6.2M people like this. Sign Up to see what your friends like. Cookie Policy प्रितम रवानी केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री आर.के. सिंह ने कहा कि देश में 3 करोड़ 60 लाख परिवार ऐसे थे, जिनके घर में बिजली नहीं थी। इनमें से 78 लाख परिवारों तक बिजली पहुंचा दी गई है। शेष बचे सभी घरों को इसी साल के 31 दिसम्बर तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। केंद्र सरकार इस दिशा में तेजी से कार्य कर रही है।  PREV bjp शहरों की मौजूदा व नई बिजली दरें Serbian Српски/Srpski सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, सास-बहू अपने घर में चला रही थीं देह व्यापार का धंधा Gujarati News उन्होंने बताया कि यदि निर्धारित अवधि के भीतर कमियों को दूर नहीं जाता है तो पोर्टल के माध्यम से पार्टी को सूचित करते हुए सक्षम प्राधिकारी द्वारा दावा दायर किया जा सकता है। सक्षम प्राधिकारी की स्वीकृति के बिना उद्यम को निर्दिष्ट किए गए दस्तावेजों अलावा कोई अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। उन्होंने बताया कि इस प्रकार फाइल किए गए दावों को प्रशासनिक सचिव, उद्योग और वाणिज्य विभाग के आदेशों पर फिर से खोला जा सकता है, बशर्ते ऐसे अनुरोध नामित सक्षम प्राधिकारी द्वारा दावे को अस्वीकार किए जाने की तिथि से 30 दिनों की अवधि के भीतर प्राप्त हों। पिछड़ा वर्ग कल्याण news1 day ago - निम्न दाब कृषि संबंधी कार्य के लिए 25 एचपी की नई श्रेणी बनाई गई है। निम्नदाब उद्योगों के लिए भी 100 से 150 एचपी का नया ग्रुप बनाया गया है। रोलिंग मिल के लिए लोड फैक्टर को 15% से बढ़ाकर 25% किया गया है। स्टील उद्योगों को 65% से अधिक लोड फैक्टर रखने पर ऊर्जा प्रभार में अधिकतम 15% की छूट दी जाएगी। पटना : बिहार में बिजली की दर में पांच से नौ प्रतिशत की वृद्धि की गयी है, जो एक अप्रैल से प्रभावी होगी। बिहार विद्युत विनियामक आयोग (बीईआरसी)के अध्यक्ष शक्ति कुमार नेगी ने आज यहां बताया कि सभी घरेलू उपभोक्ताओं के लिए वर्तमान टैरिफ में पांच प्रतिशत और उद्योग की टैरिफ में 9.29 प्रतिशत की वृद्धि की गयी है। उन्होंने बताया कि सक्षम प्राधिकारी द्वारा पारित आदेशों के खिलाफ प्रशासनिक सचिव, उद्योग एवं वाणिज्य को ऐसे आदेश प्राप्त होने की तिथि से 30 दिनों की अवधि के भीतर अपील की जा सकती है। अपील में प्रशासनिक सचिव द्वारा पारित आदेश अंतिम होगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी स्तर पर यह पाया जाता है कि आवेदक ने किसी भी झूठी सूचना के आधार पर पावर टैरिफ सब्सिडी का दावा किया है तो आवेदक को 12 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज की चक्र दर के साथ सब्सिडी राशि वापस करने के अलावा कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा और उसे राज्य सरकार से किसी भी प्रकार का प्रोत्साहन या सहायता प्राप्त करने से वंचित कर दिया जाएगा। केरल : बाढ़ बारिश से 9 दिनों में 324 लोगों की मौत,2 लाख से ज्यादा राहत शिविरों में, मोदी ने किया दौरा। Português केरल में बाढ़ के तांडव के बीच भारतीय सेना के देवदूत ऐसे बचा रहे हैं जिंदगियां GmailGoogle DoodleRealme 2TamilRockers WebsiteIRCTC PhonepeRedmi 5A PriceVajpayee DeadAyushman Bharat YojnaOppo R17 ProNarendra ModiRRB ALP Admit Card 2018Google Person FinderKerala Floods NewsRahul GandhiMK StalinSBI Q1 Results 