टैग: RSS| स्व-रोजगार वाले लोन धारकों को हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों की ओर से मिलने वाले लोन में 30 फीसदी का इजाफा हुआ है. चार साल पहले तक ये आंकड़ा 20 फीसदी का ठहरता था. सरकार की ओर से किफायती हाउसिंग को प्रोत्साहन देने के बाद ये बदलाव आया है. एक दूसरी रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने लोन चुकाने को लेकर अनियमितता के मामलों में वृद्धि की चेतावनी दे चुकी है. Deepak Dubey  🇮🇳‏ @DBADeepakDubey 18 Aug 2015 बुक रिव्यू कविताकहानीकिताब के अंशलेखक से बातक्लासिकआपकी रचनाएं ऐसे समझें फर्जीवाड़ा, उपभोक्ताओं को लगाया चूना वाराणसी मिर्जापुर RELATED ARTICLESMORE FROM AUTHOR नॉटिंघम| इंग्लैंड से पहले दो टेस्ट जीएसटी लागू, पर असमंजस बरक़रार टॉपर्स के निबंध जलविद्युत परियोजनाओं से छलनी होते हिमालय के पहाड़ वेबसाइट नीतियां लोक जनशक्ति पार्टी जिला प्रवक्ता, बड़कागाँव योजना के घटक Exclusive-News जन्मदिन विशेष : भोजपुरी सिनेमा को पहचान दिलाने वाले रवि किशन… देव शर्मा समाजसेवी बड़कागांव, निवेदक प्रखंड अध्यक्ष नन्दलाल राणा सह प्रखंड कमेटी सदस्य बड़कागांव © 2018 Pratyek News - All rights reserved. By Prabhat Khabar | Updated Date: Feb 16 2018 9:06AM फ़ीडबैक मैनुअल-13,14 & 15 सुहाग’रात’ को ससुराल से गहने-पैसे लूटकर फरार हो गई दुल्हन प्रतापगढ़ मीटर निरंतर सभी पक्षों का रुख सकारात्मक उन्होंने आगे बताया कि फरवरी 2018 तक करीब 59 लाख जन धन खाते बंद हो चुके थे. Read More: Jagran Newsविद्युत योजनाधांधलीठेकेदारभुगतान Copyright © 2017 MPUVN . All rights reserved | Designed By Ramrajtech निजी क्षेत्र की जल-विद्युत योजनाओं में भागीदारी के बारे में कई बातें कही गई हैं। नदी घाटियों का पूर्व अध्ययन, धरातल चित्र तथा जल का मूल्यांकन उत्तराखंड जल-विद्युत निगम को पहले से ही कर लेना चाहिए था ताकि नदी की बिजली उत्पादन क्षमता का सही अनुमान लगाया जा सकता। योजनाओं की बिजली उत्पादन क्षमता कई बार बदली गई 85 प्रतिशत योजनाओं में 22 प्रतिशत से 32.9 प्रतिशत बदलाव हुए, जिससे पूर्व अध्ययन के सही होने पर संशय तथा सवाल खड़े हो गए। योजनाओं को विकसित करने वालों ने व्यवस्था की त्रुटियों का फायदा उठाया। नमूने की 13 योजनाओं में एक की क्षमता 25 किलोवाट से कुछ कम की गई, ताकि उस पर रॉयल्टी कम देनी पडे, जो पूरे 25 किलोवाट या उससे अधिक पर काफी अधिक पड़ती। कई योजनाओं की समय-सीमा इसलिए बढ़ाई गई कि इस मामले में हुए नुकसान का भार उन पर न पड़े। यह अधिकतर उत्पादन क्षमता में बदलाव करने पर हुआ, जिससे राज्य की प्रत्याशित रायल्टी तथा बिजली से आमदनी में कमी आई। उससे राज्य को बहुत आर्थिक घाटा हुआ क्योंकि कंपनियों के प्रीमियम बदल गए। योजनाओं का समुचित पूर्व अध्ययन अत्यंत आवश्यक है ताकि उनकी क्षमता का सही ज्ञान हो सके। पानी के बहाव, विद्युत यंत्रों की कार्य क्षमता तथा अन्य बातों के मानक निर्धारित करने पर ही कंपनियों को लाइसेंस देने की नीति बनाने की जरूरत थी। इस लेख में कैग