100 MVA चालू लाइन परीक्षण प्रयोगशाला II पुनःसंरचित एपीडीआरपी गुड न्यूज : बिहार में बिजली कंपनी निकालने जा रही है 1200 पदों पर बहाली Chhattisgarh News తెలుగు OVER 7,000,000 STORYBOARDS CREATED!FREE TRIAL For Teachers For Work For Film TRENDING VIDEOS कब तक चलेगा एयर बीएनबी का जादू? हल्द्वानी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन | देशभर में शोक की लहर अटल की अंतिम यात्रा पर उमड़ा जनसैलाब, देखें तस्वीरें... BihareffectiveelectricityExpensiveincreasenew ratePatnaPercentagePunjab Kesariपटनाबिजलीबिहार गुलज़ार...आधी सदी से जो ताज़ादम है लखनऊ विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में बेटियों के नाम सबसे ज्यादा मेडल cricket-news2 days ago जब अटल जी द्वारा दिया गया बैट लेकर पाकिस्तान मैच खेलने चले गए थे सौरव गांगुली Dharmender Chaudhary [Updated:28 Jan 2016, 4:59 PM IST] msn समाचार Follow स्वशिक्षा कॉरपोरेट People कटकमसांडी प्रखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामना ANURAG THAKUR हिंदी Weather नानी मां के नुस्खे ये हैं नई दरें (रुपये प्रति यूनिट) विज्ञापन पत्रकार बीमा योजना इतना ही नहीं अगर आप बिजली का बिल Paytm से भरते हैं तो आप वॉशिंग मशीन, बाइक, फ्रिज और एलईडी बल्ब भी जीत सकते हैं। दिल्ली में ज्यादातर लोग समय से बिजली का बिल जमा नहीं करते, जिसकी वजह से बिजली कंपनी को काफी नुकसान होता है। इस नुकसान को कम करने के लिए कंपनी ने यह ऑफर शुरू किया है। कंपनी ने यह लोग समय पर बिजली बिल जमा कराए इसके लिए शुरू की है। विज्ञान दिल्ली में 50% सस्ती हुई बिजली अनु एव वि प्रबंधन प्रभाग होम पर वापस जाएँ प्रतिक्रिया सदस्‍यता Subject क) कक्षा 1 सटीकता के साथ 80A की अधिकतम वर्तमान दिवाली के मौके पर जियो का धन धना धन ऑफर, जानें क्या है प्लान राशि भरपूर बिजली के सरकारी इरादे पर पानी फेर रही कोयला कंपनियां  Loading ... TERMS OF USE सुपौल बलराम ताल योजना बाघ के हमले में तेंदूपत्ता श्रमिक की मौत © 2018 Patrika Group FR / ES / DE / RU #JusticeForNoura "On Monday morning, just as we set out for our daily walk, my mother told me the story of Noura Hussein :  At 16, Noura was forcibly married off by her father. She refused… Read more अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने वालों का लगा तांता Apologies, but the page you requested could not be found. Perhaps searching will help. Jio Phone 2 लॉन्च: जानिए कीमत, जरूरी बातें महत्वपूर्ण जानकारी Air Conditioner vs Air Purifier: Which is better for Air Purification? New to Twitter? वजन: 800 ग्राम Read More.. 07/14/2011 - 12:37 देश में पारेषण के सर्वोत्तम प्रथाओं सिवनी में अगर मेडीकल कॉलेज स्वीकृत होता है तो इसका श्रेय किसे देंगे! छात्रसंघ चुनाव: कैंपस का कुरुक्षेत्र तैयार… प्रत्याशियों का इंतजार सिल्लीगुडी लखनऊ में झमाझम बार‍िश के आसार, गर्मी से म‍िल सकती है राहत नैनवां में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम लांच हुअा Samsung Galaxy Note 9, जानिए कीमत और फीचर्स पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा अनुप्रयोग Why you're seeing this ad पंचतत्व में विलीन हुए अटल जी, अस्थि विसर्जन कल वोडाफोन ने उतारा नया 99 रुपये का प्लान शनि देव की पूजा के ये 4 आसान उपाय खोल देते हैं किस्मत का दरवाजा 43 mins अमरावती Press Releases सपा सरकार ने वर्ष 2012 के अपने चुनावी घोषणा-पत्र में वादा किया था कि ''आने वाले दो वर्षों में बिजली की उपलब्धता ग्रामीण क्षेत्रों के लिये 20 घण्टे और शहरी क्षेत्रों में 22 घण्टे की जायेगी। उद्योग और कृषि के लिये बिजली की आपूर्ति में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी’’। परन्तु आज लगभग सवा तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी यह सपा सरकार अपने इन वादों को थोड़ा भी पूरा करने के मामले में ना केवल पूरी तरह से विफ ल साबित हुई है, बल्कि इन वादों को पूरा करने के मामले में अभी तक कोई ठोस क़दम भी नहीं उठा पाई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता सब जानती है और उसने ''अपराध-नियंत्रण व क़ानून-व्यवस्था के साथ-साथ जनहित व विकास एवं बिजली’’ के क्षेत्र में भी बी.एस.