www.jagran.com 14 जुलाई 2016, 12:19 AM टोल लिया तो कैब कंपनी पर FIR कराएगी एमसीडी फाइनेंशियल प्लानिंगनिवेशटैक्सरिटायरमेंटबीमा # panchkoola-state कब और क्यों मनाई जाती है व्रत पूर्णिमा? जानिए व्रत की विधि और इसके लाभ ऑप्टिकल जांच 2018 ALL RIGHT RESERVED - Pagocha Marketing Private Limited अनुसूचित जाति/ जनजाति अधिकार मंच ने किया अजमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन under a CC BY-NC-SA 2.5 IN license. उपस्‍कर सुविधाऍं © 2018 Patrika Group लचीली कोयला योजना के लिए ई-बोली केरल में बाढ़ से बिगड़े हालात, PM मोदी का हवाई सर्वे हो सकता है रद्द Canada 21212 (any) ADVERTISE WITH US टूरिज़्म Sign the petition आप यहाँ हैं: NEWSLETTER कोटा मुख्य नेविगेशन कर्क भारत में न्‍यूक्लियर एनर्जी की धीमी रफ्तार की मुख्‍य वजह विदेशी रिएक्‍टर निर्माता कंपनियों की कम रुचि है। यह कंपनियां उस कानून का विरोध कर रही हैं, जो किसी दुर्घटना के समय मैन्‍यूफैक्‍चरर्स को जिम्‍मेदार ठहराता है। सितंबर 2015 में जनरल इलेक्ट्रिक ने लायबिलटी कानून की अनिश्‍चितता के चलते भारत के न्‍यूक्लियर एनर्जी सेक्‍टर में निवेश न करने का फैसला लिया। जनरल इलेक्ट्रिक के सीईओ जेफ इमेल्‍ट ने कहा था कि दुनिया में एक स्‍थापित एक लायबिलटी व्‍यवस्‍था है, इसे स्‍वीकार्यता मिली है और इसे अपनाया गया है। मैं अपनी कंपनी को जोखिम में नहीं डाल सकता। भारत लायबिलटी पर दोबारा नयिम नहीं बना सकता। आई आर पी अक्टूबर 26, 2017 Using Renewables प्रियदर्शनी मट्टू हत्याकांड के दोषी को दोबारा पैरोल नहीं, एलजी ने ठुकराई संतोष की अपील OMG भाजपा मंडल अध्यक्ष Home   »झारखण्ड   »बिजली दर में बढढ़ोतरी आवश्यक : अरविंद प्रसाद सोलर पावर न खरीदने वाले राज्यों को हो सकता है जुर्माना फिरोजाबाद के लोहामंडी इलाके में तनाव, ये है वजह <2W और <10 वीए लखीमपुर खीरी दिल्ली में युवक ने किया भाभी-भतीजे का कत्ल, एक घायल काशीपुर योगी आदित्यनाथ 0 घटा लाइन लॉस 31.75 से 26.64 फीसद। कील-मुंहासे से छुटकारा दिलाए इलायची 282 Views दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | इस कार को आम बिजली के कनेक्शन से पांच घंटे में चार्ज किया जा सकता है. इतना ही नहीं इस कार की छत पर लगाए जा सकने वाले सोलर पैनल से भी इस कार को चार्ज किया जा सकता है. Hindi Quint जमशेदपुर सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना इंदिरा गांधी ने ब्लू स्टार पर अटलजी से बात करने के लिए बनारस में टेलीफोन लाइन बिछवा दी थी 23 mins नई दिल्ली, 30 मार्च 2018, अपडेटेड 11:28 IST यमुनानगर कांग्रेस को 3699035990खरीदे राजस्थान में राहुल गांधी चुनाव से पहले करेंगे कई रोड शो,… केंद्रीय बिजली और नवीन एवं नवीकरणनीय ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह के समक्ष हरियाणा के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार और जनस्वास्थ्य राज्य मंत्री बनवारी लाल ने कहा कि हरियाणा को कम से कम 23 लाख मीट्रिक टन कोयले की जरूरत है। इसकी नियमित और निर्बाध आपूर्ति के लिए कोल इंडिया लिमिटेड (सीआइएल) को निर्देश दिए जाने चाहिए। महाभारत 2019: 7 में से 5 सांसदों से दिल्ली की जनता नाराज, सीलिंग सबसे बड़ा फैक्टर 24 mins भूमिका ड्यूल रियर कैमरे और बड़ी डिस्प्ले के साथ लांच हुअा यह मिड-रेंज... जेएमएम, जिलाध्यछ ऑनलाइन रिलीज़ ऑर्डर और बिलिंग सिस्टम 11 वीं योजना परियोजनाएं फेसबुक मसाला कच्चे कर्मचारियों को हटाए जाने के हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी हरियाणा सरकार समाजसेवी सह प्रचार्ज बनमाली सिंह उच्च बिद्यालय, टुपरा श्रीलंका299/8(50.0) केरल में बाढ़ के तांडव के बीच भारतीय सेना के देवदूत ऐसे बचा रहे हैं जिंदगियां उज्जैन. चुनावी वर्ष में राज्य शासन बीपीएल