संबद्ध कार्यालय/स्वायत्त निकाय/सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम/अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान इत्यादि रायपुर. चुनावी साल में सभी को खुश करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने बिजली की दरों में औसतन 22 पैसे प्रति यूनिट की कमी की है। यह कमी घरेलू, गैर घरेलू, औद्योगिक और अन्य सभी वर्ग के उपभोक्ताओं में बांटी गई है। यानी हर वर्ग के टैरिफ में कमी की गई है। उद्योगों से लेकर हाई वोल्टेज उपभोक्ताओं को भी राहत देने की कोशिश की गई है। नई दरें 1 अप्रैल 2018 से लागू होंगी। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने बिजली की औसत दर (औसत लागत के आधार पर पावर कंपनी की दर) को 6.44 रुपए प्रति यूनिट से घटाकर 6.22 रुपए किया है। इससे बिजली कंपनी के राजस्व में 531 करोड़ रुपए की कमी आएगी। उत्पाद विवरण: एसीआर फॉर्म http://www.nainitalsamachar.in/ नागरिक अधिकार Pay bill on time that can help you to get loan on cheaper interest rate. वास्‍तविक काल अंकीय अनुकारक मोदी की मुख्यमंत्री विजयन के साथ बैठक, बाढ़ के हालात... भारत में 765 केवी सिस्टम विद्युत और तीन अन्य योजनाओं की अवधि को आगामी तीस जून तक भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर हिन्दी विकिपीडिया में १० अगस्त से २० अगस्त तक लेख प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। प्रतिभागी बनें। उत्तर प्रदेश में बिजली हुई महंगी, जानिए कितनी बढ़ी कीमतें Stock Market Live © 2018 Microsoft प्राइवेसी और कुकीज़ नियम की शर्तें प्रतिक्रिया Edited By कोयला उद्योग समाचार Mud Mud Ke Dekhta Hu थीम चुनें एटा Recipes पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जब गुरु 'महाबली' सतपाल को दी थी बादाम की बोरी 3:02 नो पार्किंग में गाड़ी खड़ी करने वालों को नहीं छोड़ेगी पटना पुलिस, ठोकेगी 13 सौ का जुर्माना भी BIHAR error: Content is Potected !! Do Not Re-Publish This Article on your Blog. नई दिल्ली, 28 जुलाई 2017, अपडेटेड 20:21 IST Terms & Conditions | Refund & Cancellation | Privacy Policy हरियाणा रिव्यु ज्योतिष धर्म 2018 ASIAN GAMES: सिंधु, सुशील और दीपा जानिए और किन-किन खिलाड़ियों से लगी है गोल्ड मेडल की आस  Leaders फुलेश्वरी देवी ज्वालामुखी मंदिर में पांचवें नवरात्रे चढ़ा... लखनऊ, वाराणसी, आगरा, इलाहाबाद, बरेली, गोरखपुर, अलीगढ़ सरीखे महानगरों समेत प्रदेश के 1 करोड़ 39 लाख उपभोक्ताओं को बिजली बिल में सीधे राहत मिलने जा रही है। रेग्युलेटरी सरचार्ज में कटौती 1 अप्रैल से लागू कर दी गई है। अ Online Services पटनासाहिब को मिली दो विद्युत योजना : नंदकिशोर निगाह आसमान पर, आखिर कहां अटका मानसून, तेज बारिश का इंतजार निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा? शिवराज सरकार ने बिजली दर बढ़ा किसानों की तोड़ी कमर रणविजय सिंह Android - सिस्टम लोडिंग चार्ज, मिनिमम चार्ज हो सकता है खत्म उम्र सीमा: 35 साल बिहार में आम आदमी को लगेगा बिजली का झटका, नयी दर 1 अप्रैल से होंगी प्रभावी पटना वैकल्पिक विषय - भूगोल इन्फोग्राफिक्स मित्सुबिसी की आईएमआईईवी 31125 (1682000 रुपये) डॉलर में बिकती है और रैनो की ज़ोई की कीमत 13650 पॉउंड (लगभग 1114000 रुपये) है. August 17, 2018 seoni 0 about us प्रारम्भिक परीक्षा 2019 Next Next post: आर.ओ./ए.आर.ओ. Related Articles अनुसंधान आकस्मिकता (आरसी) DW के बारे में टैलीकॉम ONLINE SHOPPING नरेंद्र मोदी Aquarius (कुंभ) रामगढ़ सपा सरकार ने वर्ष 2012 के अपने चुनावी घोषणा-पत्र में वादा किया था कि ''आने वाले दो वर्षों में बिजली की उपलब्धता ग्रामीण क्षेत्रों के लिये 20 घण्टे और शहरी क्षेत्रों में 22 घण्टे की जायेगी। उद्योग और कृषि के लिये बिजली की आपूर्ति में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी’’। परन्तु आज लगभग सवा तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी यह सपा सरकार अपने इन वादों को थोड़ा भी पूरा करने के मामले में ना केवल पूरी तरह से विफ ल साबित हुई है, बल्कि इन वादों को पूरा करने के मामले में अभी तक कोई ठोस क़दम भी नहीं उठा पाई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता सब जानती है और उसने ''अपराध-नियंत्रण व क़ानून-व्यवस्था के साथ-साथ जनहित व विकास एवं बिजली’’ के क्षेत्र में भी बी.