लोकप्रिय सरस्वती शिशु मंदिर ने दी पुष्पांजली posted on August 18, 2018 Turn on Not now लेटेस्ट न्यूज़ 8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल सावन मास के चंद्र दर्शन पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, दूर होंगे सारे कष्ट Archive 14 जुलाई 2018 कर्नाटक गंगा कल्याण योजना 2018 – 1.5 लाख के बोरेवेल ऋण के लिए आवेदन करें Google plus भाषा चुनें ▼ May 3, 2018 कन्या वैकल्पिक विषय कैसे चुनें? आरएसएस दुनिया की सबसे बड़ी बिजली कंपनी ईडीएफ द्वारा छह न्‍यूक्लियर प्‍लांट्स का समझौता करने के बाद भारत में परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम फि‍र शुरू होगा। पालीमर प्रयोगशाला सब्सक्राइब करें न्यूज़कोड का डेली न्यूज़लेटर मलेशिया में सरकार के खिलाफ बोलने की आजादी मिली; पहले 6 साल जेल और 85 लाख रु जुर्माना होता था 3 mins बीते सालों में एलपीजी की खपत (स्रोत: पेट्रोलियम मंत्रालय) गुड न्यूज : बिहार में बिजली कंपनी निकालने जा रही है 1200 पदों पर बहाली डेमो प‌िक आगामी कार्यक्रम   LIVE TV संपर्क-निर्देशिका संबंधित कड़ियाँ - आम व्यक्ति यानी घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली बिल लगभग सवा छह % कम आएगा। सामान्य रूप से समझा जाए तो माना जाएगा कि पिछले महीने तक एक हजार रुपए का बिल आता था, तो अप्रैल में बिजली बिल 62.5 रुपए कम आएगा। हम आपके लिए अपने कंटेंट को बेहतर बनाने के लिए कूकीज का इस्तेमाल करते हैं. अधिक जानकारी डाटा सुरक्षा पेज पर उपलब्ध है. Jammu And Kashmir News Have an account? Log in मेरठ दिनेश कुमार लो टेंशन (डिमांड बेस्ड)  5.50  5.50 2 kV के कनेक्शन पर फिक्स चार्ज 20 रुपये से से बढ़ाकर 125 रुपये और 2kv से 5kv तक के कनेक्शन पर 35 रुपये से बढ़ाकर 140 रुपये किया गया जर्मन XXL अरुण कुमार के मुताबिक भारत में कुल एक करोड़ 70 लाख लोग प्रभावी रूप से आय कर भरते हैं. यह भारत की आबादी का 1.2 फ़ीसदी है. ऐसा कहा जा रहा है कि जीएसटी छोटे व्यापारियों को आयकर के दायरे में लाएगा और पांच करोड़ लोग कर व्यवस्था से जुड़ सकते हैं और इससे सरकार का राजस्व बढ़ेगा. 30 May 2018 | Aajtak मंदसौर जिले की प्रमुख खबरे Bosnian B/H/S By admin July 22, 2016  बिजली की दर में वृद्धि के विरोध में रविवार को भाजपाइयों ने प्रखण्ड मुख्यालय पर ऊर्जा मंत्री का पुतला फूंका. इस दौरान भाजपा कार्यकर्ता बिहार की जनता का शोषण बन्द करने, बिजली दर में वृद्धि को वापस लेने आदि की मांग कर रहे थे.  पूर्व जिला पार्षद बलराम प्रसाद सिंह ने कहा कि पूरे बिहार में बिजली की दर में 55 प्रतिशत वृद्धि की गई है, इसे वापस नहीं लिया गया तो पार्टी की ओर से चरणवद्ध आंदोलन किया जायेगा. Web Title:पश्चिम छोड़ यूपी में बिजली हुई सस्ती हुंडई ने जारी किया AH2 (सैंट्रो) का रेंडर डिजाइन स्पोर्ट्स Privacy रामपुर की दूरदराज पंचायत में फटा बादल, आधा दर्जन पुल बहे पटना: स्थानीय लोगों ने दो अर्ध विक्षिप्त महिलाओं को किया पुलिस... शर्मनाक : स्कूल में छात्रा से गैंगरेप 18 के खिलाफ… पश्चिमांचल को छोड़कर पूरे प्रदेश में घरेलू और किसानों की बिजली सस्ती हो गई है। बिजली बिल पर लगने वाले रेग्युलेटरी सरचार्ज में विद्युत नियामक आयोग ने कटौती कर दी है। कन्या राशि वालों आज किसी यात्रा पर जाने की प्लानिंग कर सकते हैं। किसी दूर स्थान या विदेश से प्यार......Read more आजकल मोबाईल सेवाएं धर्म और आध्यात्मिकता Block नोडल अधिकारी (वेबसाइट) बिहार में बढ़ने वाली है बिजली की कीमत, लेकिन सरकार ने इनको दी है बड़ी राहत अटल जी के यह 9 निर्णय जिन्होंने देश की किस्मत बदल दी Translate This page Skip all नीतीश कुमार ने कहा कि एक सोची समझी रणनीति के तहत वर्ष 2017-18 में टैरिफ याचिका को शून्य अनुदान पर तैयार कराया गया है. इस नीतिगत निर्णय के