की पूरी रिपोर्ट, जिसमें राज्य की जल-विद्युत नीति तथा उसके काम करने के तरीके की कड़ी आलोचना है और जिसमें कहा गया है कि उस नीति के कारण बड़ा पर्यावरणीय तथा आर्थिक नुकसान हुआ है। सवाल यह उठता है कि सभी दिशाओं में बड़े घाटे तथा संसाधनों के क्षय के काम को राज्य सरकार क्यों प्रोत्साहन दे कर चला रही है ? मोहन भागवत बोले- 'अटल चले गए विश्वास नहीं हो रहा' परीक्षा विज्ञप्ति C to L बिज़नस Skip to main content नीदरलैंड में जल्द शुरू होगा दुनिया का पहला समुद्र में तैरता डेयरी फार्म, रोबोट निकालेंगे गायों का दूध 18 mins MTV India दान Breadcrumb आईपीडीएस से 16 शहरों में कार्य सलमान के कॉपी लव त्यागी ने बदल लिया है अपना अंदाज़ म्युचुअल फंड Hover over the profile pic and click the Following button to unfollow any account. Asian games 2018: तस्‍वीरों में देखिए, भारतीय एथलीट्स ने टूर्नामेंट शुरू होने से एक दिन पहले क्‍या किया एलसीडी डिस्प्ले एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर, छेड़छाड़ प्रूफ प्रीपेड पावर मीटर 308 Views Twitter may be over capacity or experiencing a momentary hiccup. Try again or visit Twitter Status for more information. ×Close 9 वाट का बल्ब सिर्फ 65 रुपये में अंतर्राष्ट्रीय 404 Error सिटी संगम इंटरप्राइजेज कटसमसांडी Two-way (sending and receiving) short codes: अर्थव्‍यवस्‍था (फोटो: Prashanth Vishwanathan/BloombergQuint) When you see a Tweet you love, tap the heart — it lets the person who wrote it know you shared the love. विभागीय ई-फॉर्म्स Copyright © 2018 Samachar Agency. Proudly Designed : By WebsitePoint. . Saturday 18 August 2018 एम पी ई आर सी विद्युत नियामक आयोग ने कृषि क्षेत्र में 25 एचपी से अधिक बिजली खपत पर 2 फीसदी और 25 एचपी तक 12 फीसदी की राहत दी गई है। छोटी इंडस्ट्री को 10 फीसद और हैवी इंडस्ट्री के लिए 3 से 5 फीसद तक की छूट दी गई है। हैवी इंडस्ट्री के लिए पीक आवर में अधितकत 25 फीसदी तथा औसतन 10 फीसदी तक की छूट दिए जाने का प्रावधान रखा गया है. वहीं रेलवे को 16 फीसद तक की छूट दी जा रही है। निगम ने निजी सिंचाई क्षेत्रों के लिए बिजली की दर  बढ़ा कर 5.25 रुपये करने की अनुशंसा की है. वहीं, राज्य के लिए सिंचाई की  नयी दर छह रुपये प्रति किलोवाट करने का आग्रह किया है दून में पहाड़ी शैली में बनेंगे पुलिस बूथ, चौराहों पर दिखेगा ब्रह्मकमल बिजली कंपनी लाई नया पंखा, 28 वॉट बिजली लेगा यह सीलिंग फैन यहां जाएं Chrome > Setting > Content Settings शहडोल, अनूपपुर और उमरिया में सभी कार्य प्राइवेट कंपनियों को दिए गए हैं। वहीं सौभाग्य योजना का कार्य शहडोल जिले में विद्युत विभाग स्वयं करवा रहा है। लेकिन ताजुब की बात यह है कि विभाग प्राइवेट कंपनियों की अपेक्षा और अधिक सुस्ती दिखा रहा है। शहडोल में सौभाग्य योजना का केवल 18 प्रतिशत कार्य ही हुआ हो। वहीं अनूपपुर व उमरिया जिले में सौभाग्य योजना के कार्य प्राइवेट कंपनियां कर रहीं हैं, जिन्होंने 