BIHAR प्रधान मंत्री सहयोगी बिजली हर घर योजना की मुख्य विशेषताये:- Pakwangali एस्सेल बिजली कंपनी की मनमानी के खिलाफ राष्ट्रीय मार्ग पर लोगों ने जमकर किया प्रदर्शन Videos Gallery 404 - File or directory not found. भाजपा सरकार ने पूरा किया हिसार में एयरपोर्ट का वादा: कैप्टन अभिमन्यु इमरान ने पाक के पीएम पद की ली शपथ, नवजोत सिंह सिद्धू भी रहे मौजूद बिजली कंपनी का काम छोड़कर भागीं नौ और कंपनियां झगड़े के दौरान बदमाशों ने की फायरिंग, महिला की मौत हालांकि 2 किलोवाट तक की बिजली पर फिक्स्ड चार्ज 20 रुपए से बढ़ाकर 125 रुपए कर दिया है. 2 किलोवाट से 5 किलोवाट पर फिक्स्ड चार्ज 35 रुपए से बढ़ाकर 140 रुपए कर दिया है. 5 किलोवाट से 15 किलोवाट तक की बिजली पर फिकस्ड चार्ज 175 रुपए और 15 किलोवाट से 25किलोवाट के लिए यह चार्ज 200 रुपए कर दिया है. इससे पहले अगस्त 2017 में बिजली की दरों में बदलाव किए गए थे. सिंचाई (मीटर) आइएएस वन  0.70  5.00 भविष्य अनुस्मारक हॉकी बड़कागाँव विधायक प्रतिनिधि अलका कुमारी वाराणसी में बस डिवाइडर से टकराकर पलटी, 5 गंभीर रूप से घायल 11. राशि के अनुसार शादी की ड्रेसों का करें चयन, ग्रहों और रंगों का खुशियों से सीधा संबंध राहुल गांधी Work With Us Clearing the confusion about the coating and material of the tank in water heaters परंपरागत बिजली (थर्मल पावर) के साथ-साथ सोलर पावर के जरिये लोग बिजली का उत्पादन करेंगे. इसको लेकर केंद्र व राज्य सरकार योजना चला रही है और अनुदान भी दे रही है. इससे लोगों को सौर ऊर्जा के जरिये बिजली मिल सकेगी. कंपनी के सूत्रों की मानें तो एलएनटी कंपनी को पिछले साल तक ही इन 355 टोलों में सोलर के जरिये बिजली पहुंचानी थी लेकिन उसके काम करने की गति धीमी है. राज्य सरकार का लक्ष्य है कि राज्य के सभी टोलों तक अप्रैल के अंत तक बिजली पहुंच जाये और दिसंबर के अंत तक हर घर में बिजली पहुंच जाये.  एलएनटी कंपनी की ओर से निर्धारित समय पर काम पूरा नहीं होने पर बिहार सरकार लक्ष्य को पूरा नहीं कर सकेगी. इसलिए अल्टीमेटम दिया गया है.  आईपीओ Atalji Last Rites Solar Inverter Price in India कुछ ही देर में शुरू होगी प्रियंका-निक की पार्टी, शामिल हो सकते हैं ये सितारे Local last » इस योजना का लाभ गाँव के साथ-साथ शहर के लोगों को भी मिलेगा। टूल्स और टेक्निक लघु सिचाई योजनाएं.. 11 हजार सीसीटीव्ही कैमरों से होगी मध्यप्रदेश की निगरानी प्रियंका के घर जश्न का माहौल, रोका सेरेमनी के लिए पहुंचे पंडित जी @AamAadmiParty Now instead of wasting time in discussion, AAP govt shud register FIR n take stern action against discoms,Sheila Dixit n co प्रश्नपत्र I उज्ज्वला योजना की शुरुआत के बाद एलपीजी कनेक्शन की संख्या में हालांकि बड़ा इजाफा देखा गया है. लेकिन इसके हिसाब से एलपीजी की खपत उतनी नहीं हुई है. news1 day ago भारत के पीसी मार्केट में 28 फीसदी की ग्रोथ, अल्ट्रा स्लिम नोटबुक ने बढ़ाई मांग 51 mins प्रतिक्रिया दें CricketNext Terms & Conditions | Refund & Cancellation | Privacy Policy हल्द्वानी पूजन विधि और आरतियां अन्नपुर्णा योजना सहरसा वातावरण की उपेक्षा की यह स्थिति थी कि खुदाई तथा सुरंग बनाने से निकला सारा मलवा खुलेआम नदी में डाला जा रहा था। योजना बनाने वालों ने किंचित भी परवाह नहीं की कि ऐसा करने से पानी दूषित हो जाएगा तथा जल