बीकानेर शहरी इलाकों में सरकार आवास के निर्माण एवं खरीद के लिए मदद करती है। इसके तहत लोन में ब्याज पर छूट मिलती है और कुछ राशि की मदद भी मिलती है। यूपीए के दौर में यह स्कीम राजीव गांधी आवास योजना के नाम से चल रही थी। B positive बदलाव से खिलाड़ी असुरक्षित महसूस नहीं करते : विराट कोहली आल्पेन नाम की होटल चेन ने अपनी इमारतों को ऊर्जा बचाने वाली पैसिव हाउस स्टाइल में बदलना शुरू कर दिया है. अच्छे इंसुलेशन के कारण ठंड में भी हीटिंग के बिना ही काम चल जाता है और सौर पैनलों से बिजली की अधिकतर जरूरत पूरी हो जाती है. utall नई दिल्‍ली। दुनिया की सबसे बड़ी बिजली कंपनी इलेक्ट्रिक डे फ्रांस (ईडीएफ) द्वारा छह न्‍यूक्लियर प्‍लांट्स का समझौता करने के बाद भारत के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के पुन: शुरू होने की संभावना भी जागी है। 26 जनवरी को ईडीएफ ने घोषणा की थी कि उसने न्‍यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआईएल) के साथ 6 न्‍यूक्लियर रिएक्‍टर्स की स्‍थापना के लिए एमओयू साइन किया है। यह परमाणु पावर प्‍लांट महाराष्‍ट्र के जैतापुर में लगाया जाएगा। इस समझौते पर फ्रांस के राष्‍ट्रपति फ्रांस्‍वा ओलांद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में हुआ है।  पटना। बिहार में बिजली उपभोक्ताओं को गर्मी आने से पहले बड़ा झटका लगा है। दरअसल, बुधवार को बिहार राज्य विद्युत विनियामक आयोग बिजली की नयी दरों का एलान किया। बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने एससीएसटी को छोड़कर सभी उपभोक्ताओं के लिए वर्तमान टैरिफ में पांच प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है। बढ़ी हुई नयी दर एक अप्रैल से प्रभावी होंगी। आयोग के अध्यक्ष एसके नेगी ने कहा बिहार में हर घर बिजली योजना को पूरा करने में खर्च हो रहे राशि को देखते हुए आयोग ने यह फैसला लिया है। सोलर रुफटाप को सरकार दे रही है बढ़ावा Last updated: Thu, 22 Mar 2018 06:41 AM IST Tweets by @1stIndiaNews फीडबैक Dharam Read more about: 12वीं योजना (उप ग्रुप 6 – अनु व वि) के लिए विद्युत पर कार्यकारी ग्रुप Gujarati Videos #बिजली की दर देवगढ़ शनि देव की पूजा के ये 4 आसान उपाय खोल देते हैं किस्मत का दरवाजा 41 mins समीर बाउरी REGISTER चंड़ीगढ़ HomeBIHARबिहार में बढ़ने वाली है बिजली की कीमत, लेकिन सरकार ने इनको दी है बड़ी राहत District Packages बिजली के सीमापार व्यापार के लिए भारत सरकार के निर्दिष्ट प्राधिकरण, केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के अनुसार भारत पहली बार बिजली का निवल आयातक के बजाय निवल निर्यातक बन गया है। वर्ष 2016-17 (अप्रैल से फरवरी 2017) के दौरान भारत ने नेपाल, बांग्लादेश और म्यांमार को 579.8 करोड़ यूनिट बिजली निर्यात की, जो भूटान से आयात की जाने वाली करीब 558.5 करोड़ यूनिट की तुलना में 21.3 करोड़ यूनिट अधिक है। विदित हो कि सीमा पार विद्युत व्यापार प्रारंभ होने के बाद से भारत भूटान से बिजली आयात करता रहा है। भूटान भारत को औसतन प्रतिवर्ष 500-550 करोड़ यूनिट बिजली की आपूर्ति करता रहा है।  