एक्ट्रेस मनीषा कोइराला के जन्मदिन की फोटोज आई सामने, शाहरुख ने कहा 'कैंडल तो बुझा लो' सब्सक्राइब करें August 18,2018 10:27:33 AM पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन | देशभर में शोक... हिसार में सिख परिवार पर हमला, पुलिस ने दर्ज की FIR ज़ायका लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः एनडीए में जदयू के सहयोगी दल आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश कुमार पर कड़ा हमला बोला है. उपेंद्र कुशवाहा का यह बयान तब आया है जब बिहार में अपराध […] 12 जुलाई 2018 Sep 26, 2017, 07:26 AM IST हिंदी ENGLISH ट्रेंडिंग Kerala Scheme बिहार विद्युत नियामक आयोग (बीईआरसी) ने 2016-17 में बिजली दर में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किए जाने का निर्णय लिया है जो कि प्रदेश के विद्युत उपभोक्ता के लिए राहत की बात है। नदियों को सुरंगों में डालकर उत्तराखण्ड को सूखा प्रदेश बनाने की तैयारी Register Free Login English गर्मी के दिनों में एस्सेल की बिजली की समस्या बढ़ जाती है, ये समस्या गायघाट का नही है बल्कि एस्सेल कम्पनी की बिजली जँहा-जँहा है लोगो का हाल कुछ ऐसा ही है. गायघाट के लोग इतने आक्रोशित थे कि वो NH57 से जाम हटाने को मान ही नही रहे थे. सब बस एक ही नारा लगा रखे कि एस्सेल हटाओ बिजली लाओ. मौके पे गायघाट थानाध्यक्ष और गायघाट अंचल अधिकारी ने लोगो को आश्वासन दिया कि जल्द ही बिजली की समस्याओं को दूर किया जायेगा. अधिकारी की बात सुन लोगो को मिला शुकुन फिर दरभंगा-मुज़फ़्फ़रपुर राष्ट्रीय मार्ग से जाम को हटा आवागमन शुरू कराया गया. यात्रा के साधन जल शब्दकोश Jio Phone 2 की पहली फ्लैश सेल आज 12 बजे... ये भी पढ़ें- सुर्खियां नहीं बनती कंटीले तारों वाली गोहत्या Russian Русский Contact us (संपर्क करें) Search News समझौता ज्ञापन एप्स किसानों को बर्बाद करने में मशगूल भाजपा के मंत्रियों को ढोलकी पर नचाएंगें : अभय चौटाला Sawan2018: तीसरे सोमवार को शिव के इस स्वरूप की पूजा करने से होगी आपकी मनोकामनाएं पूर्ण पीपुलनया Contact Us शक्तिपीठों में श्रावण अष्टमी मेले शुरू, जानिए इस बार का नया ट्रैफिक... Twitter Jump to पटना : बिहार राज्य पावर होल्डिंग कंपनी ने एलएनटी कंपनी (लार्सन एंड टूब्रो) को अल्टीमेटम दिया है. लक्ष्य से पीछे रहने के कारण बिजली कंपनी ने एलएनटी कंपनी को 15 अप्रैल तक 355 टोलों में सोलर से बिजली पहुंचाने का टारगेट दिया है. कंपनी को उत्तर बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के 130 टोलों में और दक्षिण बिहार पावर  डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के 225 टोलों तक बिजली पहुंचानी है. अगले दो महीने में चंपारण, कैमूर, अरवल, मुंगेर समेत अन्य जिलों के चयनित टोलों में सोलर से बिजली नहीं पहुंची तो एल एंड टी कंपनी पर कार्रवाई की जा सकती है.  अध्यक्ष भारतीय जनता युवा मोर्चा वजन: 750 ग्राम पहले               अब पटना | March 22, 2016 2:15 AM पैकेजिंग विवरण: दफ़्ती सीतापुर त्वरितवार्ता (आई॰आर॰सी चैनल) मुख्य सामग्री पर जाएं पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर हिमाचल में दो दिन का अवकाश #छत्तीसगढ़ बिजली Latest News दाऊदी बोहरा समाज ने मनाई ईद, समाज के लोगों ने पढ़ी सामूहिक नमाज पंचांग बिजली कंपनियों के घाटे की पड़ताल नहीं की गई और हर साल कंपनियां अपने घाटे को कानूनी जामा पहनाती जा रही हैं, लेकिन सरकार की लापरवाही की वजह से उनका दावा कानूनी तौर पर पुख्ता हो रहा है, क्योंकि सरकार ने घाटे को लेकर कंपनियों से न तो कोई पूछताछ की और न ही इस बारे में कोई जानकारी ही जुटाई गई, नतीजा ये हुआ कि साल दर साल कंपनियों के घाटे की फाइलें सरकार के पास जमा हो रही है और एक तरह से सरकार की मौन स्वीकृति इस घाटे को मिल रही