Dharam दिल्ली/एनसीआर भारत में अब सोलर पावर की कीमतें रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच सकती हैं। सन एडिसन ने भारत में सबसे कम कीमत पर सोलर बिजली बनाने का प्रोजेक्ट हासिल किया है। क्रेडिट कार्ड से मिलते हैं ये बड़े फायदे ज्वालामुखी मंदिर में पांचवें नवरात्रे चढ़ा 462644 का चढ़ावा अटल जी की अंतिम यात्रा में मोदी-शाह सहित सड़कों को उमड़ा जनसैलाब नो फेक न्यूज़ नया Uttar Pradesh Scheme 8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल DAS Application form दिनेश सिंह मंगलवार को बिहार विकास मिशन के छह सर्कुलर रोड के सभाकक्ष में बिहार की बिजली घरों बरौनी, कांटी व नवीनगर की कुल 3310 मेगावाट उत्पादन वाली तीनों यूनिटों को एमओयू कर 30 साल के लिए लीज पर एनटीपीसी के हवाले किया गिया। हस्तांतरण समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यहित में बिजली घरों के संचालन का जिम्मा एनटीपीसी को दिया जा रहा है। इस करार से बिहार को हर साल 875 करोड़ की बचत होगी। एनटीपीसी को बिजली घर देने से बिजली दरों में कमी आएगी। जनता को सस्ती बिजली मिलेगी। BILASPUR DENGUE पहला टी-20 अंतर्राष्ट्रीय Water Heater बोकारो July 11, 2018 केरल बाढ़: खराब मौसम के चलते नहीं हो पाया पीएम का हवाई सर्वे, 500 करोड़ रूपये अंतरिम राहत की घोषणा सहचारी स्थायिक युक्त 1000 केएन सार्वत्रिक परीक्षण मशीन संजय कुमार तैयारी की रणनीति इस घटना से दो माह पूर्व कनिष्ठ यंत्री पावसे ने उनसे अपने फोन से उनके भाई से तीस हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। उनके भाई मनोज उस बातचीत को अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया था जिसमें बातचीत में कनिष्ठ यंत्री द्वारा 20 हजार पर मामला तय कर लिया गया था। इसके बात इस रिकॉर्डिंग के आधार पर लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर लोकायुक्त ने आवेदक से कहा कि वह कनिष्ठ यंत्री को रिश्वत की राशि लेने कमलाराजा चिकित्सालय के पीछे बुलाए जहां उसने बुलाया तथा लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोच लिया था। Featured videos स्कूल राज्य बिजली कम्पनियों की प्रदर्शन रिपोर्ट फेक वेबसाइट, फेक रिजल्ट! रेलवे जॉब के नाम पर ऐसे लूटे लाखों रुपये राज्य चुनें close Libra (तुला) जमुई इस पोस्ट को शेयर करें Facebook यहां काम करने की जरूरत दरसअल करीब 72 घण्टे से गायघाट में बिजली नही रहने के कारण लोगो ने किया सड़क जाम, मुज़फ़्फ़रपुर-दरभंगा मार्ग पर करीब 2-3 घण्टे रहा आवागमन ठप. लोगो का कहना है कि एस्सेल बिजली की कटौती करता है, एस्सेल अपनी मनमानी करता है, एस्सेल के कर्मचारी को जब बिजली नही रहने पर सूचना दी जाती है तो वो लोग बात को इधर उधर कर घुमा देते है और कोई जवाब नही देते बिजली का कोई समय नही है कि कब कँहा कैसे बिजली कट जाए और अगर कँही बिजली की तार आँधी तूफान में गिर जाए तो उसके लिए 2-3 दिन बिजली को बाधित कर के रखते है. 