Forgot Password ? अब तक लगे टॉवर अमेरिकी अखबारों ने की ट्रंप के मीडिया विरोधी बयानों की निंदा सी टी , 1600 केवी, 6ऐ संपादन पेनाल्टी के रूप में निगम द्वारा दिये गये  टैरिफ प्रस्ताव से 120 करोड़ रुपये घटा दिया गया है. आयोग के निर्देश के बावजूद वितरण निगम ने उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी डिपोजिट पर इंटरेस्ट भी नहीं दिया है. अगर अगले छह महीने तक उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी पर इंटरेस्ट नहीं मिलता है, तो फिक्स चार्ज में पांच फीसदी की कटौती की  जायेगी. छह महीने के अंदर डिमांड बेस्ड मीटर लग जाने के बाद डिमांड बेस्ट  टैरिफ लागू की जायेगी.  यूएस-चीन ट्रेड वॉर से भारत को होगा फायदा, मिलेगा सस्ता तेल FOLLOW (110) क्या विदेशी निवेश बढ़ेगा भारत रत्न ‘अटल’ का हिमाचल से था गहरा नाता, प्रीणी से जुड़ीं हैं खास... #KeralaFloods LIVE: कोच्चि पहुंचकर PM मोदी ने बाढ़ के हालात पर राज्य सरकार के साथ की बैठक Comment Update हेर्मेटिक रूप से मुहरबंद एकल चरण किलो मीटर मीटर एमसीबी सर्ज इलेक्ट्रिक मीटर सुरक्षा दीनदयाल योजना में करीब 96 करोड़ के कार्य BUY NOW विशेष आलेखView All Add this Tweet to your website by copying the code below. Learn more नाम बीपीएल उपभोक्ताओं ने बिल भरना बंद किया कर्नाटक गंगा कल्याण योजना 2018 – 1.5 लाख के बोरेवेल ऋण के लिए आवेदन करें हस्तरेखा मुझे शिकायत है ... इतना लगता है मिनिमम चार्ज - जल उपलब्धता के आधार पर कृषकों के कुओं की खुदाई एवं बोरिंग द्वारा कूप गहरा कराने के लिए 5 वर्ष की अवधि हेतु ऋण उपलब्ध। New Power Policy वृद्धावस्था पेंशन/ किसान पेंशन विश्वसनीय बिजली सेवाओं की उपलब्धता से दैनिक उपयोग के सामान, निर्माण कार्यशालाओं, आटा मिलों, कुटीर उद्योग आदि की नई दुकानों की स्थापना में सुविधा होगी और ऐसी आर्थिक गतिविधियों से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा होंगे। घर के विद्युतीकरण के कार्यों के निष्पादन के लिए अर्ध-कुशल / कुशल श्रमशक्ति की आवश्यकता के मद्देनजर योजना के कार्यान्वयन के परिणामस्वरूप रोज़गार पैदा होगा। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए लगभग 1000 लाख मानव दिवस कार्य का निर्माण किया जाएगा। About US वितरण फ्रेंचाइजी के लिए एसबीडी समाज(युवा समिति)के राष्ट्रीय संयोजक, आदिवासी मुंडा समाज के सदस्य तथा भाजपा अनुसूचित जन जाति मोर्चा क Business News 4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता Featured videos Date: July 19, 2018 चंदौली बिजली कंपनी के ठेकेदार रवींद्र सिंह जादौन ने 25 अप्रैल को मोतीझील स्थित बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक ऑफिस में जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी थी. ठेकेदार ने 9 साल पहले पुरानी छावनी क्षेत्र में बिजली कंपनी के लिए काम किया था. 