Go to Home >> वीएलई कॉर्नर सरल बिजली बिल स्कीम में मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना-2018 में पंजीकृत श्रमिक उपभोक्ताओं को घरेलू कनेक्शन के लिए प्रति माह 200 रुपये अथवा पिछले 12 माह का औसत जो भी कम हो, का बिल ही भरना होगा। बिल की शेष राशि राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में भरेगी। स्कीम का लाभ 88 लाख श्रमिक उपभोक्ताओं को मिलेगा। श्रमिकों के हक में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उठाया गया यह सबसे बड़ा कदम है। स्कीम के लागू होने से अब श्रमिक की आय का एक बड़ा हिस्सा बिजली खर्च से बचेगा। बची हुई यह राशि उनके बच्चों की पढ़ाई-लिखाई आदि में खर्च हो सकेगी। स्कीम का स्वरूप न सिर्फ व्यापक है बल्कि श्रमिकों का व्यापक हित भी इससे जुड़ा हुआ है, जिसके दूरगामी परिणाम सुखद होंगें। यह प्रावधान रखा गया है कि पंजीकृत श्रमिकों के परिवार की समग्र आई.डी. में दिखाये गये सदस्यों में से कोई भी उपभोक्ता होने पर वह लाभ का पात्र होगा। अगर उपभोक्ता चाहे तो नि:शुल्क नामांतरण भी करवा सकता है। अनुसंधान एवं विकास पर स्थायी समिति (एससीआरडी) वार्ड पार्षद - 53 धनबाद नगर निगम हकीकत या कहानी : दुनिया के अनसुलझे रहस्य, जो अाज भी बने हुए है अबूझ पह... बिजली कंपनी को लेकर विरोध हर तबके का है विपक्ष से लेकर पक्ष कोटा के जनप्रतिनिधि तक बिजली कंपनी का विरोध जता चुके है हर इलाके से बिजली कंपनी को वापस भेजने की मांग शहर में की जा रही है इसको लेकर शहर में 10 अगस्त को कोटा बंद का आव्हान भी किया गया है. » See SMS short codes for other countries यह वेबसाइट विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन केन्द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान की है।              Sri nagar Updated Sat, 21 Jul 2012 12:00 PM IST Filipino शेयर बाज़ार Deutschlehrer-Info हाईकोर्ट के फैसले पर एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि इससे बैंकों को स्ट्रेस्ड एकाउंट्स के रिजॉल्यूशन के लिए अधिक समय मिलेगा। कुमार ने बताया, 'बैंक कुछ बिजली कंपनियों के साथ लोन रिजॉल्यूशन पर बात कर रहे हैं।' HSSC QUESTION PAPER Other Links राफेल डील विवाद: रिलायंस डिफेंस ने कहा- कॉन्ट्रैक्ट डसॉल्ट स... बवाना का बोझ : बवाना पावर प्लांट गैस न मिलने की वजह से बंद है। तब भी इसकी फिक्स कॉस्ट काफी आती है और यह खर्चे में जुड़कर कंज्यूमर तक ही पहुंचती है। या तो इस प्लांट के लिए गैस का इंतजाम कर इसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किया जाए या फिर फिक्स कॉस्ट सरकार वहन करे। Publish on December 4, 2017 Bihar कुरुक्षेत्र Best Water Heaters/geysers in India French Français हेल्पलाइन रियल एस्टेट छह महीने पहले बिजली कंपनी में अनुकंपा नियुक्ति पर रोक लगा दी थी। इससे मृत कर्मचारियों के बच्चों को नौकरी नहीं मिल पा रही थी। ऊर्जा विभाग के इस फैसले का कर्मचारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। इस पर मप्र शासन ऊर्जा विभाग ने प्रदेश की बिजली वितरण कंपनियों में लगी अनुकंपा नियुक्तियों पर से प्रतिबंध हटा लिया और अनुकंपा नियुक्ति आवेदनों पर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं। इससे कंपनी के सैकड़ों कर्मचारियों को फायदा होगा और उन्हें नौकरी मिल जाएगी। فارسی Feedback : 8130392355 जवाब -हमारे देश में घरेलु विद्युत् कनेक्शन लेने वाले लोगों का प्रतिशत बहुत कम है। इस सौभाग्य योजना का उद्देश्य देश के सभी ग्रामीण और शहरी इलाकों में रहरहे सभी शेष गैर-विद्युतीकृत परिवारों को अंतिम छोर तक बिजली कनेक्शन द्वारा ऊर्जा प्रदान करना है। संविधान की प्रतियां जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग SShare 6 राज्यों में अलर्ट, मौसम विभाग ने जारी की भारी बारिश की चेतावनी SShare दिल्ली आज तक SLING INTERNATIONAL उत्‍तराखंड में 'सौभाग्य' योजना लॉन्च, 10400 घरों की चमकेगी किस्‍मत मापने का क्षेत्र अटल के साथ 60 साल का अटूट रिश्ता, अंतिम सांस तक साये की तरह रहे साथ उन्होंने कहा कि किसी भी प्रोजैक्ट से फ्री-पावर शुरूआती दौर में लेने की बजाय 6 से 10 साल बाद ली जानी चाहिए। सोमवार और मंगलवार सुबह खराब मौसम की वजह से उड़ान न होने की वजह से 8 प्रदेशों के मंत्री ही सम्मेलन में पहुंच पाए। इस मौके पर अरुणाचल प्रदेश के ऊर्जा मंत्री टामियो टागा, हरियाणा के ऊर्जा मंत्री कृष्ण लाल पवार, झारखंड के ऊर्जा मंत्री सी.