Bollywood News in Hindi लेकिन, अगर आपने गलती से "Block" सिलेक्ट किया था या फिर भविष्य में आप नोटिफिकेशन पाना चाहते हैं तो नीचे दिए निर्देशों का पालन करें । एक उद्धरण की विनती करे संजीव उपाध्याय अरविंद केजरीवाल ने बताया कि इस ऐलान से दिल्ली के 38 लाख ग्राहकों को फायदा होगा। इसके पहले अरविंद केजरीवाल ने बिजली कंपनियों की ऑडिट के लिए सीएजी से भी मुलाकात की थी। सीएजी ऑडिट करने के लिए तैयार भी हो गया है। इस बीच बिजली कंपनियों से ऑडिट पर उनका जवाब मांगा गया है। कंपनियों को कल तक जवाब देना है। रू-ब-रू / अतिथि कॉलम गीता के ज्ञान से संवारे जीवन.. Service 4- डीजल/विद्युत पम्प सैट योजना.. 342 Views 101 ग्राम पंचायतों में दीनदयाल विद्युत योजना पर 99.83 करोड़ खर्च होंगे करनाल गुरदासपुर/पठानकोट Friday 10 August , 2018 यूपी में बिजली उपभोक्ताओं को राहत, कनेक्शन लेना हुआ सस्ता सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, सास-बहू अपने घर में चला रही थीं देह व्यापार का धंधा ASIAN GAMES 2018 https://www.bbc.com/hindi/india/2013/03/130319_mahindra_reva_electric_car_pn कृपया ध्यान दें: जानिए क्या हैं तत्काल टिकट बुकिंग के नए नियम केंद्र सरकार की नीतियाँ और उपलब्धियाँ दिल्ली वालों के लिए बड़ी खुशखबरी! सस्ती हुई बिजली, ये रहीं नई दरें Settings ​ मनरेगा इस घटना से दो माह पूर्व कनिष्ठ यंत्री पावसे ने उनसे अपने फोन से उनके भाई से तीस हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। उनके भाई मनोज उस बातचीत को अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया था जिसमें बातचीत में कनिष्ठ यंत्री द्वारा 20 हजार पर मामला तय कर लिया गया था। इसके बात इस रिकॉर्डिंग के आधार पर लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर लोकायुक्त ने आवेदक से कहा कि वह कनिष्ठ यंत्री को रिश्वत की राशि लेने कमलाराजा चिकित्सालय के पीछे बुलाए जहां उसने बुलाया तथा लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोच लिया था। नौकरी की मारामारी के बीच देशभर में खाली पड़े हैं 24 लाख पद दंगों में भाजपा दूध की धुली है तो प्रकाश कमेटी रिपोर्ट को कूड़ेदान में क्यों डाल दिया : भूपेंद्र सिंह हुड्डा बिजली निगम के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर मुकेश गुप्ता का कहना है कि यह माफी तभी मिलेगी जब वह एक साल तक नियमित तौर पर बिल अदा करते रहेंगे। अगर करोड़ों रुपये के बकाया बिल की रिकवरी हो जाती है तो शहर में पावर हाउस सहित बिजली लाइनों के की मरम्मत आसानी से हो सकेगी। राजस्व बढ़ने के साथ ही बिजली यूनिट भी सस्ती हो सकती है। इससे लोगों को गर्मी में पर्याप्त बिजली भी मिल सकती है। विभाग ने संकेत दिए हैं कि घाटे का सौदा लंबे समय तक सहन नहीं कर सकते हैं। रिमाइंडर के बाद बकाया वसूल नहीं होता है तो कनेक्शन काटने की प्रक्रिया पर विचार किया जाएगा। अगर कोई विभाग शर्त पर खरा नहीं उतरता है तो उसे इस स्कीम का फायदा नहीं मिलेगा। सरकारी विभागों पर करोड़ों के बकाया से पब्लिक पर गलत असर पड़ता है। Jammu महिला प्रकोष्‍ठ बरेली 404 Error SECTIONS BIHAR Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।  पटना। बिहार में बिजली उपभोक्ताओं को गर्मी आने से पहले बड़ा झटका लगा है। दरअसल, बुधवार को बिहार राज्य विद्युत विनियामक आयोग बिजली की नयी दरों का एलान किया। बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने एससीएसटी को छोड़कर सभी उपभोक्ताओं के लिए वर्तमान टैरिफ में पांच प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है। बढ़ी हुई नयी दर एक अप्रैल से प्रभावी होंगी। आयोग के अध्यक्ष एसके नेगी ने कहा बिहार में हर घर बिजली योजना को पूरा करने में खर्च हो रहे राशि को देखते हुए आयोग ने यह फैसला लिया है। टेस्ला के शेयर में 9% गिरावट, शॉर्ट-सेलर्स ने कमाए 7000 करोड़ रुपए; इलोन मस्क के इंटरव्यू के बाद टूटा शेयर 55 mins इंदिरा गांधी ने ब्लू स्टार पर अटलजी से बात करने के लिए बनारस में टेलीफोन लाइन बिछवा दी थी 24 mins नवभारत टाइम्स की ऐप के साथ फरीदाबाद से सुपरहिट Saturday 18 August 2018 कजरा व पीरपैंती में लगने हैं ढाई-ढाई सौ मेगावाट क्षमता का सोलर प्लांट फरीदकोट/मुक्तसर केरल में बाढ़ से बिगड़े