INTUC PRESIDENT HARDEEP BAWA बजट अस्वीकरण और नीतियां 12/07/2010 - 15:50 (यह भी पढ़ें)... सपना चौधरी ने WWE के रिंग में लगाए ऐसे ठुमके, चित हो गए सारे पहलवान; देखें Video खबरे सुने LoveSutras Email ID Lakhisarai क्रिकेटस्कोर कार्डवीडियोखेल की अन्य खबरेंइंटरव्‍यूओपीनियन राम अवतार सिंह मेमोरियल चैरिटेबल सोसाइटी पंखा परीक्षण प्रयोगशाला   Previous Storyएन्‍वायरमेंट के साथ पैसे भी बचाएंगी ई-कॉमर्स कंपनियां, अमेजन ने शुरू की साइकिल पर डिलिवरी Next StoryEPFO के लिए UAN जरूरी, जानिए इससे जुड़ी 3 अहम बातें   Jehanabad प्रभाग/प्रकोष्ठ/अनुभाग प्रमुख false सिंचाई (मीटर) आइएएस टू  1.20  5.00 शेयरिंग के बारे में बिजली कंपनी में अब फिर से अनुकंपा नियुक्ति शुरू होने जा रही है। इससे नियुक्ति का इंतजार कर रहे कर्मचारियों के... बी) एंटी टपर सुविधा नयी दिल्ली। बजाज हिंदुस्तान शुगर की समूह की बिजली कंपनी ललितपुर पावर जनरेशन कंपनी लि . (एलपीजीसीएल) में अपनी पूरी 17.51 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की योजना है। हिस्सेदारी का मूल्य करीब 1,100 करोड़ रुपये हो सकता है। कंपनी ने एलपीजीसीएल में 770 करोड़ रुपये निवेश किया था। कंपनी को उसके कर्जदाताओं से मंजूरी प्राप्त ऋण पुनर्गठन योजना के तहत उसकी गैर - प्रमुख संपत्ति बेचने को कहा गया है। भोपाल। रडार न्यूज  मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से कुछ माह पूर्व राज्य सरकार द्वार 1 जुलाई से लागू की गई सरल बिजली और बिल माफी की बहुप्रचारित योजना विवादों के घेरे में आ गई है। उपभोक्ताओं के हितों के संरक्षण के लिए काम करने वाले कार्यकर्तों का आरोप है कि शिवराज सरकार की इस योजना से बिजली कंपनियों का घाटा बढ़ेगा जिसकी भरपाई नियमित रूप से बिजली बिल भरने वालों को करनी होगी। इससे साफ है कि सरल बिजली योजना से आम लोगों की जेब पर बोझ बढ़ेगा। इन्हीं तथ्यों के आधार पर इस योजना के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका लगाई गई है। केजरीवाल ने बाढ़ प्रभावित केरल के लिए 10 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान... नदखुरकी पंचायत मुखिया टेक अरवल  (रुपये) (रुपये) मानसिक रोगी से रिम्स के गार्ड ने फिर किया अमानवीय व्यवहार, धक्का देकर अस्पताल से निकाला Don't have an account ? December 2017 ताज़ा ख़बर सोलर व पनबिजली से करना है उत्पादन  जब भी खांसता था बच्‍चा आती थी सीटी की आवाज, डॉक्‍टर्स भी हैरान फेसबुक पर हमारा अनुसरण करें प्रकाश उद्देश्यों के लिए मिट्टी के तेल के प्रतिस्थापन द्वारा पर्यावरण उन्नयन बीकानेर वाजपेयी के निधन पर राहुल बोले, देश ने खोया अपना एक महान सपूत प्रोत्‍साहनकारी क्रियाकलाप लोक​प्रिय​ मौसम अभी अभी बदलाव से खिलाड़ी असुरक्षित महसूस नहीं करते : विराट कोहली गैजेट पाठ्यक्रम DGCA ने किया हाईकोर्ट में विमानन कंपनियों का बचाव, बहुत ज्यादा किराया नहीं वसूल रहीं एयरलाइंस 23 Views प्रवचन ऑपरेटिंग वोल्ट रेंज महाराष्ट्र के लोगों को बिजली दर में बढ़ोतरी का झटका बैडमिंटन मनीकंट्रोल पर और देखिए रिपोर्ट्स Computer में Folder Lock कैसे सेट करे बेस्ट तरीका बठिंडा/मानसा Copyright © 2018-19 DB Corp ltd., All Rights Reserved. In order to save our Southern Resident Orcas we need to protect their main food source: Chinook Salmon. The Southern Resident Orcas rely upon Chinook Salmon for 80% of their diet and in order for… Read more आशीष कुमार शनिदेव की कृपा पाने के