More From Barmer February, 2016 Check Also New Delhi, New Delhi, Delhi AllDharamHealth & FitnessRecipesTravel गुलज़ार...आधी सदी से जो ताज़ादम है म.प्र नाबालिग से दुष्‍कर्म पर फांसी का प्रावधान करने वाला प्रथम राज्‍य -राज्यपाल, राष्‍ट्रपति पदक प्राप्‍त पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों से भेंट 16/08/2018 Chhattisgarh Scheme इस गांव में सबके दोस्त हैं सांप, न तो काटते हैं, ना इनको मारा जाता है धर्म-अध्यात्म राज्यवार खबरें मऊ North East Delhi, Delhi कुल आगंतुक : 43083252 कैलेंडर 2018 होम पेज # सस्ती बिजली FROPKY Other articles published on Sep 1, 2014 पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में 11 अगस्त को शपथ... महिन्द्रा मराज़ो के डैशबोर्ड से जुड़ी जानकारी आई सामने, जानिए जवाब –  राज्यों द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के आधार पर इस योजना के तहत परियोजनाओं को मंजूरी दी जाएगी। इस योजना के तहत फंड का कोई अग्रिम आवंटन नहीं किया जा रहा है। नई दिल्ली: डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. नई दरों की घोषणा से पहले केजरीवाल सरकार ने दावा किया था कि पिछले चार साल से बिजली की दरें नहीं बढ़ी हैं, हालांकि, जानकारों ने ये खुलासा किया था कि बिजली के रेट सीधे तौर पर भले ही नहीं बढ़ाए गए हों, लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. हालांकि हाल ही में संसद में वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला ने बताया है कि इसमें से करीब 20 फीसदी खाते निष्क्रिय पड़े हुए हैं. और 1.9 फीसदी खाते बंद हो चुके हैं. पी डी एम  SHARE वित्त और कर ByAir स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry पासपोर्ट बनवाना हुआ आसान, जानिए नए नियम झारखंड : साधारण बस के ओनर बुक पर चल रही हैं 400 एसी बसें Jara Hatke दिल्ली में बिजली कंपनियों का ऑडिट लगातार और हर तीसरी तिमाही में होता है। कंपनी कुल बिजली का 90-95 फीसदी हिस्सा सरकारी कंपनियों से खरीदती है। 2002-03 में 53 फीसदी की मुकाबले फिलहाल कंपनी को केवल 11 फीसदी का टीएंडडी घाटा हो रहा है। टिप्स और ट्रिक्स पुणे MPPSC Why Bijli Bachao? MP Bhulekh मध्य प्रदेश खसरा, खतौनी, भू नक्शा ऑनलाइन नकल विवरण mpbhuabhilekh.nic.in Sitemap दूसरी मंजिल, ए 1-ए 7 के बीडी ए 4, हेन्गकेंग गुआंतियान टेक पार्क, बीहुआन आरडी, शियान, बाओन जिला शेन्ज़ेन, चीन Kesari TV विद्युत सर्वेक्षण एवं भार पूर्वानुमान प्रभाग लोग और जीवनशैली लोकप्रिय श्रेणियों सिविल सेवा परीक्षा भोपाल हमारा मंदसौर पाकुड़ Free Trial लखीमपुरखीरी दिल्ली वालों के लिए बड़ी खुशखबरी! सस्ती हुई बिजली, ये रहीं नई दरें और सूचना ओके घट सकती हैं ग्रामीण उपभोक्ताओं की दरें (*On an order value between Rs.5,000 and Rs. 9,999) लक्‍खीसराय निवेश का पहला कदम NEWSWRAP: केरल में बाढ़ की तबाही, पढ़ें शनिवार सुबह की 5 बड़ी खबरें बेदाग और चमकदार त्वचा पाना हर लडकी का सपना होता है लेकिन चेहरे पर निकलने वाले मुंहासे और फुंसियां हो… Do You Know? Altmas Khan on राहुल गांधी फोन नंबर,Whatsapp नंबर,ईमेल गुरदासपुर/पठानकोट अपशिष्ट जल भू-जल संवर्धन योजना Dailyhunt महंगे ईंधन का असर : एसी-नॉन एसी टैक्सी से घूमना हुआ महंगा...