ताप चालन परीक्षण प्रयोगशाला जबलपुर। फीडर सेपरेशन, सिस्टम स्टेबलिंग सहित अरबों रुपए का काम लेने वाली नौ और कंपनियां बिजली कंपनी का काम छोड़कर भाग गई हैं। इससे पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को तगड़ा झटका लगा है। बिजली कंपनी ने सभी कंपनियों को टर्मिनेट कर दिया है। इससे पहले जबलपुर सिटी सर्किल में डेढ़ अरब से भी ज्यादा का काम लेने वाली नई दिल्ली की यूबी कंपनी (जिसके कर्ताधर्ता विजय माल्या थे) ने अपना बोरिया बिस्तर समेटकर बिजली कंपनी को चूना लगाया था। खबरें जरा हटके इंटरव्यू का सही नज़रिया एसीआर फॉर्म म.प्र. माध्यम कोटा: पहले भजन-हवन और अब जलस्तयग्रह का लिया सहारा, बिजली कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन जारी Menu... जल योद्धा WE ARE SOCIAL दिवाली के मौके पर जियो का धन धना धन ऑफर, जानें क्या है प्लान 433 Views Here's the URL for this Tweet. Copy it to easily share with friends. अटल जी को श्रद्धांजलि देते वक्त भावुक हुए जावेद अख्तर शकुंतला महाली बिजनेस न्यूज़ आईएफएस रेगुलेशन्स धर्म-आस्था बिजली कंपनी के प्रस्ताव पर फैसला सुनाने का अधिकार विनियामक आयोग को है। पिछले वर्ष राज्य सरकार ने दर की समीक्षा के बाद अनुदान देने की घोषणा की थी। उसी के तर्ज पर इस बार भी बिजली दर की समीक्षा करते हुए अनुदान पर निर्णय लिया जाएगा। अपने पकड़ पा रहीं हैं। उपलब्‍ध उपस्‍कर देश के कोने-कोने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी क... -सिंचाई पंपों की खपत पर ऊर्जा प्रभार में दस फीसद छूट का रहेगा प्रावधान। सरकारी कंपनियों को तरजीह देने से पावर सेक्टर में दिक्कत: RBI सोना (GOLD) अजमेर में सेक्स रैकेट का खुलासा, ग्राहक और 3 युवतियां गिरफ्तार Public Notices एसके जैन, कार्यपालन यंत्री, पश्चिम संभाग हरियाणा सरकार 2:27 जीतन भुइया कांग्रेस अध्यक्ष का एक ऐसा चुनाव जिसमें 'गांधी' को हार मिली थी उपेंद्र कुमार पंचतत्व में विलीन हुए अटल जी, अस्थि विसर्जन कल बोकारो सहित समस्त झारखण्ड वासियो को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक सुभकामना The resource you are looking for might have been removed, had its name changed, or is temporarily unavailable. HTET PATNA : बिहार में बिजली कंपनी ने समाप्त हो रहे वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन राजस्व संग्रह का बड़ा रिकार्ड हासिल कर लिया। पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में राजस्व संग्रह में 2200 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। अब तक की यह सबसे अधिक बढ़ोतरी है। बिजली कंपनी के आला अधिकारियों का आकलन है कि अब अनुदान के भरोसे अपने घाटे की भरपाई करने वाली बिजली कंपनी मुनाफे के ट्रैक पर आ रही है। इसमें कैरेज और कंटेट (वितरण नेटवर्क और बिजली आपूर्ति) कारोबार को अलग करने का भी प्रावधान होगा। जिस प्रकार हमने उत्पादन और वितरण को अलग किया, अब आपूर्ति और वितरण कारोबार को अलग-अलग करना है। मसौदा मेरे पास अगले चार-पांच दिन में आ जाएगा। हम संसद के बजट सत्र में इसे पारित कराने की कोशिश करेंगे। वितरण और आपूर्ति कारोबार को अलग करने से नई व्यवस्था आएगी। इससे ग्राहकों के पास बिजली खरीदने के लिए अपने क्षेत्र में बिजली की अपूर्ति करने वाली एक से अधिक कंपनियों के बीच चुनाव करने का विकल्प उपलब्ध होगा। यह उसी प्रकार होगा जैसा कि दूरसंचार सेवा क्षेत्र में है। Best Refrigerators (Fridge) in India द्वितीय सन्शोधन केटेगरी  वर्तमान दर  नयी दर   पेरेंटिंग ड्राइविंग लाइसेंस दिसम्बर 7, 2017 Md. Saheb Ali BIHAR, आपका प्रदेश, इकॉनमी, ट्रेंडिंग 0 किसी भी तरह की हेल्प के लिए यहां संपर्क करें महिलाएं... उदय सिंह ने कहा कि जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने के लिये अधिकारियों की एक टीम भाखड़ा नांगल गयी ताकि यह पता लगाया जा सके कि वहां कितनी क्षमता की परियोजनाएं लगायी जा सकती है. अपतटीय क्षेत्र में सर्वे का काम जारी है. ‘‘ इन सब उपायों से हम 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक 2,00,000 मेगावाट क्षमता सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं.’’ उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 1,75,000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है. Share this: मिडिल क्लास की इन चीजों पर 18 पर्सेंट टैक्स अब लोगों को चाहिए बड़ी कार, समझिए मारूति सुजुकी के इन आंकड़ों से ग्यारहवां सवाल –  बिजली के नेटवर्क में 4 करोड़ परिवारों को शामिल करने के साथ क्या बिजली की मांग में वृद्धि का अनुमान लगाया जाएगा? समाचार की सदस्यता लें Advertisement उप प्रमुख गोमिया प्रखण्ड # हरियाणा समाचार Recent Comments न्यूस लेटर असम यूनिवर्सिटी के चांसलर हैं गुलजार, देश के कई स्कूलों की प्रेयर बन गई उनकी रचना हमको मन की शक्ति देना 2 mins कृषि बिज़नस ET बिज़नस न्यूज़ शेयर बाजार कमाएं-बचाएं प्रॉपर्टी इनकम टैक्स कमोडिटीज़ ईटी की पाठशाला और Mar 28, 2018, 04:11 PM IST Cashback on offer price: 2549 फैन्स का इंतजार खत्म, शुरू हुई ऋतिक-टाइगर की फिल्म की शूटिंग, कुछ ऐसा होगा इनका रोल रुद्रप्रयाग चीनी (Sugar) टिप्स और ट्रिक्स आपूर्ति की क्षमता: 70,000 पीसी प्रति माह बढ़ी हुई दरों की मार सबसे ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रों पर पड़ने वाली है. पिछली दरों के मुताबिक अभी तक ग्रामीणों क्षेत्रों में उपभोक्ताओं को 180 रुपये प्रतिमाह देना पड़ता था, जबकि किसानों को 100 रुपये प्रतिमाह देना पड़ता था. 10:07 और भी पढ़ें पत्रिकाएँ 19 Views गाँवों केवल 6 से 8 घंटे बिजली मिलने की बात भी श्री यादव ने उठाई है। कांग्रेस ने 8 अप्रैल को अशोकनगर में बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव के विरोध में बड़ा प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद भी सरकार ने बिजली की दरें बढ़ा दी हैं। कांग्रेस का कहना है कि वह इस बारे में जल्द ही तेज और प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी। अधिनियम/नियम Sir kya dhaniyooo m water or bijli k liye Naya transformer or Pani ki pipe line ki suvidha milegi बैठक में सरकारी दफ्तरों में एलईडी बल्बों का इस्तेमाल अनिवार्य करने पर भी सहमती बनी. बिजली कंपनियों को निर्देश दिया गया कि वे प्रदेश के सभी जिलों में सस्ती दरों पर एलईडी बल्ब उपलब्ध कराएं. सिविल सेवा ही क्यों? इस पोस्ट को शेयर करें Facebook रणनीति Xiaomi का नया Mi Band 3 लॉन्च, जानें कीमत और खूबियां विद्युत के प्रधान क्षेत्र ये भी पढ़ें – अटके हाईवे प्रोजेक्‍ट होंगे पूरे, सरकार देगी वनटाइम वित्‍तीय सहायता केंद्रीय बिजली और नवीन एवं नवीकरणनीय ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह के समक्ष हरियाणा के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार और जनस्वास्थ्य राज्य मंत्री बनवारी लाल ने कहा कि हरियाणा को कम से कम 23 लाख मीट्रिक टन कोयले की जरूरत है। इसकी नियमित और निर्बाध आपूर्ति के लिए कोल इंडिया लिमिटेड (सीआइएल) को निर्देश दिए जाने चाहिए। लोकसेवा ग्यारन्टी/ सीएम हेल्पलाइन सुनील ग्रोवर प्रदेश सरकार के दावे खोखले, मंडियों तक नहीं... RELATED ARTICLESMORE FROM AUTHOR केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री आर.