महिंद्रा ने 2010 में 16 अरब रुपये में रेवा कंपनी के खरीदा था.महिंद्रा द्वारा खरीदे जाने के बाद ये पहली कार है. रेवा प्रमुख चेतन मनी कहते हैं ये एक ‘गेम चेंजिंग’ कार है. पहले पेश की गई कार को ‘गोल्फ कार्ट’ कहा जाता था क्योंकि इसमें सिर्फ दो लोग बैठ सकते थे. अबमहिंद्रा रेवा ई2ओ में चार लोग बैठ सकते हैं और 10 कंप्यूटर इस कार की कार्यप्रणाली के संचालित करते हैं. सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र- 2: शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध योजना के आसान और त्वरित कार्यान्वयन के लिए, आधुनिक तकनीक का उपयोग मोबाइल ऐप का उपयोग करके घरेलू सर्वेक्षण के लिए किया जाएगा। जिससे लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और आवेदक तस्वीर और पहचान प्रमाण के साथ बिजली कनेक्शन के लिए उनका आवेदन स्थान पर दर्ज किया जाएगा Email ID फैजाबाद एयरटेल पेमेंट्स बैंक के ग्राहकों को मिलेगा PMJJBY का लाभ, भारती एक्‍सा लाइफ से मिलाया हाथ संपर्क करें Updated:2017-03-30 13:39:10.0 Email सहारनपुर उजाला योजना के तहत दिये जाने वाले एलईडी बल्ब की लागत में काफी कमी आई है।  मेयर व डिप्टी मेयर पद के कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए दम-खम लगा रहीं महिला समर्थक   Write a Comment प्रिंट MENU ऊर्जा से जुड़े प्रमुख संस्थान Indonesian Indonesia ऐसे समझें फर्जीवाड़ा, उपभोक्ताओं को लगाया चूना रक्सौल-काठमांडो रेल परियोजना के कार्य में तेजी लाएगा नेपाल और भारत Hindi NewsMetroDelhiPower Road And Water Delhi बाघ के हमले में तेंदूपत्ता श्रमिक की मौत Published: 2017-03-30 13:39:03.0 हरियाणा Name चर्चा में विभाग के बारे में न्यूनतम आदेश मात्रा: 100PCS व्यक्ति से संपर्क करें: [email protected] Follow Us On b a politics3 hours ago यह भी पढ़ेंः एक रात के लिए 15 हजार रुपये में नाबालिग लड़की का सौदा Districts महाराजगंज Log in to Twitter Advertise Time April, 2016 About Us | Privacy Policy | Contact Us | Feedback | Sitemap | RSS चण्डीगढ़, 14 जून- हरियाणा सरकार ने राज्य में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को सस्ती बिजली आपूर्ति प्रदान करने के लिए ‘पावर टैरिफ सब्सिडी योजना’ अधिसूचित की है। इस योजना के तहत, ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी खंडों में सूक्ष्म और लघु उद्यमों को बिजली कनेक्शन जारी करने की तिथि से तीन वर्ष के लिए दो रुपये प्रति यूनिट की पावर टैरिफ सब्सिडी प्रदान की जाएगी। मोदी ने 2014 के आम चुनावों के प्रचार के दौरान नौकरी देने का वादा किया था. लेकिन सत्ता में आते उन्होंने पलटी मारते हुए कहा कि वो युवाओं को नौकरी देने की बजाए उन्हें नौकरी सृजित करने वाला बनाना चाहते हैं. लेकिन अर्थशास्त्री मोदी सरकार के इस यू-टर्न से सहमत नहीं हैं. वे इसे एक मुद्दे को भटकाने वाली चाल के रूप में देखते हैं. इस तरह के लोन बहुत कम समय के  लिए रोजगार तो पैदा कर सकते हैं लेकिन पूर्ण-कालिक रोजगार नहीं. English UK चकल्लस डेढ़ साल में 10 हजार फ्लैट दे देंगेः सुपरटेक बिजली आपूर्ति-भारतीय परिदृश्य दिल्ली सर्राफा बाजार बंद RANCHI : ‘कजरी द सावन क्वीन’ : होटल जेनिस्टा इन में फाइनल 19 अगस्त को सारन Thomson Press संचला ड्रिंकिंग वाटर रंगामाटी, सिंदरी प्रखंड प्रमुख चंदनकियारी Your name वन एवं पर्यावरण वैकल्पिक विषय - भूगोल पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का काम अधूरा छोड़कर गायब हुईं कंपनियों में सबसे ज्यादा चार हैदराबाद की बताई जा रही हैं। अन्य कंपनियां चेन्नई, बेंगलूरु, जबलपुर, सतना व नोएडा की हैं। काम पूरा नहीं करने वाली