27 28 29 30 31   देश भर में सबसे महंगी हुई राजस्थान में बिजली, जाने कैसे 'सरकारी मिस-मैनेजमेंट' से जनता को लग रहा 'करंट' चाईबासा। नाबालिग से यौन शोषण का आरोपी कथित समाजसेवी एवं आदिवासी अस्तित्व बचाओ आंदोलन के अध्यक्ष लालजीराम तियु की गिरफ्तारी को लेकर डीएसपी हेड क्वार्टर प्रकाश सोय के नेतृत्व में पुलिस टीम ने मंझारी प्रखंड अंतर्गत हो बालकांड स्थित उसके ससुराल में छापेमारी की। भनक लगते ही वह फरार हो चुका था। आर्टिकल एनालिसिस एलईडी सूचक सक्रिय ऊर्जा 41 Views डाक कर्मी डॉक्टर के घर लाखों की डकैती घर की बिजली The Prime Minister Shri Narendra Modi has launched a new scheme Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana –“Saubhagya” to ensure electrification of all willing households in the country in rural as well as urban area. उत्पाद का नाम: 1 चरण कार्ड प्रकार प्रीपेमेंट इलेक्ट्रिक मीटर अस्पतालों पर नरम हुए केजरीवाल!   (*On an order value between Rs. 10, 000 and Rs. 14,999) टेक लॉंच News Alerts मोबाइल-टेक District Packages पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटनासाहिब क्षेत्र के लिए 28 70... नए बैच / उपलब्ध पाठ्यक्रम/ पाठ्यक्रम अवधि महामंत्री, बीजेपी हरला मंडल अपने बिटकॉन्स के साथ एक कार खरीदें: वाहन बाज़ार बीपी क्रिप्टोकुरेंसी को अपनाता है Pin एमओपी के तहत संगठन सोलन होम दूसरा सवाल – परिवारों को अंतिम छोर तक बिजली कनेक्शन प्रदान करने के लिए क्या किया गया है? technology1 day ago 14 अगस्त 2018 Ceiling Fan blade angle can impact electricity consumption उक्त अधिकारी के मुताबिक निजी बिजली कंपनियों को काफी समय से शिकायत है कि उनको सस्ती दरों पर कर्ज़ नहीं मिल पाता है। इन सब समस्याओं को दूर करने के लिए मंत्रालय ने राज्य में काम कर रही बिजली कंपनियों और वहां काम करने की इच्छुक बिजली कंपनियों को बैठक के लिए बुलाया है। सूत्रों के मुताबिक राज्य में बिजली कंपनियों को कर्ज की सुविधा देने के लिए मंत्रालय के अधिकारी पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (पीएफसी) और रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन लिमिटेड (आरईसी) के अधिकारियों को भी साथ लेकर जा रहे हैं।(स्रोत-दैनिक भास्कर) राष्‍ट्रीय चिह्न/प्रतीक आई आर पी मूवी रिव्यू Updated: घरेलू (शहरी) (0-200 यूनिट)  3.00  5.50 Library Infrastructure उत्पाद का नाम: उपयोग का समय (टीओयू) मल्टी टैरिफ एकल चरण एसटीएस प्रीपेड विद्युत मीटर वृष सामाजिक पहलू और विवाद 108 APPLY ESMA AMBULANCE PERSONNEL वैकल्पिक विषय - इतिहास FAQs पेनाल्टी के रूप में निगम द्वारा दिये गये  टैरिफ प्रस्ताव से 120 करोड़ रुपये घटा दिया गया है. आयोग के निर्देश के बावजूद वितरण निगम ने उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी डिपोजिट पर इंटरेस्ट भी नहीं दिया है. अगर अगले छह महीने तक उपभोक्ताओं को  सिक्यूरिटी पर इंटरेस्ट नहीं मिलता है, तो फिक्स चार्ज में पांच फीसदी की कटौती की  जायेगी. छह महीने के अंदर डिमांड बेस्ड मीटर लग जाने के बाद डिमांड बेस्ट  टैरिफ लागू की जायेगी.  बताया जाता है कि बिजली दरें बढ़ाने की मांग बिजली कंपनियां काफी दिनों से कर रही थीं, और संभवना 5 से 10 फीसदी तक बिजली दरें बढ़ाने की जताई जा रही थीं. लेकिन इसके विपरीत दरें कम कर दी गई हैं. प्रीपेमेंट एकल चरण मीटर नोएडा का डॉली: तीन महिलाओं से शादी कर की बड़ी ठगी, गर्लफ्रेंड समेत अरेस्ट पोषाहार Post navigation The page you are looking for cannot be found. ITR फाइलिंग में फिर किया गया बदलाव चिंतपूर्णी में दंडवत होकर पहुँच रहे श्रद्धालु कार्ड प्रीपेमेंट एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर, सर्ज संरक्षण वायरलेस पावर मीटर तमिलनाडु अटलजी के नाम पर मोदी सरकार ने शुरू की थी ये योजना, हर महीने 210 रुपए देकर पा सकते हैं 5,000 तक की गारंटीड पेंशन Publish Date:Mon, 26 Mar 2018 10:39 PM (IST) फोटो एडमिशन VIDEO: हत्या कर खुद को घर में किया बंद सहायता CallIndia.com बढ़ाए गए फिक्स्ड चार्ज रेट देश में बिजली की दर एक हो : नीतीश News18 India Asian Games 2018: क्या गेम्स शुरू होने से पहले ही दो गोल्ड मेडल हार गया भारत! Latest TV Technologies in India July 15, 2018 अभी सिंचाई कार्यों के लिए 70 पैसे से 1.20 रुपये प्रति किलोवाट की दर  निर्धारित है. आयोग ने इसके लिए बिजली दर बढ़ा कर पांच रुपये प्रति यूनिट  निर्धारित कर दिया  नागपुर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी अमरीका मुजफ्फरपुर लोन रिजॉल्यूशन के लिए लैंको, JP समेत 11 प्लांट्स का टेकओवर करेंगे बैंक April 27, 2018 Forgot Password ? प्रभात खबर 30 वर्ष टिप्स – ट्रिक्स कमोडिटी एक्सचेंज संपूरक परीक्षण प्रयोगशाला Promoted by 90 supporters First India News Rajasthan अल्मोड़ा कारोबार503 Cookies नई दिल्ली: बिजली क्षेत्र में सुधारों को आगे बढ़ाने की केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता पर बल देते हुए बिजली मंत्री आर के सिंह ने कहा है कि लोगों को दूरसंचार सेवा की तरह बिजली खरीदने के लिए अपने क्षेत्र में एक से अधिक आपूर्तिकर्ताओं का विकल्प दिया जाएगा। इसके लिये बिजली कानून में संशोधन किया जाएगा। बिजली मंत्रालय आगामी बजट सत्र में बिजली संशोधन विधेयक लाने की तैयारी में है जिसमें अन्य बातों के अलावा बिजली आपूर्ति और वितरण नेटवर्क के कारोबार को अलग-अलग करने का प्रावधान होगा। नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह ने कहा, हम बिजली कानून में कई संशोधन ला रहे हैं। उपलब्‍ध उपस्‍कर सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, सास-बहू अपने घर में चला रही थीं देह व्यापार का धंधा © 2018 All Right Reserved radarnews.in दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना मनीकंट्रोल पर और देखिए अजित सिंह चौधरी एयर कंडीशनर, हीटर का उपयोग करने वाले उपभोक्ता तथा 1000 वॉट से अधिक संयोजित भार वाले उपभोक्ता स्कीम के लिए अपात्र होंगे। जहाँ मीटर स्थापित हो, वहाँ मीटर से रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी। विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 55 के प्रावधान के अनुसार नये कनेक्शन के लिए चरणबद्ध तरीके से मीटर की उपलब्धता के आधार पर मीटर स्थापित किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में 500 वॉट तक के संयोजित भार वाले अनमीटर्ड उपभोक्ताओं की विद्युत नियामक आयोग द्वारा वर्ष 2018-19 के टैरिफ आर्डर में निर्धारित श्रेणी एल.वी.1.2 की उप श्रेणी के अनमीटर्ड कनेक्शन के लिए लागू दर से बिलिंग की जाएगी। इसी क्रम में 500 वॉट से अधिक संयोजित भार वाले उपभोक्ताओं की आयोग के प्रचलित विनियम के अनुसार बिलिंग की जाएगी। जिला सचिव आजसू पार्टी रांची पूर्व उप- प्रमुख बुंडू Name * बाज़ार भाव August 26, 2017 Binod Karan आपका ज़िला 0 राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजनाएँ (एनपीपी) का परिदृश्‍य गैस और इलेक्ट्रिक - उपयोगिता दरों की तुलना करें गैस और इलेक्ट्रिक - बिजली बचाओ गैस और इलेक्ट्रिक - सर्वश्रेष्ठ विद्युत सौदे
Legal | Sitemap