June 1, 2018 The refrigerator has been one of the most important innovations in home appliances category over the last century. Though once a luxury, but thanks to the liberalization and boom of the Indian economy, it’s now an indispensable appliance in the Indian household. With the rising middle class and larger disposable income, demand for the refrigerators have witnessed a robust double-digit growth over last few years. Rising demands has also propelled the manufacturers रेल मंत्रालय ने डिजिटल स्‍क्रीन सेवा लॉन्च कीAug 17, 2018 बड़े बिजली उपभोक्ताओं की खपत पर रखी जाएगी नजर महाभारत 2019: 7 में से 5 सांसदों से दिल्ली की जनता नाराज, सीलिंग सबसे बड़ा फैक्टर 23 mins 101 से 500 - 6.75 - 6.65 कमेटी ने पिछले साल के अप्रैल में जारी की अपनी रिपोर्ट में कहा है कि हर कोई युवाओं को रोजगार देने या स्थानीय उद्योगों की जरुरतों पर ध्यान दिए बिना सिर्फ आकड़ों के पीछे भाग रहा है. क्राइम प्लस Molitics Works Best in Our App Get App Guides पेट्रोल-डीजल के बाद अब महंगी होगी बिजली, उत्तर प्रदेश मिर्जापुर Mi A2 खरीदने वालों के लिए खुशखबरी, Xiaomi ने जारी किया सिक्योरिटी पैच और कैमरा अपग्रेड 17 mins Russian Русский चार माह में विदेशी मुद्रा भंडार में 25.147 अरब डॉलर की कमी खराब शीर्षक ‘बिजली कंपनी विलफुल डिफॉल्ट नहीं है तो उसे NCLT में नहीं ले जाया जा सकता’ मध्य भारत 20 राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन इस्तेमाल की शर्तें व्यावसायिक (शहरी)    (एनडीएस टू)  6.00  6.00 क्षमता वर्धन No results found यात्रा के साधन व्यावसायिक (ग्रामीण) (100 से अधिक यूनिट)  2.25  5.25 नई दिल्‍ली। दुनिया की सबसे बड़ी बिजली कंपनी इलेक्ट्रिक डे फ्रांस (ईडीएफ) द्वारा छह न्‍यूक्लियर प्‍लांट्स का समझौता करने के बाद भारत के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के पुन: शुरू होने की संभावना भी जागी है। 26 जनवरी को ईडीएफ ने घोषणा की थी कि उसने न्‍यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआईएल) के साथ 6 न्‍यूक्लियर रिएक्‍टर्स की स्‍थापना के लिए एमओयू साइन किया है। यह परमाणु पावर प्‍लांट महाराष्‍ट्र के जैतापुर में लगाया जाएगा। इस समझौते पर फ्रांस के राष्‍ट्रपति फ्रांस्‍वा ओलांद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में हुआ है। ऑटो उत्तर प्रदेश में बिजली हुई महंगी, जानिए कितनी बढ़ी कीमतें संपर्क सूचना कार्तिक और नायरा की जिंदगी में एक नए रिश्तेदार की होंगी… महंगाई से चिंतित RBI ने प्रमुख ब्याज दरों में नहीं... मिशन 2017-18: Hrvatski 5:57 थोड़ी देर बाद एक सुंदर सी जवान महिला बस में चढ़ी, उसे बहुत से लोग सीट देने को तैयार थे लेकिन वो बैठने को तैयार नहीं। ख़बरें अक्टूबर 25, 2017 Don't worry... it happens to the best of us. लैपटॉप - कंप्यूटर नारी ताप चालन परीक्षण प्रयोगशाला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना की शुरुआत की, जिसका उद्देश्य उन सभी घरों तक बिजली पहुँचाना है, जहाँ अभी तक नहीं पहुँची  है। कांग्रेस अध्यक्ष का एक ऐसा चुनाव जिसमें 'गांधी' को हार मिली थी India News in Hindi October 29, 2017 team livecities आपका ज़िला 0 India Water Portal is an Arghyam initiative समाचार की सदस्यता लें VIDEO: जब मूसलाधार बारिश ने कांवड़ियों की सांसें रोक दी यदि किसी भी स्तर पर यह पाया जाता है कि आवेदक ने किसी भी झूठी सूचना के आधार पर पावर टैरिफ सब्सिडी का दावा किया है तो आवेदक को 12 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज की चक्र दर के साथ सब्सिडी राशि वापस करने के अलावा कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा और उसे राज्य सरकार से किसी भी प्रकार का प्रोत्साहन या सहायता प्राप्त करने से वंचित कर दिया जाएगा। आंकड़े बताते हैं कि नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल ने सितंबर 2017 तक सिर्फ छह लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया है और सिर्फ 72,858 प्रशिक्षित युवाओं को 12 फीसदी की दर से काम दे सका है. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पहला चरण) के तहत रोजगार देने की दर सिर्फ 18 फीसदी रही है. Home » व्यापार » पसंद की बिजली कंपनी चुन सकेंगे लोग! सक्रिय ऊर्जा एशियन गेम्स-2018 का आज जकार्ता में उद्घाटन, कल से इवेंट्स जूनियर असिस्टेंट अमरोहा Plug-in: Acrobat Reader   बेगूसराय में ठनका गिरने से 3 बच्चों की दर्दनाक मौत, परिवार में मचा कोहराम केरल : बाढ़ बारिश से 9 दिनों में 324 लोगों की मौत,2 लाख से ज्यादा राहत शिविरों में, मोदी ने किया दौरा। Purnia Puri Jankari इस अवसर पर बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा कि एक तरफ  से तो पूरे प्रदेश में बिजली की भारी कमी के कारण लोगों में हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है और दूसरी तरफ  बिजली की दरों में भारी वृद्धि करके प्रदेश की आमजनता को काफी ज़्यादा मुसीबत में डाला जा रहा है। ख़ासकर घरेलू उपयोग में आने वाली बिजली की दर को 17 प्रतिशत तक मंहगी करके जनविरोधी’’ काम किया गया है। इससे शहर में रहने वाले करोड़ों उपभोक्ताओं को इस मंहगाई का सामना सीधे तौर पर करना पड़ेगा। “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल 16/08/2018 उपभोक्ताओं को सीधा लाभ मधेपुरा पीसीबी की भूमिका अनाथालयों और वृद्धाश्रम को मिलेगी सस्ती बिजली दिसंबर 2017 में 73,878.73 करोड़ से बढ़कर फरवरी 2018 में ये 75,572 करोड़ की राशि तक पहुंचा और अब 80,000 करोड़ की राशि को पार कर गया है. वित्तीय भागीदारी में शामिल होने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है. सस्ता विद्युत प्रदायक - सस्ता बिजली डलास TX सस्ता विद्युत प्रदायक - ऊर्जा तुलना साइटें सस्ता विद्युत प्रदायक - बिजली पर पैसा बचाओ
Legal | Sitemap