दरअसल सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं के लिए दो योजनाएं लागू की है। पहली मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम-2018 है, इसके तहत जो बीपीएल उपभोक्ता हैं, उनके जून तक के समस्त बकाया बिल माफ किए जाएंगे। इसके लिए उन्हें कंपनी कार्यालय पहुंचकर आवेदन देना है। बकाया बिल माफी के अलावा अन्य कोई लाभ इन्हें नहीं मिलेगा। दूसरी योजना सरल बिजली बिल स्कीम-2018 है। इसके अंतर्गत असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के तहत पंजीकृत परिवार के उपभोक्ता के बकाया बिल तो माफ होंगे ही, जुलाई से 200 रुपए में सस्ती बिजली मिलेगी। इन्हीं दोनों योजनाओं का लाभ लेने के लिए कंपनी कार्यालय में फॉर्म भरने वालों की भीड़ है। स्वचालन #Chhattisgarh electricity Bijli Bachao is your source for unbiased information on saving electricity. We do not sell any products, nor do we provide auditing services. We only provide well researched information. Aksharparv 16 Views एंटरटेनमेंट 5/6 ये भी पढ़े... Latest News - नहरी क्षेत्रों में अपर्याप्त एवं असामायिक विद्युत आपूर्ति का प्रामाणिक निराकरण, डिग्गी निर्माण से सिंचाई की सुनिश्चितता, आसान शर्तों पर ऋण 9 वर्ष के लिए उपलब्ध। English Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd Divya Shree मुख्य पृष्ठ अनु. व वि. योजनाएँ अनुसंधान योजना विद्युत पर अनुसंधान योजना (आरएसओपी) पिछले वर्ष विनियामक आयोग की अनुशंसा के बाद राज्य सरकार ने अलग-अलग स्लैब में सब्सिडी की घोषणा की थी लिहाजा इस बार भी विभाग के मुखिया ने सब्सिडी देने की बात कही है। हालांकि सरकार संबंधित उपभोक्ताओं को उसके बिजली बिल पर कितने रुपये की सब्सिडी देगी इसका खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन, बिजली की शुल्क में बढ़ोतरी के तुरंत बाद ही विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने सब्सिडी देने की बात कही है। महंगाई से चिंतित RBI ने प्रमुख ब्याज दरों में नहीं... TERMS OF USE LIVE: PAK के 22वें PM के तौर पर इमरान खान ने अल्लाह के नाम से शपथ... बीएसईएस के प्रवक्ता ने कहा, सभी ग्राहकों को Paytm की वेबसाइट और ऐप के जरिए आखिरी तारीख से 7 दिन पहले बिजली बिल जमा करने पर 200 रुपए का कैशबैक मिल सकता है। 200 रुपए की नकदी वापस पाने के लिए उन्हें कूपन कोड बीएसईएस200 का उपयोग कर बिजली बिल भुगतान विकल्प पर क्लिक करना होगा, जबकि 150 रुपए नकदी वापस पाने के लिए बीएसईएस150 कूपन कोड पर क्लिक कर बिल का भुगतान करना होगा। फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़े सवाल-जवाब साझा करें: भूपेंद्र सिंह हुड्डा पड़ रहे हैं पार्टी के भीतर और जनता के बीच कमजोर # Dehradun News Headlines एकल चरण 2 तार #KeralaFloods LIVE: कोच्चि में PM मोदी ने बाढ़ के हालात पर की बैठक, 500 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान बिजली दर बिजली कंपनी ने ऐसा क्या किया जो AAP ने बढ़ा दिए दाम: विजेंद्र गुप्ता 1.3 किलो कक्षा कार्यक्रम Tags:#प्रति#यूनिट#बिजली LIVE TV @JarnailSinghAAP Hindi NewsMetroLucknowDevelopmentCheaper Electricity Connection फरीदकोट/मुक्तसर मुख्य पृष्ठspotlightविशेष लेख राशिफल 18 अगस्त: देखें, कैसा रहेगा आपका आज का दिन वैसे तो उत्तर प्रदेश के करोड़ों शहरी उपभोक्तागण पहले से ही बिजली की घोर अनियमित सप्लाई, खऱाब ट्रांसफारमर के कारण लगातार विद्युत सप्लाई में बाधा आदि की गम्भीर समस्या से काफी पहले से ही झेलते आ रहे हैं, जिस कारण लगभग हर दिन प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में इसके खि़लाफ  धरना-प्रदर्शन व बिजली आफि स के घेराव की ख़बरें आती रहती हैं और इस कारण उन्हें पुलिस का डंडा तक भी खाना पड़ता है। ऐसे संकटग्रस्त उपभोक्ताओं पर मंहगी बिजली का तगड़ा झटका देना प्रदेश सपा सरकार की असंवेदनशीलता व विफ लताओं का पर्दाफाश करता है।  हमारा नज़रिया | दृष्टि ही क्यों? | नए बैच / उपलब्ध पाठ्यक्रम/ पाठ्यक्रम अवधि | अध्यापकों की टीम | पढ़ाने का तरीका | स्टडी मैटीरियल | एडमिशन प्रक्रिया | क्लास शेड्यूल भारत में ई-शासन © 2009-2018 Independent News Service. All rights reserved. घरेलू 1 (ग्रामीण) 6.45 3.10 3.35 4.17 3.35 MENU लाइन लॉस का लक्ष्य हासिल करने में फिसड्डी रहे अलग-अलग सर्किल के 7 चीफ इंजीनियरों को नियामक आयोग ने नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। इनमें बरेली, शाहजहांपुर, फैजाबाद, बागपत, सहारनपुर, बुलंदशहर और रामपुर के चीफ इंजीनियर शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बिजली के बिल फाड़ने पर नहीं 24 घंटे बिजली देने के लिए प्रयासरत है. फाइल फोटो: रॉयटर्स हॉनर 9 लाइट 64 