्ज में कटौती से प्रदेश के 1 करोड़ 39 लाख उपभोक्ताओं को बिल पर 115 करोड़ रुपये का सीधा लाभ होगा। बाढ़ के कहर से केरल में 300 से अधिक लोगों की मौत, केजरीवाल सरकार देगी 10 करोड़ रुपये Top colleges ranked by the prettiest girl students Petitions promoted by other Change.org users नवीकरण और आधुनिकीकरण अंतिम यात्रा पर अटल, दिलों में रहेंगे वाजपेयी   Loading... ‘तेरे मीठे आलिंगन से मैं मिठास हो जाऊंगा...’ रद्द कराए गए आपके टिकटों से रेलवे की 'चांदी' परीक्षा विज्ञप्ति मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार में बिजली के क्षेत्र में काफी काम हुआ है। संसाधन सीमित हैं, पर सुधार जारी है और इसकी बदौलत ही बिहार नई ऊंचाइयों को छुएगा। अब ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए कि पूरे देश में बिजली दर एक हो। Monday 13 August , 2018 बिजली के खंभे के लिए गड्ढा खोद रहे थे मजदूर, मिला 'खजाना' Inextlive यह ईपीसी मोड के तहत पूरी तरह सरकारी प्रोजेक्ट हैं। इसके अलावा 9 मेगावाट के हानू और 9 के मेगावाट के दाह प्रोजेक्ट के लिए निगम द्वारा पूरी की गई निविदा प्रक्रिया के आधार पर पात्र बोलीदाता को ठेका देने की अनुमति दे दी गई है। पुग लेह 5 मेगावाट की भू-तापीय परियोजना आईपीपी मोड पर विकसित करने का भी निर्णय किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण 1,856 मेगावाट क्षमता के स्वालकोट एचईपी प्रोजेक्ट के लिए बोर्ड ने जल्द विस्तृत रिपोर्ट पूरी करने और सीईए से टेक्नो जाह्नवी की अगली फिल्म को लेकर बड़ी उत्सुकता संपादन Visit Site अगस्त 14, 2018 Md. Saheb Ali Big News, BIHAR, ट्रेंडिंग, देश विदेश, राजकाज 0 Our Team 150 यूनिट-- रु.4.40--4.90 Sat Aug 18 2018 00:26:44 GMT-0500 (Central Daylight Time) बिजली कंपनी ने 12 लाख यूनिट के फर्जी बिल वसूल लिए 10. हाइक ने लांच की Hike ID, बिना नंबर के भी कर सकेंगे चैट हमीरपुर डीडीयूजीजेवाई नियम और शर्ते पावर डाटा प्रबंधन प्रभाग स्त्रोत: पत्र सूचना कार्यालय(पीआइबी),भारत सरकार मुख्यमंत्री के 15 अगस्त संदेश के प्रमुख बिन्दु 16/08/2018 begusarai news बिटकॉइन स्प्रिंट नहीं है, यह एक मैराथन है (ओप-एडी) नेविगेशन पर जाएँ सामग्री पर जाएँ फुटर पर जाएँ केरल : खराब मौसम के चलते मोदी का बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण रद्द CompareIndia बांसवाड़ा : साधारण सभा में भी गुल रही बिजली, बोले ग्रामीण- बिजली आती नहीं, फिर भी थमा रहे हजारों का बिल गाँवों केवल 6 से 8 घंटे बिजली मिलने की बात भी श्री यादव ने उठाई है। कांग्रेस ने 8 अप्रैल को अशोकनगर में बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव के विरोध में बड़ा प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद भी सरकार ने बिजली की दरें बढ़ा दी हैं। कांग्रेस का कहना है कि वह इस बारे में जल्द ही तेज और प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी। किशनगंज आरएसओपी फार्मों की सूची     वित्त मंत्री ने कहा कि नारनौंद क्षेत्र में 24 घंटे बिजली आपूर्ति होने से शिक्षा, स्वास्थ्य व आम आदमी के जीवन स्तर में बेहतर सुधार आएगा। 