इस घटना से दो माह पूर्व कनिष्ठ यंत्री पावसे ने उनसे अपने फोन से उनके भाई से तीस हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। उनके भाई मनोज उस बातचीत को अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया था जिसमें बातचीत में कनिष्ठ यंत्री द्वारा 20 हजार पर मामला तय कर लिया गया था। इसके बात इस रिकॉर्डिंग के आधार पर लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर लोकायुक्त ने आवेदक से कहा कि वह कनिष्ठ यंत्री को रिश्वत की राशि लेने कमलाराजा चिकित्सालय के पीछे बुलाए जहां उसने बुलाया तथा लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोच लिया था। विशेषज्ञों का कहना है कि निर्धारित लक्ष्य को पाने के लिए इन दोनों ही योजनाओं की रफ्तार उल्लेखनीय गति से बढ़ानी पड़ेगी. बेगूसराय में हैवानियत, विक्षिप्त महिला से रेप कर फरार हुआ बदमाश July 10, 2018 For Students Film Resources – Film and Video Resources Topic/ October 3, 2017 schemes-admin सरकारी योजना प्रपत्र वजन: 750 ग्राम कच्चे कर्मचारियों को हटाए जाने के हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी हरियाणा सरकार Apple Feedback @JarnailSinghAAP क्या वाकई मक्का में होटल की बिल्डिंग गिरने से हाजी शहीद हुए By अंकित राज शुद्धिपत्र Copyright © 2018. All Rights Reserved क्रिप्टो महत्वपूर्ण जानकारी IRCTC Train New Schedule, Timings: बदला गया 300 ट्रेनों का टाइम टेबल, जानिए नया शेड्यूल इंग्लैंड396/7 23-Dec-16 05:16 संबल योजना में पंजीकृत श्रमिक और बीपीएल उपभोक्ताओं के घरेलू कनेक्शन पर बिजली बिल की बकाया राशि को श्रम विभाग के पंजीयन अथवा बीपीएल कार्ड का क्रमांक उपलब्ध करवाने पर माफ किया जाएगा। ऐसे पंजीकृत श्रमिक जिनके निवास का बिजली कनेक्शन उसके स्वयं के नाम पर न होकर उसके परिवार के किसी सगे-संबंधी के नाम पर हो तथा बीपीएल उपभोक्ता को सरलता से नामांतरण की सुविधा देते हुए उपभोक्ता के साथ निवासरत होने की दशा में स्कीम का लाभ दिया जायेगा। यदि संबल योजना में पंजीकृत कोई पात्र हितग्राही-बिजली उपभोक्ता के परिवार का सदस्य है और उसके साथ रहता है, तो ऐसे कनेक्शन पर भी स्कीम का लाभ मिलेगा। इसके लिए उपभोक्ता का नाम बदलना जरूरी नहीं होगा, तथापि ऐसे प्रकरण में परिवार का सदस्य उन्हीं व्यक्तियों को माना जाएगा, जिनके नाम समग्र डाटाबेस में एक परिवार के रूप में अंकित हों। VIDEO-जब UN में इज़रायल का विरोध किया था अटल बिहारी वाजपेयी ने Narayan Singh Rathore Arts कॉलेज / विश्वविद्यालय सहारनपुर आज के समाचार Clear Study Doubts इतिहास विवो एक्स 21 128जीबी (ब्लैक, 6 जीबी रैम) वाजपेयी के अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा हुजूम आरटीएल, गुवहाती अस्पतालों पर नरम हुए केजरीवाल!   दुनिया के अजीबोगरीब कानून, जिन्हें जानकर आप रह जाएंगे हैरान वेबसाइट तक पहुंचाने वाले लिंक इस वेबसाइट की अंतर्वस्‍तु केन्‍द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्‍थान, विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रकाशित एवं व्‍यवस्थित है। © 2018 Bijli Bachao. All rights reserved. Post navigation रायपुर मुजफ्फरनगर टेस्ट सीरीज बिजली कंपनियां दो तरह से बिजली खरीदती हैं। वह बिजली उत्पादक कंपनी से 10 या 20 साल के लिए लॉन्ग टर्म अग्रीमेंट करती है या फिर जरूरत के मुताबिक शॉर्ट टर्म अग्रीमेंट होता है। यह पावर एक्सचेंज के जरिए या फिर बाइलेटरल (द्विपक्षीय) हो सकता है। जहां से बिजली मिल जाए वहीं से कंपनियां