आधार पर आयोग ने बिना अनुदान के  टैरिफ लागत का निर्धारण किया. इससे राज्य सरकार को उपभोक्तावार  अनुदान की राशि तय करने में पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी. साथ ही वितरण कंपनियों की टेक्निकल व कॉमर्शियल लॉस में निरंतर कमी लाने के लिए गहन माॅनीटरिंग की जा सकेगी. नये वर्ष के लिए आयोग ने टैरिफ निर्धारित करते समय पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल अौर उत्तर प्रदेश के 2016-17 के टैरिफ से तुलना करते हुए राज्य के उपभोक्ताओं को दी जानेवाली सब्सिडी का निर्धारण किया है.  VIDEO: बैंक में व्यापारी के 60 हजार पार, CCTV में कैद हुई वारदात रहने के लिए गुड़गांव से बेहतर है फरीदाबाद Follow Us On b a पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू वाजपेयी से मेरा आत्मिक रिश्ता, खान से है 35 वर्ष पुरानी दोस्ती :... सगाई से पहले देर रात हाथों में हाथ डाले दिखे निक और प्रियंका, परिवार संग डिनर डेट को किया एन्जॉय केजरीवाल सरकार का दावा है कि दिल्ली में पिछले 4 सालों से बिजली की कीमतें नहीं बढ़ी हैं. जानकार कहते हैं कि दिल्ली सरकार के इस दावे में दम नहीं है क्योंकि बिजली के रेट पिछले सालों में सीधे तौर पर भले न बढ़े हों लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. यानि 100 रुपये पर तीन रुपये सत्तर पैसे. पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के बारे में संक्षिप्त जानकारी – Power Tariff Subsidy Yojna वेबसाइट तक पहुंचाने वाले लिंक इतना लगता है मिनिमम चार्ज मेगपुर, मनिया, धौलपुर निवासी अमन पुत्र अजमेरी की बहन सुष्मिता पत्नी ललित ताजगंज के कुआंखेड़ा में रहती है। अमन कुछ दिन पहले बहन के यहां आया था।  कैथल CrazyFreelancer RC Desk2, November 28,2017 02:38:50 PM HSGPC ने अटल के निधन पर पिपली में होने वाले... जन्मदिन विशेष : भोजपुरी सिनेमा को पहचान दिलाने वाले रवि किशन… खाने पीने के शौकीन अटल बिहारी वाजपेयी को मिल-बांट कर खाने में आता था मजा युवा नेता सह समाजसेवी जुगसलाई विधानसभा झारखंड मुक्ति मोर्चा प्रारम्भिक परीक्षा 2019 दुर्गा प्रसाद दे कृष्ण कुमार महतो उज्जवल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना कार्या. ज्ञा. 20th नवंबर 2015 मल्टीप्लेक्स বাংলা Saturday, Aug 18, 2018 Tags: arvind kejriwalDelhi electricityDelhi electricity price cutDelhi power tariff cutDelhi power tariff reductionदिल्ली इलेक्ट्रिसिटी थाना प्रभारी बलियापुर Polls Archive 'Will U Marry Me' प्लेन में जब एक शख्स ने फिल्मी अंदाज में किया प्रपोज़... जानिए कौन हैं नमिता जिन्होंने दी अटल बिहारी वाजपेयी को मुखाग्नि अन्य स्पोर्ट्स   प्रिंट मीडिया प्रभारी, भाजपा गिरिडीह News2018-07-17T12:09:14 एयर इंडिया पायलटों की धमकी- अगर बकाया उड़ान भत्ता नहीं चुकाया तो फ्लाइट ऑपरेशंस रोक देंगे 21 mins दिल्ली में बिजली के दाम बढ़े, एक अगस्त से लागू 1:37 ‹ › वायरल Lifestyle VIDEO: आरएएस भर्ती के चयनित अभ्यर्थियों ने दिया धरना, नियुक्ति देने की मांग पृष्ठ अंतिम अपडेट किया गया: 16-08-2018 04:36 PM QUESTION PAPER टेस्ला के शेयर में 9% गिरावट, शॉर्ट-सेलर्स ने कमाए 7000 करोड़ रुपए; इलोन मस्क के इंटरव्यू के बाद टूटा शेयर 57 mins Copyright © 2015 Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh) होमबिहार अध्यात्म जवाब – दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (DDUGJY) ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और विश्वसनीयता में सुधार करने के लिए चल रहे फिडर / वितरण ट्रांसफार्मर / उपभोक्ताओं के वर्तमान बुनियादी ढांचे को मज़बूत बनाने और वृद्धि के लिए गांवों / बस्तियों में बुनियादी बिजली ढांचे का सृजन करती है। इसके अलावा, बीपीएल परिवारों को अंतिम छोर तक मुफ्त