अप्रैल में जीएसटी संग्रह 94,000 करोड़ रुपये जयपुर । जयपुर डिस्काॅम ने तीन महत्वपूर्ण योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक बढाया है जिससे अधिक से अधिक संख्या में उपभोक्ता इन योजनाओं का लाभ उठा सके। पूर्व में यह योजनाएं तीस अप्रैल तक ही प्रभावी थी। किसान के बेटे का कमाल, केले के तने और रद्दी कागज से पैदा की बिजली दिल्ली में बिजली की दरों में बढोतरी की आहट सुनाई दे रही है. निजी बिजली कंपनियों ने घाटे का हवाला देकर बिजली की दरें बढ़ाने की मांग की है और दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी अथॉरिटी के पास अपनी अर्जी भी लगा दी है. मैगज़ीन टेस्ट के उत्तर बुजुर्ग बोली: अरी बैठ जा, कुछ सालों बाद बोनट पर ही बैठना पड़ेगा। कनेक्शनों की संख्या बढ़ाने के लिए किया फैसला # Dehradun News Today रिलेशनशिपरहन सहनराइट डाइटफिटनेसपैसों की बात पर्यटन अचानक कैसे बढ़ गया बिजली कंपनियों का घाटा जीपीएस नेविगेशन, कीलेस एंट्री सुनील ग्रोवर बिजली पर जारी रहेगी सब्सिडी, 1720 करोड़ खर्च करेगी राज्य सरकार जबलपुर शासन और प्रशासन राजस्थान न्यूज देखिए, केरल में बाढ़ से ताश के पत्तों की तरह ढही इमारत lCldzkbc उपयोगी कड़ियाँ हमें खेद हैं कि आप opt-out कर चुके हैं। हम आपके लिए अपने कंटेंट को बेहतर बनाने के लिए कूकीज का इस्तेमाल करते हैं. अधिक जानकारी डाटा सुरक्षा पेज पर उपलब्ध है. जैविक खेती बिजली बनाने के बजाय खरीदकर बेचना लाभ का सौदा, जाने कैसे Jalandhar घटनाक्रम अर्थव्‍यवस्‍था निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा? जम्मू Dharam रैपिड रेल: 'केंद्र सरकार नहीं उठा सकती दिल्ली के हिस्से का ख... - अनमीटर्ड ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं की 180 व 200 रुपये प्रति किलोवाट के स्थान पर अब 300 रुपये प्रति किलोवाट की दर से भुगतान करना पड़ेगा। 1 अप्रैल से इन उपभोक्ताओं की दर 100 रुपये प्रति किलोवाट और बढ़ जाएगी और इन्हें 400 रुपये प्रति किलोवाट के हिसाब से बिल चुकाना होगा। India Today Woman's Summit दिल्ली बिजली नियामक प्राधिकरण की बैठक में लिया गया फैसला पत्रकारों को 'बच्चा' कहते थे अटल जी, मैनेजिंग एडिटर अजय कुमार के साथ खास बातचीत Deutschlehrer-Info nscindore मल्टीप्लेक्स 232 इस वेबसाइट से संबंधित सवालों के लिए कृपया वेब सूचना प्रबंधक से सम्‍पर्क करें: [email protected] अनुदान के बाद 2017-18 में बिजली दर Homeआपका ज़िलाबिजली दर वृद्धि के विरोध में भाजपाइयों ने फूंका ऊर्जा मंत्री का पुतला Movie Reviews रितेश तिवारी वातावरण की उपेक्षा की यह स्थिति थी कि खुदाई तथा सुरंग बनाने से निकला सारा मलवा खुलेआम नदी में डाला जा रहा था। योजना बनाने वालों ने किंचित भी परवाह नहीं की कि ऐसा करने से पानी दूषित हो जाएगा तथा जल में रहने वाले जीवों की हानि होगी। जो वृक्ष या वन लगाने की बात योजना वालों ने की थी वह पूरी नहीं की गई। अड़तीस प्रतिशत योजनाओं ने कोई पेड़ नहीं लगाए, योजनाओं की सड़कें तथा सुरंगें बनाने से पहाड़ों के ढलानों को नुकसान हुआ। इन सब बातों का प्रतिकूल प्रभाव नदियों के नीचले भागों में पड़ा। नीचे के जल प्रवाह की माप होनी चाहिए थी तथा उसके मानदंड बनाए जाने चाहिए थे ताकि योजनाओं का वातावरण पर दुष्प्रभाव न पडे, उससे भूमिगत पानी का संचय हो रहा है या नहीं। सिंचाई के लिए क्या बचा पानी पर्याप्त है कि नहीं तथा नदी में कितनी बालू-मिट्टी जमा हो रही है ? यह देखा जाना चाहिए था कि योजनाओं के बनने के बाद पर्यावरण तथा प्रकृति पर क्या प्रभाव पड़ रहा है और उसकी लगातार समीक्षा होनी चाहिए थी। बिजली यंत्रों को चलने से यदि कोई दुष्प्रभाव पड़ रहा है तो उनके संचालन में बदलाव किया जाना चाहिए था। भारत सरकार के सुझावों के अनुसार एक प्रतिशत बिजली सरकार को सहायता के लिए मुफ्त दी जानी चाहिए थी। 