है, अब अगर मामला कोर्ट में भी जाता है, तो यहां सरकार की लापरवाही से खुद उसका पक्ष कम हो रहा है, ऐसे में दिल्ली में टैरिफ बढ़ने की आशंका मजूबत हो रही है. समृद्ध मध्यप्रदेश के लिये हर नागरिक का सहयोग और भागीदारी जरूरी, ग्राम सरोवर अभिकरण बनेगा, पाँच हजार तालाब बनेंगे, रोजगार देने वाले उद्योगों को मिलेंगी रियायतें, जनजातीय क्षेत्रों में हर गाँव में बनेगी जनजातीय अधिकार सभा, मुख्यमंत्री श्री चौहान का स्वतंत्रता दिवस पर संदेश वाराणसी में बस डिवाइडर से टकराकर पलटी, 5 गंभीर रूप से घायल केंद्रीय विद्युत मंत्रालय की ओर से इकट्ठा किए गए आकड़ों के मुताबिक 2014-15 और 2017-18 के दौरान औसतन 5.66 फीसदी विद्युत का इजाफा देखा गया है जबकि 2010-11 और 2013-14 के बीच ये आकड़ा औसतन 5.9 फीसदी का था. और सरकार का ये दावा तब है जब हाल के सालों में थर्मल पावर प्लांट का परिचालन ऐतिहासिक तौर पर सबसे निम्न स्तर पर रहा है.     इसके लिए उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को गांव-गांव जाकर जागरूकता कैंप लगाकर लोगों को इस योजना के बारे में बताने को कहा ताकि वे इसका लाभ उठा सकें। इसके साथ-साथ इन शिविरों में ढाणियों में बिजली उपलब्ध करवाने के लिए सौभाग्य योजना की भी जानकारी लोगों को देने के संबंध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए। Dehradun संपन्न परामर्श - डीएसडी घटनाक्रम ट्रेंडिंग न्यूज़ क्यों सही नहीं है पॉपुलर कोर्स का चयन? ये हैं अहम कारण 19 replies 255 retweets 162 likes . Remember me · Forgot password? वित्त वर्ष 2017-18 में इनकम टैक्स कलेक्शन रिकॉर्ड 10.03 लाख करोड़ रुपए, 6.92 करोड़ लोगों ने रिटर्न भरा 42 mins 12 Nov 24, 2017, 08:50 PM IST Your name News In Hindi हज़ारीबाग़ 97 Retweets Bihar Scheme हरियाणा का खुद का बिजली उत्पादन 24.67 फीसद 33 के.व्ही से अधिक वोल्टेज पर नवीन कनेक्शन हेतु विद्युत निरीक्षक द्वारा रेखाचित्र अनुमोदन तथा चार्जिंग अनुमति संबंधी नवीन सेवा को लोक सेवा प्रबंधन अधिनियम अंतर्गत शामिल करने की अधिसूचना। खेल जगत चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा आज़मगढ़ आपका शहर साइन इन फेसबुक पर हमारा अनुसरण करें एजुकेशन कीर्ति आजाद ने दरभंगा से चुनाव लड़ने का किया ऐलान मुख्य परीक्षा की रणनीति entertainment3 hours ago VIDEO: जब मूसलाधार बारिश ने कांवड़ियों की सांसें रोक दी मोबाईल सेवाएं अन्य सम्बन्धित समाचार पटना,17 अप्रैल (हि.स.)। राज्य कैबिनेट की मंगलवार को यहां हुई बैठक में इस वर्ष अप्रैल से बिजली की बढ़ी हुई टैरिफ दरों में उपभोक्ताओं को सब्सिडी देकर सरकार ने दावा किया है कि बिहार की बिजली दर सभी पड़ोसी राज्यों यूपी और पश्चिम बंगाल से काफी कम है । कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि इस वर्ष बिजली दर में सब्सिडी के कारण राज्य सरकार के खजाने पर 4137 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा । पिछले वर्ष 2952 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी गयी थी. उन्होंने बताया कि सब्सिडी के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में कुटीर ज्योति योजना के तहत बिजली की दर प्रति यूनिट 2.45 रुपये पड़ेगी । पश्चिम बंगाल में यह 3.44 रुपये और यूपी में 3.39 रुपये प्रति यूनिट है । इसी तरह शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की बिजली दरें भी पड़ोसी राज्यों से कम हैं । इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू उपयोग और कृषि व सिंचाई के लिए बिजली दर में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है । इस पर वर्तमान दर से ही बिजली बिल का भुगतान करना होगा । शहरी क्षेत्रों की बिजली दर में महज 10 पैसे प्रति यूनिट की ही बढ़ोतरी की गयी है | अब यह 5.30 रुपये प्रति