ग्रेटर नोएडा आंकड़े और संसाधन परियोजनाओं को अनुमति देने की प्रक्रिया शीघ्र ही प्रारम्‍भ होगी। अनुमति मिलने के बाद परियोजनाओं को पूरा करने के लिए राज्‍यों की वितरण कंपनियों और वितरण विभाग को ठेके दिए जाएंगे। ठेके देने की अवधि से 24 महीने के भीतर परियोजनाओं को पूरी किया जाना चाहिए। फिलहाल इस योजना के लिये 12 हजार 320 करोड़ रुपए का बजटीय आवंटन किया गया है। Write a Comment छत्तीसगढ़ विद्युत नियामक आयोग ने बिजली की नई दरें घोषित कर दी हैं। उपभोक्ताओं के लिए ये दरें 1 अप्रैल से लागू हो जाएंगी। मीडिया व्यक्तियों के ऑनलाइन प्रत्यायन Copyright © 2017 Reporters Corridor. All rights reserved. हिन्‍द गजट हिसार में सिख परिवार पर हमला, पुलिस ने दर्ज की FIR सिविल सेवा परीक्षा फिट बोकारो जिला परिसद सदस्य सह जेएमएम युवा नेता पर्यटन भारी बारिश से कर्नाटक के कोडगू में हो रहे भूस्खलन, बाढ़ जैसे... 1.25 लाख उपभोक्ताओं को मिलेगी सस्ती बिजली हरियाणा की कुल स्थापित और अनुबंधित बिजली उत्पादन क्षमता 11,342.42 मेगावाट है। इसमें 8,322.84 मेगावाट बिजली कोयले से बनती है। 1,953.13 मेगावाट बिजली का उत्पादन हाइड्रो प्लांट, 673.12 मेगावाट बिजली गैस, 100.93 मेगावाट परमाणु और 292.4 मेगावाट नवीकरणीय ऊर्जा से बनती है। यानी 24.67 फीसद बिजली राज्य की खुद की है। संयुक्त क्षेत्रीय प्रोजेक्ट बीबीएमबी से 7.47 फीसद बिजली हरियाणा के पास आती है। केंद्रीय ऊर्जा क्षेत्रीय उपक्रम (सीपीएसयू) इकाइयों से 26.64 फीसद और बाहरी आइपीपी (स्वतंत्र निजी निर्माताओं) से 41.20 फीसद बिजली मिलती है। चीनी (Sugar) #रायपुर Madhubani अरुण कुमार मानते हैं कि जीएसटी लागू करने का दबाव मल्टिनेशनल कंपनियों की ओर से भी था. उन्होंने कहा कि ये नहीं चाहते थे कि उन्हें भारत के अलग-अलग राज्य में अलग-अलग टैक्स से जूझना पड़े. हालांकि इससे छोटे व्यापारियों पर असर पड़ सकता है. क्वालिफाइंग अंग्रेज़ी भाषा प्रश्नपत्र नहीं रहे भारतीय राजनीति के 'अजातशत्रु' अटल बिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स में हुआ निधन देवाशीष सिंह कार्य के लिए पत्र जारी किये जाने की तारीख से 24 महीनों की अवधि के भीतर योजना को पूरा किया जाएगा। जवाब -हमारे देश में घरेलु विद्युत् कनेक्शन लेने वाले लोगों का प्रतिशत बहुत कम है। इस सौभाग्य योजना का उद्देश्य देश के सभी ग्रामीण और शहरी इलाकों में रहरहे सभी शेष गैर-विद्युतीकृत परिवारों को अंतिम छोर तक बिजली कनेक्शन द्वारा ऊर्जा प्रदान करना है। जर्मन सीखिये पर्दे के पीछे दुनिया के अजीबोगरीब कानून, जिन्हें जानकर आप रह जाएंगे हैरान उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव खत्म होते ही नई बिजली की दरों में बढ़ोतरी कर दी गई है। बिजली दरों की बढ़ोतरी ग्रामीण और शहरी दोनों जगह हुई हैं। बिजली दरों में बढ़ोतरी के लिए गुरुवार को लखनऊ में की प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई । इसमें आयोग के चेयरमैन एसके अग्रवाल ने बिजली की बढ़ी दरों के बारे में बताया। We are very sorry, the page you are looking for appears to be missing. Click here to go to the home page. छत्तीसगढ़ से बेहतर कानपुर व बिहार की कंपनी सब्सक्राइब कीजिए SAT, AUG 18, 2018 कांटी- स्टेज एक4.86 4.79 अध्यक्ष-नवजीवन सहकारिता हाउसिंग सोसायटी, उपाध्यक्ष-बस्ती बिकास समिति #अटल बिहारी वाजपेयी #बिजली ज़ी न्यूज़ डेस्क शेयर पैनल को बंद करें आरबीआई ने एक समूह बनाया है। जिसके तहत बिल पेमेंट के रिकॉर्ड के आधार पर किसी शख्स के लोन लेने की योग्यता तय करेगा। क्रेडिट रेटिंग एजंसी अभी बैंकिंग और गैर बैंकिंग कम्पनियों की वित्तीय स्थिति को देखकर स्कोर देती हैं। इससे पता चल जाता है कि भविष्य में ली गई भार भरकरम वह लौटा पाने में समर्थ होगें या नहीं।  