हरदोई दुमका : इंडोर स्टेडियम दुमका में अरविन्द प्रसाद की अध्यक्षता में झारखंड राज्य विद्य्नुत नियामक... VIDEO-जब UN में इज़रायल का विरोध किया था अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं की अनुदानित श्रेणी कृषि व घरेलू है और इनका हिस्सा क्रमश: 42 व 21 फीसदी है, वहीं देश में यह 23 व 24 फीसदी है जिसके चलते विद्युत लागत और राजस्व में अंतर ज्यादा रहा है। वहीं वर्ष 2005 में पड़ोसी राज्यों से? बिजली खरीद जहां 2.09 रुपए प्रति यूनिट रही, वहीं बिजली कंपनियों ने वर्ष 2008 में 8.83 रुपए प्रति यूनिट से बिजली खरीद कर कम दरों पर बिजली सप्लाई कर घाटे को बढ़ाया है।  Deepak Dubey  🇮🇳‏ @DBADeepakDubey 18 Aug 2015 Close Română ट्रेन्डिंग इनेलो वाले तो हरियाणा को हमेशा बंद रखना चाहते हैं : राजकुमार सैनी हमारा पता योजना से लाभ Sat Aug 18 2018 16:28:47 शासन और प्रशासन अवकाश पंचांग Read More कम रकम वाले लोन के मामले में बढ़ते तनाव की वजहों पर मित्तल ने कहा है, ‘बढ़ती हुई प्रतिस्पर्धा से इस पर फर्क पड़ेगा. परिणामस्वरूप लोन देने के मापदंडों में गिरावट आएगी और स्व-नियोजित क्षेत्रों में अधिक मात्रा में लोन दिए जाएंगे.” लेकिन वे ओपन एक्सेस से सस्ती बिजली खरीद लेते हैं तो बिजली कंपनियों पर आर्थिक बोझ पड़ता है। जिसकी वजह से उन्हें अपनी सरप्लस बिजली कम दाम में बेचकर घाटा उठाना पड़ता है। आयोग ने ये याचिका सुनवाई के लिए मंजूर कर ली है और उस पर 17 जनवरी तक उपभोक्ताओं की आपत्तियां मंगाई है। चंबा बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने एक अप्रैल से पांच फीसदी महंगी बिजली दर का फैसला सुनाया है। केवल एक श्रेणी बड़े उद्योग में यह वृद्धि दर 9.92 फीसदी है। बिजली कंपनी ने 44 फीसदी बिजली दर बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था। आयोग के इस फैसले के बाद राज्य सरकार ने बिजली दर की समीक्षा कर अनुदान देने की बात कही है।  नैनवां में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम असिस्टेंट विजिलेंस ऑफिसर End of conversation सोलर पावर से बनी बिजली कोयले से सस्ती Tuesday, 17 Apr, 10.11 am Bahasa Melayu Site Map | Legal Disclaimer | Privacy Policy | CSR Policy | Distribution हिन्दुस्तान शिखर समागम Pradhan Mantri Yojana Like20 रायगढ़ CricketNext पोर्टल नीतियां 22 Views अटल बिहारी वाजपेयी के 5 कदमों से मजबूत हुई भारतीय अर्थव्यवस्था हिमाचल 09:41 देवघर के व्यवसायियों ने पूर्व पीएम को दी अश्रुपूर्ण विदाई जयपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक आर.जी.गुप्ता ने बताया कि योजनाओं के प्रति उपभोक्ताओं के अच्छे रुझान को देखते हुए एमनेस्टी योजना,स्वैच्छिक भार वृद्धि एवं श्रेणी परिवर्तन घोषणा योजना एवं लम्बित वीसीआर निस्तारण योजना की अवधि को दो माह बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि विद्युत एमनेस्टी योजना के तहत अधरेलू, औद्योगिक एवं मिक्स्ड लोड श्रेणी के 31 मार्च 2017 तक कटे हुए कनेक्शन के उपभोक्ता तथा घरेलू,कृृषि, एसआईपी (ग्रामीण) श्रेणी व केन्द्र एवं राज्य सरकार के विभागों के किसी भी श्रेणी के विद्युत कनेक्शन के नियमित / कटे हुए कनेक्शन के उपभोक्ताओं को योजना का लाभ मिलेगा चाहे उनके कनेक्शन कभी भी कटे हों। श्रेणी परिवर्तन घोषणा के तहत घरेलू श्रेणी के उपभोक्ता, जो अघरेलू श्रेणी में विद्युत का उपभोग कर रहे हैं वे सामान्य दरों पर कनेक्शन को अघरेलू श्रेणी में परिवर्तित करवा सकते हैं। हॉलीवुड टेक रिव्यू सिविल सेवा परीक्षा Contact Us| तहसील अनुभाग राजनीति: कहां ठहरेगा रुपया news1 day ago Drop the Immigration Charges Against Marco Senghor, Community Leader and Bay Area Icon Bollywood on Atalji Death भारत के पीसी मार्केट में 28 फीसदी की ग्रोथ, अल्ट्रा स्लिम नोटबुक ने बढ़ाई मांग 51 mins स्मृति स्थल पहुंची अटल का पार्थिव शरीर, तीनों सेना के जवानों ने दी .. प्रमुख आयोजन उत्तर प्रदेश में स्टेट इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन ने बिजली की नई दरों का ऐलान कर दिया है. अब उपभोक्ताओं को ज्यादा बिल देना होगा. घरेलू उपभोक्ताओं के लिए औसत बढ़ोतरी 12 फीसदी होगी. ये फैसला निकाय चुनाव खत्म होने के अगले ही दिन आ गया. विपक्ष इस बढ़ोतरी को तानाशाही भरा कदम बता रहा है. यह हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज 8 अनोखे कारनामें...