24 वर्क पूरेा कर लिए हैं। अटल बिहारी वाजपेई के निधन पर शोक में डूबा शहर कई पार्टियों ने शोक सभा का आयोजन कर दिया श्रद्धांजलि 3 दक्षिण अफ्रीका187/9(21.0) हिन्दुस्तान ब्यूरो ,पटना मछली पालन BOOKS - कंपनी को 3.46 रुपए प्रति यूनिट की दर से 25 साल तक विंड एनर्जी प्रोजेक्ट से पैदा बिजली मिलेगी। यह बिजली दिल्लीवालों को 18 नवंबर 2018 से मिलनी शुरू होगी। कंपनी ने आरपीओ (रिन्युएबल पावर ऑब्लिगेशन) के लक्ष्य को पूरा करने के लिए विंड एनर्जी से पैदा बिजली खरीदने की तैयारी की है। चंडीगढ़ मूवी मसाला डीआईसी करेगी विद्युत योजनाओं का अनुश्रवण हमारी पुस्तकें 101-200         6.10 July 21, 2018 कंधार हो या कारगिल, कभी विचलित नहीं हुए अटल जी : यशवंत सिन्हा Aquarius (कुंभ) 0-200 यूनिट INDvsENG : इस 20 वर्षीय क्रिकेटर का नॉटिंघम में टेस्ट डेब्यू करना तय! <2W और <10 वीए ऐप डाउनलोड करें बिजली बनाने के कई तरीके हैं. कोयले से बिजली बनती है, हवा से, सूरज की गर्मी से. हम ढेर सारी बिजली बना तो लें लेकिन बना कर उसे स्टोर कहां करें? क्या पहाड़ों की गुफाओं में बिजली को जमा किया जा सकता है? ऑटोमोबाइल सबसे ज्यादा चर्चित VIDEO: कानपुर में लोगों ने अटल जी को दी नम आंखों से विदाई @AamAadmiParty @NarenderModiv why doing pc,jagran ur govt take acton stop politics. Українська мова क्रेडिट कार्ड से मिलते हैं ये बड़े फायदे Earn profits from premium commercial properties in India. सहारा इंडिया फ्रैंचाइज़ी कार्यालय, मुरी विधानसभा चुनाव NRC पर मायावती ने किया कहा, तुरंत यह काम करें मोदी सरकार News From Indian States कांटी- स्टेज एक4.86 4.79 मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हासिल हुई सर्वाधिक 10.08 % वृद्धि दर: रिपोर्ट बीटीसीसीहिना, हूबी, ओकाइन् फेस एडमिनिस्टिक सज़ा ... Deshbandhu जिम्मेदारियां विजेंद्र गुप्ता ने कहा, जो लोग कभी बिजली कंपनियों का एकाधिकार समाप्त करने और बिजली कंपनियों के ऑडिट की बात कर सत्ता में आए थे तथा जो लोग शीला दीक्षित और बिजली कंपनियों के भ्रष्टाचार को मिटाकर बिजली के रेट कम करने की बात करते थे , वही लोग आज निजी बिजली कंपनियों का प्रवक्ता बन गए हैं. पिछले 6 महीने में इन बिजली कंपनियों को दूसरी बार स्थाई शुल्क बढ़ाकर इन्हें मालामाल कर रहे हैं. Arrah च) डाटा बस आउटपुट के लिए ऑप्टिकल पोर्ट कल फिर उत्तरप्रदेश में मोदी की रैली विद्युत योजना के लिए चार लाख रुपये मंजूर Font help Advertise with Us| RC रेडियो आवृत्ति ...जब अटल बिहारी ने ली चुटकी, कहा- अब तो इंदिरा मुझे बड़े प्यार से देखती हैं    English Pan card रांची : झारखण्ड निर्माण के लिए सदा अटल जी के ऋणी रहेंगे- रघुवर दास स्वीट हार्ट डील: काकरिया के मुताबिक डायल सहित कुछ एजेंसियों के साथ बिजली कंपनियों की स्वीट हार्ट डील है। इन्हें पब्लिक यूटिलिटी के नाम पर सस्ते में बिजली दी जाती है जबकि वहां शोरूम, पब, रेस्टोरेंट चल रहे हैं जो जरूरत से ज्यादा बिजली यूज करते हैं। इनका बोझ भी आम कंज्यूमर की जेब पर पड़ता है। इसलिए स्वीट हार्ट डील खत्म होनी चाहिए। Copy link to Tweet शिवहर www.amarujala.com 11 जून 2017, 11:56 PM टैग: दिल्ली से और टेस्ट सीरीज उन्होंने कहा, ''अगर इन चारों वस्तुओं को इस जीएसटी के दायरे में रखा जाता तो अच्छा रहता. इन चारों वस्तुओं का मार्केट में बड़ा असर होता है.'' महिंद्रा ने 2010 में 16 अरब रुपये में रेवा कंपनी के खरीदा था.