2018ITR Filing StatusIdukki Dam Water LevelPriyanka Chopra PhotosHow to File ITRKatrina Kaif Hot PhotosTeen Talaq BillAarushi Hemraj CaseTravel News in HindiWhatsapp NewsAaj Ka RashifalBejan DaruwallaIncome Tax in HindiMutual Funds in Hindi2018 RashifalGadgets News in HindiRains In MumbaiTech News in HindiHindi NewsAssembly Elections 2018Kolkata NewsLucknow NewsTV News in HindiLive Cricket ScoreMumbai NewsPunjab NewsKashmir NewsEducation News in HindiVasthu Tips in HindiDelhi NewsUP NewsBihar NewsHealth News in HindiMovie News in HindiSports News in Hindi मकर प्रश्नपत्र IV दिल्ली कांग्रेस दफ्तर में शीला दीक्षित, अजय माकन, हारून यूसुफ, अरविंदर लवली, सज्जन कुमार और महाबल मिश्रा समेत कई पूर्व विधायक और सांसदों की बैठक हुई. बुंदेलखण्ड175 Say a lot with a little Chinese (Simplified) 简 उज्जैन की जिला पंचायत सोलर रूफटॉप ग्रिड कनेक्टिविटी प्रारम्भ करने वाली प्रदेश की पहली जिला पंचायत बनी, स्वतंत्रता दिवस पर हुआ शुभारम्भ दिल्ली में बिजली के दाम बढ़े, एक अगस्त से लागू समय पर बिजली का बिल जमा करने वालों को अब ज्यादा रिबेट मिल सकती है। इस पर भी राज्य विद्युत नियामक आयोग विचार कर रहा है। समय पर बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं को मौजूदा समय में 0.25 प्रतिशत की रिबेट मिलती है। राज्य विद्युत नियामक आयोग इस रिबेट को बढ़ाकर 1.5 प्रतिशत करने की तैयारी कर रहा है। जल्द ही इसका ऐलान हो सकता है। ईआरईडी प्रकाशन price hike Daily Bhaskar भरपूर बिजली के सरकारी इरादे पर पानी फेर रही कोयला कंपनियां कुंभ हिन्‍द गजट Posted By: Anil Kumar Published: Monday, September 1, 2014, 14:43 [IST] Subscribe to Oneindia Hindi दसवां सवाल –  लक्ष्यबद्ध तरीके से समयबद्ध तरीके से हासिल करने की रणनीति क्या है? पर्यावरण मंत्रालय चुप क्यों है ? Study Material UPSC Hindi इसकी सराहना की और कंपनी के विकास पर संतोष जताया है। मुख्यमंत्री ने जेकेएसपीडीस द्वारा लांच किए जाने वाले नए पावर प्रोजेक्ट्स के कार्य करने के तरीके की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड ने 390 मेगावाट के किरथई 1 और 990 मेगावाट किरथई 2 परियोजना के विकास के लिए निविदा मंगाने को मंजूरी दे दी है। Gujarat News in Hindi ऐल्युमीनियम (ALUMINUM) हास्य-व्यंग्य जानिए कौन है निहारिका, जिन्होंने आखिरी वक्त तक की वाजपेयी की सेवा केन्द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान कीवर्ड बिजली, पहाड़, गुफा, हवा We need to reach out to those in power to protect our immigrant community and send a clear message to Washington that the Bay Area stands behind its beloved community members such as Mr… Read more श्री राम नवमी समारोह फॉर्म Nickname:* electricity rate Saturday 18 August 2018 posted on August 18, 2018 Jarnail SinghVerified account 100 यूनिट से ज्यादा खपत को लेकर भले ही स्थिति स्पष्ट नहीं है लेकिन 100 यूनिट तक 200 रुपए बिल आने पर 250 से 300 रुपए तक का फायदा होगा। ग्रामीण क्षेत्र में मौजूदा दरों से अभी 100 यूनिट पर 450 और शहरी क्षेत्र में 500 रुपए औसत बिल बनता है। इसमें से 200 रुपए ही भरना होंगे, बाकी राशि सरकार सब्सिडी के रूप में कंपनी को जमा करवाएगी। त्‍वरित विद्युत विकास एवं सुधार कार्यक्रम (एपीडीआरपी) मणिपुर होम  » समाचार  » कारोबार  » जानिए ऐसा क्या करेंगे कि मिलेगा सस्ती ब्याज दर पर लोन VIDEO-जब UN में इज़रायल का विरोध किया था अटल बिहारी वाजपेयी ने नैनवां में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम स्पोर्ट्स यह वेबसाइट विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन केन्द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्थान की है।              