श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं के बिल माफ करने जा रहा है। अगले महीने शुरू हो रही योजना में उन उपभोक्ताओं को भी फायदा मिलेगा, जिन्होंने बिजली चोरी की, जिन पर न्यायालय में प्रकरण भी दर्ज है या जिन्होंने समाधान योजना में बकाया राशि माफ करवा चुके हैं। इस नई योजना से शहर में करीब ३५ हजार बीपीएल उपभोक्ताओं की लाखों रुपए की बकाया राशि माफ होगी। वहीं चोरी के प्रकरणों में फंसे सैकड़ों उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी। Replying to @JarnailSinghAAP @Shitalkumar3 and 2 others ITMI June 1, 2018 Catch up instantly on the best stories happening as they unfold. Facebook जवाब –  देश में अनुमानित लगभग 4 करोड़ बिना बिजली वाले परिवार हैं, जिनमें ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 1 करोड़ बीपीएल परिवार पहले से ही DDUJJY के तहत स्वीकृत परियोजनाओं में शामिल हैं। इस प्रकार, कुल 300 लाख घरों में ग्रामीण इलाकों में 250 लाख घर और शहरी क्षेत्रों में 50 लाख परिवारों को इस योजना के तहत कवर करने की उम्मीद है। Xiaomi का नया Mi Band 3 लॉन्च, जानें कीमत और खूबियां Oppo के अपकमिंग स्मार्टफोन में मिलेगा कॉर्निंग Gorilla Glass 6 Video गैलरी हाउस आवंटन नियम और फॉर्म एक ओर सरकार राज्य में बिजली सस्ती होने का ढिंढोरा पीट रही है तथा दूसरी ओर राज्य बिजली नियामक आयोग ने महंगाई के इस दौर में बिजली की दरों में 9.33 प्रतिशत वृद्धि करके जनता पर अतिरिक्त बोझ डाल दिया है।  इंडस्‍ट्री केन्द्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व राज्य सरकार के कार्यो की तारीफ की. कहा, मुख्यमंत्री राज्य हित की परियोजनाओं की केन्द्र सरकार से लगातार प्रभावी पैरवी करते हैं. ऐसे में राज्य सरकार का कोई काम केन्द्र स्तर पर नहीं रुक सकता. कहा, राज्य में बिजली की उपलब्धता बढ़ी है. ऊर्जा विभाग ने अपना घाटा दूर किया है. विभाग ने करीब 200 करोड़ की आय भी अर्जित की है. भारतीय वस्तु सूची , सीपीआरआई का नेतृत्व भारत(107),130/10 Akhila Singh‏ @akhila_singh 1 Jan 2016 परीक्षा विज्ञप्ति Follow स्वच्छता और स्वास्थ्य विज्ञान भाजपा बैंकिंग और लोन पढ़ें Get the app ! Top colleges ranked by the prettiest girl students अजमेर में मंत्री वासुदेव देवनानी ने स्कूल कक्षा कक्षों का किया लोकार्पण बड़ी खबरें हसीन जहां नहीं, सिर्फ अपनी बेटी का खर्च उठाएंगे मोहम्‍मद शमी, कोर्ट से मिली बड़ी राहत राष्‍ट्रीय चिह्न/प्रतीक # Dehradun News Headlines पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा उत्पाद Powered by: धनबाद : प्रेस क्लब में मिले 21 रसेल वाइपर सांप, इनका काटा पानी भी नहीं... Brand Analysis: Which is the best brand to buy? छह महीने पहले बिजली कंपनी में अनुकंपा नियुक्ति पर रोक लगा दी थी। इससे मृत कर्मचारियों के बच्चों को नौकरी नहीं मिल पा रही थी। ऊर्जा विभाग के इस फैसले का कर्मचारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। इस पर मप्र शासन ऊर्जा विभाग ने प्रदेश की बिजली वितरण कंपनियों में लगी अनुकंपा नियुक्तियों पर से प्रतिबंध हटा लिया और अनुकंपा नियुक्ति आवेदनों पर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं। इससे कंपनी के सैकड़ों कर्मचारियों को फायदा होगा और उन्हें नौकरी मिल जाएगी। ई वी आर सी में भूकम्पी परीक्षण सुविधा हरियाणा सरकार की ‘पावर टैरिफ सब्सिडी योजना’ दिल्ली को मिलेगी 25% सस्ती बिजली, विंड एनर्जी से होगा फायदा अटलजी की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन, उनके विचार हमेशा साथ रहेंगे सस्ता बिजली प्रदाता - ऊर्जा तुलना साइटें सस्ता बिजली प्रदाता - बिजली पर पैसा बचाओ सस्ता बिजली प्रदाता - सस्ती ऊर्जा कंपनी
Legal | Sitemap