Terms & Conditions Thomson Press अब पाइए अपने शहर ( Noida News in Hindi) सबसे पहले पत्रिका वेबसाइट पर | Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Patrika Hindi News App, Hindi Samachar की ताज़ा खबरें हिदी में अपडेट पाने के लिए लाइक करें Patrika फेसबुक पेज Ads info प्रदूषण परीक्षण कक्ष प्रिंट June 1, 2018 इंटरव्यू की रणनीति एंट्री लेवल फोन्स के लिए लॉन्‍च हुआ एंड्रॉयड 9 पाई हुआ लॉन्‍च, भारत समेत 120 से अधिक देशों में होगा उपलब्‍ध एसएमई कॉर्नर: एसएमई जगत की अहम खबरें   राजस्थान में राहुल गांधी चुनाव से पहले करेंगे कई रोड शो,… जुर्म साइट का नक्शा माकअप टावर Home » देश » बिहार में महंगी हुई बिजली, नई दर एक अप्रैल से इस पोस्ट को शेयर करें ईमेल बिजली कंपनियां दो तरह से बिजली खरीदती हैं। वह बिजली उत्पादक कंपनी से 10 या 20 साल के लिए लॉन्ग टर्म अग्रीमेंट करती है या फिर जरूरत के मुताबिक शॉर्ट टर्म अग्रीमेंट होता है। यह पावर एक्सचेंज के जरिए या फिर बाइलेटरल (द्विपक्षीय) हो सकता है। जहां से बिजली मिल जाए वहीं से कंपनियां बिजली खरीद लेती हैं। अभी इस तरह का कोई सिस्टम नहीं है कि अगर बिजली कंपनी कम दाम पर बिजली खरीदे तो उन्हें कुछ फायदा हो। बिजली कंपनियां जिस दाम पर बिजली खरीदती है वह उसके खर्च में जुड़ जाता है और आखिरकार वह खर्च उपभोक्ताओं के हिस्से में आता है। अगर बिजली कंपनियां कम दाम पर बिजली लेंगी तो उपभोक्ताओं पर भी कम बोझ पड़ेगा। Read More: विद्युतयोजनाअवधिजून झांसी मापयंत्र सुविधाऍं शुरू हो रहे 18वें एशियाई खेलों प्रदर्शन को बेहतर करने की… Join my Team जयपुर डिस्काॅम ने तीन महत्वपूर्ण योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक बढाया है जिससे अधिक से अधिक संख्या... और पढ़ें देश भर में सुहागिनों ने मनाया हरियाली तीज का पर्व CARSFACTOR क्रिकेट की बात कॉन्टेस्ट ट्रंप के मीडिया पर हमलों के खिलाफ खड़े हुए अमेरिका के… दूरभाष: +8613500055208 टॉम पीटरफ़ी का मानना ​​है कि बिटकॉन्क संभवत: पर जा सकता है ... उ.वो.परीक्षण तथा मापन उपस्‍कर Feedback| Latest जागरण फिल्म फेस्टिवल ऐसा होगा 100 रुपये का नया नोट, देखें तस्वीरें पाकुड संघ की विचारधारा से दूध में शक्कर की तरह घुले मिले थे वाजपेयी: शिवसेना शुरू हो रहे 18वें एशियाई खेलों प्रदर्शन को बेहतर करने की… हेमंत कुमार गुरु Friday, 20 Jul, 9.35 pm www.jagran.com 01 मई 2018, 12:01 AM अटलजी को मंत्रालय में दी गई श्रद्धांजलि कल जहां चले बुलडोजर, आज फिर सज गया बाजार The "ONEINDIA" word mark and logo are owned by One.in Digitech Media Pvt. Ltd. తెలుగు ऐसे बनाएं इंस्टेंट जलेबी अक्टूबर 25, 2017 पे स्केल: वृष राशि वालों आज का दिन आपके परिवार के लिए काफी अच्छा है। फैमिली मेम्बर्स के साथ किया गया काम सफल......Read more ओपिनियन पूर्व केंद्रीय मंत्री सांवरलाल जाट की मूर्ति का हुआ अनावरण सरकार की भूमि अधिग्रहण नीति योजनाओं का समयबद्ध रूप से कार्य करने में सबसे बड़ा अवरोध बनी। वन भूमि अधिग्रहण में देखा गया कि 85 दिनों से लेकर 295 दिनों की देरी हुई। कुछ योजनाओं में बिजली की निकासी (ट्रांसमिशन) का सामान समय पर नहीं लगाया गया, जिस कारण आर्थिक हानि हुई तथा राज्य को राजस्व नहीं मिल पाया। सरकार को एक अधिकारी समिति का गठन करना चाहिए था जो योजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण, वन विभाग से आज्ञा तथा लोगों के पुनर्वास का काम की देख-रेख करती। यह आवश्यक था कि विजली की निकासी (ग्रिड तक पँहुचाने) का काम योजनाओं के पूरा होने से पहले कर लिया जाता। चिंताओं के विषय थे योजनाओं का पूर्व में जाँच-परख न हो पाना, त्रुट्पिूर्ण योजना कार्य तथा खास तौर पर अनुश्रवण या समय-समय पर विभागीय अधिकारियों या उत्तराखंड जल-विद्युत निगम द्वारा समीक्षा न हो पाना। सबसे चिंताजनक बात थी पर्यावरण के प्रति लापरवाही, जिसका सबसे अधिक कुप्रभाव देश के संसाधनों पर पडा। www.jagran.com 14 जुलाई 2016, 12:19 AM भारत की पर्यावरण नीति कनेक्शन पत्र भी बांटे गए जन गण मन की बात, एपिसोड 289: अटल बिहारी वाजपेयी का राजनीतिक जीवन केन्द्र सरकार द्वारा बैटरी सहित 200 से 300 वाट क्षमता का सोलर पावर पैक दिया जाएगा, जिसमें हर घर को 5 एलईडी बल्ब, एक पंखा भी शामिल है। English बिजली कंपनी