उ वि औद्योगिक सेवा 2 8.69 0.35 8.34 9.15 7.48 Name * अनुशंसित Sep 26, 2017, 07:26 AM IST भाजपा के वरिष्ठ नेता चंदनकियारी सरल बिल योजना 1 जुलाई से शुरू हो रही है। इसका फायदा जिले के 1.25 लाख ग्राहकों को होगा और उन्हें सस्ते में बिजली मिलेगी।... बिगनर्स के लिये सुझाव RELATED ARTICLESMORE FROM AUTHOR (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) कौशाम्बी 2016-17 2704 करोड़  Continue धनु   1 2 3 4 5 http://www.nainitalsamachar.in/ प्रवेश स्तर एकल चरण बिजली मीटर 1600 पल्स दर एसटीएस प्रीपेमेंट मीटर कमोडिटी अधिसूचना प्रमाणन: CE/SABS/IEC यूएस-चीन ट्रेड वॉर की वजह से भारत जारी रख सकता है ईरान से तेल आयात हमसे संपर्क करें: [email protected] पीपुल नया निसान का केरल में बाढ़ प्रभावित ग्राहकों के लिए सर्विस स्पोर्ट इमारान खान ने पाकिस्तान के 22वें पीएम के रूप में ली शपथ 1 mins Copy link to Tweet दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम भू संपर्कन प्रणाली अध्ययन – डीएसडी नया हरियाणा : 14 अगस्त 2018 ऊर्जा संरक्षण विद्युत रोधन प्रयोगशाला अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति प्रशिक्षण योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं विज्ञप्तियां 2 जुलाई 2018 Atalji Funeral मेष आदि कल्पवास स्थली चमथा को राजकीय दर्जा दिलाने का करेंगे प्रयास : श्रवण कुमार consumer forum शोक में डूबे देश ने नम आँखों से दी अंतिम विदाई राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार नई दिल्ली।  देश के पूर्व प्रधानमंत्री एवं... 14 सी) सममित (बीएस) टर्मिनल व्यवस्था यूपी में बिजली उपभोक्ताओं को राहत, कनेक्शन लेना हुआ सस्ता रिश्ते नाते पिछले साल के मुकाबले पूरे उत्तर भारत में बेहतर... ACKNOWLEDGMENT SIgn In आयुषमान भारत योजना स्वास्थ्य मित्र नौकरियां योजना में बिजली के बिल वैसे ही मिलेंगे, जैसे पहले मिल रहे हैं, लेकिन राशि के योग को यूनिट के हिसाब से लिखा जाएगा, ग्राहक को देय राशि के सामने 200 दर्ज रहेगा। शेष राशि शासन से प्राप्त सब्सिडी के कालम में दर्ज रहेगी। इसका क्लेम बिजली कंपनी मप्र शासन को करेगी। जहां से लाखों ग्राहकों की रकम बिजली कंपनी को आगे जाकर एक मुश्त मिलेगी। संपादकीय: बेलगाम भीड़तंत्र अपनी राय दें Categories इस कार को आम बिजली के कनेक्शन से पांच घंटे में चार्ज किया जा सकता है. इतना ही नहीं इस कार की छत पर लगाए जा सकने वाले सोलर पैनल से भी इस कार को चार्ज किया जा सकता है. पेट्रोल-डीजल के बाद अब महंगी होगी बिजली, अध्यापकों की टीम परशुराम महादेव का दो दिवसीय मेला शुरू सुरक्षा के लिए लगाए 400 से अधिक जवान Apologies, but the page you requested could not be found. Perhaps searching will help. एक्सपर्ट्स Solar Power #electricity पासपोर्ट बनवाना हुआ आसान, जानिए नए नियम entertainment20 hours ago आज सुनसान है वो रेस्टोरेंट जहां अटल जी खाया करते... विद्युत प्रदायक बदलें - विद्युत प्रदाता विद्युत प्रदायक बदलें - सस्ता पावर विद्युत प्रदायक बदलें - विद्युत लागत कितनी है
Legal | Sitemap