आयोजनकर्ता में मुख्य रूप से सोनू बारीक, तुलसी महतो, शम्भू महापात्र, अमित रक्षित बाबा सारंगी, परमथो नायक, पोदु नायक, अलोक प्रामाणिक, रंजन ठाकुर, मासांत कलन्दी, सूरज कालन्दी, गणेश मंडल, चंदन प्रजापति, विजय, बिनोद, कुना समेत काफी संख्या में कांवरिया संघ के लोगों का सराहनीय योगदान रहा। करीब दो हजार लोगों ने भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। स्वचालन Magyar एलपीजी की खपत में 2014-15 और 1015-16 के बीच 10.5 फीसदी और 9 फीसदी का इजाफा देखा गया है वहीं उज्ज्वला योजना शुरू होने के बाद 2016-17 और 2017-18 में एलपीजी की खपत में वृद्धि दर 10.1 फीसदी और 8 फीसदी देखी गई है जो कि योजना शुरू होने से पहले के बराबर ही है. विष्णु दिगंबर पलुस्कर: गायकों को सम्मान दिलाने की लड़ाई लड़ने वाला 'शास्त्रीय' सितारा VPS की सुकन्या विवि में थर्ड, मौलाना मजहरूल अरबी-फारसी विवि का परिणाम घोषित June 27, 2018 Top Ten Solar Panel Brands (Manufacturers) in India मारपीट के आरोपी दिग्विजय सिंह ने सौंपे सभी सरकारी हथियार राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने लाइन लॉस का पूरा भार बिजली उपभोक्ताओं पर न डालने की वकालत की। उन्होंने ओडिशा का उदाहरण देते हुए कहा कि बिजली कंपनियों के घाटे के आधार पर जो रेग्युलेटरी सरचार्ज लगाया जाता है। उसका 50 प्रतिशत हिस्सा उपभोक्ताओं और 50 प्रतिशत हिस्सा बिजली कंपनियों को देना चाहिए। ताकि बिजली कंपनियों की लापरवाही का खामियाजा ईमानदार उपभोक्ताओं पर न पड़े। CURRENT AFFAIRS पावर कॉरपोरेशन की चारों बिजली कंपनियों के उपभोक्ताओं पर रेग्युलेटरी सरचार्ज प्रथम अलग-अलग लागू है। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम में सबसे ज्यादा 2.84 फीसदी। एक हजार रुपये पर करीब 28 रुपये, दक्षिणांचल में 1.14 फीसदी। एक हजार पर 11 रुपये, पूर्वाचल के 1.03 फीसदी। राकेश पाल सिंह को आरजीजीवीवाय - जबलपुर, उमरिया, बालाघाट, सागर, बालाघाट, पन्ना, रीवा, शहडोल, छिंदवाड़ा व सिवनी जिला फीडर सेपरेशन- रीवा नॉर्थ, रीवा साउथ, नरसिंहपुर, सिवनी, सागर, बीना, लखनादौन, पृथ्वीपुर, रेहली, बांदा डिवीजन, पन्ना, छिंदवाड़ा ईस्ट, जुन्नारदेव, दमोह नॉर्थ, कटनी। Top Posts & Pages हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि इसे कब तक बाध्यकारी बनाया जाएगा. नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह ने कहा, ‘‘सौर ऊर्जा क्षेत्र में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिये हम 20,000 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं की नीलामी करेंगे और इसे विनिर्माण से जोड़ेंगे. यानी इसमें वहीं कंपनियां भाग ले सकेंगी जो सौर ऊर्जा से जुड़े उपकरण का विनिर्माण यहां करेंगी. इसके लिये जल्दी ही वैश्विक निविदा जारी की जाएगी.’’ उन्होंने यह भी कहा, ‘‘पवन और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हम नये क्षेत्रों पर ध्यान दे रहे हैं. इसके तहत तमिलनाडू और गुजरात के अपतटीय क्षेत्र में पवन ऊर्जा तथा देश के भीतर मौजूदा जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने की दिशा में काम कर रहे हैं.’’ टैक्स/निवेश समाचार 1699914088खरीदे “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल 16/08/2018 Jio Phone 2 लॉन्च: जानिए कीमत, जरूरी बातें Log On Delhi Scheme मोटो जेड2 प्ले 64जीबी (लूनर ग्रे, 4जीबी रैम) HARYANA GK Arvind Kejriwal दरीदा पंचायत मुखिया अस्वीकरण Copyright © 2017 Firstpost.com — All rights reserved. NETWORK 18 SITES ऊर्जा मंत्रालय के सर्कुलर अनुसार यदि किसी परिवार में पांच सदस्य है और मुखिया के नाम से बिल कनेक्शन है। यदि वह मुखिया असंगठित श्रमिक योजना के तहत पंजीकृत नहीं है और उसके परिवार का अन्य कोई एक भी सदस्य पंजीकृत है तथा इन दोनों के नाम समग्र आईडी परिवार की प्रोफाइल में एक साथ सम्मिलित है तो योजना का लाभ मिलेगा। सिंह ..जब नवाज शरीफ बोले वाजपेयी साहब पाकिस्तान में भी जीत सकते हैं चुनाव एंटरटेनमेंट News2018-05-28T16:54:36 तीसरा टेस्ट यूएस-चीन ट्रेड वॉर की वजह से भारत जारी रख सकता है ईरान से तेल आयात November 2017 कांग्रेस के बाद कर्नाटक CM सिद्धारमैया का ऐप भी 'गायब' बिजय रजवार Click to share on Twitter (Opens in new window) 100 यूनिट से ज्यादा खपत को लेकर भले ही स्थिति स्पष्ट नहीं है लेकिन 100 यूनिट तक 200 रुपए बिल आने पर 250 से 300 रुपए तक का फायदा होगा। ग्रामीण क्षेत्र में मौजूदा दरों से अभी 100 यूनिट पर 450 और शहरी क्षेत्र में 500 रुपए औसत बिल बनता है। इसमें से 200 रुपए ही भरना होंगे, बाकी राशि सरकार सब्सिडी के रूप में कंपनी को जमा करवाएगी।  कंपनी की ओर दिए गए प्रस्ताव पर विनियामक आयोग अध्ययन करेगा. प्रमंडलवार शिविर आयोजित कर आम लोगों से राय ली जाएगी. अंतिम जनसुनवाई पटना में दो दिनों तक होगी. फरवरी तक सभी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी. मार्च 2018 में आयोग एक अप्रैल 2018 से लागू होने वाली नई बिजली दर की घोषणा करेगा. इस मामले में ऊर्जा मिनिस्टर बिजेंद्र प्रसाद यादव ने बताया कि बिजली कंपनी ने अगले साल के लिए बिजली दर तय करने को याचिका दायर की है. आयोग सभी पक्षों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लेगा. नई दर आने पर राज्य सरकार जरूरत के अनुसार आवश्यक निर्णय लेगी. एचआरएमएस Total 0 search results found for %20%20%E0%A4%AC%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%B2%E0%A5%80%20%E0%A4%95%E0%A4%82%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%80 रद्द कराए गए आपके टिकटों से रेलवे की 'चांदी' Google Ads थीम चुनें Reviews Subject साइट जानकारी Business Resources – All Business Resources • Product Development • Negotiation • Business Frameworks • Business Terms • Video Marketing • Create for Work Viral ख़बर पहले सरकार बिजली की उपलब्धता कराए, डोमेस्टिक बिजली की दर में बढ़ोतरी राज्य की गरीब जनता के साथ अन्याय है। कांग्रेस पार्टी इसका पुरजोर विरोध करेगी, उन्होनें इस सबंध में झारखण्ड राज्य विद्युत नियामक आयोग की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि बिजली भाल्क बढ़ाने की प्रक्रिया में कई त्रुटियां है, झारखण्ड राज्य बिजली वितरण निगम लिमिटेड बिजली की क्वालिटी और क्वांटिटी मुहैया कराने में सक्षम नहीं है। बिजली की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्‍चत कराने की बजाय बिजली दर में बढ़ोतरी किया जाना अनुचित है। Team यह पहली बार नहीं है, जब दिल्ली में बिजली के फिक्स चार्ज में बढ़ोतरी की गई है. इससे पहले भी कई बार फिक्स चार्ज में वृद्धि की जा चुकी है. वहीं, DERC ने बिजली की कीमतों में कटौती करके आम जनता को राहत देने की बात कही है, लेकिन हकीकत यह है कि यह आंकड़ों का हेरफेर ही है. इससे आमजन को कोई खास राहत नहीं मिलने वाली है. अगली स्टोरी Suggestions Create Ad VIDEO: गाजीपुर जेल में बंद कैदियों ने सीसीटीवी कैमरे लगाने का किया विरोध हालांकि 2 किलोवाट तक की बिजली पर फिक्स्ड चार्ज 20 रुपए से बढ़ाकर 125 रुपए कर दिया है. 2 किलोवाट से 5 किलोवाट पर फिक्स्ड चार्ज 35 रुपए से बढ़ाकर 140 रुपए कर दिया है. 5 किलोवाट से 15 किलोवाट तक की बिजली पर फिकस्ड चार्ज 175 रुपए और 15 किलोवाट से 25किलोवाट के लिए यह चार्ज 200 रुपए कर दिया है. इससे पहले अगस्त 2017 में बिजली की दरों में बदलाव किए गए थे. अधिनियम/नियम बैडरूम को बनाना हैं रोमांटिक तो इस कलर करें यूज Shimla Cookies Policy बिजली बनाने के कई तरीके हैं. कोयले से बिजली बनती है, हवा से, सूरज की गर्मी से. हम ढेर सारी बिजली बना तो लें लेकिन बना कर उसे स्टोर कहां करें? क्या पहाड़ी गुफाएं इसमें मदद कर सकती हैं? विशेषताएं + लाभ अपनी बात विभागीय गतिविधियाँ सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation इस कार में जीपीएस नेविगेशन, कीलेस एंट्री और स्टार्ट-स्टॉप जैसी सुविधाएं भी दी गई हैं. इस कार में विशेष ब्रेक लगाए गए हैं ताकि ब्रेक लगाते वक्त मिलने वाली ताकत से फिर से बैट्री को चार्ज किया जा सकता है. दिल्ली में इस कार पर दिल्ली सरकार ने 29 प्रतिशत की रिआयत दी है. Comment आज से इंडोनेशिया में एशियन खेलों का आगाजजकार्ता। राष्ट्रमंडल खेलों में मिली सफलता के बाद भारतीय खिलाड़ियों के 51-100              2.90 ‘सबके लिए बिजली’ (पावर फॉर ऑल) के लक्ष्य की पूर्ति एक बहुत बड़ी चुनौती है। इसके मद्देनजर आम लोगों को नए कनेक्शन सरल और आकर्षक शर्तों पर उपलब्ध कराना आवश्यक है। साथ ही बिजली का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों के कनेक्शन लेने से बिजली के वैध उपयोग को बढ़ावा मिलेगा।  चकल्लस प्रीपेमेंट एकल चरण मीटर - कंपनी को 3.46 रुपए प्रति यूनिट की दर से 25 साल तक विंड एनर्जी प्रोजेक्ट से पैदा बिजली मिलेगी। यह बिजली दिल्लीवालों को 18 नवंबर 2018 से मिलनी शुरू होगी। कंपनी ने आरपीओ (रिन्युएबल पावर ऑब्लिगेशन) के लक्ष्य को पूरा करने के लिए विंड एनर्जी से पैदा बिजली खरीदने की तैयारी की है। विज्ञापन र॓ट सरायकेला खरसावाँ Bihar Cafe लेकिन इस योजना पर बहुत ही धीमी गति से काम बढ़ रहा है. शहरी आबादी के लिए दो करोड़ मकान बनाने के लक्ष्य में से दिसंबर 2017 के आखिरी तक सिर्फ 4.13 लाख मकान ही तैयार हो पाए थे और 15.65 लाख मकान निर्माणाधीन थे. सस्ता बिजली डलास TX - व्यापार के लिए सस्ता बिजली सस्ता बिजली डलास TX - विद्युत सेवा सस्ता बिजली डलास TX - सस्ते बिजली की आपूर्ति
Legal | Sitemap