में रहने वाले जीवों की हानि होगी। जो वृक्ष या वन लगाने की बात योजना वालों ने की थी वह पूरी नहीं की गई। अड़तीस प्रतिशत योजनाओं ने कोई पेड़ नहीं लगाए, योजनाओं की सड़कें तथा सुरंगें बनाने से पहाड़ों के ढलानों को नुकसान हुआ। इन सब बातों का प्रतिकूल प्रभाव नदियों के नीचले भागों में पड़ा। नीचे के जल प्रवाह की माप होनी चाहिए थी तथा उसके मानदंड बनाए जाने चाहिए थे ताकि योजनाओं का वातावरण पर दुष्प्रभाव न पडे, उससे भूमिगत पानी का संचय हो रहा है या नहीं। सिंचाई के लिए क्या बचा पानी पर्याप्त है कि नहीं तथा नदी में कितनी बालू-मिट्टी जमा हो रही है ? यह देखा जाना चाहिए था कि योजनाओं के बनने के बाद पर्यावरण तथा प्रकृति पर क्या प्रभाव पड़ रहा है और उसकी लगातार समीक्षा होनी चाहिए थी। बिजली यंत्रों को चलने से यदि कोई दुष्प्रभाव पड़ रहा है तो उनके संचालन में बदलाव किया जाना चाहिए था। भारत सरकार के सुझावों के अनुसार एक प्रतिशत बिजली सरकार को सहायता के लिए मुफ्त दी जानी चाहिए थी। सोलन Photo गैलरी Live Help All content on this website is published आठ जुआरियों से साढ़े 11 हजार जब्त फरीदाबाद से आगे रहा बल्लभगढ़ स्टेशन अन्य बजटीय उपबंध Rohtas ...जब वाजपेयी ने दी थी मोदी को राजधर्म निभाने की नसीहत देखें 'सौ बात की एक बात' में आज दिनभर की सबसे बड़ी ख़बरें Send OTP देश के प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार में यह कंपनी रही सबसे आगे आमने-सामने Hockey सिरफिरे ने युवती को चाकू से गोदा, मोबाइल लेकर हुआ... समस्त बोकारो वासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं कोटा तमिर-ए-हरियाणा शादी का झांसा देकर 5 वर्ष तक दुष्कर्म SUBSCRIBE NOW! March 2017 सिंचाई (मीटर) आइएएस वन  0.70  5.00 मध्यप्रदेश के इन दो जिलों के 120 होटल संचालकों को नोटिस   आठ बिजली कनेक्शन काटे मीटर भी निकाले यमुनानगर Rojgar Mela ख़बरें/ क्रय तथा सिविल इंजीनियरी विभाग की रिपोर्टें पावर टैरिफ में कम हो सकते हैं 15 से 20 पैसे प्रति यूनिट awkash garg | Jabalpur, Madhya Pradesh, India 07/14/2011 - 16:16 समाज(युवा समिति)के राष्ट्रीय संयोजक, आदिवासी मुंडा समाज के सदस्य तथा भाजपा अनुसूचित जन जाति मोर्चा क आंकड़े बताते हैं कि नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल ने सितंबर 2017 तक सिर्फ छह लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया है और सिर्फ 72,858 प्रशिक्षित युवाओं को 12 फीसदी की दर से काम दे सका है. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पहला चरण) के तहत रोजगार देने की दर सिर्फ 18 फीसदी रही है. Don't have an account? Sign up » नागरिक अधिकार इस पोस्ट को शेयर करें ईमेल पंचायत चुनाव: प. बंगाल में भाजपा को सुप्रीम कोर्ट से झटकाराहुल के 'मिथ्याग्रह' का राजघाट पर हुआ पर्दाफाश : भाजपाकांग्रेस का देशभर में अनशन शुरूभाजपा ने डाली कांग्रेस नेताओं की रेस्त्रां की फोटोप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीजापुर दौरे के पहले नक्सलियों ने किए सीरियल ब्लास्टजीतू को स्वर्ण, मेहुली-अपूर्वी ने भी जीते पदकभारत के दो विकेटकीपर बल्लेबाज़ों की होगी भिड़ंतचारा घोटाले मामले में 37 दोषी करार, पांच बरीकातिल की गिरफ्तारी को लेकर मारवाड़ी कॉलेज के छात्र छात्राओं ने किया सड़क जाममुख्यमंत्री स्टार प्रचारकों की लिस्ट में