इतना बढ़ गया रेट अलीगढ़ मुआवजे को लेकर ग्रामीणों ने कुआंखेड़ा रोड पर शव रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पुलिस और टोरंट अधिकारी पहुंच गए। पुलिस ने समझा बुझाकर ग्रामीणों को शांत किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।  उद्योग जगत आर्टिकल एनालिसिस अभ्यागत विशेषज्ञों के लिए योजना दिल्ली के एम्स में चल रहा था इलाज, राजनीति के युग का हुआ अंत नई दिल्ली। रडार न्यूज   देश के पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न... सुप्रीम कोर्ट पहुंची चुनाव से पहले सस्ती बिजली देने और बिल माफ करने की योजना 30 जून 2018 Get Personalised Newsletters प्रमुख, कटकमसांडी मुख्य पृष्ठ राज्य सरकार की नीति में उल्लेख नहीं था कि योजनाओं को नदियों का पानी प्रयोग करने के बाद कितना नीचे की धारा में छोड़ना चाहिए। पानी सुरंगों में डालने तथा प्रयोग करने के बाद नीचे नदी की पुरानी घाटी में बहाव कितना रहेगा ? पाँच योजनाओं की जाँच करने के बाद देखा गया कि नदियों की सुरंगों के समाप्त होने के बाद निचले भागों में पानी नहीं था और वे बिलकुल सूखे पड़े थे। कहीं कुछ बूदें रिसती दिखाई दे रही थीं। जो वातावरण को बनाए रखने लायक नहीं थी। नदियों से रिसकर जो पानी भूमितल में जमा होता था वह भी समाप्ति पर था। बिना सोचे-समझे राज्य सरकार नदियों पर जो अंधाधुंध जल-विद्युत योजनाएं बना रही थी उनका मिला-जुला नतीजा वातावरण के लिए घातक था। अभी 42 जल-विद्युत परियोजनाएं कार्य कर रही थीं, 203 और या तो बन रही थीं या तैयारी में थी। बहुत सारी अन्य विचाराधीन थी। भारत की पर्यावरण नीति प्रदेश में बिजली हुई सस्ती, सरचार्ज खत्म राहुल गांधी अनुसंधान परियोजनाएँ – डीएसडी केंद्र सरकार की नीतियाँ और उपलब्धियाँ राजस्थान न्यूज   Previous Storyएन्‍वायरमेंट के साथ पैसे भी बचाएंगी ई-कॉमर्स कंपनियां, अमेजन ने शुरू की साइकिल पर डिलिवरी Next StoryEPFO के लिए UAN जरूरी, जानिए इससे जुड़ी 3 अहम बातें   स्टडी मोटिव दुनिया की सबसे खतरनाक सड़कें 16 Views नदियों को सुरंगों में डालकर उत्तराखण्ड को सूखा प्रदेश बनाने की तैयारी Bollywood News पढ़ेः भाजपा शासित छत्तीसगढ़ में पीने के पानी का संकट गहराया Most Read नियामक आयोग के सचिव पीएन सिंह ने कहा कि विद्युत वितरण कंपनी ने वर्ष 2018-19 के लिए औसत लागत 6.44 पैसा के मुताबिक 120 करोड़ की राजस्व कमी बताई थी। आयोग ने परीक्षण के बाद राजस्व कमी के स्थान पर 531 करोड़ रुपये के अधिक राजस्व की गणना को मान्य किया। आयोग ने बिजली कंपनी की मांग 6.44 पैसे की जगह 6.20 पैसे की दर को मान्य किया है। राज्य चुनें close 2:28 बाजार में तेजी, सैंसेक्स 284 अंक चढ़ा और निफ्टी 11470 के पार बंद Friday, 20 Jul, 9.35 pm last » Not Now Videsh अटल जी को श्रद्धांजलि देते वक्त भावुक हुए जावेद अख्तर Big News हरियाणा में मुख्यमंत्री चेहरे का है केवल एक ही नाम मनोहर लाल Awesome Join the conversation नरेश दिवाकर को उदयपुर आपका संदेश   पेंशनरों के बारे में Spread the word संस्कृति आयाम: 165x90x33mm प्रायोजित अनुसंधान एयर कंडीशनर, हीटर का उपयोग करने वाले उपभोक्ता तथा 1000 वॉट से अधिक संयोजित भार वाले उपभोक्ता स्कीम के लिए अपात्र होंगे। जहाँ मीटर स्थापित हो, वहाँ मीटर से रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी। विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 55 के प्रावधान के अनुसार नये कनेक्शन के लिए चरणबद्ध तरीके से मीटर की उपलब्धता के आधार पर मीटर स्थापित किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में 500 वॉट तक के संयोजित भार वाले अनमीटर्ड उपभोक्ताओं की विद्युत नियामक आयोग द्वारा वर्ष 2018-19 के टैरिफ आर्डर में निर्धारित श्रेणी एल.