जानकार आप भी हो जा... बीजेपी शासित राज्यों के सरकारी कार्यक्रम रद्द, दिल्ली आ रहे हैं सभी CM नौवां सवाल –  इस योजना को पूरे देश में कैसे लागू किया जाएगा? पावर कॉरपोरेशन की चारों बिजली कंपनियों के उपभोक्ताओं पर रेग्युलेटरी सरचार्ज प्रथम अलग-अलग लागू है। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम में सबसे ज्यादा 2.84 फीसदी। एक हजार रुपये पर करीब 28 रुपये, दक्षिणांचल में 1.14 फीसदी। एक हजार पर 11 रुपये, पूर्वाचल के 1.03 फीसदी। डाउनलोड एन.सी.ई.आर.टी. बुक 4- आईसीएसए (इंडिया) लिमिटेड, हैदराबाद Himachal Pradesh News शक्तिपीठों में श्रावण अष्टमी मेले शुरू, जानिए इस बार का नया ट्रैफिक... जनरल नॉलेज सिस्टम स्टेबलिंग - जबलपुर सिटी सर्किल, रीवा टाउन पिछड़ा वर्ग कल्याण ई वी आर सी में भूकम्पी परीक्षण सुविधा अपर / उप सचिव कार्य में तेजी लाने के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं निवेश का पहला कदम एजंसी My Result Plus टेक्नोलॉजी शेन्ज़ेन Calinmeter सह, लि पानी की वेबसाईटें, ब्लॉग, वेबपेज संचला ड्रिंकिंग वाटर रंगामाटी, सिंदरी BUY NOW लेटेस्ट लॉंच भाषा डिप्टी मेयर, चास नगर निगम नैनवां में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम Description Under 100 characters, optional NDTVBusinessHindiMoviesCricketGood TimesFoodTechAutoAppsPrime रोहतक राजधानी सहित नगर निगम शहरों में बिजली कटौती जारी PROPERTY SHARE Advertise With Us फाइनेंस प्याज (Onion) Podcasts & Newsletter 2018 ALL RIGHT RESERVED - Pagocha Marketing Private Limited OVER 7,000,000 STORYBOARDS CREATED!FREE TRIAL For Teachers For Work For Film 8 Your name जुड़ें हमसे : राहुल गांधी Your email address “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल वृष राशि वालों आज का दिन आपके परिवार के लिए काफी अच्छा है। फैमिली मेम्बर्स के साथ किया गया काम सफल......Read more Sign In प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य फ्री बिजली कनैक्शन सरकार ने बढ़ाई आईटीआर भरने की अंतिम तारीख, करदाताओं को राहत कम गफलत ज्यादा सहेली August 2, 2018 DB Gadgets इसके पूर्व मण्डल अध्यक्ष मुकेश कुमार राय के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने भगवानपुर चौक से जुलूस निकाला और प्रखंड मुख्यालय पर पहुंच पुतला दहन किया. इस मौके पर अमलेश कुमार चुन्नू, राजेश राय, बबलू चौधरी, संजीव चौधरी, निरंजन कुमार राय, सकलदेव राउत, रूपेश चौधरी, संजय चौधरी, प्रवीण शेखर, अमित शर्मा, मनीष कुमार समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे. वेतन आने में देरी होने पर भी ले सकते हैं यह लोन नवांशहर/रूपनगर June 14, 2018 कृ‍षि वैज्ञानिक भर्ती बोर्ड (एएसआरबी) Aug 02, 2018 भारत में 765 केवी सिस्टम नवभारत टाइम्स की ऐप के साथ बाड़मेर से भीनमाल तक 144 किमी लंबी 400 केवी बिजली सप्लाई की लाइन का काम पूरा,139 करोड़ के काम में 399 टॉवर लगने हैं, अब सिर्फ 22 लगने ही बाकी, अगस्त से बेहतर होगी बिजली सप्लाई Nov 24, 2017, 08:50 PM IST टॉपर्स कॉपी ट्रंप बोले- किम से मुलाकात सिर्फ तस्वीरें खिंचवाने के लिए नहीं 500 साल पहले कोलंबस ने चंद्र ग्रहण का डर दिखाकर लोगों को ऐसे बनाया था... सस्ता ऊर्जा - सस्ते ऊर्जा दरें सस्ता ऊर्जा - बिजली की कीमतें सस्ता ऊर्जा - सस्ता ऊर्जा प्रदाता
Legal | Sitemap