पी. सिंह, केरल के ऊर्जा मंत्री एम.एम. मनी, ओडिशा के ऊर्जा मंत्री सुशांत सिंह, पश्चिम बंगाल के ऊर्जा मंत्री शोभन देव चटोपाध्याय, दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र कुमार जैन व हिमाचल के ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा मौजूद रहे। bhai ye parmpara har jaggah chal rahi h मंत्री ने कहा कि अब भी कई बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है और इसके लिये सरकार स्मार्ट मीटर और प्रीपेड मीटर की व्यवस्था लागू करेगी ताकि बिलों का भुगतान सही तरीके से हो. उन्होंने यह भी कहा कि अक्षय ऊर्जा खरीद समझौता (आरपीओ) और बिजली खरीद समझौते को अनिवार्य किया जाएगा. सब्सिडी का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि यह प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिये दिया जाना चाहिए और एक ग्राहक की कीमत पर दसूरे ग्राहक से अधिक बिजली शुल्क लेने की व्यवस्था क्रास सब्सिडी अधिक नहीं होनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि क्षेत्र में तीन-चार कंपनियां होनी चाहिए और ग्राहकों को कंपनी चुनने का विकल्प मिलना चाहिए. विजेंद्र गुप्ता E-mail address:* ऊर्जा प्रौद्योगिकी VIDEO: गाजीपुर जेल में बंद कैदियों ने सीसीटीवी कैमरे लगाने का किया विरोध मुख्य लिंक Facebook Messengerसब्सक्राइब NEXT STORY रैपिड रेल: 'केंद्र सरकार नहीं उठा सकती दिल्ली के हिस्से का ख... डिफॉल्टरों पर 4 करोड़ रुपये अब भी बकाया Got it बठिंडा/मानसा electricity यह हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज 8 अनोखे कारनामें...जानकार आप भी हो जा... कीवर्ड बिजली, पहाड़, गुफा, हवा 1- नवकूपडगवैल/डगकमबोरवैल/केविटिपाइप बोरवैल योजना.. PSL में स्पॉट फिक्सिंगः पाकिस्तानी बल्लेबाज पर लगा 10 साल का बैन बीपीएल उपभोक्ताओं ने बिल भरना बंद किया 1951  —   35.8 प्रतिशत कृषकों को पर्याप्त भूजल उपलब्धता के आधार पर नवकूप डगवैल, डगकम बोर वैल, केविटी पाइपबोर वैल/नलकूप/कूपगहरा एवं कुओं पर डीजल/विद्युत पम्प सैट हेतु 9 से 15वर्ष की अवधि अनुग्रह अवधि 23 माहके लिए ऋण उपलब्ध। Not Now 5- बून्द-बून्द सिंचाई योजना.. Türkçe ध्येय तथा मूल्य ​ प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) 200 बड़े ऋण खातों की निगरानी करेगा आरबीआई MLA Tilak Nagar, Volunteer Aap, Chairman of DDC(W), Member of SDMC, Chairman of GGS Hospital, VP AAP Delhi, Co Convener Aap Overseas, Chairman WAPTEMA, Business Next Tweet from user मध्य प्रदेशराजस्थानदिल्लीउत्तर प्रदेश बिहारजम्मू-कश्मीरमहाराष्ट्रउत्तराखंडझारखंडगुजरातहिमाचल प्रदेश केटेगरी  वर्तमान दर  नयी दर       वित्त मंत्री ने विभाग के अधिकारियों से क्षेत्र के सभी 17 फीडरों बारे विस्तृत जानकारी ली तथा अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन सभी फीडरों पर लाइन लॉस कम करवाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के कुछ फीडरों पर लाइन लॉस 20 प्रतिशत से कम कर लिया जाता है तो ये क्षेत्र के अन्य गांवों के लिए एक मिसाल होंगे। इससे लोगों को इस योजना में शामिल हुए फीडरों से होने वाले फायदों का पता चलेगा। पंचतत्व में विलीन हुए अटल जी, अस्थि विसर्जन कल ... और पूर्व प्रधानमंत्री ने दे दिए ढाई सौ करोड़ के पैकेज Latest Washing Machine Technologies in India बिज़नेस नासिक बीपीएल के बकायादार उपभोक्ताओं के बिल माफी योजना जुलाई माह से शुरू हो जाएगी। करीब ३५ हजार उपभोक्ताओं को फायदा मिलेगा। जहां तक चोरी व न्यायालय वाले प्रकरणों की बात है इसे लागू करने पर संशय है। २०० रुपए महीने वाले स्कीम भी जुलाई से लागू होगी। वीएलई कॉर्नर दूसरा टेस्ट School / Student Privacy रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजा प्रियंका का बंगला, हिंदू रीति रिवाज से आज होगी सगाई! विद्युत प्रदायक बदलें - विद्युत योजनाएं विद्युत प्रदायक बदलें - विद्युत सौदे विद्युत प्रदायक बदलें - टेक्सास इलेक्ट्रिक दरें
Legal | Sitemap