Promoted Tweet एक्सपर्ट्स अगले 5 आइटम्स » 1 2 3 4 … 46 आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 की नई बिजली दर का निर्णय बुधवार को विनियामक आयोग के अध्यक्ष एसके नेगी, सदस्य राजीव अमित व आरके चौधरी ने संयुक्त रूप से सुनाया। अध्यक्ष ने कहा कि साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड को 9,603 करोड़ और नॉर्थ बिहार कंपनी को 7207.62 करोड़ रुपए राजस्व की जरूरत का प्रस्ताव दिया था। समीक्षा के बाद आयोग ने साउथ बिहार के लिए 9228.64 करोड़ और नॉर्थ बिहार के लिए 7106 करोड़ की जरूरत को मंजूर किया है। दोनों कंपनियों ने 2018-19 के लिए कुल 5121.87 करोड़ घाटा का प्रस्ताव दिया था, लेकिन जांच में मात्र 747.44 करोड़ ही पाया गया। कंपनी ने राजस्व नुकसान को कम करने के लिए 44 फीसदी बिजली दर वृद्धि का प्रस्ताव दिया, जिसे आयोग ने बड़े उद्योग को छोड़कर बाकी श्रेणी के उपभोक्ताओं को मात्र पांच फीसदी वृद्धि का निर्णय लिया है।  प्रकाश उद्देश्यों के लिए मिट्टी के तेल के प्रतिस्थापन द्वारा पर्यावरण उन्नयन वित्त वर्ष 2017-18 में इनकम टैक्स कलेक्शन रिकॉर्ड 10.03 लाख करोड़ रुपए, 6.92 करोड़ लोगों ने रिटर्न भरा 44 mins पेट्रोल-डीजल के बाद अब महंगी होगी बिजली, झटका : बिहार में बिजली पांच फीसदी हुई महंगी, जानें क्या है नई दर  डीईआरसी ने बुधवार को साल 2018-19 के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है. इस बार दिल्लवासियों को बड़ी राहत देते हुए बिजली की दरों को घटा दिया गया है. टुण्डी विधानसभा क्षेत्र के लोगो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं diesel gang‏ @Arun_jsingh 18 Aug 2015 101 से 500 - 6.75 - 6.65 फक्कड़ पुलिसिया ‘भगत’ जिसने, पैंट पर लिखे नंबर से ही कर दिया एक रात में चार कत्ल का ‘पर्दाफाश’ लघु पथन प्रयोगशाला (एससीडी) योजना विंग अभिलेख बिज़नेस TWITTER शेखपुरा इसके साथ ही ग्रामीण इलाकों में बिजली की दरों में भी वृद्धि की गई है. 150 से 300 यूनिट तक ग्रामीण उपभोक्ताओं को 4.50 पैसे की दर से भुगतान करना होगा. 10:07 और भी पढ़ें फैशन और स्टाइल भी बदलता रहता है.अपनी एज के मुताबिक फैशन फॉलो करने के चक्कर में कई बार महिलाएं इस… Bangla इस योजना के लिए कुल 43 हजार 33 करोड़ के निवेश की आवश्यकता है। जिसमें से भारत सरकार (योजना की पूरी अवधि में) 33 हजार 4 सौ 53 करोड़ की सहायता देगी। निजी डिस्कॉम एवं राज्य बिजली विभागों समेत सभी डिस्कॉम इस योजना के तहत वित्तीय सहायता के लिए पात्र होंगी। डिस्कॉम विशिष्ट नेटवर्क जरूरत को ध्‍यान में रखते हुए ग्रामीण ढांचागत कार्यों को मजबूत बनाने को वरीयता देंगी और इस योजना के तहत आने वाली परियोजनाओं के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करेंगी। इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए नोडल एजेंसी ग्रामीण विद्युतीकरण निगम (आरईसी) होगी। आरईसी,  योजना के लागू किए जाने की मासिक प्रगति रिपोर्ट को ऊर्जा मंत्रालय तथा केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण के समक्ष प्रस्तुत करेगी। इस रिपोर्ट में वित्तीय तथा वास्तविक प्रगति का ब्यौरा दिया जाएगा। वातानुकूलक परीक्षण प्रयोगशाला URL: https://www.youtube.com/watch%3Fv%3DzZ3gVHlTCEY%26vl%3Den स्वीट हार्ट डील: काकरिया के मुताबिक डायल सहित कुछ एजेंसियों के साथ बिजली कंपनियों की स्वीट हार्ट