प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण आवेदन और पात्रता सूची की पूरी जानकारी झरिया Already have an account ? स्नाताकोत्तर छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना प्रतिनिधिमंडल के साथ मुजफ्फरपुर जा रहे तेजस्वी यादव, देखेंगे सही जांच हो रही या नहीं national मीडिया व्यक्तियों के ऑनलाइन प्रत्यायन होरोस्कोप केरल: बाढ़-बारिश से 3 लाख से ज्यादा बेघर, मई से अब तक 324 की मौत; मोदी कुछ देर में करेंगे हवाई सर्वे Just Now भगवानपुर/बेगूसरायः बिहार में बिजली बिल में वृद्धि को लेकर प्रदेश भर के लोगों में उबाल है. जगह जगह लोग इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. ऐसे में राज्य के विपक्षी पार्टियों को भी बिजली बिल के रूप में आवाज उठाने और सत्तापक्ष के खिलाफ एक मुद्दा मिल गया है. रिलेशनशिप्स इन 10 तरीकों से नारियल तेल का इस्तेमाल करेंगे तो दिखेंगे यंग राज्य में अप्रैल से लागू होंगी बिजली की नई दरें, जानें- आपकी जेब पर क्या होगा असर? Newer Post Older Post Home ईमेल पर फ्री जानकारी के लिए सब्सक्राइब करे हसनैन आलम उर्फ टिंकू Aadhaar Soft कार्यक्रम को संबोधित करते हुए झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार ने कहा कि झारखंड के सभी ठच्स् एवं ।च्स् परिवार के घरों तक बिजली दिसंबर तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि संथाल परगना के सभी 6 जिले दुमका, देवघर, साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा में से दुमका एवं देवघर जिला में सभी घरों तक जुलाई तक बिजली पहुंचा दी जाएगी तथा शेष बचे 4 जिलो साहेबगंज, जामताड़ा, पाकुड़ एवं गोड्डा के सभी घरो तक बिजली अक्टूबर महीने तक पहुंचा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड में 500 सब स्टेशन बनाने का लक्ष्य है। जिनमें से 150 सब स्टेशन बनाया जा चुका है। बचे हुए लक्ष्य को बहुत जल्द पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे झारखंड राज्य में 1.50 लाख ट्रांसफर्मर लगाना है जिनमें से 30 हजार ट्रांसफर्मर लगा दिया गया है। उन्होंने कहा कि अरबन ग्रामीण क्षेत्रों में रिंग सिस्टम को लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मार्च 2020 तक 15 प्रतिशत बिजली लॉस पर कामयाबी प्राप्त कर ली जाएगी । उन्होंने कहा कि आप सभी अपना बिजली बिल प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से जमा कर सकते हैं, पूरे झारखंड में 4000 प्रज्ञा केंद्र है, जिनमें से 2000 प्रज्ञा केंद्र एक्टिव मोड में कार्य कर रही है। बचे हुए प्रज्ञा केंद्र को भी बहुत जल्दी एक्टिव मोड में लाने की दिशा में कार्य चल रही है। इस प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से आप सभी अपना बिजली बिल आसानी से जमा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि कंज्यूमर को शिकायत दर्ज करने में परेशानी होती था जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने कंज्यूमर कॉल सेंटर की स्थापना की। इस कंज्यूमर कॉल सेंटर के माध्यम से आप अपनी शिकायत दर्ज कर पाएंगे। सोशल मीडिया के माध्यम से भी आप अपनी शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नही होगी। इस प्रकार की प्रक्रिया हम लोगों ने बनाए हैं अब कंज्यूमर को अपने शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगा । LABELS: # ग्वालियर # मध्यप्रदेश Gateway अक्षय कुमार दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करने... | Updated:Feb 27, 2016, 09:00AM IST Find what's happening लाइव सिटीज डेस्क : मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म कांड की जांच सही दिशा में चल रही है या नहीं, यह देखने के लिए विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल बुधवार दोपहर को मुजफ्फरपुर जाएगा. विपक्ष के नेता तेजस्वी […] ये भी पढ़े... पंजाब केसरी स्पेशल विमानन कंपनियां बहुत ज्यादा किराया नहीं वसूल रहीं: DGCA 4 अगस्त 2018 Sign up and continue using Molitics Modified at - December 23, 2016, 1:28 pm Copyright © 2018 Naidunia. Saharsa बॉर्डर एरिया के गावों में आबकारी पुलिस के छापे, शराब जब्त और लाहण नष्ट क्रेडिट स्कोर और बैंक के लोन या क्रेडिट कार्ड जारी करने में क्रेडिट स्कोर की क्या भूमिका है ये समझना आपके लिए बेहद जरूरी है।