यूनिट से बढ़कर 5.40 रुपये हो गयी है । मुख्य सचिव ने कहा कि बरौनी, कांटी और नवीनगर बिजलीघरों को एनटीपीसी को ट्रांसफर कर दिया गया है । इन यूनिटों से राज्य को अपने स्तर पर बिजली उत्पादन काफी महंगा पड़ रहा था । बरौनी थर्मल पॉवर स्टेशन से अभी बिजली उत्पादन में प्रति यूनिट 5.75 रुपये का खर्च आ रहा है, जबकि बाढ़ एनटीपीसी से बिजली खरीदने पर यह खर्च 4.25 पैसे प्रति यूनिट ही पड़ेगा । इस वजह से सभी बिजली उत्पादन ईकाइयों को एनटीपीसी को ही स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया है । इससे सरकार को 875 करोड़ रुपये सालाना की बचत होने का अनुमान है । वर्ष 2017-18 के लिए बिजली उपलब्धता करीब 27 हजार 178 मिलियन यूनिट है, जबकि 2018-19 के लिए बिजली उपलब्धता का लक्ष्य 29 हजार 403 मिलियन यूनिट निर्धारित किया गया है, जो पिछले वर्ष से 8% अधिक है । सब्सिडी के बाद बिजली दर :-कुटीर उद्योग- 2.45,घरेलू (ग्रामीण)- 3.17,घरेलू (शहरी)- 5.40,गैर-घरेलू (ग्रामीण)- 4.00,गैर-घरेलू (शहरी)- 8.25,कृषि एवं सिंचाई-1 - 1.50,कृषि एवं सिंचाई-2 - 7.75,औद्योगिक सेवा-1 - 8.35,(19 केवी तक) औद्योगिक सेवा-2 - 8.32 (19 केवी से ज्यादा और 74 केवी से कम) औद्योगिक सेवा-1 - 8.67,(11 केवी) औद्योगिक सेवा-2 - 8.60,(33 केवी), औद्योगिक सेवा-3 - 8.01,(132 केवी) (सभी आंकड़े रुपये प्रति यूनिट में) हिन्दुस्थान समाचार/अरुण/शंकर 10- मुख्यमन्त्री जनजाति अनुसूचित/सहरिया क्षैत्र जलधारा योजना.. पीलीभीत Ludhiana View all प्रदीपन प्रयोगशाला Apr 1 2017 8:29AM रिले परीक्षण प्रयोगशाला घाटशिला वासियो स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ट्रेन्डिंग Hindi NewsMetroDelhiPower Road And Water Delhi कासगंज राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र द्वारा होस्ट की गई साईट। विषयवस्तु का स्वामित्व, अनुसरण तथा उसका अद्यतन विदयुत मंत्रालय द्वारा किया जाता है। गुड न्यूज : बिहार में बिजली कंपनी निकालने जा रही है 1200 पदों पर बहाली स्थल नक्शा Oops, That’s an error! सीएम हैंल्पलाइन डैशबोर्ड राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजनाएँ (एन पी पी) बीडीओ बाघमारा संस्थागत SShare सौभाग्य डैशबोर्ड सोने की गिन्नी (GOLDGUINEA) जानिए ऐसा क्या करेंगे कि मिलेगा सस्ती ब्याज दर पर लोन www.jagran.com 14 जुलाई 2016, 12:19 AM कौशाम्बी Sign In दिल्ली में ठोस कचरा गंभीर समस्या, SC ने कहा- एक कमेटी गठित करें एलजी © 2018 Bijli Bachao. All rights reserved. ४- ग्रामीण क्षेत्र में 500 वॉट तक के भार वाले उपभोक्ताओं को विद्युत नियामक आयोग द्वारा निर्धारित श्रेणी के अनुसार टैरिफ की गणना होगी। आर एस ओ पी तकनीकी रिपोर्ट अटल बिहारी वाजपेयी जी अपने पीछे छोड़ गए इतनी संपत्ति, जानें कौन होगा इसका अधिकारी एयरकंडीशनर 24 डिग्री सेल्सियस की डिफॉल्ट सेटिंग पर रखे जाने का प्रस्ताव है. सरकार ने निर्माता कंपनियों के साथ बैठक की है. 24 से 26 डिग्री सेल्सियस की डिफॉल्ट सेटिंग को आने वाले समय में अनिवार्य भी किया जा सकता है. COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS Tweet Firkee HARYANA GK IN ENGLISH देखें भारत के आखिरी गांव कहे जाने वाले छितकुल की अनछुई प्राकृतिक... Prabhat Khabar https://www.bbc.com/hindi/india-40469760 India Pricing English summary सहेली बिजनेस लघु पथन प्रयोगशाला (एससीडी) मदर आठ बिजली कनेक्शन काटे मीटर भी निकाले एकीकृत रिसोर्स प्लानिंग प्रभाग उन्होंने कहा, ''जो एक छोटा व्यापारी जिस मार्केट से लोहा ख़रीदता है और उसी मार्केट में गेट बनाकर बेचता है उसे जीएसटी का कोई फ़ायदा नहीं होना है.'' इलेक्ट्रिक चॉइस - बिजली चुनें इलेक्ट्रिक चॉइस - रात में सस्ता बिजली इलेक्ट्रिक चॉइस - बिजली कंपनियों की तुलना करें
Legal | Sitemap