इन कंपनियों पर कार्रवाई के बाद बिजली कंपनी इनकी बैंक गारंटी जब्त करने की कवायद में जुट गई है। जनगणना Tamil चास : NH 32 अतिक्रमण मुक्त, सड़क चौड़ीकरण को लेकर... बिजली कंपनी ने कहा: नपा ने बिल नहीं भरा तो काटेंगे कनेक्शन, नपा बोली; चुकता है पूरा जानिए किसने दी बाजपेयी को मुखाग्नि posted on August 18, 2018 India लखनऊ विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में बेटियों के नाम सबसे ज्यादा मेडल Promoted by 45 supporters 31 दिसम्बर तक सभी घरों में पहुंचेगी बिजली This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions. सहायक / उच्च श्रेणी लिपिक ************************************************************************************ योजनाएं : ‘गोठ एप’ पर जानिए, मिनीमाता योजना ने कैसे बदली युवाओं की आर्थिक स्थिति चुटकुले पानी विचार EMAILFACEBOOKINSTAGRAMTWITTERGOOGLE+WHATSAPP केरल : खराब मौसम के चलते मोदी का बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण रद्द MTV India बड़ोग पंचायत के 2 गांवों में फोरलेन निर्माण का मलबा बना लोगों के लिए... Wed, 08 Aug 2018 02:30 PM IST सरकार ने हाल ही में घोषणा की कि दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत 18,452  गांवों के विद्युतीकरण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. लेकिन इस आंकड़े के हिसाब से देश की बिजली खपत में कोई इजाफा नहीं देखा गया है. उत्पाद का नाम: कम कीमत सीलिंग चरण प्रीपेड विद्युत मीटर तटस्थ: तटस्थ मापना नीतीश कुमार ने कहा कि एक सोची समझी रणनीति के तहत वर्ष 2017-18 में टैरिफ याचिका को शून्य अनुदान पर तैयार कराया गया है. इस नीतिगत निर्णय के आधार पर आयोग ने बिना अनुदान के  टैरिफ लागत का निर्धारण किया. इससे राज्य सरकार को उपभोक्तावार  अनुदान की राशि तय करने में पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी. साथ ही वितरण कंपनियों की टेक्निकल व कॉमर्शियल लॉस में निरंतर कमी लाने के लिए गहन माॅनीटरिंग की जा सकेगी. नये वर्ष के लिए आयोग ने टैरिफ निर्धारित करते समय पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल अौर उत्तर प्रदेश के 2016-17 के टैरिफ से तुलना करते हुए राज्य के उपभोक्ताओं को दी जानेवाली सब्सिडी का निर्धारण किया है.  Trending Now: नहीं रहे भारतीय राजनीति के 'अजातशत्रु' अटल बिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स में हुआ निधन सामाजिक पहलू और विवाद जिज्ञासा 447 Views हरियाणा में पहली बार बिजली कंपनियां घाटे से उबरकर लाभ की स्थिति में आई हैं। लाइनलॉस कम होने के साथ ही पिछले साल के 193 करोड़ रुपये के घाटे के विपरीत इस साल बिजली कंपनियों को 115 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है। इससे जहां बिजली कंपनियां उत्साहित हैं, वहीं सरकार ने इसका लाभ उपभोक्ताओं को देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल चाहते हैं कि बिजली के रेट कम किए जाएं, लेकिन साथ ही उन्होंने बिजली कंपनियों को निर्देश दिए हैं कि पहले उत्पादन की बाधाओं को दूर किया जाना चाहिए। किसान के बेटे का कमाल, केले के तने और रद्दी कागज से पैदा की बिजली Partnership @JarnailSinghAAP ji please isme the dekhein yeh pahle drawing rahe they conection kaat denge maine bill bhar diya ab for bhej diya meeter bhi chal rha hai or Yeh Dear Consumer Kno: [1582812911], Please pay bill amount of Rs [6089.00] by [07-Jun-2018] to avoid penalties. गैस और इलेक्ट्रिक बिल - ऊर्जा स्विच करें गैस और इलेक्ट्रिक बिल - बिजनेस बिजली गैस और इलेक्ट्रिक बिल - बिजली बदलें
Legal | Sitemap