लिए शनिवार को काली गाय को खिलाएं बूंदी के लड्डू, करियर में मिल सकती है सफलता 19 mins बक्‍सर RBI अब यूपी में बिजली कंपनियां किस्तों पर देंगी सस्‍ते एसी-गीजर-पंखे डीईआरसी चेयरमैन पी. डी. सुधाकर ने कहा कि अभी बिजली कंपनियां सस्ती बिजली खरीदने के कोई गंभीर प्रयास नहीं करती। हम ऐसा सिस्टम बनाना चाहते हैं कि अगर बिजली कंपनियां खर्च कम करती हैं तो उसका जो फायदा होगा उसका कुछ हिस्सा कंपनी को मिलेगा। वह एक तरह से बिजली कंपनी के लिए इंसेंटिव होगा। अभी ऐसा कोई इंसेंटिव नहीं है। हम चाहते हैं कि ऐसा हो। अगर वह मेहनत करके खर्च कम करते हैं तो उन्हें इसका इनाम मिले और इससे कंस्यूमर को भी फायदा होगा। संध्या पूजा करते समय बरतें ये सावधानियां, होंगे कई लाभ दिलीप कुमार साहू डीईआरसी ने घरेलू बिजली पर प्रति यूनिट नई दरें तय की हैं. इसके मुताबिक शून्य से 200 यूनिट तक की प्रति यूनिट दर 4 रुपये से घटाकर 3 रुपये, 201 से 400 यूनिट तक 5.95  से घटाकर  4.50 रुपये,  401 से 800 यूनिट तक 7.30 से घटाकर  6.50 रुपये,  801 से 1200 यूनिट तक 8.10 से घटाकर  7 रुपये और 1200 यूनिट से अधिक की खपत पर चार्ज  8.75 रुपये प्रति यूनिट से घटाकर 7.75 रुपये प्रति यूनिट किया गया है. Read Also भारतीय विद्युत क्षेत्र में आरएसओपी की प्रासंगिकता : रेगुलेशन्स बैंकिंग बीमा This Month : 18 बोकारो सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न Metanavigation Clarifications क्राइम प्लस 7 Views 9 दिसंबर 2017 Ceiling Fans बिजली कंपनी को लेकर विरोध हर तबके का है विपक्ष से लेकर पक्ष कोटा के जनप्रतिनिधि तक बिजली कंपनी का विरोध जता चुके है हर इलाके से बिजली कंपनी को वापस भेजने की मांग शहर में की जा रही है इसको लेकर शहर में 10 अगस्त को कोटा बंद का आव्हान भी किया गया है. शिविरों में पहुंच जनसमस्याएं सुन रहे हैं मंत्री देवनानी 232 Likes VIDEO- विपक्ष पर PM का हमला, अभी भी कुछ लोग तीन तलाक बिल के विरोधी अ- अ अ+ आगामी वेस्ट मैनेजमेंट के लिए एक्सपर्ट कमिटी बने: सुप्रीम कोर्ट जापान के पीएम शिंजो आबे ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर जताया शोक। इधर दिल्ली सरकार के इस कदम पर बिजली कंपनियों का कहना है कि ऊंचे दाम का कारण ज्यादा जनरेशन और ट्रांसमिशन कॉस्ट है। बिजली के दाम में 80 फीसदी हिस्सा जनरेटिंग और ट्रांसमिशन कंपनियों का है। जनरेशन और ट्रांसमिशन की लागत लगातार बढ़ रही है। और जहां तक ऑडिट का सवाल है तो सीएजी और रेगुलेटरी अथॉरिटी उन पर लगातार नजर रखती हैं। बिजली कंपनियों का हर साल ऑडिट होता है और डीईआरसी हर साल अकाउंट्स की जांच करता है। पश्चिमांचल को छोड़कर पूरे प्रदेश में घरेलू और किसानों की बिजली सस्ती हो गई है। बिजली बिल पर लगने वाले रेग्युलेटरी सरचार्ज में विद्युत नियामक आयोग ने कटौती कर दी है। Photo Gallery Das Porträt गुफा में फंसे बच्चों को सीखनी होगी गोताखोरी 03.07.2018 मुझे शिकायत है ... 0 लेनदारों में कमी करनी चाहिए। प्रमोशन में आरक्षण: सुप्रीम कोर्ट में आज की कार्यवाही का विवरण | EMPLOYEE NEWS ग्वालियर काशिझरिया पंचायत समिति सदस्य Raksha Bandhan 2018- इस साल बेसन की बर्फी से बढ़ाएं खुशियों की मिठास होम पर वापस जाएँ प्रतिक्रिया खाने की आदत Electricity लेटेस्ट न्यूज़ Ramayan सुवासरा ट्रांसमिशन कंपनी लोकसभा चुनाव Regional Party AAP 4- डीजल/विद्युत पम्प सैट योजना.. अध्यक्ष ने साफ किया कि राज्य सरकार चाहे तो अनुदान देकर आयोग की ओर से निर्धारित बिजली दर के बोझ को कम कर सकती है। वृद्धि के तर्क में कहा कि राज्य सरकार की ओर से अनुदान देने का कोई पत्र नहीं आया। साथ ही इस साल के अंत तक सभी को कनेक्शन देने की योजना के कारण बिजली नेटवर्क विस्तार में कंपनी के खर्च में वृद्धि हो गई है। दोनों कंपनियों ने अप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक 36 लाख 19 हजार 683 उपभोक्ता बनाने का लक्ष्य दिया है।  