लोकसेवा ग्यारन्टी/ सीएम हेल्पलाइन राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना :   राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना अन्तर्गत रबी 2010-11 की अधिसूचनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं अटल की अंतिम यात्रा पर उमड़ा जनसैलाब, देखें तस्वीरें... यह ईपीसी मोड के तहत पूरी तरह सरकारी प्रोजेक्ट हैं। इसके अलावा 9 मेगावाट के हानू और 9 के मेगावाट के दाह प्रोजेक्ट के लिए निगम द्वारा पूरी की गई निविदा प्रक्रिया के आधार पर पात्र बोलीदाता को ठेका देने की अनुमति दे दी गई है। पुग लेह 5 मेगावाट की भू-तापीय परियोजना आईपीपी मोड पर विकसित करने का भी निर्णय किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण 1,856 मेगावाट क्षमता के स्वालकोट एचईपी प्रोजेक्ट के लिए बोर्ड ने जल्द विस्तृत रिपोर्ट पूरी करने और सीईए से टेक्नो समृद्ध मध्यप्रदेश के लिये हर नागरिक का सहयोग और भागीदारी जरूरी, ग्राम सरोवर अभिकरण बनेगा, पाँच हजार तालाब बनेंगे, रोजगार देने वाले उद्योगों को मिलेंगी रियायतें, जनजातीय क्षेत्रों में हर गाँव में बनेगी जनजातीय अधिकार सभा, मुख्यमंत्री श्री चौहान का स्वतंत्रता दिवस पर संदेश 16/08/2018 Newer Post Older Post Home 10 दिन में 1 रुपये प्रति लीटर कम हुए पेट्रोल के दाम, डीजल में भी गिरावट लोकप्रिय पोस्ट By Prabhat Khabar | Updated Date: Apr 1 2017 9:07AM Sajid on महाराष्ट्र “श्रवण बाल सेवा राज्य निवृत्तिवेतन योजना 2017” मधुबनी मौसम विभाग की चेतावनी, छह राज्यों में मूसलाधार बारिश की आशंका उन्होंने कहा, ‘‘हमें एक और महत्वपूर्ण लक्ष्य भरोसेमंद और गुणवत्तापूर्ण सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य मिला है. हम प्रधानमंत्री के समक्ष इसका प्रस्ताव रखेंगे.’’ सिंह ने यह भी कहा कि सरकार की योजना के तहत सभी परिवार को बिजली उपलब्ध कराने के लिये प्री-पेड मॉडल अपनाया जाएगा. उन्होंने बिजली क्षेत्र के लिये कौशल विकास की जरूरत पर बल दिया और कहा, ‘‘ग्रिड और फीडर के रखरखाव के लिये कौशल विकास की जरूरत है.’’ अभिगम्यता विवरण News Feed आईपीडीएस से 16 शहरों में कार्य पावर परचेज मैकेनिजम : आरडब्लूए प्रतिनिधि अनिल सूद ने कहा कि बिजली कंपनियां सरप्लस बिजली किस रेट पर बेच रही हैं और किस रेट पर खरीद रही हैं, इसे ट्रांसपेरेंट होना चाहिए और पब्लिक स्क्रूटनी के लिए खुला होना चाहिए। अगर पावर एक्सचेंज में बिजली 3 रुपये प्रति यूनिट बिक रही है और दिल्ली की कंपनियां उसे 2 रुपये में बेच रही हैं तो पब्लिक इसकी मॉनिटरिंग करेगी और गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं रहेगी। By admin July 22, 2016 10 तकस्पेशल रिपोर्टधर्मवारदातदंगलहल्ला बोलमुंबई मेट्रोइंडिया 360विशेषसास बहू और बेटियांसो सॉरी बिजली बदलें - बिजनेस बिजली की तुलना करें बिजली बदलें - बिजली की आपूर्ति बिजली बदलें - बिजली कंपनियों को आज बदलें
Legal | Sitemap