के. सिंह ने कहा कि देश में 3 करोड़ 60 लाख परिवार ऐसे थे, जिनके घर में बिजली नहीं थी। इनमें से 78 लाख परिवारों तक बिजली पहुंचा दी गई है। शेष बचे सभी घरों को इसी साल के 31 दिसम्बर तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। केंद्र सरकार इस दिशा में तेजी से कार्य कर रही है।  Cosmopolitan प्रदेश कार्यसमिति सदस्य,कांग्रेस कबीर अमृतवाणीः सुुनिए कबीरदास के 10 बेहतरीन दोहे बिजली कंपनी अगले महीने से लागू करेगी बीपीएल उपभोक्ताओं के बिजली बिल माफ करने वाली योजना कंपनी ने बताया घाटा, आयोग ने पाया 531 करोड़ अधिक राजस्व अध्यापकों के लिए 6 अप्रैल 2018 Impact नारी शक्ति प्रेग्नेंसीचाइल्ड केयरब्यूटी टिप्स फैशन मेकअपहाउसकीपिंग डिजाइन सेवाएँ ऊर्चा मंत्री के निर्देश पर शुरु हुआ बिजली काटो, बिल वसूलो अभियान जहानाबाद इस राशि की वसूली भी बिजली बिलों के साथ 10 किस्तों में दे सकते हैं। संभाग के 640 गांवों में 485 बस्तियां बिजली विहीन हैं, शहडोल जिले में 100 गावों ऐसे हैं, जहां लो वोल्टेज की समस्या। योजना में करीब 260 करोड़ संभाग में खर्च हो रहे हैं। इन्फोपैक REGISTER SIGN IN 21st commonwealth games gold coast australia 2018 गर्मी के दिनों में एस्सेल की बिजली की समस्या बढ़ जाती है, ये समस्या गायघाट का नही है बल्कि एस्सेल कम्पनी की बिजली जँहा-जँहा है लोगो का हाल कुछ ऐसा ही है. गायघाट के लोग इतने आक्रोशित थे कि वो NH57 से जाम हटाने को मान ही नही रहे थे. सब बस एक ही नारा लगा रखे कि एस्सेल हटाओ बिजली लाओ. मौके पे गायघाट थानाध्यक्ष और गायघाट अंचल अधिकारी ने लोगो को आश्वासन दिया कि जल्द ही बिजली की समस्याओं को दूर किया जायेगा. अधिकारी की बात सुन लोगो को मिला शुकुन फिर दरभंगा-मुज़फ़्फ़रपुर राष्ट्रीय मार्ग से जाम को हटा आवागमन शुरू कराया गया. Disclaimer Google News in Hindi Web Title cheaper electricity connection कमल किशोर उत्पाद का नाम: कम कीमत सीलिंग चरण प्रीपेड विद्युत मीटर तटस्थ: तटस्थ मापना BPSC देवशयनी एकादशी 23 जुलाई को : इस दिन व्रत करने से पापों का होता है नाश, 4 महीनों तक नहीं होते शुभ कार्य 44 mins इन्वेस्टर कॉलम ऊर्जा विभाग अधिसूचनाये आरएसओपी की तकनीकी रिपोर्टें © 2018 सी-डैक. सर्वाधिकार सुरक्षित लखनऊ से और सेंसेक्स 200 अंक मजबूत, निफ्टी 11450 के करीब प्रशिक्षण संस्थान स्वतंत्रता दिवस समारोह | मंत्री मेहदेले ने ध्वजारोहण कर ली परेड की सलामी ‹ › टेक कम्पैरिजन Hockey player Aditi [email protected]हॉकी खिलाड़ी अदिति का नीदरलैंड व इंग्लैंड दौरे के लिए चयन स्थानान्तरण योजना गाँधी होते तो कहलाते एंटी-नेशनल Personal tools पूर्वोत्तर वृष राशि वालों आज का दिन आपके परिवार के लिए काफी अच्छा है। फैमिली मेम्बर्स के साथ किया गया काम सफल......Read more सम्पूर्ण कृषि जल प्रबंधन 15 शहरों में रिलांयस-बीपी करेगा घरों में गैस का वितरण, लाइसेंस लेने के लिए लगाई बोली Suggestions सिरोही Maximum Length : 250 Story first published: Monday, September 1, 2014, 14:43 [IST] DIG की सख्त कार्रवाई का असर, पटना में हफ्ते भर में 800 से अधिक अरेस्टिंग Get 1 Year FREE Magazine (Current Affairs Today) Subscription आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में Advertise with Us| April, 2016 आदेश यूपीएससी - प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम बढ़ी हुई आर्थिक गतिविधियों और नौकरियां Next Tweet from user इलाहाबाद Allahabad सस्ता विद्युत प्रदायक - बिजली की लागत सस्ता विद्युत प्रदायक - बिजली का मीटर सस्ता विद्युत प्रदायक - सस्ता बिजली बिल
Legal | Sitemap