9 साल तक बिजली कंपनी से अपने 3 लाख 73 हजार रुपए के भुगतान के लिए रवींद्र भटकते रहे. सीएम से लेकर बिजली कंपनी और प्रशासन से शिकायतें कीं. शिकायतें इतनी कीं कि उनकी पावतियों से बक्सा तक भर चुका था. रवींद्र ने एक विस्तृत सुसाइड नोट भी छोड़ा था जिसमें शुरु से आखिर तक की पूरी पीड़ा लिखी थी. एचटी आपूर्ति         5.98 से 6.35 के बीच बाज़ार भाव Deutsche Welle Tweets Recent Posts आज के हिन्दुस्तान से बढ़ रही है घरेलू स्वास्थ्य सेवाओं की भूमिका Loading seems to be taking a while. मीटर निरंतर Cheaper Electricity Health & Fitness वाजपेयी को संघी और फासिस्ट बताने वाले प्रोफेसर पर हमला, अस्पताल में भर्ती हालांकि पटना में एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर डीएम दिवाकर शराब, बिजली, रियल एस्टेट और पेट्रोलियम को जीएसटी से बाहर रखने की वजह केंद्र सरकार की कमज़ोरी मानते हैं. मंत्री आर.के. सिंह ने कहा, ‘‘देश में बिजली वितरण को लेकर पहले से सेवा बाध्यता है, इसे और स्पष्ट बनाया जाएगा. देश में बिजली की कोई कमी नहीं है.’’ पाइए लखनऊ समाचार(Lucknow News In Hindi)सबसे पहले नवभारत टाइम्स पर। नवभारत टाइम्स से हिंदी समाचार (Hindi News) अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App और रहें हर खबर से अपडेट। दीवारों के रंग और सेक्स में है संबंध ज्यादातर लोगों के लिए घर का सबसे फेवरिट हिस्सा बेडरूम होता है… Posted By: Anil Kumar Published: Monday, September 1, 2014, 14:43 [IST] Subscribe to Oneindia Hindi सिंहभूम (प) उन्होंने कहा, ''शराब माफ़ियाओं को जो छूट मिली थी वह जारी रहेगी. इसी तरह बिजली का निजीकरण किया जा रहा है ऐसे में सरकार पूंजीपतियों से कोई टकराव मोल नहीं लेना चाह रही है. उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम भी निजीकरण की पटरी पर लगभग आ चुका है इसीलिए इसे जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है.'' Font help वाराणसी में बस डिवाइडर से टकराकर पलटी, 5 गंभीर रूप से घायल 151-300--4.95--5.40 डूंगरपुर सुरक्षा उपकरण: एमसीबी राष्ट्रीय पर्व को मनाते हैं लेकिन राष्ट्रीयता का मतलब नहीं समझते हैं – प्रधानाध्यापक भानपुरा नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार (25 सितंबर) को कहा कि भारत अगले साल दिसंबर तक सभी घरों को बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लेगा. साथ ही सभी गांवों का विद्युतीकरण समय से पहले इस साल दिसंबर तक हो जाएगा. सरकार ने बिजली से वंचित सभी गांवों में एक मई 2018 तक विद्युत पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. इसी प्रकार सरकार का मार्च 2019 तक सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. सभी घरों को बिजली पहुंचाने की ‘सौभाग्य’ योजना शुरू किये जाने के जाने के मौके पर सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने दिसंबर 2018 का लक्ष्य दिया है. हम इसे करेंगे. यह एक कड़ा लक्ष्य है, लेकिन हम इसे हासिल करेंगे. सभी परिवारों को दिसंबर 2018 तक बिजली मिलेगी.’’ मूल संरचना ऐसे समझें फर्जीवाड़ा, उपभोक्ताओं को लगाया चूना सरस्वती शिशु मंदिर ने दी पुष्पांजली posted on August 18, 2018 सुधेड़ में पलटा पंजाब के श्रद्धालुओं का... अटल जी का जाना भारत में राजनीति के महायुग का अंत: सीएम योगी Support Santa Cruz Climate Emergency Mobilization Resolution ​ मनरेगा वित्त वर्ष में वेतन से ज्यादा होगा पेंशन का भुगतान, जाने ख़ास वज़ह अंशांकन प्रयोगशाला अनुसूचित जाति/ जनजाति अधिकार मंच ने किया अजमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन vikash khalkho Bhaskar News Network 05-08-2018 # Coal Company गोपनीयता इंडिया टुडे टीवी July 18, 2018 ऑनलाइन मार्केट नागौर प्रबंधन / निपटान कार्यवाही अगली स्टोरी सम्‍पर्क रहित प्रकार की लेसर वैब्रोमापी अमेरिका: इंग्लिश टीचर ने 2500 महिला कैदियों को कविता लिखना सिखाया ताकि उनका आत्मविश्वास बढ़े 19 mins शेखपुरा दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम ने सरकारी विभागों के लिए सरचार्ज माफी योजना शुरू की है। इस योजना का लाभ सरकारी विभाग 31 मार्च तक उठा सकते हैं। इसके लिए सभी डिफॉल्टरों को तय समय में अपना पुराना बकाया जमा करना होगा। साथ ही आगामी एक साल तक समय पर पूरा बिल अदा करना होगा। बीबीसी में खोजें बीबीसी में खोजें 2:30 अवस्था संपादित करने के स्वीकृत फोकस रुचि के स्थान टेक लीक बहरहाल अटल जी ने झारखंड राज्य को एक समृद्ध राज्य के रूप में बनाने का सपना देखा था। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि जिस मकसद में झारखंड का गठन हुआ था वह पूरा हुआ या नहीं। राज्य के विकास के पैमाने को देखकर लगता है कि शायद राज्य को जिस मकसद से अलग किया गया था वह पूरा नहीं हुआ। इंटरव्यू की रणनीति अन्य देशों की खबरें मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना आय सीमा 8 लाख रुपये हुई 2018 ASIAN GAMES: सिंधु, सुशील और दीपा जानिए और किन-किन खिलाड़ियों से लगी है गोल्ड मेडल की आस Arrah अपनी बात एमपी एसएलडीसी यूपी राशन कार्ड नई सूची 2018 बीपीएल/ एपीएल राशन कार्ड खोजें/ राशन कार्ड की स्थिति कटकमसांडी प्रखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामना Back Next Social Networks 7. नहीं बंद होंगी मुफ्त बैंकिंग सेवाएं, सरकार ने खबरों का किया खंडन शिक्षक मंच BIG BREAKING : बिहार के 3 लोगों की तेलंगाना में दर्दनाक मौत सहयोगात्मक तथा उन्नत अनुसंधान केन्द्र (सीकार) नोहर तहसील मे सीरगसर पचायत मे खबै रोप दीए ओर लोगो नै डीमान्ड भी भर दी पर लाईट नही दे रहे 10 महीनै हो गए लौग ईसका वीरोध करेगै कुछ समय मै लाईट नही दी गई तौ किसान एकता जीन्दावाद Lal salam 81XXX81 यहा के ठैकैदार ओर अधीकारी बहुत लापर वाह है 300 से अधिक       6.52 अमेरिका: इंग्लिश टीचर ने 2500 महिला कैदियों को कविता लिखना सिखाया ताकि उनका आत्मविश्वास बढ़े 20 mins ऐक्सेसरीज ई वी आर सी में बहुचैनल स्पेक्ट्रम विश्लेषक अपने ब्राउज़र की Cookies को clear करें | कोटा/ हिमांशु मित्तल: राजस्थान के कोटा में बिजली कंपनी को भगाने के लिए लोगो ने जल सत्याग्रह शुरू कर दिया है. दर्जनों लोग चंबल नदी में उतर गए हैं और कोटा की बिजली कंपनी KEDL को कोटा से हटाने की मांग जल सत्यग्रह के जरिए कर रहै हैं. चंबल नदी में लगातार KEDL GO BACK के नारे ही सुनाई दे रहे हैं. सेक्शन जीतन भुइया कचरागाह की आड़ में चल रहा देह व्यापार टॉपर्स कॉपी आर एस ओ पी तकनीकी रिपोर्ट बरेली भजन गाए जा रहै है कीर्तन भी हो रहा है पानी में दर्जनों लोग मौजूद हैं. शहर में विरोध बिजली कंपनी