बिजली कनेक्शन भी प्रदान किए जाते हैं जो कि BPL सूची के अनुसार राज्यों द्वारा पहचाने जाते हैं। हालांकि,जो गांव लंबे समय से विद्युतीकृत हैं,उनमें भी कई घरों में कई कारणों से बिजली कनेक्शन नहीं होते हैं। वास्तव में गरीब परिवारों में से कुछ के पास बीपीएल कार्ड भी नहीं है और ना ही ये परिवार सरकार द्वारा लागू प्रारंभिक कनेक्शन शुल्क देने में सक्षम हैं। अनपढ़ लोगों में कनेक्शन या कनेक्शन लेने के बारे में जागरूकता की भी कमी है। आस-पास बिजली का पोल नहीं है और अतिरिक्त पोल लगाने की लागत ज्यादा है, कनेक्शन प्राप्त करने के लिएकंडक्टर को  घरों से भी लगाया जा सकता है। देवरिया / कुशीनगर एमपी, छग और राजस्थान के चुनाव टालने पर विचार | ELECTION NEWS 2018-04-09 07:47:11.0 विशेष राज्यों के लिए केंद्र सरकार योजना का 85% अनुदान देगी, जबकि राज्यों को अपने पास से केवल 5% धन लगाना होगा और शेष 10% बैंकों से कर्ज़ लेना होगा। 3 months ago उत्तराखंड SUBSCRIBE NOW! कृषि संबंधित जानकारी BSES नोट: बिहार राज्य का टैरिफ वर्ष 2017-18 के लिए है, जबकि अन्य राज्यों का टैरिफ वर्ष 2016-17 पर आधारित है.  क्विज Write a Comment ग्वालियर: 5 साल बाद अगस्त में 24 घंटे में 95.8 मिमी बारिश कंपनी रिजल्ट्स बक्‍सर MP PEB: चुनाव से पहले 1 लाख भर्ती घोषणाओं की तैयारी | EMPLOYMENT NEWS होमगार्ड जवानों का दैनिक वेतन बढ़ेगा, हटाए गए 3000 होमगार्ड जवानों को फिर से काम पर लिया जाएगा रिव्यु देवरों ने किया भाभी के साथ बलात्कार का प्रयास इतिहास और ... सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र III बिजली ठेकेदार रवींद्र सिंह जादौन ने बिजली कंपनी के लिए कार्य किया था. यह कार्य बिना वर्क ऑर्डर के किया था जिसका भुगतान नहीं किया गया. इसमें बिजली कंपनी के संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी थी. वर्क ऑर्डर की प्रत्याशा में ठेकेदार ने काम कर दिया था. इसमें संबंधित अधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जानी चाहिए. यह जांच रिपोर्ट आरके पांडेय ने दी है. चतरा @TheQuint Of India पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के बारे में संक्षिप्त जानकारी – Power Tariff Subsidy Yojna केंद्र सरकार की कोयले से चलने वाले बिजली उत्पादन संयंत्रों को हतोत्साहित करने की नीति के कारण एनटीपीसी दिल्ली की तीनों बिजली कंपनियों को जो बिजली 4.3 रुपया प्रति यूनिट के दर से बेचता था, अब उसके दाम 3.8 रुपए प्रति यूनिट कम कर दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त एनटीपीसी ने अपने थर्मल पावर प्लांटों में विद्युत उत्पादन की लागत में लगभग 14 फीसद की कमी की है। इस कारण दिल्ली के उपभोक्ताओं को लगभग 20 फीसद कम दामों पर बिजली उपलब्ध कराई जानी चाहिए, लेकिन बिजली कंपनियां अभी भी महंगे दामों पर बिजली बेच रही हैं। दुनिया की सबसे बड़ी न्‍यूक्लियर साइट गेल का सौर बिजली संयंत्र, बैटरी चार्जिंग कारोबार में उतरने का प्रस्ताव Women Choose from 30 Languages पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटनासाहिब क्षेत्र के लिए 28 70... The page that you are looking for cannot be found. महासचिव, जिला कांग्रेस कमिटी आरएसओपी की तकनीकी रिपोर्टें यह पहली बार नहीं है, जब दिल्ली में बिजली के फिक्स चार्ज में बढ़ोतरी की गई है. इससे पहले भी कई बार फिक्स चार्ज में वृद्धि की जा चुकी है. वहीं, DERC ने बिजली की कीमतों में कटौती करके आम जनता को राहत देने की बात कही है, लेकिन हकीकत यह है कि यह आंकड़ों का हेरफेर ही है. इससे आमजन को कोई खास राहत नहीं मिलने वाली है. ऊर्जा लागत की तुलना करें - ऊर्जा आपूर्तिकर्ताओं की तुलना करें ऊर्जा लागत की तुलना करें - शीर्ष ऊर्जा कंपनियां ऊर्जा लागत की तुलना करें - ऊर्जा प्रदाता
Legal | Sitemap