हालात, PM मोदी का... लोवर सबोर्डिनेट सर्विसेज़ (अवर) ऑर्डर का विवरण सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों की हालत नहीं चुकाए गए लोन की वजह से पहले से ही खराब है. अगर मुद्रा योजना के तहत दिए जाने वाले लोन की भी यही स्थिति रही तो ये सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के एनपीए में इजाफा कर सकती है. डीईआरसी ने भले ही बिजली के दाम कम कर दिए हों, लेकिन फिक्स्ड चार्ज बढ़ा दिया गया है. अभी सरकार 400 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वालों को दिल्ली सरकार सब्सिडी देती थी, लेकिन फिक्स चार्ज पर कोई सब्सिडी नहीं थी. अब डीईआरसी ने फिक्स चार्ज को बढ़ा दिया है. जबकि बिजली कि यूनिट के रेट कम कर दिए है, जिस पर पहले सब्सिडी मिलती थी. तो इस हिसाब से 400 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वालों के बिल अब पहले से ज्यादा आएंगे. 200 यूनिट तक की बिजली की कीमत में एक रुपये प्रति यूनिट की दर से कटौती की गई है, जबकि 201-400 यूनिट तक की बिजली की कीमत में 1.45 रुपये प्रति यूनिट की दर से कटौती की गई है. इसके अलावा 401-800 यूनिट तक की कीमत दर में 80 पैसे प्रति यूनिट की दर से कमी की गई है. बिजली की यूनिट की कीमत दर में कमी का फायदा सभी घरेलू ग्राहकों को मिलेगा. हालांकि फिक्स चार्ज में वृद्धि से लोगों को झटका लगा है. इस तरह 201-400 यूनिट तक बिजली का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा. अस्वीकरण और नीतियां Electricity Saving Tips For Homes And Offices Get the best positive stories straight into your inbox! देसीमार्टीनी Sun, 12 Aug 2018 02:30 PM IST पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का काम अधूरा छोड़कर गायब हुईं कंपनियों में सबसे ज्यादा चार हैदराबाद की बताई जा रही हैं। अन्य कंपनियां चेन्नई, बेंगलूरु, जबलपुर, सतना व नोएडा की हैं। काम पूरा नहीं करने वाली इन कंपनियों पर कार्रवाई के बाद बिजली कंपनी इनकी बैंक गारंटी जब्त करने की कवायद में जुट गई है। पीलीभीत भजन गाए जा रहै है कीर्तन भी हो रहा है पानी में दर्जनों लोग मौजूद हैं. शहर में विरोध बिजली कंपनी के खिलाफ हो रहा है. शहर में बिजली व्यवस्था की कमान जब से निजी कंपनी केईडीएल को सौंपी गई थी. जिसके बाद बिजली कंपनी ने स्मार्ट मीटर लगाए और लोगों के बिजली के बिल दो से तीन गुना बढ़ गए. शहर के हर शख्स की मांग यही है की बिजली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई हो बिजली कंपनी को वापस भेजा जाए इसी को लेकर KEDL भगाओ कोटा बचाओ संघर्ष समिति बनाई गई है.     वित्त मंत्री ने विभाग के अधिकारियों से क्षेत्र के सभी 17 फीडरों बारे विस्तृत जानकारी ली तथा अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन सभी फीडरों पर लाइन लॉस कम करवाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के कुछ फीडरों पर लाइन लॉस 20 प्रतिशत से कम कर लिया जाता है तो ये क्षेत्र के अन्य गांवों के लिए एक मिसाल होंगे। इससे लोगों को इस योजना में शामिल हुए फीडरों से होने वाले फायदों का पता चलेगा। अजितेश कुमार नवीकरण और आधुनिकीकरण महाराष्ट्र                             100                 6.10 रुपए CPRI successfully completed four tests 428 Views देश भर में सबसे महंगी हुई राजस्थान में बिजली, जाने कैसे 'सरकारी मिस-मैनेजमेंट' से जनता को लग रहा 'करंट' मानसून इस वेबसाइट की अंतर्वस्‍तु केन्‍द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्‍थान, विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रकाशित एवं व्‍यवस्थित है। Cashback on offer price: 2113 Districts एक ऐसी लेब जहां सभी प्रकार की जांचें होंगी, मंत्री श्री जैन ने सेन्ट्रल पैथालॉजी लेब का शुभारम्भ किया More From Author वेबसाइट नीति भारतीय हॉकी के सितारे हरदयाल सिंह का निधन, ओलंपिक में दिलाया था गोल्ड टेक रिव्यू प्रितम रवानी News18 States श्रेयांश कुमार कन्या रांची : रांची में बढ़ रही है सीफूड खाने वालों... विषय इन धमाकेदार गाड़ियों का बेसब्री से है इंतज़ार ईवीआरसी में गतिक प्रयोगशाला सस्ता ऊर्जा - गैस और इलेक्ट्रिक सस्ता ऊर्जा - सर्वश्रेष्ठ विद्युत दर सस्ता ऊर्जा - सर्वश्रेष्ठ इलेक्ट्रिक
Legal | Sitemap