के खिलाफ हो रहा है. शहर में बिजली व्यवस्था की कमान जब से निजी कम्पनी केईडीएल को सौंपी गई थी. Show — त्वरित सम्पर्क Hide — त्वरित सम्पर्क जानिए किसने दी बाजपेयी को मुखाग्नि posted on August 18, 2018 हमारी पुस्तकें उच्‍च धारा लघु पथन परीक्षण सुविधा 8. CES 2018 : पहले दिन लॉन्च किए गए ये शानदार प्रोडक्ट्स अभिजीत राज ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 09 Dec 2017 08:40 PM IST इंग्लैंड के खिलाफ तीसरा टेस्ट आज से, ट्रेंट ब्रिज में भारत को 11 साल से जीत का इंतजार 24 mins COPYRIGHT श्वेता बच्चन ने अपनी बेटी नव्या नवेली के साथ करवाया हॉट फोटो शूट Previous Next सुपौल: एक बार फिर बीरपुर मे गोलियों की तऱतराहट से सदमें मे है शहरवासी – पुलिस कर रही है छानबीन !! टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज(बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) द्वारा विकसित और अनुरक्षित यात्रा के साधन VIDEO: पर्वतीय किसानों को हाईकोर्ट से तोहफ़ा, नॉन ज़ेड-ए ज़मीन पर मिलेगा हक Get the best positive stories straight into your inbox! 12:24:38 AM बिजली कंपनी जुलाई महीने से २०० रुपए प्रतिमाह में मिलने वाली बिजली योजना (सस्ती बिजली बिल स्कीम) योजना भी लागू कर रही है। इसमें उपभोक्ता १०० यूनिट तक पंखा, टीवी व ट्यूबलाइट जला सकेंगे। बिल की गणना टैरिफ आधार पर होगी। उपभोक्ताओं की शेष राशि राशि राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में विद्युत कंपनी को देगी। इस कार में जीपीएस नेविगेशन, कीलेस एंट्री और स्टार्ट-स्टॉप जैसी सुविधाएं भी दी गई हैं. इस कार में विशेष ब्रेक लगाए गए हैं ताकि ब्रेक लगाते वक्त मिलने वाली ताकत से फिर से बैट्री को चार्ज किया जा सकता है. दिल्ली में इस कार पर दिल्ली सरकार ने 29 प्रतिशत की रिआयत दी है. ऐसे बनाएं इंस्टेंट जलेबी इतिहास Turn on Not now अन्य Travel राजनीति के 'अटल' युग का अंत, दिल्ली के एम्स में ली अंतिम सांस चीनी (Sugar) प्रेरक प्रसंग▼ डिफॉल्टरों पर 4 करोड़ रुपये अब भी बकाया Trending Now: डाक अपडेट प्रत्येक न्यूज़ The total outlay of the project is Rs. 16, 320 crore while the Gross Budgetary Support (GBS) is Rs. 12,320 crore. The outlay for the rural households is Rs. 14,025 crore while the GBS is Rs. 10,587.50 crore. For the urban households the outlay is Rs. 2,295 crore while GBS is Rs. 1,732.50 crore. The Government of India will provide largely funds for the Scheme to all States/UTs. The States and Union Territories are required to complete the works of household electrification by the 31st of December 2018. Monday 13 August , 2018 #बाढ़ का कहर वैकल्पिक विषय - हिंदी साहित्य MTV India इस ‘श्रद्धांजलि’ से वह तिलांजलि नहीं छिपने वाली, जो संघ ने अटल को जीते दे दी थी प्रधानाध्यापक उत्क्रमित उच्च विद्यालय डाँटो खुर्द कटकमसांडी सस्ता विद्युत प्रदायक - सर्वश्रेष्ठ ऊर्जा प्रदाता सस्ता विद्युत प्रदायक - आज अपने मुफ़्त उद्धरण का अनुरोध करें सस्ता विद्युत प्रदायक - सर्वोत्तम ऊर्जा की कीमतें
Legal | Sitemap