डील है। इन्हें पब्लिक यूटिलिटी के नाम पर सस्ते में बिजली दी जाती है जबकि वहां शोरूम, पब, रेस्टोरेंट चल रहे हैं जो जरूरत से ज्यादा बिजली यूज करते हैं। इनका बोझ भी आम कंज्यूमर की जेब पर पड़ता है। इसलिए स्वीट हार्ट डील खत्म होनी चाहिए। कॉलेज विद्यार्थियों के लिये टिप्स @DrKumarVishwas @AamAadmiParty Loot is just not possible without the involvement of leadership/Govt & adm auths,if investigated honestly. चण्डीगढ़, 14 जून- हरियाणा सरकार ने राज्य में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को सस्ती बिजली आपूर्ति प्रदान करने के लिए ‘पावर टैरिफ सब्सिडी योजना’ अधिसूचित की है। इस योजना के तहत, ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी खंडों में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को बिजली कनेक्शन जारी करने की तिथि से तीन वर्ष के लिए दो रुपये प्रति यूनिट की पावर टैरिफ सब्सिडी प्रदान की जाएगी। नेविगेशन की ओर MADHYAPRADESH NATIONAL POLITICAL BHOPAL CRIME BUSINESS KARMACHARI JABALPUR INDORE GWALIOR ADMINISTRATIVE INTERNATIONAL EDUCATION BOLLYWOOD CAREER EDITORIAL RELIGIOUS SPORTS LEGAL TECHNOLOGY धरती के रंग KHULAKHAT HEALTH #एशियन गेम्स 2018 उत्तर प्रदेश की कानपुर बिजली आपूर्ति कंपनी ने सालभर में अपनी स्थिति सुधार ली है। ताजा रैंकिंग में यह कंपनी 24वें नंबर पर है, जबकि सालभर पहले यह 31वें पायदान पर थी। उत्तर प्रदेश की बाकी तीनों वितरण कंपनियां सीएसपीडीसीएल से नीचे हैं। वहीं, बिहार दोनों कंपनियों नार्थ और साउथ की स्थिति यहां से ठीक है। नार्थ कंपनी ने अपना 17वां रैंक बरकरार रखा है, साउथ बिहार वितरण कंपनी 21 से 30 स्थान पर चली गई है। FOLLOW (11) ગુજરાતી प्रदेश की बिजली वितरण निगमों में अब भी बिजली छीजत का ग्राफ 25 से 35 फीसदी तक बना हुआ है वहीं बिजली चोरी मामले में कई जिलों में छीजत 35 फीसदी तक रही है। राज्य सरकार के निर्देशों के बावजूद बिजली कंपनियां चोरी व छीजत रोकने में प्रभावी कार्रवाई करने में नाकाम रही हैं। इसके उलट बिजली कंपनियों ने चोरी छीजत पर लगाम कसने के लिए संबंधित क्षेत्र के अभियंताओं के वेतन भत्ते में कटौती की तलवार भी लटकाई लेकिन नतीजा सिफर रहा है।  पावर डाटा प्रबंधन प्रभाग सुल्तानपुर news bengali news marathi news tamil news malayalam news Gujarati News Telugu News Kannada News zeebiz wion dna INVESTOR INFO देश के कोने-कोने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी क... केरल बाढ़:खराब मौसम के चलते नहीं हो पाया कोच्चि में पीएम का हवाई सर्वे Jamui Why Use 3-pin plugs for electrical safety? विशेष रूप से महिलाओं के लिए जीवन की बेहतर गुणवत्त Čeština उपभोक्ता को  िकस दर से भुगतान करना पड़ रहा है Website Raushan Pratyek Media - August 18, 2018 Apache/2.4.7 (Ubuntu) Server at duta.in Port 443 सी ई आर सी 80 के दशक में इंदौरा आए थे वाजपेयी, संघ के कार्यक्रम में लिया था भाग कर्मचारियों की विवरणिका फरीदाबाद समाचार यह योजना फिलहाल बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, पूर्वोत्तर राज्यों और राजस्थान में लागू की गई है।  बिजली स्विच करें - विद्युत लागत कितनी है बिजली स्विच करें - गैस दरों की तुलना करें बिजली स्विच करें - स्थानीय इलेक्ट्रिक कंपनी
Legal | Sitemap