जीबी (सफायर ब्लू , 4 जीबी रैम) फोटो जब इमरान खान की चुनौती ने बदलवा दी गावस्कर के रिटायरमेंट की तारीख... थाना प्रभारी बलियापुर मीटर नहीं है तो हर महीने 300 रुपये Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd मैच से पहले बोले कप्तान कोहली, जीत के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं स्वशिक्षा सब्सक्राइब करें न्यूज़कोड का डेली न्यूज़लेटर वित्त वर्ष में वेतन से ज्यादा होगा पेंशन का भुगतान, जाने ख़ास वज़ह Hockey Aurangabad धर्म और आध्यात्मिकता डाइट-फिटनेस वृद्धावस्था पेंशन/ किसान पेंशन Photos: वाजपेयी की याद में डूबा देश, 'अटल सूर्य' को दी गई अंतिम विदाई 'Will U Marry Me' प्लेन में जब एक शख्स ने फिल्मी अंदाज में किया प्रपोज़... ट्रंप के मीडिया पर हमलों के खिलाफ खड़े हुए अमेरिका के… साक्षात्कार ये फिल्में रही बैन 3 जुलाई 2018 श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 3 विकटों से हराया Română स्पोर्ट्स लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में मोतिहारी के एक प्रोफेसर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को लेकर आलोचनात्मक फेसबुक पोस्ट करना महंगा पड़ गया. दरअसल, मोतिहारी के महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर संजय [...]     वित्त मंत्री ने विभाग के अधिकारियों से क्षेत्र के सभी 17 फीडरों बारे विस्तृत जानकारी ली तथा अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन सभी फीडरों पर लाइन लॉस कम करवाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के कुछ फीडरों पर लाइन लॉस 20 प्रतिशत से कम कर लिया जाता है तो ये क्षेत्र के अन्य गांवों के लिए एक मिसाल होंगे। इससे लोगों को इस योजना में शामिल हुए फीडरों से होने वाले फायदों का पता चलेगा। एप्स PreviousNext Mandsaur weather आरटीआई सूचना MP PEB: चुनाव से पहले 1 लाख भर्ती घोषणाओं की तैयारी | EMPLOYMENT NEWS वैसे तो उत्तर प्रदेश के करोड़ों शहरी उपभोक्तागण पहले से ही बिजली की घोर अनियमित सप्लाई, खऱाब ट्रांसफारमर के कारण लगातार विद्युत सप्लाई में बाधा आदि की गम्भीर समस्या से काफी पहले से ही झेलते आ रहे हैं, जिस कारण लगभग हर दिन प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में इसके खि़लाफ  धरना-प्रदर्शन व बिजली आफि स के घेराव की ख़बरें आती रहती हैं और इस कारण उन्हें पुलिस का डंडा तक भी खाना पड़ता है। ऐसे संकटग्रस्त उपभोक्ताओं पर मंहगी बिजली का तगड़ा झटका देना प्रदेश सपा सरकार की असंवेदनशीलता व विफ लताओं का पर्दाफाश करता है।  Error establishing a database connection “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल श्री रुप नारायण झा ने कहा कि विद्य्नुत विभाग यदि अपनी लाइन लॉस को रोक लेते हैं तो विधुत दर नहीं बढाना पड़ेगा। ।ठ स्विच को बढ़ाने की अवश्यकता है। दुमका के चेंबर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष श्री सियाराम घड़िया ने कहा कि विभाग की कमी से विद्य्नुत दर बढ़ रही है, इस पर ध्यान देने की जरुरत है। विद्य्नुत की लॉस कम करने की जरुरत है। 12.50 लाख मीटर लगाने की शुरुआत बहुत अच्छी पहल है। इससे विद्य्नुत लॉस का पता चल पाएगा। Government Schemes india > सरकारी योजना > प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य योजना बिजली कंपनी में कई पदों के लिए 1648 वैकेंसी 200-400 यूनिट इस पोस्ट को शेयर करें Facebook © One.in Digitech Media Pvt. Ltd. All Rights Reserved. योजना की अवधि बिटकॉइन अधिशेष का उपयोग कर, सरकार अभी भी फैलाने #छत्तीसगढ़ बिजली अंबाला भिवानी मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी एमडी आकाश त्रिपाठी ने बताया कि अंसगठित क्षेत्र के मजदूरों के कार्ड नंबर के आधार पर घरों के बिजली खाते जोड़े जाएंगे। 100 यूनिट तक के खर्च एवं एक किलो वाट तक के कनेक्शन पर सिर्फ 200 रुपए की वसूली ग्राहकों से की जाना हैं। शेष रकम कंपनी को राज्य शासन से प्राप्त होगी, सरल बिल योजना के विभागीय काम में तेजी अगले सप्ताह से ही आएगी। जुलाई के बिल से योजना का लाभ मिलने लगेगा। इसके लिए कंपनी के सभी अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए है। एक तरफ घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली के दाम बढ़ाए गए हैं, वहीं पीथमपुर सेज के उद्योगों को इससे राहत दी गई है। सेज के उद्योगों को लगातार तीन साल से केवल 3 रुपए 35 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली मिल रही है जो जारी रहेगी। कांग्रेस बिजली की दरें बढ़ाने का लगातार विरोध कर रही है। गैस और इलेक्ट्रिक - गैस और इलेक्ट्रिक आपूर्तिकर्ता गैस और इलेक्ट्रिक - बिजली स्विच करें गैस और इलेक्ट्रिक - पॉवर कंपनी
Legal | Sitemap