अफ्रीका Edited By Vijay, Most Popular Facebook Messengerसब्सक्राइब 650 मीटर से ज्यादा दूरी वालों को कनेक्शन दूसरे फेज में : -ग्रामीण क्षेत्रों में निम्न दाब की लघु उद्योग की इकाईयों को ऊर्जा प्रभार में 5 फीसद छूट। म. प्र. पावर मेनेजमेन्ट क. लि. Jharkhand बाज़ार खबरें वित्त और कर VIDEO: उत्तराखंड में आफत की बारिश, बहते-बहते बचा बाइक सवार सेक्शन आवास - निम्न दाब कृषि संबंधी कार्य के लिए 25 एचपी की नई श्रेणी बनाई गई है। निम्नदाब उद्योगों के लिए भी 100 से 150 एचपी का नया ग्रुप बनाया गया है। रोलिंग मिल के लिए लोड फैक्टर को 15% से बढ़ाकर 25% किया गया है। स्टील उद्योगों को 65% से अधिक लोड फैक्टर रखने पर ऊर्जा प्रभार में अधिकतम 15% की छूट दी जाएगी। छह महीने पहले बिजली कंपनी में अनुकंपा नियुक्ति पर रोक लगा दी थी। इससे मृत कर्मचारियों के बच्चों को नौकरी नहीं मिल पा रही थी। ऊर्जा विभाग के इस फैसले का कर्मचारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। इस पर मप्र शासन ऊर्जा विभाग ने प्रदेश की बिजली वितरण कंपनियों में लगी अनुकंपा नियुक्तियों पर से प्रतिबंध हटा लिया और अनुकंपा नियुक्ति आवेदनों पर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं। इससे कंपनी के सैकड़ों कर्मचारियों को फायदा होगा और उन्हें नौकरी मिल जाएगी। दिल्ली में जो उपभोक्ता हर महीने 400 यूनिट से कम इस्तेमाल करते हैं उन्हें बिजली के बिल पर 50 फीसदी कम खर्च करना होगा. WE ARE SOCIAL 9ट्रेंडिंग उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बिजली के बिल फाड़ने पर नहीं 24 घंटे बिजली देने के लिए प्रयासरत है. नगर ​​निकाय Verified account संक्षेप खबरें 30 जून 2018 August 18,2018 10:28:00 AM Yum परावैद्युत 5:57 DRISHTI INDEPENDENCE DAY OFFER FOR DLP PROGRAMME View Details Das Porträt मैच से पहले बोले कप्तान कोहली, जीत के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं झारखंड पी.सी.एस. Fitness News फ्रांस को पछाड़ भारत बना विश्व की छठी अर्थव्यवस्था, अमेरिकी पहले तो चीन दूसरे स्थान पर संबंधित भाषाएँ वीडियो परिचय हम करने के लिए सीधे अपनी जांच भेजें (0 / 3000) By Hussain Kanchwala on April 11, 2018 हरदोई शेयर सेव कमेंट कौन कौन है? 11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय बिजली कंपनियां अगर बिजली उत्पादक कंपनियों से कम दाम पर बिजली खरीदती हैं तो उन्हें इसके बदले इंसेंटिव मिल सकता है। दिल्ली इलैक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी अथॉरिटी (डीईआरसी) इस योजना पर विचार कर रही है। अभी इस संबंध में सभी की राय ली जा रही है। फाइनल होते ही इसके बारे में ऑर्डर जारी कर दिए जाएंगे। इससे बिजली कंपनियों के साथ ही कंस्यूमर को भी फायदा होगा, क्योंकि इससे उनका बिल का बोझ कुछ कम होगा। सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना पढ़ेः भाजपा शासित छत्तीसगढ़ में पीने के पानी का संकट गहराया August 11, 2018 at 6:27 pm मध्यप्रदेश की पश्चिम, मध्य और पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनियों ने राज्य विद्युत नियामक