बिजली खरीद लेती हैं। अभी इस तरह का कोई सिस्टम नहीं है कि अगर बिजली कंपनी कम दाम पर बिजली खरीदे तो उन्हें कुछ फायदा हो। बिजली कंपनियां जिस दाम पर बिजली खरीदती है वह उसके खर्च में जुड़ जाता है और आखिरकार वह खर्च उपभोक्ताओं के हिस्से में आता है। अगर बिजली कंपनियां कम दाम पर बिजली लेंगी तो उपभोक्ताओं पर भी कम बोझ पड़ेगा। श्रीदेवी के बर्थडे पर जाह्नवी ने बचपन की फोटो शेयर कर मां को किया याद स्वतंत्रता दिवस समारोह | मंत्री मेहदेले ने ध्वजारोहण कर ली परेड की सलामी एशियन गेम्स में नहीं खेलेंगी वेटलिफ्टर मीराबाई चानू 443 Views तहसील Looks like you have taken a wrong turn..... ज्वाइनिंग के पहले दिन ही क्रिमिनल्स पर टूट पड़ा यह… World News @AamAadmiParty @DrKumarVishwas अरे बन्द करो नाटक। सरकार तेरी है । है औकात तो कुछ करो । जनता को चुतिया बनाना बन्द नही करोगे??? कठुआ खो गया है आपका स्मार्टफोन तो गूगल मैप की मदद से ऐसे खोजें पाठ्यक्रम निगमों का घाटा घटा, लेकिन उपभोक्‍ताओं को राहत में बिजली चोरी अड़ंगा ईआरईडी प्रकाशन नियमित बिजली बिल भरने वाले उपभोक्ताओं पर पड़ेगा भार इस पोस्ट को शेयर करें ईमेल वाणिज्य पिछले साल के मुकाबले पूरे उत्तर भारत में बेहतर... दिल्ली कांग्रेस ने बिजली सस्ती करने के केजरीवाल सरकार के दावों को जनता से खिलवाड़ करार दिया है. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि नई कीमतों से बिजली सस्ती नहीं बल्कि महंगी हुई है और ये कदम प्राइवेट कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए उठाया गया है. ये तकनीक इस तरह काम करता है कि गुफा के अंदर एक खाली कमरे में हवा को अतिरिक्त बिजली की मदद से कंप्रेस किया जाता है. जरूरत पड़ने पर कंप्रेस की हुई हवा को बाहर छोड़ने पर वह इलेक्ट्रिक जेनरेटर को चला सकती है और बिजली पैदा कर सकती है. दुनिया में बिजली बनाने के तो कई साधन हैं लेकिन उन्हें जमा रखने की तकनीक खोजी जा रही है. पवन बिजली हवा चलने पर ही काम करती है और सौर बिजली धूप रहने पर. अब तक पंप स्टोरेज प्लांट बिजली के उत्पादन में उतार चढ़ाव की भरपाई करती रही है. लेकिन कंप्रेस्ड एयर स्टोरेज के अपने फायदे हैं. "उदय" समझौता ज्ञापन पर माननीय मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश का सन्देश बजट में सरकार ने दिया स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा, जानिए क्या होता है ये? इस लिंक को कॉपी करें 4.00             3.00  फैशन और स्टाइल भी बदलता रहता है.अपनी एज के मुताबिक फैशन फॉलो करने के चक्कर में कई बार महिलाएं इस… “Silence in the face of evil is itself evil. Not to speak is to speak. Not to act is to act.” - Dietrich Bonhoeffer Friends, Printed below is Barmen Today: A Contemporary Contemplative Declaration.  A statement of… Read more मोबाइल फोन खरीदें कन्नौज न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Wed, 21 Mar 2018 01:02 PM IST शुद्धिपत्र 100 यूनिट से ज्यादा खपत को लेकर भले ही स्थिति स्पष्ट नहीं है लेकिन 100 यूनिट तक 200 रुपए बिल आने पर 250 से 300 रुपए तक का फायदा होगा। ग्रामीण क्षेत्र में मौजूदा दरों से अभी 100 यूनिट पर 450 और शहरी क्षेत्र में 500 रुपए औसत बिल बनता है। इसमें से 200 रुपए ही भरना होंगे, बाकी राशि सरकार सब्सिडी के रूप में कंपनी को जमा करवाएगी। सस्ता बिजली डलास TX - गैस और इलेक्ट्रिक बिल सस्ता बिजली डलास TX - उपयोगिता की तुलना करें सस्ता बिजली डलास TX - बिजनेस बिजली की तुलना करें
Legal | Sitemap