पी. की सरकार के बेहतरीन कार्यों को देखा व परखा एवं अनुभव किया है। नई दिल्ली | March 5, 2016 4:58 AM Arrange a Callback -सिंचाई पंपों की खपत पर ऊर्जा प्रभार में दस फीसद छूट का रहेगा प्रावधान। लीक हुई अक्षय कुमार की फिल्म गोल्ड, कमाई पर पड़ सकता है असर NCR जवाब – ’24×7 पावर फॉर ऑल’ राज्यों के बीच में एक संयुक्त पहल है जो राज्यों / संघ राज्य क्षेत्र के विशिष्ट रोडमैप और कार्य योजना को अंतिम रूप देने के लिए जैसे -बिजली क्षेत्र,हस्तांतरण और वितरण, ऊर्जा दक्षता, स्वास्थ्य के सभी क्षेत्रों को कवर करने वाले राज्यों के साथ एक संयुक्त पहल है। सभी राज्यों / संघ शासित प्रदेशों के साथ परामर्श में सभी दस्तावेजों में पावर के लिए बिजली क्षेत्र की मूल्य श्रृंखला में आवश्यक विभिन्न हस्तक्षेपों का विवरण शामिल है। मेष लोकायुक्त ने बिजली कंपनी के जेई के खिलाफ पेश किया चालान सुधेड़ में पलटा पंजाब के श्रद्धालुओं का... असम योजना के अनुदान का हिस्सा विशिष्ट वर्ग राज्यों के अतिरिक्त अन्य राज्यों के लिए 60 फीसदी (अनुशंसित उपलब्धि अर्जित करने पर 75 प्रतिशत तक) और विशिष्ट वर्ग राज्यों के लिए 85 फीसदी (अनुशंसित उपलब्धि अर्जित करने पर 90 प्रतिशत तक) तक है। अतिरिक्त अनुदान के लिए अपेक्षित उपलब्धियां हैं : योजना का समय पर पूरा होना, एटी एंड सी में अपेक्षित कमी और राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी को अग्रिम रूप से जारी करना। सिक्किम समेत सभी पूर्वोत्तर राज्य, जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड विशिष्ट वर्ग राज्यों में शामिल हैं। शाहजहाँपुर रामपुर की दूरदराज पंचायत में फटा बादल, आधा दर्जन पुल बहे Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके । बिहार कैबिनेट निर्णय 1 सितम्बर 2015: 50 एजेंडों पर लगी मुहर दिल्ली NCR पानीपत डी एन पी 3 प्रयोगशाला व्यवसायियों ने जलाया बिजली नियामक आयोग का पुतला Sunit Dixit‏ @sunitdixit 18 Aug 2015 अटल को याद कर बेहद भावुक हो गए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष, सुनाया वो किस्सा ताज़ा खबर झाविमो जिला अध्यक्ष बप्पी बावरी Agra जयपुर में देर रात झमाझम बारिश, मौसम हुआ ठंडा, सड़कों पर जगह-जगह भरा पानी 09:41 देवघर के व्यवसायियों ने पूर्व पीएम को दी अश्रुपूर्ण विदाई इतना ही नहीं अगर आप बिजली का बिल Paytm से भरते हैं तो आप वॉशिंग मशीन, बाइक, फ्रिज और एलईडी बल्ब भी जीत सकते हैं। दिल्ली में ज्यादातर लोग समय से बिजली का बिल जमा नहीं करते, जिसकी वजह से बिजली कंपनी को काफी नुकसान होता है। इस नुकसान को कम करने के लिए कंपनी ने यह ऑफर शुरू किया है। कंपनी ने यह लोग समय पर बिजली बिल जमा कराए इसके लिए शुरू की है। Hindi NewsState News In HindiPunjab And Haryana News In HindiFaridabad News In HindiElectricity Department's Surcharge Apology Scheme For Government Defaulter राज्य सरकार की नीति में उल्लेख नहीं था कि योजनाओं को नदियों का पानी प्रयोग करने के बाद कितना नीचे की धारा में छोड़ना चाहिए। पानी सुरंगों में डालने तथा प्रयोग करने के बाद नीचे नदी की पुरानी घाटी में बहाव कितना रहेगा ? पाँच योजनाओं की जाँच करने के बाद देखा गया कि नदियों की सुरंगों के समाप्त होने के बाद निचले भागों में पानी नहीं था और वे बिलकुल सूखे पड़े थे। कहीं कुछ बूदें रिसती दिखाई दे रही थीं। जो वातावरण को बनाए रखने लायक नहीं थी। नदियों से रिसकर जो पानी भूमितल में जमा होता था वह भी समाप्ति पर था। बिना सोचे-समझे राज्य सरकार नदियों पर जो अंधाधुंध जल-विद्युत योजनाएं बना रही थी उनका मिला-जुला नतीजा वातावरण के लिए घातक था। अभी 42 जल-विद्युत परियोजनाएं कार्य कर रही थीं, 203 और या तो बन रही थीं या तैयारी में थी। बहुत सारी अन्य विचाराधीन थी। गिरिडीह स्टार्ट-स्टॉप चंडीगढ़ jharkhand FROM NETWORK18 केंद्रों पर ही रखा बारिश में खराब हुआ अनाज, मारने लगा बदबू, लोग परेशान निम्न को खोजें: 1:38 August 18,2018 10:28:33 AM ऊना औद्योगिक क्षेत्र के लिए मात्र सात फीसदी बढ़ायी गयी दर   साइटमैप #अलविदा अटल #INDvENG #रेलवे भर्ती #अनोखी #नंदन By Prabhat Khabar | Updated Date: Aug 31 2017 9:32AM प्रदेश कार्यसमिति सदस्य,कांग्रेस 90 फीसदी ग्रामीण परिवारों के पास मोबाइल पर कर्ज में आधे परिवार: नाबार्ड सर्वे काशीपुर शेयर बाजारों की बेहतर शुरुआत, सेंसेक्स 260 अंक चढ़ा टॉलीवुड अजब गजब : जिंदा चूहे की गर्दन पर उग आया सोयाबीन का पौधा, हर कोई हैरान विद्युत प्रदायक बदलें - बिजली स्विच करें विद्युत प्रदायक बदलें - पॉवर कंपनी विद्युत प्रदायक बदलें - आज बचाओ
Legal | Sitemap