आयोग में याचिका दायर कर ओपन एक्सेस से सस्ती बिजली खरीदने वाले उपभोक्ताओं पर एडीशनल सरचार्ज लगाने की मांग की है। कंपनियों का तर्क है कि वो उपभोक्ताओं से खपत के आधार पर बिजली खरीदी के करार करती है। पश्चिमांचल पीसीबी यों का नियंत्रण विनियम म. प्र. पावर जनरेटिंग क. लि. हमें खेद हैं कि आप opt-out कर चुके हैं। गांव में मकान बनाने की योजना के तहत सिर्फ 16 लाख मकान ही बने हैं. पेरेंट्स गाइड नलकूप खनन योजना Contact Us for Advertisements न्यूज निचोड़ At 11 AM : सोमनाथ चटर्जी का निधन दीवारों के रंग और सेक्स में है संबंध ज्यादातर लोगों के लिए घर का सबसे फेवरिट हिस्सा बेडरूम होता है… Best Ceiling Fans in India 300 मीटर ऊंची उत्तर भारत की बुर्ज खलीफा बनकर तैयार, नजीब जंग का भी बनेगी ठिकाना 54 mins पुष्कर में सोमवारी को कांवड़ के साथ झूमते दिखे शिवभक्त Copyright © 2018. All Rights Reserved वाजपेयी के प्रयासों से उनके गांव बटेश्वर को मिली ट्रेन की सुविधा वास्तु टिप्स: इन 5 कारणों से आपके घर में नहीं टिकता पैसा, अपनाएं ये आसान उपाय बेगूसराय में ठनका गिरने से 3 बच्चों की दर्दनाक मौत, परिवार में मचा कोहराम आपका ज़िला चौकीदार की चाकू से गोदकर हत्या, खाली प्लॉट... दसवां सवाल –  लक्ष्यबद्ध तरीके से समयबद्ध तरीके से हासिल करने की रणनीति क्या है? सन्शोधन डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. भारत से बांग्लादेश को किये जाने वाले विद्युत निर्यात में उस समय वृद्धि हुई, जब सितम्बर, 2013 में 400 केवी क्षमता का पहला सीमापार इंटरकनेक्शन चालू हुआ। इसी तरह भारत में सुर्जामणिनगर (त्रिपुरा) और बांग्लादेश में दक्षिण कोमिल्ला के बीच दूसरा सीमापार इंटर-कनेक्शन चालू होने के बाद भारत के निर्यात में और बढ़ोतरी हुई। 132 केवी काटिया (बिहार)-कुसाहा (नेपाल) और 132 केवी रक्सौल (बिहार)-पार्वाणीपुर (नेपाल) सीमापार इंटरकनेक्शन चालू हो जाने के बाद नेपाल को किये जाने वाले विद्युत निर्यात में करीब 145 मेगावाट की वृद्धि होने का अनुमान है। TERMS OF USE BHOPAL में देर रात तक चली रोजगर सहायकों की मीटिंग | MP NEWS ग्लैमर आईपीएस आस्‍था - आम व्यक्ति यानी घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली बिल लगभग सवा छह % कम आएगा। सामान्य रूप से समझा जाए तो माना जाएगा कि पिछले महीने तक एक हजार रुपए का बिल आता था, तो अप्रैल में बिजली बिल 62.5 रुपए कम आएगा। Ichowk आईपी ​​54 हिंदी ENGLISH कुंजी शेयर बाजारों की बेहतर शुरुआत, सेंसेक्स 260 अंक चढ़ा Indonesian Indonesia Photos: बाजे छै नोबत बाजा म्हारा डिग्गीपुरी का राजा… नीरज ने की थी मृत्यु की 'अटल' भविष्यवाणी, कहा था- एक महीने में दोनों छोड़ेंगे दुनिया एससी/एसटी वर्ग को क्रीमी लेयर लगाकर पदोन्नति में आरक्षण से वंचित नहीं किया जा सकता: केंद्र ईडीएफ के सामने भी हैं सवाल नागौर इस भाग में केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के बारे में अधिक जानकारी दी गयी है| इलेक्ट्रिक चॉइस - सस्ता गैस और इलेक्ट्रिक इलेक्ट्रिक चॉइस - मेरा इलेक्ट्रिक बिल लोअर इलेक्ट्रिक चॉइस - उपयोगिता कंपनी
Legal | Sitemap