लोकप्रिय पोस्ट प्रारंभिक रिपोर्ट में प्रक्रिया की कमी बताया गया है, जिसे दूर किया जा रहा है. जहां-जहां बिजली चोरी की शिकायतें थी, वहां चेक मीटर लगाया गया है, जिसके बाद से बिजली के खपत में कमी आयी है. इससे पुष्टि हो गया है कि लीकेज थी. एचटी लाइन में मुख्यालय स्तर से रीडिंग की मोनिटरिंग की व्यवस्था होगी तथा किसी की भी रीडिंग देखी जा सकेगी. कहा कि जिले में 53 हजार घरों में बिजली पहुंचानी बाकी है, जिसे सौभाग्य योजना से दिसंबर से पहले तक बिजली पहुंचायी जायेगी. शहरी क्षेत्र में बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए एक योजना चलायी जा रही है. प्रभागीय प्रधान Your email address आईईसी 62052-11: 2003; आईईसी 62053-21: 2003 केंद्र गवर्नमेंट राष्ट्र में बिजली की कीमतें घटाने व इसमें एकरूपता लाने की दिशा में कार्य कर रही है, जिसके लिए उसकी थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने की योजना है. ऊर्जा मंत्रालय ने जुलाई में इस पर मेरिट ऑर्डर जारी कर सभी पक्षों से राय मांगी थी, जिस पर उसे सकारात्मक रुख मिला है. चारा घोटाले मामले में 37 दोषी करार, पांच बरी India Content Business Articles दिल्ली के नए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना दूसरा वादा भी पूरा कर दिया है। आज अरविंद केजरीवाल ने कैबिनेट की बैठक के बाद बिजली का भाव आधा कर दिया है। बिजली की दरों में ये कटौती 400 यूनिट तक बिजली के लिए है। दिल्ली सरकार दाम में इस कटौती की भरपाई फिलहाल सब्सिडी के जरिए की जाएगी। Electronics प्रारंभिक रिपोर्ट में प्रक्रिया की कमी बताया गया है, जिसे दूर किया जा रहा है. जहां-जहां बिजली चोरी की शिकायतें थी, वहां चेक मीटर लगाया गया है, जिसके बाद से बिजली के खपत में कमी आयी है. इससे पुष्टि हो गया है कि लीकेज थी. एचटी लाइन में मुख्यालय स्तर से रीडिंग की मोनिटरिंग की व्यवस्था होगी तथा किसी की भी रीडिंग देखी जा सकेगी. कहा कि जिले में 53 हजार घरों में बिजली पहुंचानी बाकी है, जिसे सौभाग्य योजना से दिसंबर से पहले तक बिजली पहुंचायी जायेगी. शहरी क्षेत्र में बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए एक योजना चलायी जा रही है. 1- 100            5.60 निराश्रित महिलाओं हेतु पेंशन वितरण योजना This Year : 23602 क्यों सही नहीं है पॉपुलर कोर्स का चयन? ये हैं अहम कारण Got it स्मार्ट विद्युत एवं ऊर्जा प्रणाली For Students abcBABYart – Create Custom Nursery Art VIDEO: बिजली कंपनी के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदर्शन  किस जिले में क्या काम झारखण्ड के जल संसाधन विभाग में केंद्रीय एवं राज्य योजनाओं की विवरणी ग्रामीण नवाचार Punjab And Haryana News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें अधिमान्यता देश में अब कोयले की कमी नहीं है और बिजली उत्पादन में अतिरिक्त क्षमता के माध्यम से लक्ष्य से भी अधिक प्राप्त किया गया है।  बिजली की लागत - विद्युत दरों की तुलना करें बिजली की लागत - प्रीपेड बिजली बिजली की लागत - ऊर्जा प्रदाताओं की तुलना करें
Legal | Sitemap