एस.पी. की सरकार के बेहतरीन कार्यों को देखा व परखा एवं अनुभव किया है। Promote this Tweet विटकोइन विनियमन Business Resources – All Business Resources • Product Development • Negotiation • Business Frameworks • Business Terms • Video Marketing • Create for Work युवाओं के लिए संस्कृति मंत्री ने कहा कि अब भी कई बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है और इसके लिये सरकार स्मार्ट मीटर और प्रीपेड मीटर की व्यवस्था लागू करेगी ताकि बिलों का भुगतान सही तरीके से हो. उन्होंने यह भी कहा कि अक्षय ऊर्जा खरीद समझौता (आरपीओ) और बिजली खरीद समझौते को अनिवार्य किया जाएगा. सब्सिडी का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि यह प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिये दिया जाना चाहिए और एक ग्राहक की कीमत पर दसूरे ग्राहक से अधिक बिजली शुल्क लेने की व्यवस्था क्रास सब्सिडी अधिक नहीं होनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि क्षेत्र में तीन-चार कंपनियां होनी चाहिए और ग्राहकों को कंपनी चुनने का विकल्प मिलना चाहिए. सतना शहीदों के परिवारों के लिए हमेशा हीरो ही रहेंगे वाजपेयी पश्चिमी भारत CallIndia.com The Express Group | The Indian Express | The Financial Express | Loksatta | inUth | Ramnath Goenka Awards बांदा ग्रामीण इलाकों में गरीब तबके के लोगों के लिए पक्के मकान की व्यवस्था करने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना चल रही है। इससे पहले यूपीए सरकार के दौर में भी ऐसी ही योजना चल रही थी। हालांकि तब उसका नाम इंदिरा गांधी आवास योजना है। टैक्‍स बिजली कंपनी ने कहा: नपा ने बिल नहीं भरा तो काटेंगे कनेक्शन, नपा बोली; चुकता है पूरा समस्त गिरिडीह वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं उदय योजना ने बिजली वितरण कंपनियों के नुकसान को कम किया है।  BY नूर मोहम्मद ON 05/06/2018 • कांग्रेस के बाद कर्नाटक CM सिद्धारमैया का ऐप भी 'गायब' नशों के खिलाफ जंग में उतरे ओलिम्पिक पदक विजेता और पंजाबी गायक Register Horoscope Promote this Tweet Get Punjab and Haryana News, लाइव हिन्दी न्यूज़ headlines from all cities of states. Stay updated with us to get latest news in Hindi. चमोली कारोबार Latest Govt Jobs Hollywood News वाजपेयी के निधन पर पीएम -उपराष्ट्रपति समेत कई राजनेताओं ने जताया शोक अटलजी को श्रद्धांजलि देने जा रहे अग्निवेश की भाजपा मुख्यालय के बाहर पिटाई 10 mins बिजली दरों का ब्योरा(Rs /यूनिट) Deutsch - warum nicht? नीदरलैंड में जल्द शुरू होगा दुनिया का पहला समुद्र में तैरता डेयरी फार्म, रोबोट निकालेंगे गायों का दूध 17 mins सरल बिल योजना 1 जुलाई से शुरू हो रही है। इसका फायदा जिले के 1.25 लाख ग्राहकों को होगा और उन्हें सस्ते में बिजली मिलेगी। ये वो उपभोक्ता है जिन्होंने अपना पंजीयन श्रमिक डायरी के लिए कराया है। इससे उन्हें सस्ती बिजली मिलने लगेगी। 100 यूनिट जलाने पर ग्राहकों को सिर्फ 200 रुपए चुकाना होंगे। 100 यूनिट की खपत पर वर्तमान में 700 रुपए हैं, ऐसे में 500 रुपए सरकार देगी। उपभोक्ताओं को बिजली खातों को बिजली कंपनी पहुंच लिंक कराना होगा और फिर फायदा मिलने लगेगा। जिले में 3.70 लाख बिजली उपभोक्ता है। 45 फीसदी उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली मिलेगी। डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. मुरैना उपभोक्ता फोरम का फैसला, पावर निगम को रिटायर्ड इंजीनियर के बिलों में... अपने राजस्थान में राहुल गांधी चुनाव से पहले करेंगे कई रोड शो,… Cashback on offer price: 1800 अन्‍य राज्‍य ऐसा होगा 100 रुपये का नया नोट, देखें तस्वीरें आगामी Cashback on offer price: 3000 बिजली की लागत - ऊर्जा कंपनियां बिजली की लागत - विद्युत कंपनियां बिजली की लागत - मुफ्त बिजली
Legal | Sitemap