महिंद्रा द्वारा खरीदे जाने के बाद ये पहली कार है. रेवा प्रमुख चेतन मनी कहते हैं ये एक ‘गेम चेंजिंग’ कार है. पहले पेश की गई कार को ‘गोल्फ कार्ट’ कहा जाता था क्योंकि इसमें सिर्फ दो लोग बैठ सकते थे. अबमहिंद्रा रेवा ई2ओ में चार लोग बैठ सकते हैं और 10 कंप्यूटर इस कार की कार्यप्रणाली के संचालित करते हैं. अब पाइए अपने शहर ( Jabalpur News in Hindi) सबसे पहले पत्रिका वेबसाइट पर | Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Patrika Hindi News App, Hindi Samachar की ताज़ा खबरें हिदी में अपडेट पाने के लिए लाइक करें Patrika फेसबुक पेज राजौरी सीमा विवाद सुलझाने के लिए वाजपेयी ने तैयार की थी प्रणाली: चीन बेगूसराय (बिनोद कर्ण) : बछवाड़ा प्रखंड के चमथा गंगा धाम चिरैयाटोल कल्पवास मेला में मंत्री, डीएम, एसपी व विधायकों के पहुंचने से रौनक बढ़ गई है. शनिवार की देर शाम बिहार सरकार के ग्रामीण विकास […] June 14, 2018 Disclaimer प्रदत्ती सेवाऍं इस लिंक को कॉपी करें विदेशी मामले अधीक्षण अभियंता ने कहा See more of Aam Admi Zindabad(आम आदमी जिंदाबाद) on Facebook कन्या Faststep Kannada भाजपा मंडल अध्यक्ष Read More: विद्युतयोजनाअवधिजून इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में आज लेंगे शपथ जिस्मफरोशी की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, अंदर का… ईडीएफ के सामने भी हैं सवाल शराब पार्टी करते दारोगा समेत चार लोग स्कूल कैंपस से… 11 AUGUST 2016 Faststep की ओर से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 15 शहरों में रिलांयस-बीपी करेगा घरों में गैस का वितरण, लाइसेंस लेने के लिए लगाई बोली देवनागरी कैसे टाइप करें DASHRATH KUMAR यूपीएससी - मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम वीडियो परिचय 399 Shenzhen Calinmeter Co,.LTD अन्त्योदय राशन कार्ड Bijli Bachao participates in the Amazon Associates and Flipkart Associates Program, affiliate advertising programs designed to provide a means for sites to earn commissions by linking to Amazon and Flipkart. This means that whenever you buy a product on Amazon or Flipkart from a link on here, we get a small percentage of its price. That helps support Bijli Bachao with some money to maintain the site, and is very much appreciated. Amazon and the Amazon logo are trademarks of Amazon.com, Inc. or its affiliates. सस्ता बिजली प्रदाता - बिजली कंपनी सस्ता बिजली प्रदाता - ऊर्जा प्रदाता चुनें सस्ता बिजली प्रदाता - यहां अधिक जानकारी
Legal | Sitemap