12. पापों से मिलेगी मुक्ति,अगर करते हैं षट्तिला एकादशी का व्रत सास-बहू के जिस्मफरोशी के धंधे से उठा पर्दा, रंगे... सलमान के कॉपी लव त्यागी ने बदल लिया है अपना अंदाज़ हरियाणा में मुख्यमंत्री चेहरे का है केवल एक ही नाम मनोहर लाल रिपोर्टः फ्रित्ज मूरी हिंदीதமிழ்বাংলাമലയാളം मराठीENGLISH इंडियन ऑयल के मुताबिक करीब 70 फीसदी लाभार्थियों ने एलपीजी चूल्हा और पहली बार गैस भरवाने के शुल्क के लिए ओएमसी से ब्याज रहित लोन लिया है. योजना के तहत हर बार गैस भरवाने पर सब्सिडी के तौर पर कटने वाली रकम से इस लोन को चुकाया जाता है. इसलिए 70 फीसदी उज्ज्वला योजना के लाभार्थी बाज़ार भाव पर सिलेंडर खरीदते हैं जब तक उनका लोन चुकता नहीं हो जाता है. ट्रेन में फंसा साड़ी का पल्लू, ऐसे बची जान सीएचसी चंदनकियारी गोरखपुर महत्वपूर्ण वेबसाइट All content on this website is published आज से इंडोनेशिया में एशियन खेलों का आगाजजकार्ता। राष्ट्रमंडल खेलों में मिली सफलता के बाद भारतीय खिलाड़ियों के उत्तर-प्रदेश टावर परीक्षण केंद्र 2006 —  26.33 प्रतिशत Library Profile आयोग के अध्यक्ष देशदीपक वर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से रेग्युलेटरी सरचार्ज प्रथम को खत्म माना जाएगा। उन्होंने बताया कि पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन राजस्व वसूली और लाइन लॉस के लक्ष्य को पूरा करने में नाकाम रहा है। इसलिए उपभोक्ताओं से दोहरा रेग्युलेटरी सरचार्ज वसूलने का उसे कोई अधिकार नहीं है। 18 अगस्त 2018 Bihar News कोटा/ हिमांशु मित्तल: राजस्थान के कोटा में बिजली कंपनी को भगाने के लिए लोगो ने जल सत्याग्रह शुरू कर दिया है. दर्जनों लोग चंबल नदी में उतर गए हैं और कोटा की बिजली कंपनी KEDL को कोटा से हटाने की मांग जल सत्यग्रह के जरिए कर रहै हैं. चंबल नदी में लगातार KEDL GO BACK के नारे ही सुनाई दे रहे हैं. पलामू मछली पालन 10 Saturday,18 August 2018,10:55 AM टूरिज़्म मनसा वाचा कर्मणा राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने पूजन किया 16/08/2018 Say a lot with a little ठोस परावैद्युत प्रयोगशाला इतिहास: जब केवल दो दिन में हुआ पांच दिन के टेस्ट मैच का फैसला वर्ष   सब्सिडी फिल्म रिव्यू CSC-UIDAI Updated: 'अटल' हो गई महाकवि गोपाल दास नीरज की भविष्यवाणी! सोनीपत रिजर्व बैंक के इस कदम से लोन लेना पड़ेगा महंगा चक्रधरपुर (पश्चिमी सिंहभूम) । श्रावण महीना के अवसर पर कराईकेला पंचायत स्थित आहारबाबा शिवालय में उरके कावरिया संघ 64 मौजा कराईकेला द्वारा बालक भोजन आयोजित किया गया। जिसमें सेकड़ों बच्चों तथा शिव भक्तों ने भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन कराईकेला के मुखिया राजेन्द्र मेलगांडी  तथा हुडंगदा मुखिया विजय नाग ने की। 