24 घंटे बिजली आपूर्ति से इस क्षेत्र में आर्थिक  संभावनाएं बढ़ेंगी। जिस क्षेत्र में 24 घंटे बिजली रहती है वहां लघु व कुटीर उद्योग के साथ-साथ बड़े उद्योग भी आकर्षित होते हैं और औद्योगिक क्षेत्र रोजगार के अवसर पैदा करते हैं। इस तरह दुरूस्त बिजली आपूर्ति क्षेत्र के आर्थिक विकास का आधार है। उन्होंने कहा कि विभाग को यह कोशिश करनी है कि क्षेत्र का हर गांव जगमग योजना से कैसे जुड़े। उन्होंने कहा कि सरकार के स्तर पर भी इस योजना को सफल बनाने के लिए विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों में यह भ्रांतियां है कि यदि वे इस योजना में शामिल हो जाएंगे तो उनके बिजली बिल ज्यादा आएंगे जबकि वास्तविकता यह है कि इस योजना के सफल होने पर बिजली बिलों में अपेक्षाकृत कमी आएगी। यहीं धारणा बदलने के लिए विभाग के साथ-साथ सरकार भी प्रयासरत् है। पारेषण ऑटो न्यूज़ विभाग/ एकक नो फेक न्यूज़ नया जिंदगानी 248 करोड़ बढ़ी सब्सिडी  Chief Minister AAP पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का स्वास्थ्य खराब शुरू हो रहे 18वें एशियाई खेलों प्रदर्शन को बेहतर करने की… भारत में लॉन्च हुआ लग्जरी कार से भी महंगा क्रूज़र मोटरसाइकिल अक्षय ऊर्जा स्रोत विकास प्रभाग New Delhi ग्रह दोष : कुंड़ली के दोष निवारण के लिए नहीं खरीद सकते रत्न तो ये सस्ते उपरत्न हो सकते हैं प्रभावशाली 15 mins भारत का संविधान प्रोफ़ेसर दिवाकर ने कहा कि सरकार ने ग़रीबों को लिए जन धन अकाउंट खोला लेकिन अब उन ग़रीबों को इस अकाउंट को हैंडल करने के लिए आठ फ़ीसदी सर्विस टैक्स देना होगा. उन्होंने कहा कि इतने सारे विरोधाभासों के साथ कोई सरकार कैसे दावा कर सकती है कि इससे ग़रीबों को फ़ायदा होगा? करियर / उत्पाद का नाम: मिनी एकल चरण इलेक्ट्रॉनिक सक्रिय वाट घंटे मीटर लिंक अधिकारी की व्यवस्था राजमहल लोकसभा सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना म. प्र. पावर मेनेजमेन्ट क. लि. 8 इस फैसले के अनुसार शिवराज सरकार को वर्तमान में बिजली कंपनियों को 5179 करोड़ रूपए जमा करने के बाद ही इस योजना को लागू करना चाहिए। लेकिन हाईकोर्ट ने पिछले दिनों इस संबंध में दायर उनकी याचिका खारिज कर दी। राज्य सरकार के इस फैसले के पीछे चुनावी लाभ लेने की मंशा स्पष्ट है। लिहाजा, हाईकोर्ट को सरकार से इस योजना लागू करने के लिए अग्रिम राशि जमा करानी चाहिए थी। हाईकोर्ट द्वारा याचिका को खारिज करने के बाद नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की उम्मीदें सुप्रीम कोर्ट पर टिकीं हैं। इन्हें भरोसा है कि उनकी याचिका दी गई दलीलों से सहमत होते हुए देश की सर्वोच्च अदालत उक्त आदेश को पलटेगी। HSGPC ने अटल के निधन पर पिपली में होने वाले... अब लोगों को चाहिए बड़ी कार, समझिए मारूति सुजुकी के इन आंकड़ों से दुमका : इंडोर स्टेडियम दुमका में अरविन्द प्रसाद की अध्यक्षता में झारखंड राज्य विद्य्नुत नियामक... 501 से अधिक- 8.05 - 7.95 दीपिका पादुकोण केबिल व संधारित्र प्रभाग (सी डी डी) इमरान खान के शपथ समारोह में पहुंचे सिद्धू, बोले- इमरान को देंगे ये... दिसंबर 2017 में 73,878.73 करोड़ से बढ़कर फरवरी 2018 में ये 75,572 करोड़ की राशि तक पहुंचा और अब 80,000 करोड़ की राशि को पार कर गया है. वित्तीय भागीदारी में शामिल होने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है. भारत(107),130/10 Total 0 search results found for %20%20%E0%A4%AC%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%B2%E0%A5%80%20%E0%A4%95%E0%A4%82%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%80 RD SERVICE एडीएम के आदेश मुख्य परीक्षा 2018 | प्रारंभिक परीक्षा 2018 | सामान्य अध्ययन | सीसैट Mobile Apps Create a Storyboard  Recent Comments दिवाकर ने कहा, ''शिक्षा पर भी जीएसटी कर नहीं लगेगा. ऐसे में शिक्षा का निजीकरण बढ़ेगा. कोई कैसे मान ले कि प्राइवेट स्कूलों की कमाई नहीं होती है? और अगर होती है तो फिर इन्हें जीएसटी के दायरे में क्यों नहीं लाया गया? जीएसटी पूंजीपतियों के हिसाब से मार्केट बनाने की प्रक्रिया है.'' ऊर्जा लागत की तुलना करें - बिजली बिल कैलकुलेटर ऊर्जा लागत की तुलना करें - आज खरीदारी करें ऊर्जा लागत की तुलना करें - ऊर्जा प्रदाता स्विच करें
Legal | Sitemap