क्रेडिट स्कोर वित्तीय संस्थानों से ऋण लेने की क्षमता दर्शाता है। देखें LIVE: अंतिम सफर पर निकले अटल जी, मोदी, शाह सहित जनसैलाब यात्रा में चीन भी Other Properties: नोटबंदी, GST से लघु उद्योगों के कर्ज, निर्यात में गिरावट, इस साल दिखा सुधार औद्योगिक ठोस अपशिष्ट उपयोगिता केंद्र केजरीवाल सरकार का दावा है कि दिल्ली में पिछले 4 सालों से बिजली की कीमतें नहीं बढ़ी हैं. जानकार कहते हैं कि दिल्ली सरकार के इस दावे में दम नहीं है क्योंकि बिजली के रेट पिछले सालों में सीधे तौर पर भले न बढ़े हों लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. यानि 100 रुपये पर तीन रुपये सत्तर पैसे. द्वितीय सन्शोधन पनामा सीमा के निकट दक्षिणी कोस्टारिका में भूकंप, जिसकी तीव्रता 6.0 मापी गई। कृषि (25 एचपी से ज्यादा)- 5.70 - 5.60 एग्जिट पोल: UP निकाय चुनाव में योगी का जादू आधार कार्ड में गलत हो गई जन्मतिथि बदलवाना हुआ मुश्किल, जानें नया नियम मध्यप्रदेश। देश में सबसे ज्यादा महंगी बिजली देने वाले बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में एक बार फिर से बिजली के दाम बढ़ा दिए गए हैं। घरेलू बिजली दरों में एकमुश्त 7.8 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी गई है। सोमवार से ये बढ़ी हुई दरें लागू हो गई हैं। बिजली की नई दरों से सबसे ज्यादा बोझ मध्यम वर्ग पर पड़ने वाला है।  09:42 #AtaljiAmarRahen प्रधानमंत्री बनने के बाद क्यों फूट-फूट कर रोये थे अटल बिहारी वाजपेयी? यहां पतियों ने वट सावित्री व्रत रख की प्रार्थना.."सात जन्मों तक न मिले... 15 hours ago humaramandsaur शिविरों में पहुंच जनसमस्याएं सुन रहे हैं मंत्री देवनानी इन्फोपैक वजीरगंज : जदयू ने किया जीविका के तर्ज पर पंचायतों… A heavy coat of dust on a light bulb can block up to half of the light produced by it. Electricity bill विद्युत उपलब्धता में 23% वृद्धि  खास बात यह है कि नवंबर में यूपीसीएल ने नए टैरिफ का जो प्रस्ताव भेजा था, उसके अनुसार बिजली दरें 15 फीसदी तक बढ़ाई जानी थी. करीब तीन महीने तक प्रदेश में जनसुनवाई के बाद आयोग ने बिजली की नई दरों को मंज़ूरी दे दी है. म. प्र. पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण क. महंगी बिजली का हल निकालने की दिशा में ऊर्जा मंत्रालय ने 17 जुलाई को जारी किए गए मेरिट ऑर्डर पर एक अगस्त तक सीईआरसी, सीईए व राज्यों के ऊर्जा सचिवों से राय मांगी थी . इसमें थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने को लेकर ज्यादातर ने सकारात्मक पक्ष पेश किया . जवाब सकारात्मक होने की वजह बिजली कंपनियों की लागत में कमी व एकरूपता बताई जा रही है . गवर्नमेंट इस व्यवस्था को ट्रायल के आधार पर एक वर्ष के लिए लागू कर सकती है, उसके बाद पुनर्विचार कर आगे कदम बढ़ाएगी . महत्वपूर्ण गतिविधियाँ (*On a Minimum order value of Rs. 15,000 and above) इमेज कॉपीरइट Getty Images निविदाएं पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का काम अधूरा छोड़कर गायब हुईं कंपनियों में सबसे ज्यादा चार हैदराबाद की बताई जा रही हैं। अन्य कंपनियां चेन्नई, बेंगलूरु, जबलपुर, सतना व नोएडा की हैं। काम पूरा नहीं करने वाली इन कंपनियों पर कार्रवाई के बाद बिजली कंपनी इनकी बैंक गारंटी जब्त करने की कवायद में जुट गई है। गोड‍्डा देवशयनी एकादशी 23 जुलाई को : इस दिन व्रत करने से पापों का होता है नाश, 4 महीनों तक नहीं होते शुभ कार्य 42 mins मप्र में बिजली के दामों में 8 से 10% बढ़ोतरी वैद्युत उपस्कर लघु पथन प्रयोगशाला (एससीडी) भारतखेल दिल्लीमूवी-मस्तीNBT ब्लॉगमुंबईजोक्स अपना ब्लॉगलखनऊटेकघर-परिवारअन्य शहरऑटोफोटो धमालदुनियाबिज़नस ETसंडे NBT राशिफल शुभ यात्राविचारNBT मोबाइलNBT ऐप जोक्स It looks like nothing was found at this location. Maybe try one of the links below or a search? © 2018 All Right Reserved radarnews.in राज्यपाल का संदेश FP Staff Updated On: Mar 28, 2018 10:00 PM IST दिवाली खत्म होते ही महाराष्ट्र के लोगों को बिजली दर में बढ़ोतरी का झटका लगा है। बिजली बिल में बढ़ोतरी के लिए महाराष्ट्र विद्युत नियामक आयोग ने महावितरण को हरी झंडी दे दी है। बिल में बढ़ोतरी एक नवंबर से हुई है और अगले चार सालों तक 4 स्लैब के तहत बिजली बिल में बढ़ोतरी होगी। चालू वित्त वर्ष में 1.5 फीसदी, 2017-18 में 2 फीसदी, 2018-19 में 1.20 फीसदी और 2019-20 में 1.27 फीसदी कीमतों में बढ़ोतरी की जाएगी। फिलहाल एक यूनिट पर करीब 4 पैसे का बोझ बढ़ेगा, लेकिन चार सालों की बात करें तो ग्राहकों पर कुल 9141 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ेगा। ऊर्जा लागत की तुलना करें - यहां अधिक समाधान खोजें ऊर्जा लागत की तुलना करें - गैस की कीमतों की तुलना करें ऊर्जा लागत की तुलना करें - व्यापार बिजली आपूर्तिकर्ता
Legal | Sitemap