वी.1.2 की उप श्रेणी के अनमीटर्ड कनेक्शन के लिए लागू दर से बिलिंग की जाएगी। इसी क्रम में 500 वॉट से अधिक संयोजित भार वाले उपभोक्ताओं की आयोग के प्रचलित विनियम के अनुसार बिलिंग की जाएगी। अन्य खेल Asian games 2018: तस्‍वीरों में देखिए, भारतीय एथलीट्स ने टूर्नामेंट शुरू होने से एक दिन पहले क्‍या किया उपेंद्र कुमार भूजल सीखें जरा : गोठ एप से जानिए कैसे हुनरमंद बन रही है बेटियां क्रास सब्सिडी की व्यवस्था समाप्त : उन्होंने बताया : टैरिफ में अभी के मुकाबले कुल 43% की वृद्धि मंजूर की गयी है. औद्योगिक क्षेत्र के लिए बिजली मात्र 7% महंगी की गयी है. बिजली का वर्तमान औसत टैरिफ 4.11 रुपये प्रति यूनिट है.  अजब गजब : जिंदा चूहे की गर्दन पर उग आया सोयाबीन का पौधा, हर कोई हैरान चंदन शास्त्री राजीव कुमार सिंह पीपुल्स स्पीक   Previous Storyई-कॉमर्स कंपनी अमेजन का नेट प्रॉफि‍ट घटा, एक रात में CEO जेफ बेजोस ने गंवाएं 6 अरब डॉलर Next StoryEPFO के लिए UAN जरूरी, जानिए इससे जुड़ी 3 अहम बातें   जीवन मंत्र रफ़्तार- खबरों में © 2018 Pratyek News - All rights reserved. होमबिहार फिसड्डी चीफ इंजीनियरों का नोटिस जारी कचरागाह की आड़ में चल रहा देह व्यापार कूपन कोड से मिलेगा कैशबैक आवेदन करें पीपुल्स स्पीक अवकाश पंचांग Follow Follow @AamAadmiParty Following Following @AamAadmiParty Unfollow Unfollow @AamAadmiParty Blocked Blocked @AamAadmiParty Unblock Unblock @AamAadmiParty Pending Pending follow request from @AamAadmiParty Cancel Cancel your follow request to @AamAadmiParty केस्को को अंतरिम आदेश का मिला लाभ केरल बाढ़: मोदी से गुहार लगा टीवी पर रोने लगे MLA- 'प्लीज हेलिकॉप्टर भेजिए, नहीं तो 50000 मर जाएंगे' बुलेट ट्रेन में होंगी ये बेहतरीन सुविधाएं आरएसओपी के नाम से लोक प्रिय विद्युत पर अनुसंधान योजना का आरंभ 1961 में विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया गया । सीपीआरआई 2001 से इस योजना का प्रबन्धन कर रहा है। . यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर अपनी संवेदनाएं जाहिर की और कहा कि उनका जाना राजनीति में एक महायुग का अंत है। अंचलाधिकारी बड़कागांव हेल्थ टॉप स्टोरी Newsroom 9- विद्युतीकरण योजना.. कन्या राशि वालों आज किसी यात्रा पर जाने की प्लानिंग कर सकते हैं। किसी दूर स्थान या विदेश से प्यार......Read more टास्क मेनेजर सचिवालय में नए भर्ती चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को नियुक्तियां देने पर हाईकोर्ट की रोक स्पोर्ट्स प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले इमरान ने अपने वतन से किए ये वादे तीसरा टेस्ट अक्टूबर 26, 2017 भू संपर्कन प्रणाली अध्ययन – डीएसडी इलेक्ट्रिक चॉइस - सस्ता बिजली और गैस इलेक्ट्रिक चॉइस - डलास में सस्ता बिजली इलेक्ट्रिक चॉइस - विद्युत प्रदाता चुनें
Legal | Sitemap