5 हजार करोड़ रूपए जमा करने के बाद लागू करें योजना संन्यासी के पास इतना सोना कहां से आया? Europe News फीडबैक: फीडबैक भेजें पाली अटलजी की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन, उनके विचार हमेशा साथ रहेंगे परिवहन और भंडारण के लिए तापमान रेंज सीमा खाता बनाएँलॉग इनविशेषखोजें मॉब लिंचिंग से नहीं हुई अकबर की मौत : आईजी इन दरों में नहीं हुआ बदलाव Podcasts & Newsletter सरकार ने कहा- गुर्जर के 5 प्रतिशत आरक्षण पर फैसला रोहिणी… भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन हेतु मध्यरात्रि पट खुले दंगों में भाजपा दूध की धुली है तो प्रकाश कमेटी रिपोर्ट को कूड़ेदान में क्यों डाल दिया : भूपेंद्र सिंह हुड्डा बिजली कंपनी में अब फिर से अनुकंपा नियुक्ति शुरू होने जा रही है। इससे नियुक्ति का इंतजार कर रहे कर्मचारियों के... कृपया ध्यान दें: जानिए क्या हैं तत्काल टिकट बुकिंग के नए नियम Create Password to secure your account and login faster next time बक्‍सर आज है आधार से पैन कार्ड लिंक कराने की आखिरी तारीख, आयकर विभाग की वेबसाइट हुई क्रैश सूक्ष्म और लघु उद्यमों को सस्ती बिजली के लिए हरियाणा में ‘पावर टैरिफ सब्सिडी योजना’- Power Tariff Subsidy Yojna बिजली-सड़क-पानी से सुपरहिट गृह मंत्रालय और प्रवर्तन फुटबॉल power company jobs बिगनर्स के लिये सुझाव कैसे पहुंचें निर्मल सिंह उत्तर प्रदेश सरकार SUBSCRIPTION राशि Rojgar Mela DRISHTI INDEPENDENCE DAY OFFER FOR DLP PROGRAMME View Details महीने भर के हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि इसे कब तक बाध्यकारी बनाया जाएगा. नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह ने कहा, ‘‘सौर ऊर्जा क्षेत्र में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिये हम 20,000 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं की नीलामी करेंगे और इसे विनिर्माण से जोड़ेंगे. यानी इसमें वहीं कंपनियां भाग ले सकेंगी जो सौर ऊर्जा से जुड़े उपकरण का विनिर्माण यहां करेंगी. इसके लिये जल्दी ही वैश्विक निविदा जारी की जाएगी.’’ उन्होंने यह भी कहा, ‘‘पवन और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हम नये क्षेत्रों पर ध्यान दे रहे हैं. इसके तहत तमिलनाडू और गुजरात के अपतटीय क्षेत्र में पवन ऊर्जा तथा देश के भीतर मौजूदा जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने की दिशा में काम कर रहे हैं.’’ सहायक लोक सूचना अधिकारी/अपीलीय प्राधिकारी माँ पापा का दुलारा स्थल नक्शा दीनदयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत वितरण की अवधि में सुधार होगा। इसके साथ ही अधिक मांग के समय में लोड में कमी, उपभोक्‍ताओं को मीटर के अनुसार खपत पर आधारित बिजली बिल में सुधार और ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की अधिक सुविधा दी जा सकेगी। आईसोपाम योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं कार्तिक और नायरा की जिंदगी में एक नए रिश्तेदार की होंगी... मेरी उड़ान : ‘गोठ एप’ पर जानिए, कैसे करें PSC की तैयारी नागरिक सेवाएं हरदोई -रेलवे ट्रेक्टशन को ओपन एक्सेस से 20 फीसदी लोड फैक्टर के खपत करने पर 30 फीसदी ऊर्जा प्रभार में छूट। World Theatre Day: इन सेलेब्रिटीज की गवाह रही संस्कारधानी   सस्ता बिजली प्रदाता - सस्ता बिजली और गैस सस्ता बिजली प्रदाता - डलास में सस्ता बिजली सस्ता बिजली प्रदाता - विद्युत प्रदाता चुनें
Legal | Sitemap