ने कहा: नपा ने बिल नहीं भरा तो काटेंगे कनेक्शन, नपा बोली; चुकता है पूरा नहीं रहे भारतीय राजनीति के 'अजातशत्रु' अटल बिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स में हुआ निधन कार्ड प्रीपेमेंट एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर, सर्ज संरक्षण वायरलेस पावर मीटर कल जहां चले बुलडोजर, आज फिर सज गया बाजार धर्म/ज्योतिष एसबीडी विद्युत योजना से सात हजार ग्रामीण उपभोक्ता लाभान्वित सोलर पावर कंपनियों के बीच छिड़ेगी प्राइस वार जिंदा चूहे के शरीर पर उगा पौधा, देखने वालों को नहीं हो रहा यकीन विदेशी मीडिया जब पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने मंच पर छू ल‍िए थे इस मह‍िला के पैर राजस्थान पी.सी.एस. 0-50        2.65        6.15     Centre GovtElectricityElectricity supplypower supplyRK Singh हिमाचल न्यायिक अफसर को गिलास में थूक कर चपरासी देता था पानी, निलंबित शिवराज सरकार ने बिजली दर बढ़ा किसानों की तोड़ी कमर केंद्र सरकार की कोयले से चलने वाले बिजली उत्पादन संयंत्रों को हतोत्साहित करने की नीति के कारण एनटीपीसी दिल्ली की तीनों बिजली कंपनियों को जो बिजली 4.3 रुपया प्रति यूनिट के दर से बेचता था, अब उसके दाम 3.8 रुपए प्रति यूनिट कम कर दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त एनटीपीसी ने अपने थर्मल पावर प्लांटों में विद्युत उत्पादन की लागत में लगभग 14 फीसद की कमी की है। इस कारण दिल्ली के उपभोक्ताओं को लगभग 20 फीसद कम दामों पर बिजली उपलब्ध कराई जानी चाहिए, लेकिन बिजली कंपनियां अभी भी महंगे दामों पर बिजली बेच रही हैं। ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि दिल्ली में बिजली के दाम कम करने के दावों के बीच अब महंगी बिजली की आशंका क्यों जोर पकड़ रही है. दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि बिजली कंपनियों पर लगाम लगाने में सरकार पूरी तरह नाकाम रही है. चयन प्रक्रिया: उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा. इमारान खान ने पाकिस्तान के 22वें पीएम के रूप में ली शपथ 1 mins क्रिकेटनेक्स्ट Português मीडिया कर्मी पेंशन योजना के लिए आवेदन करें Publish Date:Mon, 09 Jul 2018 08:55 PM (IST) ಕನ್ನಡ गोल्ड कॉन्टेस्ट एसपी प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने बढ़ोतरी को आम जनता के साथ विश्वासघात करार देते हुए कहा कि पहले ही लोग महंगाई की मार झेल रहे हैं, अब बिजली के दाम बढ़ाकर बीजेपी सरकार ने सबकी कमर तोड़ दी है. Read More: Power Schemes Patna-Saheb Nandkishore Hindi News News Hindiपटनासाहिबविद्युत योजनानंदकिशोर Have an account? Log in » इन धमाकेदार गाड़ियों का बेसब्री से है इंतज़ार योगी सरकार अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर बनाएगी 4 बड़े स्मारक के ई आर सी अन्य देशों की खबरें Time: 2018-08-18T05:24:44Z एग्रीकल्चर मध्यप्रदेश के इन दो जिलों के 120 होटल संचालकों को नोटिस Other Related Links BUDGET 2017 शनिवार, अगस्त 18 2018 | समय 10:56 Hrs(IST) @AamAadmiParty राष्ट्रीयस्तर की राजनीतिक पार्टियाँ मोटे चंदे के लोभमें बड़ी कम्पनियों को आम जनता को हरप्रकार से लूटने की खुली छूट देती हैं ! पुस्‍तकालय एवं सूचना केंद्र Jaipur,India हरियाणा कैबिनेट बैठकः अटल जी स्मृति में रखा जाएगा किसी बड़े प्रोजेक्ट का नाम Kishanaram Aug 10, 2018 09:59 AM महंगे ईंधन का असर : एसी-नॉन एसी टैक्सी से घूमना हुआ महंगा...इतना बढ़ गया रेट   गिरिडीह वाजपेयी के निधन पर पीएम -उपराष्ट्रपति समेत कई राजनेताओं ने जताया शोक 2018 Ind vs Eng Test Series: तो क्या अभी भी बल्लेबाजों से नाराज हैं कोच रवि शास्त्री! उदय के अंतर्गत राज्यों द्वारा समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर पीसीएस परीक्षा : आरजीजीवीवाय - जबलपुर, उमरिया, बालाघाट, सागर, बालाघाट, पन्ना, रीवा, शहडोल, छिंदवाड़ा व सिवनी जिला फीडर सेपरेशन- रीवा नॉर्थ, रीवा साउथ, नरसिंहपुर, सिवनी, सागर, बीना, लखनादौन, पृथ्वीपुर, रेहली, बांदा डिवीजन, पन्ना, छिंदवाड़ा ईस्ट, जुन्नारदेव, दमोह नॉर्थ, कटनी। सस्ता विद्युत प्रदायक - विद्युत सेवा सस्ता विद्युत प्रदायक - सस्ते बिजली की आपूर्ति सस्ता विद्युत प्रदायक - व्यापार बिजली की कीमतें
Legal | Sitemap